Bihar News

आजमगढ़ के ट्रक चालक की फतुहा में गोली मारकर हत्या

Dainik Jagran - February 22, 2020 - 1:33am

फतुहा, पटना। फोरलेन पर बुधुचक गाव के समीप शुक्रवार की रात अमन लाइन होटल में अपराधियों ने एक ट्रक चालक की गोली मार हत्या कर दी। अचानक हुई वारदात से वहां हड़कंप मच गया। सभी लोग इधर-उधर भागने लगे। आसपास के दुकानदार अपनी-अपनी दुकानें बंद कर भाग निकले। इसी बीच किसी ने फतुहा थाने को इस वारदात की सूचना दी। मौके पर पहुंची फतुहा पुलिस ने ट्रक चालक के शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमॉर्टम के लिए पटना भेज दिया।

थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि ट्रक चालक आजमगढ़ का निवासी था। शुक्रवार को वह खाली ट्रक फोरलेन के किनारे खड़ी कर रखा था और खुद अमन लाइन होटल में बैठा था। तभी पूर्व से घात लगाए अपराधियों ने उसे सीने में गोली मार दी जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। मामले में सभी पहलुओं से जाच की जा रही है। वहीं पटना के ग्रामीण एसपी कांतेश मिश्रा ने बताया कि अबतक मामला स्पष्ट नहीं हो पाया है। जाच की जा रही है।

घटना के बाद से फोरलेन पर दुकानदारों के बीच दहशत का माहौल है। वे अपनी सुरक्षा के लिए पुलिस-प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं। पुलिस के सामने यक्ष प्रश्न यह है कि आखिर आजमगढ़ के ट्रक चालक को फतुहा में क्यों गोली मारी गई ? लाइन होटल के सामने लगा ट्रक भी खाली था। थानाध्यक्ष ने बताया कि फिलहाल मृतक का नाम पता नहीं चल पाया है। जाच की जा रही है। देर रात तक पुलिस बदमाशों का पता लगा रही थी लेकिन उसे कोई सफलता नहीं मिली है।

Categories: Bihar News

दो फाड़ हुआ विद्युत इंजीनियरों का संगठन

Dainik Jagran - February 22, 2020 - 1:30am

पटना। विद्युत कंपनी के इंजीनियरों का संगठन दो फाड़ में बंट गया है। बिहार पावर इंजीनियरिग सर्विस एसोसिएशन (पेसा) के आंदोलन के दौरान इसकी नींव पड़ी। पेसा के अध्यक्ष दिलीप कुमार सिंह और महासचिव चंद्रशेखर ने दावा किया कि हमलोग असली हैं। राज्यभर के इंजीनियर हमलोगों के साथ हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व पेसा के महासचिव के मनमाने ढंग से नियम विरुद्ध निजी एजेंडे पर कार्य करने से संगठन में नैतिक गिरावट आ गई थी।

अब पेसा के महासचिव सुरेंद्र कुमार अकेले पड़ते जा रहे हैं। अभियंता नये अध्यक्ष और महासचिव के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। विद्युत कंपनी के निजीकरण के विरुद्ध में आंदोलन की घोषणा हुई थी। अभियंताओं पर लाठीचार्ज हुआ। पटना उच्च न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद हड़ताल टल गई। न्यायालय एसोसिएशन के साथ वार्ता का निर्देश मिला है।

दिलीप कुमार सिंह के नेतृत्व का संगठन विद्युत कंपनी से वार्ता की तैयारी में जुटा है। पहले से पेसा सचिव की कमान संभाले सुरेंद्र कुमार ने विद्युत कंपनी को पत्र लिखकर हाईकोर्ट के निर्देश पर वार्ता की तिथि निर्धारित करने का आग्रह किया है। संगठन दो फाड़ होने से विद्युत कंपनी प्रबंधन भी सुरेंद्र कुमार को दरकिनार कर दिलीप कुमार सिंह वाले गुट से वार्ता के पक्ष में आ गई है।

नये महासचिव चंद्रशेखर ने विद्युत कंपनी को पत्र लिखकर कहा है कि किसी तरह की सूचना का अदान-प्रदान नये अध्यक्ष और महासचिव से करें। यह है नयी कार्यकारिणी: अध्यक्ष दिलीप कुमार सिंह (पेसू महाप्रबंधक), महासचिव चंद्रशेखर (एसटीएफ अधीक्षण अभियंता), उपाध्यक्ष आइसी यादव, रंजीत कुमार और खगेश चौधरी, उप महासचिव मनीषकांत, कोषाध्यक्ष मुकेश कुमार, सचिव प्रवीण कुमार, पंकज राजेश, इंद्रदेव, राजीव कुमार सहित 21 सदस्यीय कार्यकारिणी है।

Categories: Bihar News

BPSC ने जारी किया कैलेंडर, 65वीं PT का रिजल्ट अगले माह... जानें क्‍या है पूरा शेड्यूल

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 11:09pm

पटना, जेएनएन। बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने 2020 का वार्षिक परीक्षा कैलेंडर (Annual ) जारी कर दिया है। 11 परीक्षाओं की संभावित तिथि आयोग की वेबसाइट (www.bpsc.bih.nic.in) पर अपलोड कर दी गई है। 65वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा का रिजल्ट मार्च प्रथम सप्ताह में जारी कर दिया जाएगा। मुख्य परीक्षा जून और रिजल्ट का प्रकाशन अक्टूबर में होगा। दिसंबर तक प्रकिया पूरी कर ली जाएगी। 

64वीं संयुक्त मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा का रिजल्ट अप्रैल में जारी होगा। साक्षात्कार मई तथा फाइनल रिजल्ट का प्रकाशन जुलाई में होगा। 66वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया अप्रैल अंतिम सप्ताह में संभावित है। जून अंतिम सप्ताह में प्रारंभिक परीक्षा होगी। 

संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि 66वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा की प्रक्रिया पीटी की तिथि से 10 माह में पूरी करने का लक्ष्य रखा गया है। 11 परीक्षाओं के अतिरिक्त सामान्य प्रशासन से रिक्तियां प्राप्त होने पर नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा।

31वीं न्यायिक सेवा के लिए मार्च से आवेदन

परीक्षा कैलेंडर के अनुसार 31वीं बिहार न्यायिक सेवा प्रतियोगिता परीक्षा के लिए मार्च प्रथम सप्ताह से आवेदन की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। मई प्रथम सप्ताह में प्रारंभिक परीक्षा तथा अंतिम सप्ताह में रिजल्ट का प्रकाशन कर दिया जाएगा। मुख्य परीक्षा जुलाई तथा रिजल्ट का प्रकाशन नवंबर में होगा। दिसंबर में साक्षात्कार समाप्त होते ही फाइनल रिजल्ट का प्रकाशन कर दिया जाएगा। 

इसी माह मोटरयान निरीक्षक के लिए आवेदन

फरवरी अंतिम सप्ताह में मोटरयान निरीक्षक के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी। इसी साल फाइनल रिजल्ट का लक्ष्य रखा गया है। सहायक वन संरक्षक पदाधिकारी मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा मई में तथा रिजल्ट का प्रकाशन अक्टूबर में होगा। नवंबर में साक्षात्कार तथा दिसंबर में फाइनल रिजल्ट आएगा। सहायक लोक अभियोजन पदाधिकारी प्रतियोगिता की प्रारंभिक परीक्षा मई द्वितीय सप्ताह में होगी। जून में रिजल्ट का प्रकाशन होगा। अगस्त में मुख्य परीक्षा तथा दिसंबर में रिजल्ट का प्रकाशन होगा। जनवरी में साक्षात्कार तथा फरवरी में फाइनल रिजल्ट आएगा। सहायक अभियंता, असैनिक, विद्युत, यांत्रिक की मुख्य परीक्षा का आयोजन मार्च में संभावित है। मई में फाइनल रिजल्ट का प्रकाशन होगा।

Categories: Bihar News

सुशील मोदी बोले- विधानसभा चुनाव करीब आते ही महागठबंधन में बढ़ गई है बेचैनी

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 8:44pm

पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर चुनावी साल में सता-विपक्ष में आराेप-प्रत्‍यारोप का दौर शुरू हो गया है। वार-पलटवार का सिलसिला चल रहा है। शुक्रवार को एक बार फिर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने महागठबंधन के नेताओं पर हमला किया है। हालांकि, सुशील मोदी ने बुधवार व गुरुवार को राजनीति के रणनीतिकार व पूर्व जदयू नेता प्रशांत किशोर पर हमला किया था। उन्‍हाेंने इसे लेकर ट्वीट भी किया है।  

उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव के निकट आते ही महागठबंधन में बेचैनी बढ़ गई है, जबकि एनडीए पूरी तरह एकजुट है। उन्‍होंने आज टवीट करके कहा कि इससे यह साफ है कि महागठबंधन के चार दलों ने राजद के सीएम फेस का नेतृत्व मानने से इनकार कर दिया है। वे नये नेता और जीत की रणनीति बनाने की घबराहट में कभी शरद यादव से तो कभी किराये पर स्लोगन लिखने वालों से मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि महागठबंधन चुनाव से पहले बिखर जाएगा।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि संघ प्रमुख मोहन भागवत के विचारों को समझने के बजाय राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपनी जातिवादी सोच ही जाहिर की। उन्हें संघ की परम्परा और सर्वोच्च पद पर नियुक्ति की प्रक्रिया का ज्ञान होता तो वे हल्की बातें नहीं करते। मोदी ने कहा राजद को पहले 22 साल से राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर जमे सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव की जगह किसी दलित पिछड़े को यह पद देकर मिसाल पेश करनी चाहिए थी। 

गौरतलब है कि उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इसके पहले बुधवार व गुरुवार को प्रशांत किशोर को निशाना बनाया था। बुधवार को मोदी ने कहा था कि प्रशांत किशोर एक ओर सीएम नीतीश कुमार को पितातुल्‍य बताते हैं और बिहार की कथित समस्‍या भी गिनाते हैं। इतना ही नहीं, उन्‍होंने दूसरे दिन कहा कि बिहार में फिर एनडीए की सरकार बनेगी। एनडीए की वापसी को प्रशांत किशोर पचा नहीं पा रहे हैं।

Categories: Bihar News

ओवैसी के MLA ने दिया सांप्रदायिक बयान, तेजस्वी बोले- ऐसे जहरीले लोग BJP की B-Team

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 8:33pm

पटना [जेएनएन]। असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम (AIMIM) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और महाराष्ट्र के भयखला से विधायक वारिस पठान (Waris Pathan) के आपत्तिजनक बयान पर बिहार में भी राजनीति गर्म हो गई है। वारिस पठान ने कहा था कि 15 करोड़ मुसलमान सौ करोड़ हिंदुओं पर भारी पड़ेंगे। इस आपत्तितनक बयान की चहुंओर आलोचना के बीच राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे व बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में नेता प्रतिपक्ष (Leader of Opposition) तेजस्वी यादव (Tejashwi yadav) भी कूद पड़े हैं। उन्‍होंने एआइएमआइएम भारतीय जनता पार्टी (BJP) की बी टीम  (B Team) करार देते हुए वारिस पठान जैसे जहरीले लोगों के बहिष्कार की अपील की है।

वारिस पठान ने कही थी ये बात

विदित हो कि वारिस पठान ने कर्नाटक के गुलबर्गा में सीएए के खिलाफ अपने भाषण में कहा था, ''कहा जा रहा है कि हमने अपनी मां-बहनों को आगे कर दिया है। हम कहते हैं कि अभी तो केवल शेरनियां निकली हैं तो आपके पसीने छूट गए। अगर हम सब निकल गए तो क्या होगा? ...हम 15 करोड़ लोग आप सौ करोड़ लोगों पर भारी हैं।'' वारिस पठान ने आगे कहा कि आजादी मांगने से नहीं मिलती, हम उसे छीन कर लेंगे।

तेजस्‍वी बोले: ऐसे लोगों को गिरफ्तार करें

न्‍यूज एजेंसी एएनआइ के अनुसार वारिस पठान के बयान पर तेजस्‍वी ने कहा कि उन्‍हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए। इसी तरह अनुराग ठाकुर और परवेश वर्मा जैसे नेताओं को भी गिरफ्तार करना चाहिए। अगर वो ऐसे भड़काऊ बयाने देने वाले किसी भी व्‍यक्ति पर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि एआइएमआइएम तो बीजेपी की बी टीम की तरह काम कर रहा है।

Tejashwi Yadav,RJD on AIMIM's Waris Pathan: The statement is condemnable, he should be arrested. AIMIM is working like B-team of BJP. Similarly, leaders like Anurag Thakur & Parvesh Varma should also be arrested. Action must be taken against anyone who makes provocative remarks pic.twitter.com/eTdgIUCWbD

— ANI (@ANI) February 21, 2020

किया ट्वीट तलहीले लोगों का बहिष्‍कार करें

इसके एक दिन पहले गुरुवार को तेजस्‍वी ने ट्वीट किया था कि सांझी विरासत और सांझी शहादत की बदौलत हम सांझी लड़ाई लड़ रहे हैं। बीजेपी के लाख चाहने के बावजूद सांप्रदायिक ध्रुवीकरण नहीं हो पा रहा है तो उसने अब अपने सहयोगी कट्टरपंथी लोगों को आगे कर दिया है। संविधानप्रिय व न्यायप्रिय लोग ऐसे ज़हरीले लोगों का बहिष्कार करें।

हमारी सांझी विरासत और सांझी शहादत की बदौलत हम सांझी लड़ाई लड़ रहे है। भाजपाईयों के लाख चाहने के बावजूद भी ध्रुवीकरण नहीं हो पा रहा तो कट्टरपंथी BJP ने अब अपने सहयोगी कट्टरपंथी लोगों को आगे किया है। संविधानप्रिय व न्यायप्रिय लोग ऐसे ज़हरीले लोगों का बहिष्कार करे। https://t.co/0VIDraEj0N" rel="nofollow

— Tejashwi Yadav (@yadavtejashwi) February 20, 2020

'पाकिस्‍तान जिंदाबाद' का लगा नारा, ओवैसी ने पल्‍ला झाड़ा

इसके अलावा एआइएमआइएम के एक अन्‍य कार्यक्रम के दौरान पार्टी सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी की मौजूदगी में एक लड़की ने मंच से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगाया। मंच पर मौजूद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इसका विरोध किया, लेकिन तब तक तीर कमान से निकल चुका था। अब वारिस पठान ने आपत्तिजनक बयान के साथ पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे पर राजनीति गर्म हो गई है। इस बीच असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि वे पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी की निंदा करते हैं। भारत जिंदाबाद था और जिंदाबाद रहेगा।

Categories: Bihar News

Mahashivratri 2020: बाबा की बरात का गाड़ीवान बने केंद्रीय राज्‍यमंत्री नित्‍यानंद राय... देखने को उमड़े लोग

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 8:22pm

वैशाली, जेएनएन। वैशाली के हाजीपुर स्थित ऐतिहासिक बाबा पतालेश्वरनाथ मंदिर से महाशिवरात्रि के मौके पर मंदिर परिसर से शिव की भव्य बरात निकली। इस बरात में इस बार खास दृश्य देखने को लोग बेताब थे। शुक्रवार को महाशिवरात्रि के मौके पर जैसे ही केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय अपने परिवार के साथ पहुंचे हर-हर महादेव के जयघोष से मंदिर परिसर गूंज उठा। हरे रंग के कुर्ता एवं सफेद रंग की धोती और सिर पर लाल रंग के गमछा की पगड़ी बांधे नित्यानंद ने हाथों में रूद्राक्ष बांध रखा था।

मंदिर परिसर से शिव बरात को लेकर निकले नित्यानंद पांच किमी की दूरी तय कर मुख्य समारोह स्थल अक्षयवट राय स्टेडियम शाम में पहुंचे। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के रूप में पहली बार शिव बरात में बाबा भोलेनाथ के गाड़ीवान बने नित्यानंद की झलक पाने को लोग बेचैन थे। सुरक्षा के खास बंदोबस्त के बीच नित्यानंद ने हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया।

बैलगाड़ी पर नित्‍यानंद की पत्‍नी व बेटी थीं मौजूद

बाबा की बैलगाड़ी पर नित्‍यानंद राय के साथ पत्नी अमिता देवी एवं बेटी भी थी। गाड़ी के आगे भूत-बैताल बने दर्जनों युवक चल रहे थे और पीछे-पीछे सैकड़ों झांकियां, बैंड-बाजा, आर्केष्ट्रा व भांगड़ा पार्टी वाले। महाशिवरात्रि के पावन मौके पर हाजीपुर के लाखों लोगों ने शुक्रवार को इस अनूठे दृश्य का दीदार किया। पातालेश्वर नाथ से निकली भगवान शिव की बरात मस्जिद चौक होते हुए थाना चौक, गुदरी बाजार, राजेंद्र चौक, सिनेमा रोड, यादव चौक, अनवरपुर चौक, डाकबंगला रोड होते हुए शाम के करीब चार बजे अक्षयवट राय स्टेडियम पहुंची। भगवान शिव की बरात देखने के लिए सड़क के दोनों ओर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जमा थी। 

दो दशक से नित्यानंद कर रहे परंपरा का निर्वहन 

पहली बार केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री बने नित्यानंद राय हाजीपुर में महाशिवरात्रि पर निकलने वाली शिव की भव्य एवं आकर्षक बरात में बाबा भोलेनाथ के गाड़ीवान बने। गाड़ीवान की भूमिका में बाबा भोलेनाथ को बैलगाड़ी पर सवार कर बरात में शामिल होते हैं। अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत के पहले से ही नित्यानंद राय इस परंपरा का निर्वहन करते आ रहे हैं। हाजीपुर से चार दफा भाजपा के विधायक, उजियारपुर के सांसद एवं भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष रहते इस परंपरा का निर्वहन किया। 

सुरक्षा के थे खास इंतजाम 

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बरात में शामिल होने को लेकर सुरक्षा का खास बंदोबस्त किया गया था। बाबा भोलेनाथ को लेकर जिस बैलगाड़ी के नित्यानंद गाड़ीवान बने थे, उसके चारों ओर एसएसबी के जवानों ने घेराबंदी कर रखी थी। इसके अलावा बीएमपी एवं जिला सशस्त्र बल के जवानों ने सुरक्षा को लेकर मोर्चा संभाल रखा था। हाजीपुर सदर के एसडीएम संदीप शेखर प्रियदर्शी एवं एसडीपीओ राघव दयाल सुरक्षा इंतजामों पर पैनी नजर रख पैदल चल रहे थे। 

Categories: Bihar News

बिहार में नौ हजार सहायक प्रोफेसरों की बंपर नियुक्ति का रास्ता साफ, मार्च से आरंभ होगी प्रक्रिया

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 7:35pm

पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार के  विश्वविद्यालयों में नौ हजार पदों पर सहायक प्रोफेसर की नियुक्ति का रास्ता अब साफ हो गया है। शिक्षा विभाग के आग्रह पर राजभवन ने विद्यार्थियों की संख्या के आधार पर सहायक प्रोफेसर की नियुक्ति को मंजूरी दी है। राजभवन ने कुलपतियों को आदेश दिया है कि जिन विश्वविद्यालयों ने अबतक रिक्तियों की सूची शिक्षा विभाग को मुहैया नहीं करायी है, वो तत्काल ऐसा कर दें।

 शिक्षा विभाग ने इस माह के अंत तक सहायक प्रोफेसर की नियुक्तियों संबंधी अधियाचना विश्वविद्यालय सेवा आयोग को भेजने का निर्णय लिया है ताकि मार्च में सहायक प्रोफेसर की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो सके। उच्च शिक्षा निदेशालय का मानना है कि विश्वविद्यालयों में उपलब्ध रिक्तियों के विरुद्ध छह माह के अंदर नियुक्ति प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। विश्वविद्यालय सेवा आयोग (यूजीसी) ने भी छह माह में सभी खाली पदों को भरने का निर्देश दिया है।

विश्वविद्यालयवार रिक्तियां, एक नजर

पटना विवि में 492, मगध विवि में 1443, ललित नारायण मिथिला विवि में 1199 व कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विवि में 380 पद, बीआरए बिहार विवि में 1160, मौलाना मजहरूल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय में 55, जय प्रकाश विवि में 636 वीर कुंवर सिंह विवि में 596 बीएन मंडल विवि में 698 तथा  तिलका मांझी भागलपुर विवि में 826 पद खाली हैं।

Categories: Bihar News

Bharat Bandh: 23 फरवरी के भारत बंद को बिहार में महागठबंधन ने दिया समर्थन, भीम आर्मी ने किया है आह्वान

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 6:52pm

पटना, जेएनएन। 23 फरवरी को भारत बंद है। भीम आर्मी ने इसका आह्वान किया है। भारत बंद को बिहार में महागठबंधन ने पूरा समर्थन दिया है। महागठबंधन में शामिल घटक दल समर्थन की घोषणा की है। इतना ही नहीं, हिंदुस्‍तानी आवाम मोर्चा (हम) के नेताओं ने भारत बंद के दौरान बिहार के जिलों में सड़कों पर उतरने की बात कही है। वहीं, राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद), राष्‍ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) व विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) ने भी बंद को समर्थन देने की बात कही है और कहा है कि भारत बंद का बिहार में व्‍यापक असर रहेगा।  

राजद भीम आर्मी और अन्य सामाजिक संगठनों द्वारा दिनांक 23 फ़रवरी को आरक्षण और संविधान बचाने के जिन उद्देश्यों को लेकर भारत बंद किया है उसका समर्थन करता है। पटना में 23 फ़रवरी को पटना ज़िला के भेटनरी कॉलेज मैदान से राजद की बेरोज़गारी हटाओ यात्रा का एक विशाल जनसभा से शुभारंभ होगा। pic.twitter.com/a4Wbdv3smR

— Rashtriya Janata Dal (@RJDforIndia) February 21, 2020

राष्‍ट्रीय जनता दल की ओर से अपने ट्विटर अकाउंट पर इसे पोस्‍ट भी किया है। उन्‍होंने ट्वीट में लिखा है- 'भीम आर्मी और अन्य सामाजिक संगठनों द्वारा दिनांक 23 फ़रवरी को आरक्षण और संविधान बचाने के जिन उद्देश्यों को लेकर भारत बंद किया है, राजद उसका समर्थन करता है। पटना में 23 फ़रवरी को पटना ज़िला के वेटनरी कॉलेज मैदान से राजद की बेरोज़गारी हटाओ यात्रा का एक विशाल जनसभा से शुभारंभ होगा।' इस ट्वीट के साथ राजद के कार्यालय सचिव चंद्रशेखर सिंह के हस्‍ताक्षर से जारी बयान को भी टैग किया गया है। 

इसी तरह, राष्‍ट्रीय लोकसमता पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने भी भारत बंद का खुलकर समर्थन किया है। इसे लेकर पार्टी की ओर से ट्वीट किया गया है। उपेंद्र कुशवाहा ने इस ट्वीट को लाइक किया है। रालोसपा ने अपने ट्वीट में कहा है- 'आगामी 23 फरवरी को भीम आर्मी, भारत एकता मिशन व अन्य संगठनों द्वारा संविधान और आरक्षण के साथ छेड़छाड़ एवं सीएए, एनआरसी के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया गया है। रालोसपा इस बंद का पुरजोर समर्थन करती है। पार्टी की तरफ से अहम भागीदारी रहेगी।'  

आगामी 23 फरवरी को भीम आर्मी, भारत एकता मिशन व अन्य संगठनों द्वारा संविधान और आरक्षण के साथ छेड़छाड़ एवं सीएए, एनआरसी के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया गया है। #रालोसपा इस बंद का पुरजोर समर्थन करती है। पार्टी की तरफ से अहम भागीदारी रहेगी। :@UpendraRLSP

— RLSP (@RLSPIndia) February 20, 2020

इसी तरह, बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री व हम के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जीतन राम मांझी ने भी भारत बंद का बिहार में समर्थन किया है। उन्‍होंने शुक्रवार को किए गए अपने ट्वीट में कहा है कि भीम आर्मी द्वारा दिनांक 23 फ़रवरी को आरक्षण और संविधान बचाने के जिन उद्देश्यों को लेकर भारत बंद किया है, HAM पार्टी उसका समर्थन करती है। दूसरी ओर, हम के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता दानिश रिजवान ने कहा कि आगामी 23 फ़रवरी को आरक्षण NCR NPR और CAA जैसे मुद्दों को लेकर भीम आर्मी द्वारा आयोजित भारत बंद में हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के नेता और कार्यकर्ता भी शामिल रहेंगे। उन्‍होंने बताया कि केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा लगातार संविधान के साथ छेड़-छाड़ किया जा रहा है। अल्पसंख्यक समाज के ऊपर अत्याचार किया जा रहा है। इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि ऐसे मुद्दों पर पार्टी सड़क से लेकर सदन तक सरकार को घेरने का काम करेगी। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यन्त्री ने सभी जिला अध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारियों एवं नेताओं को बंद में शामिल होने का निर्देश दिया ।

भीम आर्मी द्वारा दिनांक 23 फ़रवरी को आरक्षण और संविधान बचाने के जिन उद्देश्यों को लेकर भारत बंद किया है HAM उसका समर्थन करतें हैं।@NitishKumar @KashishBihar @ZeeBiharNews @News18Bihar @BhimArmyChief

— Jitan Ram Manjhi (@jitanrmanjhi) February 21, 2020

  उधर, भारत एकता मिशन व अन्य संगठनों द्वारा 23 फरवरी को बुलाए गए भारत बंद का वीआईपी ने समर्थन किया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी ने कहा कि भारत बंद में पार्टी की पूरे बिहार में सक्रिय भागीदारी रहेगी। पार्टी कार्यकर्ता विभिन्न स्थानों पर बंद में शामिल रहेंगे। उन्होंने कहा कि आरक्षण के साथ किसी भी तरह का छेड़छाड़ बिलकुल भी बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा। आरक्षण समाप्त कर कोई पिछड़े, अतिपछड़े, दलित, महादलित, शोषित व वंचित वर्ग के लोगों का हक मारने का प्रयास करेगा, तो उनके समाज को तोड़ने वाले मंसूबों को सफल नहीं होने दिया जायेगा। सहनी ने यह भी कहा कि हमें CAA, NPR तथा NRC नहीं, बल्कि रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य चाहिए। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। आमजनों का जीवन-यापन लगातार मुश्किल होता जा रहा है।

Categories: Bihar News

साहा पर पंत को तरजीह देना सही कदम

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 6:36pm

बोले सुरेंद्र खन्ना

-रिषभ की उम्र और भारतीय क्रिकेट के भविष्य को देख विराट ने लिया फैसला

-टेस्ट में खराब शुरुआत के बावजूद टीम इंडिया करेगी वापसी

अरुण सिंह, पटना

न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हुए पहले टेस्ट मैच में नियमित विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को मौका न दिए जाने पर कप्तान विराट कोहली की भले ही आलोचना हो रही हो, लेकिन पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सुरेंद्र खन्ना ने इसे कप्तान का सकारात्मक कदम बताया है। पटना में आयोजित ऑल इंडिया एमपी वर्मा क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में पधारे खन्ना ने जागरण से खास बातचीत में बताया कि निसंदेह साहा भारतीय टीम का बेस्ट विकेटकीपर है, लेकिन सही उम्र, आक्रामक रवैया और भारतीय क्रिकेट के भविष्य को देखते हुए रिषभ पंत को मौका दिया गया है। पंत ने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड में अच्छी बल्लेबाजी की थी और उम्मीद है कि न्यूजीलैंड में भी उनका बल्ला चलेगा और वह विकेट के पीछे विराट के भरोसे पर सौ प्रतिशत खरा उतरेंगे।

टी-20 में 5-0 से कीवियों का सफाया करने के बाद वनडे में टीम इंडिया का सूपड़ा साफ होने और अब टेस्ट के पहले दिन खराब बल्लेबाजी पर खन्ना का मानना है कि न्यूजीलैंड को इसका पूरा श्रेय देना चाहिए। उनके पास बड़े नाम नहीं हैं, लेकिन वातावरण अनुकूल हो तो कीवी क्रिकेटर बड़ा काम जरूर कर जाते हैं। केन विलियमसन ने टॉस जीत कर आधा काम कर दिया। सीमिंग कंडिशन में उनके तेज गेंदबाजों ने आधी भारतीय टीम को पवेलियन भी भेज दिया है, लेकिन अपने पास बुमराह, इशात जैसे गेंदबाज हैं। दो सौ रन स्कोर बोर्ड पर टंगने के बाद विराट की सेना वापसी करने का माद्दा रखती है।

खन्ना ने आइसीसी महिला टी-20 विश्व कप में भारत को प्रबल दावेदार बताते हुए कहा कि ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद अब इंग्लैंड और न्यूजीलैंड से पार पाने में वे कामयाब रहीं तो खिताब जीत सकती हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) के अध्यक्ष सौरव गागुली की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी सकारात्मक सोच का मैं कायल हूं। उन्होंने भारतीय टीम को डे-नाइट क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित किया। उनके आने से घरेलू क्रिकेट में काफी बदलाव आया है। वे राज्य संघों को आर्थिक मदद कर उन्हें अपने पैरों पर खड़ा होने का अवसर दे रहे हैं। इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) गवर्निंग काउंसिल के सदस्य खन्ना के अनुसार, इस बार दुनिया की सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली लीग में कई बदलाव किए गए हैं। फ्रेंचाइजी और उनके खिलाड़ियों को पहले से ज्यादा सुविधा दी जाएगी। साथ ही लीग के बीच में होने वाले महिला टीमों के मुकाबले के लिए टीमों की संख्या तीन से बढ़ाकर चार कर दी गई है।

बंद कमरे के अंदर बीसीए सुलझाए विवाद नहीं तो बीसीसीआइ लेगा संज्ञान

बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (बीसीए) के अध्यक्ष और सचिव के बीच आपसी खींचतान को खतरनाक बताते हुए सुरेंद्र खन्ना ने कहा कि उन्हें बंद कमरे के अंदर सारे विवाद को सुलझा लेना चाहिए। इसी में बिहार क्रिकेट और यहा के क्रिकेटरों की भलाई है । बीसीसीआइ की नजर उनपर है। हालात नहीं सुधरे तो बीसीसीआइ संज्ञान लेने में भी पीछे नहीं हटेगा। उन्होंने बताया कि 18 साल बाद बिहार में क्रिकेट को शुरू करने का श्रेय आदित्य वर्मा को जाता है। सौरव गागुली, मुहम्मद अजहरुद्दीन उनके टूर्नामेंट की तारीफ कर रहे हैं। आदित्य के हाथों में बिहार क्रिकेट काफी सुरक्षित रहेगा ।

Categories: Bihar News

शराबबंदी को लेकर नीतीश ने दी डीजीपी को नसीहत, तो होम डिलीवरी के नाम पर विपक्ष को घेरा

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 5:52pm

पटना, जेएनएन। Nitish advises DGP on liquorban Then attacks on opposition in the name of home delivery : बिहार में शराबबंदी को लेकर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय को नसीहत दी है। साथ ही शराब की होम डिलीवरी को लेकर विपक्ष पर तंज भी कसा है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार शुक्रवार को पटना के एसके मेमोरियल हॉल में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं। एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम में मंत्री श्‍याम रजक, देवेशचंद्र ठाकुर  के अलावा अन्‍य कई नेता व पदाधिकारी शामिल हैं।  मुख्‍यमंत्री ने बिहार में पुलिस स्‍मारक बनाने की बात भी कही है। 

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी को लेकर होम डिलीवरी की बात वही करते हैं जो शराब पीने के चक्‍कर में रहते हैं। इसे लेकर वैसे ही लोग आरोप लगाते रहते हैं। इसके साथ ही शराबबंदी को लेकर उन्‍होंने डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय को भी लगे हाथ नसीहत दे दी। 

दरअसल, चार-पांच दिन पहले डीजीपी ने औरंगाबाद में कहा था कि थाना के संरक्षण के बिना कोई शराब नहीं बेच सकता है। हालांकि, उन्‍होंने पुलिस को चेतावनी भी दी थी कि इस मामले में कड़ी कार्रवाई जाएगी। बाद में डीजीपी का बयान सियासी मुद्दा बन गया। वहीं, विपक्ष की ओर से बार-बार आरोप लगाया जा रहा है कि बिहार में शराब की होम‍ डिलीवरी हो रही है। माना जा रहा है कि इसी को लेकर मुख्‍यमंत्री ने होम डिलीवरी के नाम पर विपक्ष को निशाने पर लिया।

Categories: Bihar News

नड्डा के बिहार आने का काउंट डाउन शुरू... कार्यालयों के उद्घाटन को बीजेपी ने सजाई मंत्रियों की फील्डिंग

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 5:34pm

पटना, जेएनएन।  भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के बिहार आने का काउंट डाउन शुरू हो गया है। पटना में बीजेपी कोर कमेटी की बैठक होगी। साथ ही पटना समेत 11 जिलों में वीडियो काॅन्‍फ्रेंसिंग से पार्टी कार्यालयों का उद्घाटन होगा। इसके लिए बिहार सरकार में शामिल बीजेपी कोटे के मंत्रियों की फील्डिंग सजाई गई है। कौन मंत्री कहां रहेंगे, इसकी लिस्‍ट बना ली गई है। इसके लिए शिलापट्ट भी बनकर तैयार हो गए हैं। इसके साथ ही बड़ी बात कि नड्डा अपने बेटे की शादी का न्‍यौता भी देंगे। न्‍यौता देने के लिए सीएम नीतीश कुमार के पास जाएंगे। 

22 फरवरी को होगी कोर कमेटी की मीटिंग

बिहार भाजपा ने जिला कार्यालयों के उद्घाटन में सरकार में शामिल पार्टी के मंत्रियों के अलावा प्रदेश पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की भी ड्यूटी दी गई है। 22 फरवरी को जेपी नड्डा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पार्टी कार्यालयों का उद्घाटन करेंगे। पार्टी की कोर कमेटी की बैठक के बाद बीजेपी की नई प्रदेश टीम के गठन पर अपनी सहमति भी देंगे। 

इन कार्यालयों का होगा उद्घाटन और रहेंगे मौजूद

  • अरवल में प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल शर्मा और सांसद रामकृपाल यादव 
  • नवगछिया में मंत्री बिनोद सिंह और प्रदेश महामंत्री राधा मोहन शर्मा
  • भागलपुर में मंत्री राम नारायण मंडल और प्रदेश उपाध्यक्ष सम्राट चौधरी
  • सहरसा में पार्टी के प्रदेश मंत्री मृत्युंजय झा
  • शिवहर में नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा और सांसद रमा देवी
  • लखीसराय में मंत्री विजय सिन्हा और प्रदेश पदाधिकारी पिंकी कुशवाहा
  • गोपालगंज में राणा रणधीर सिंह और प्रदेश उपाध्यक्ष मिथिलेश तिवारी
  • समस्तीपुर में विनोद नारायण झा और सांसद अजय निषाद
  • सिवान में मंत्री प्रमोद कुमार और किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सिंह
  • औरंगाबाद में सांसद सुशील सिंह
  • सासाराम में मंत्री ब्रज किशोर बिंद, प्रदेश महामंत्री राजेंद्र सिंह, उपाध्यक्ष निवेदिता सिंह व सांसद गोपाल नारायण।

 बेटे की शादी का देंगे न्‍यौता 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के बेटे गिरीश की शादी 25 फरवरी को है। शादी राजस्‍थान के पुष्‍कर में होगी। इसे लेकर वे अपने बेटे की शादी का न्‍यौता भी देंगे। वे शनिवार को पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बेटे की शादी और प्रीतिभोज के लिए आमंत्रित करेंगे। बता दें कि नड्डा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान संभालने के बाद पहली बार पटना आ रहे हैं। बिहार भाजपा में चर्चा है कि पटना दौरे में नड्डा कॉलेज के जमाने के मित्र और बिहार भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र गुप्ता के घर भी शादी का न्योता देने जाएंगे।

Categories: Bihar News

गिरिराज के विवादित बयान पर बिहार में राजनीतिक बवाल, LJP नेता चिराग ने भी दी नसीहत

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 3:24pm

पटना, जेएनएन। भाजपा नेता सह केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के विवादित बयान से बिहार में राजनीति गरमा गई है। एक तरफ हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने ट्वीट कर उनपर तंज कसा है तो वहीं एनडीए में शामिल लोक जन शक्ति पार्टी के अध्यक्ष व जमुई से सांसद चिराग पासवान ने भी केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के विवादित बयान पर उन्हें नसीहत दे डाली है।

चिराग पासवान ने कहा कि गिरिराज को विभाजनकारी, अराजकता फैलाने वाले और समाज को बांटने वाले बयान से बचना चाहिए। इस तरह के बयानों का हश्र हम दिल्ली चुनाव में देख चुके हैं। हमारी सोच सभी को साथ लेकर चलने की है और यही उम्मीद मुझे भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से है। मैं उनके देश को बांटने वाले बयान से असहमत हूं। 

चिराग ने कहा कि गिरिराज सिंह की क्या सोच है और वे क्यों इस तरह का बयान दे रहे हैं? ऐसे बयानों को किसी भी हाल में सही नहीं ठहराया जा सकता। दिल्ली में भी इस तरह के बयानों से नुकसान हुआ और अमित शाह ने भी इसे स्वीकार किया है कि ऐसे बयानों के चलते पार्टी की हार हुई।

वहीं, गिरिराज सिंह के विवादित बयान को लेकर बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसा। मांझी ने नीतीश से मांग की- नीतीश जी, क्या आप पाकिस्तानियों के भारतीय रहनुमा गिरिराज सिंह जी के बातों से सहमत हैं? क्या आपको भी लगता है कि मुस्लिम भाईयों को पाकिस्तान भेज देना चाहिए? हिम्मत है तो गिरिराज सिंह जैसों को मंत्रिमंडल से बाहर करवाएं नहीं तो बिहार आपको माफ़ नहीं करेगा।

बता दें कि गिरिराज सिंह ने गुरुवार को पूर्णिया में कहा था कि हमारे पूर्वजों से गलती हो गई। मुसलमान भाइयों को 1947 में ही वहां (पाकिस्तान) भेज दिया जाना चाहिए था। सिंह के मुताबिक, 1947 के पहले हमारे पूर्वज आजादी की लड़ाई लड़ रहे थे, उसी वक्त मोहम्मद अली जिन्ना इस्लामिक स्टेट की योजना बना रहे थे। गिरिराज के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। सिंह ने ये भी कहा कि पूर्वजों की गलती का खामियाजा हमें आज उठाना पड़ रहा है।

Categories: Bihar News

Top Patna News Of The Day यहां पढ़ें पटना यूनिट की टॉप खबरें

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 3:22pm

Top Patna News, 21 February Patna News, Top Patna News of the day, पटना की प्रमुख खबरें, पटना की टॉप खबरें।

महा शिवरात्रि पर गूंजा बोल बम

पटना, जेएनएन। महाशिवरात्रि पर राजधानी के शिवालयों का रंग-रोगन देखते ही बन रहा था। शुक्रवार की सुबह से ही मंदिरों में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालु उमड़ने लगे। घरों में भी माहौल भक्तिमय हो गया था। भगवान शिव के भजन गाये जा रहे थे। भक्तों को मंदिर परिसर में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो जिसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी किए गए थे।

अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में तीन की मौत

पटना, जेएनएन। बिहार की राजधानी पटना और सिवान में हुई अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में तीन ने अपनी जान गंवा दी। छपरा-सिवान मुख्य पथ पर जहां अज्ञात वाहन की ठोकर से दो की मौत हो गई तो पटना के दुल्हिन बाजार इलाके में दो बाइकों की सीधी टक्कर में एक दस वर्षीय छात्र की मौत हो गई। हादसे के बाद मृतकों के स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

बक्सर में दो बच्चे कुएं में गिरे

बक्सर, जेएनएन। बिहार के बक्सर में गुरुवार की रात दर्दनाक हादसा हो गया। इटाढ़ी थाना क्षेत्र के हेठुआ गांव में कुएं में गिरकर एक बच्चे की मौत हो गई है। घटना गुरुवार की देर रात हुई। हादसा गांव में आई एक बरात के दौरान हुआ। बताया जाता है कि बरात में आए हाथी, घोड़े और ऊंट को देखने के क्रम में हुई दुर्घटना में दो बच्चे कुएं में गिर गए, जिसमें एक को बचा लिया गया जबकि दूसरे की मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

ट्रेन से मोबाइल लूटने वाला गिरफ्तार

पटना, जेएनएन। खुसरूपुर स्टेशन से गुरुवार की देर रात पुलिस ने एक मोबाइल लुटेरे को धर दबोचा। गिरफ्तार आरोपित खुसरूपुर स्टेशन से गुजरने वाली ट्रेनों में यात्रा के दौरान खिड़की व गेट पर खड़े रहने वाले यात्रियों से मोबाइल लूट लेता था। लुटेरे की पहचान बैकठपुर कालीस्थान निवासी स्व. राजकुमार साव के पुत्र चंदन कुमार के रूप में हुई है। पुलिस की कार्रवाई के दौरान उसके अन्य साथी फरार हो गए। पुलिस पकड़े गए लुटेरे से पूछताछ कर उसके अन्य साथियों की तलाश में जुट गई है।

Categories: Bihar News

एक्जीबिशन रोड फ्लाईओवर होगा टू-वे, जीपीओ गोलंबर से गांधी मैदान जा सकेंगे वाहन

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 2:43pm

पटना, जेएनएन। मई से एक्जीबिशन रोड फ्लाईओवर पर दोनों तरफ से गाडिय़ां फर्राटा भरने लगेंगी। फिलहाल यह फ्लाईओवर वनवे है और सिर्फ गांधी मैदान के रामगुलाम चौक से इसपर चढ़ सकते हैं। अभी इससे सिर्फ चिरैयाटांड पुल की ओर ही जाया जा सकता है।

11 करोड़ की लागत आएगी निर्माण में

मीठापुर फ्लाईओवर पर जीपीओ गोलंबर से महावीर मंदिर के सामने से होते हुए चिरैयाटांड पुल को जोड़ने वाले ओवरब्रिज से इसके लिए आर्म निकाली जा रही है। यह एक्जीबिशन रोड फ्लाईओवर में मिलेगी। 11 करोड़ की लागत इसके निर्माण में आएगी। 30 अप्रैल तक कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। बिहार राज्य पुल निर्माण निगम यह कार्य कर रहा है।

जीपीओ गोलंबर से गांधी मैदान की ओर जाना होगा आसान

निर्माण पूरा होने के बाद मीठापुर फ्लाईओवर पर जीपीओ गोलंबर से गांधी मैदान की ओर जाना आसान हो जाएगा। एक्जीबिशन रोड फ्लाईओवर साढ़े पांच मीटर चौड़ा है। अभी वनवे है। फरवरी 2016 में इसका शुभारंभ हुआ था। लंबाई 760 मीटर है। यातायात व्यवस्था में परेशानी के बाद अभियंताओं ने दोनों ओर से वाहन परिचालन की संभावना की जांच की थी। जांच के बाद दोनों तरफ से वाहनों के आने-जाने की सुविधा देने की दिशा में कदम बढ़ाया गया।

जाम से मिलेगी राहत

जब ऊपर से ही जाने की सुविधा मिलेगी तो एक्जीबिशन रोड में जाम में फंसने से राहत मिलेगी। अक्टूबर से कार्य चल रहा है। बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के अधिकारी के अनुसार एक्जीबिशन रोड और स्टेशन रोड फ्लाईओवर को एक आर्म बनाकर जोडऩे से यह संभव हो सकेगा।

ये भी सुविधा मिलेगी

मार्च के अंतिम सप्ताह में आर. ब्लॉक फ्लाईओवर पर वीरचंद पटेल पथ से सप्तमूर्ति के बीच गाडिय़ां दौडऩे लगेंगी। फ्लाईओवर की ढलाई का काम पूरा हो गया है। सभी कार्य आठ मार्च तक पूरे हो जाएंगे। 20 मार्च तक रंग-रोगन से लेकर कालीकरण का कार्य होगा। इस फ्लाईओवर के चालू होने के बाद पटना शहर की यातायात व्यवस्था में काफी सुधार आएगा।

Categories: Bihar News

लालू के लाल तेजप्रताप ने CM नीतीश को बता दिया कंस, फिर छेड़ी बांसुरी की तान, Video Viral

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 2:41pm

पटना, जेएनएन। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेजप्रताप यादव विवादित बयान देते रहते हैं। एक बार फिर उन्होंने विवादित बयान दिया है और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कंस बता दिया है। इसके साथ ही तेजप्रताप ने कहा है कि जिस तरह से कंस का वध हुआ था, वैसे ही नीतीश कुमार का 2020 के विधानसभा चुनाव में वध किया जाएगा। तेजप्रताप के इस भाषण से बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है।

वहीं, महाशिवरात्रि के अवसर पर तेजप्रताप यादव ने अपने पटना स्थित आवास पर भगवान शिव की पूजा-आराधना की। तेजप्रताप यादव ने लाल रंग की धोती पीले रंग का कुर्ता पहन रखा था। माथे पर चंदन-तिलक लगाकर उन्होंने भगवान शिव का विधिवत रूद्राभिषेक किया।

बता दें कि हाजीपुर के राजापाकर में एक धार्मिक अनुष्ठान में पहुंचे तेज प्रताप ने लोगों को संबोधित करते हुए यह कह दिया कि जिस तरह से कंस का वध किया गया था उसी प्रकार आने वाले 2020 के चुनाव में नीतीश कुमार का वध किया जाएगा। तेज प्रताप ने ये शब्द ना केवल खुद अपनी जबान से कही, बल्कि कार्यक्रम में मौजूद लोगों भी कहलवाया।

#lalu के लाल #तेजप्रताप ने #nitishkumar के लिए कह दी ये बात फिर छेड़ी बांसुरी की तान#Bihar #tejpratap #नीतीशकुमार pic.twitter.com/TmtMo7JjGf

— kajal lall (@lallkajal) February 21, 2020

तेजप्रताप ने मंच से सवाल किया कि 2020 में किसका वध होगा? इस दौरान उन्होंने सभा में मौजूद लोगों से इसका जवाब भी मांगा और वहां मौजूद लोगों ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार का नाम लिया। इसके बाद तेजप्रताप यादव ने बांसुरी बजाई और शंख बजाकर भी सभा में मौजूद लोगों को अपनी और आकर्षित करते हुए आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में सब को तैयार रहने को कहा। उनके बयान का वीडियो वायरल हो रहा है। 

इससे पहले भी तेजप्रताप सीएम नीतीश कुमार से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर भी बयान दिया था। बीते दिनों पीएम मोदी ने दिल्ली के हुनर हाट पर बिहार का मशहूर व्यंजन लिट्टी-चोखा खाया, इसपर तेजप्रताप ने पीएम मोजी को लेकर विवादित ट्वीट किया तो यूजर्स ने उन्हें ट्रोल किया। उसके बाद  तेजप्रताप ने गुरुवार को सत्तू खाया और पीएम मोदी को बिहार आने का न्योता दिया।

तेजप्रताप ने कहा था कि प्रधानमंत्री जी दिल्ली का लिट्टी चोखा छोड़िए और बिहार आइये, हम आपको अपने हाथों से बनाया सत्तू खिलाएंगे। इसे मैं और मेरे पिता लालू यादव भी काफी पसंद करते हैं।

Categories: Bihar News

RJD-कांग्रेस के बिना दिल्ली में पक रही बिहार महागठबंधन की खिचड़ी, जानिए

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 2:26pm

पटना, जेएनएन। बिहार में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में राजनीतिक दलों की तैयारी चल रही है। इसी बीच एनडीए में तो मामला ठीक लग रहा है, लेकिन विपक्षी महागठबंधन में खींच-तान जारी है। इस बीच राजद-कांग्रेस के बिना अन्य छोटे दलों की राजनीतिक खिचड़ी कभी पटना में तो कभी दिल्ली में पक रही है। इस खिचड़ी में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की भी सहभागिता की बात कही जा रही है, लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर कहा जा रहा है कि वो इस खिचड़ी का हिस्सा नहीं होंगे।

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को दिल्ली के पांच सितारा होटल में जदयू के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शरद यादव ने प्रशांत किशोर से मुलाकात की। इस दौरान रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा और वीआईपी के नेता मुकेश सहनी की भी मौजूदगी रही। कहा जा रहा है कि सबने प्रशांत किशोर से मुलाकात कर गैर एनडीए दलों को एक साथ आने में पहल करने की बात कही है।

महागठबंधन के नेताओं के साथ हुई बैठक में प्रशांत किशोर ने इन नेताओं से कहा कि अगर वे लोग उनसे जुड़ना चाहते हैं, तो जुड़ सकते हैं। उन्होंने तीनों नेताओं से यह भी कहा कि वे बिहार की बेहतरी के लिए काम करेंगे और फिलहाल कोई पार्टी बनाने नहीं जा रहे हैं। 

इसके बाद आज दिल्ली में शरद यादव के साथ हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा यानी हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी, रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा और वीआइपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने अहम बैठक की। बैठक में महागठबंधन की एकता पर बात की गई।

बता दें कि प्रशांत किशोर ने पहले ही कह दिया है कि वो किसी राजनीतिक दल का ना तो हिस्सा बनेंगे ना ही किसी की जीत-हार तय करेंगे। अब बस वो बिहार के विकास की बात करेंगे। गुरुवार से प्रशांत किशोर का कार्यक्रम बिहार की बात शुरू हो गया है, जिसमें काफी संख्या में लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। एेसे में लगता नहीं कि प्रशांत किशोर महागठबंधन की बात मानेंगे।

 

Categories: Bihar News

ट्रेन की खिड़की व गेट पर खड़े यात्री पर रहती थी नजर, डंडा मार चंद सेकेंड में छीन लेता था मोबाइल

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 2:01pm

पटना, जेएनएन। खुसरूपुर स्टेशन से गुरुवार की देर रात पुलिस ने एक मोबाइल लुटेरे को धर दबोचा। गिरफ्तार आरोपित खुसरूपुर स्टेशन से गुजरने वाली ट्रेनों में यात्रा के दौरान खिड़की व गेट पर खड़े रहने वाले यात्रियों से मोबाइल लूट लेता था। लुटेरे की पहचान बैकठपुर कालीस्थान निवासी स्व. राजकुमार साव के पुत्र चंदन कुमार के रूप में हुई है। पुलिस की कार्रवाई के दौरान उसके अन्य साथी फरार हो गए। पुलिस पकड़े गए लुटेरे से पूछताछ कर उसके अन्य साथियों की तलाश में जुट गई है।

अंधेरे का फायदा उठा डंडा मार छीना मोबाइल

बताया जाता है कि दानापुर रेल मंडल के फतुहा खुसरूपुर रेलखंड पर अपराधियों ने मोबाइल लूटने का नया फंडा अख्तियार कर लिया था, लेकिन गुरुवार को एक वारदात महंगी पड़ी। बैकठपुर निवासी बलराम कुमार साउथ बिहार एक्सप्रेस से यात्रा कर रहे थे। गुरुवार की देर रात ट्रेन जैसे ही खुसरूपुर स्टेशन के आउटर सिग्नल पार कर रही थी कि अंधेरे में खड़े युवक ने बलराम के हाथ में डंडा मार दिया। जिससे उनका मोबाइल ट्रेन के नीचे गिर गया और एक युवक उनका फोन लेकर फरार हो गया।

पुलिस को देख भागने लगे अपराधी

घटना के बाद पीड़ित यात्री ने डंडा मार मोबाइल लूटने की शिकायत रेल पुलिस से की। जानकारी होने पर जब पुलिस घटनास्थल पहुंची तो देखा कि तीन से चार की संख्या में आपराधिक प्रवृत्ति के युवक वहां गांजा पी रहे थे। जैसे ही उन्होंने पुलिस को देखा कि सभी भागने लगे। इस दौरान पुलिस ने एक को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपित ने स्वीकार की पुरानी वारदातों में संलिप्तता

पकड़े गए आरोपित की पहचान बैकठपुर कालीस्थान निवासी स्व राजकुमार साव के पुत्र चंदन कुमार के रूप में हुई है। रेल पोस्ट प्रभारी राधेश्याम सिंह ने बताया कि आरोपित आदतन अपराधी है। पूछताछ में उसने साथियों के नाम पते के साथ पूर्व की घटनाओं में संलिप्तता स्वीकार की है। उसकी निशानदेही पर अन्य बदमाशों की तलाश की जा रही है।

Categories: Bihar News

गिरिराज का बड़ा बयान: मुसलमानों को आजादी के समय ही भेजना था पाकिस्तान, पूर्वजों ने गलती की

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 1:01pm

पटना/ मधुबनी, जागरण टीम। केंद्रीय मंत्री  व भारतीय जनता पार्टी (BJP) के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) अल्‍पसंख्‍यकों को पाकिस्‍तान भेजने वाले विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहते आए हैं। ऐसा ही एक और बयान उन्‍होंने पूर्णिया और मधुबनी में दिया। उन्‍होंने कहा है कि मुसलमानों को तो 1947 में ही पाकिस्तान भेज देना चाहिए था। ऐसा नहीं कर हमारे पूर्वजों ने गलती की। इसके बाद शुक्रवार को उन्‍होंने ट्वीट कर एआइएमआइएम (AIMIM) सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के मंच से 'पाकिस्‍तान जिंदाबाद' के नारे तथा एआइएमआइएम प्रवक्‍ता वारिस पठान के सौ करोड़ हिंदुआ पर 15 करोड़ मुसलमानों के भारी पड़ने के बयान पर भी कड़ी प्रतिक्रिया दी।

ट्वीट कर ओवैसी व वारिस पठान पर साधा निशाना

गिरिराज सिंह ने शुक्रवार को ट्वीट कर ओवैसी व वारिस पठान के साथ कांग्रेस व राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) पर निशाना साधा है। उन्‍होंने लिखा है कि ओवैसी के भाई ने कहा था कि 15 मिनट के लिए पुलिस हटा लो, हम सौ करोड़ हिंदुओं को बता देंगे। वारिस पठान ने कहा कि 15 करोड़ मुसलमान सौ करोड़ हिंदुओं पर भारी पड़ेंगे। ओवैसी के मंच से 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' का नारा लगता है। गिरिराज ने कांग्रेस, व आरजेडी और टुकड़े टुकड़े गैंग से सवाल किया कि क्या वे हिंदुस्तान को पाकिस्तान बनाना चाहते हैं?

•ओवैसि का भाई :-15 मिनट के लिए पुलिस हटा लो 100Cr. हिंदुओं को बता देंगे।

• वारिस पठान :-15Cr 100Cr. पर भारी पड़ेंगे।

•ओवैसि के मंच से :-पाकिस्तान ज़िंदाबाद

कांग्रेस आरजेडी और टुकड़े टुकड़े गैंग से पूछना चाहते है “ क्या ये हिंदुस्तान को पाकिस्तान बनाना चाहते हैं”? pic.twitter.com/I3DIQUPAPR

— Shandilya Giriraj Singh (@girirajsinghbjp) February 21, 2020

कहा: आजादी के समय ही मुसलमानों को भेजना था पाकिस्‍तान

इसके एक दिन पहले गुरुवार को गिरिराज सिंह ने पूर्णिया में कहा था कि 1947 में आजादी के समय हमारे पूर्वजों से भूल हुई थी। अगर उसी समय मुसलमान भाइयों को पाकिस्तान भेज दिया जाता और हिंदुओं को वहां से भारत बुला लिया जाता तो आज विवाद की नौबत ही नहीं आती। गिरिराज सिंह नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के हो रहे विरोध को लेकर बोल रहे थे।

कांग्रेस व वाम दल बोलते पाकिस्तान की जुबान

गिरिराज सिंह ने कहा कि 1947 के पहले हमारे पूर्वज देश की आजादी के लिए लड़ रहे थे। दूसरी ओर मोहम्‍मद अली जिन्ना देश को इस्लामिक स्टेट बनाने की योजना बना रहे थे। आज भी कुछ ऐसा ही माहौल कायम है।

गिरिराज सिंह ने कहा कि सीएए पर कांग्रेस व वाम दलों की वही जुबान है, जो पाकिस्तान की है। देश में देश विरोधी एजेंडा बर्दाश्‍त नहीं किया जा सकता। देश के नागरिकों को सीसीए से डरने की कोई जरूरत नहीं है।

सोए लोगों को तो जगाना संभव, जागे हुए लोगों को कोई कैसे जगाए?

गिरिराज ने कहा कि भारत में भारतवंशियों को जगह नहीं मिलेगी तो आखिर और कहा मिलेगी? और कौन देश उन्‍हें शरण देगा? उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ताओं को भी कहा कि वे सीएए को लेकर लोगों का भ्रम दूर करें। साथ ही यह भी कहा कि सोए लोगों को तो जगाया जा सकता है, लेकिन जागे हुए लोगों को भला कोई कैसे जगा सकता है?

बर्दाश्‍त नहीं की जा सकतीं देश विरोधी बातें

देशविरोधी बयान देने के आरोपित बिहार के मूल निवासी व जवाहर लाल नेहरू विवि के छात्र शरजील इमाम को लेकर उन्‍होंने कहा कि व‍ह इस्लामिक स्टेट बनाने तथा असम को भारत से अलग करने की बात करता है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का एक छात्र कहता है कि उसकी कौम से टकराने वाले बर्बाद हो गए हैं। आज भी जो टकराएगा, बर्बाद हो जाएगा।

गिरिराज ने कहा कि हैदराबाद में सीएए को वापस नहीं लेने पर ईंट से ईंट बजाने की बात कही जाती है। उन्‍होंने असदुद्दीन ओवैसी की जनसभा में उनकी पार्टी के प्रवकता वारिस पठान के उस बयान की भी चर्चा की, जिसमें उन्होंने 15 करोड़ मुसलमोनों को 100 करोड़ हिंदुओं पर भारी बताया था। उन्‍होंने कहा कि ऐसी देश विरोधी बातें बर्दाश्‍त नहीं की जा सकतीं।

भारत के दूसरे जिन्ना बनना चाहे रहे ओवैसी 

 वहीं, मधुबनी जिला अतिथि गृह में पत्रकारों से  बातचीत में गिरिराज सिंह ने विभिन्न मंचों से सीएए के खिलाफ उठ रही आवाजों का अपने अंदाज में जवाब दिया। कहा कि एआइएमआइएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओवैसी भारत के दूसरा जिन्ना बनना चाहते हैं। इसी क्रम में टुकड़े-टुकड़े गैंग खड़े किए जा रहे हैं। ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगते हैं। वे संसद सत्र के दौरान वंदे मातरम और राष्ट्रीय गीत के समय बाहर निकल जाते हैं।

 देश को अंदर के गद्दारों से खतरा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत को खतरा पाकिस्तान या चीन से नहीं है। खतरा देश में छिपे हुए गद्दारों से है। भारत को तोड़ने का प्रयास मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में चल रहा है। इसको इस्लामिक स्टेट बनाने की साजिश की जा रही है। सीएए विरोध की आड़ में देश को तोड़ने के लिए आंदोलन चल रहा है।मंत्री ने कहा कि आजादी के बाद धर्म के आधार पर देश का बंटवारा हुआ। पाकिस्तान बनने से पहले वहां के हिंदुओं को भारत और यहां के मुसलमानों को पाकिस्तान भेजा जाना चाहिए था। ऐसा नहीं होने से आज बड़ी समस्या बनी हुई है। कहा कि सीएए के खिलाफ देश तोड़ने के चल रहे आंदोलन पर कांग्रेस और राजद की चुप्पी से सवाल उठ रहे हैं। उन्हें स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

 

Categories: Bihar News

बिहार सरकार ने हड़ताली शिक्षकों से कहा- समान वेतन नहीं, सैलरी बढ़ाने पर बात कर सकते

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 12:14pm

पटना, जेएनएन। समान काम समान वेतन, सेवाशर्त सहित विभिन्न मांगों पर शिक्षक हड़ताल पर अड़े हुए हैं, तो सरकार भी शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई पर अड़ी हुई है। विभिन्न जिलों में हड़ताली शिक्षकों पर कार्रवाई तेज कर दी गई है। हड़ताली शिक्षकों की बर्खास्तगी के साथ ही उनपर एफआइआर भी की जा रही है। पटना में गुरुवार को पांच हड़ताली शिक्षकों पर एफआइआर दर्ज करायी गई है। 

बिहार सरकार ने हड़ताली शिक्षकों से दो टूक कह दिया है कि समान काम समान वेतन पर तो कोई बात भी नहीं होगी। लेकिन, नियोजित शिक्षकों की सेवा शर्त नियमावली और वेतन वृद्धि पर बात करने के लिए दरवाजा खुला है।

शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने कहा कि मैंने तो शिक्षकों से हड़ताल नहीं करने की लगातार भी अपील की। मैट्रिक की परीक्षा और इंटरमीडिएट की कॉपी मूल्यांकन के समय हड़ताल बिल्कुल उचित नहीं है। विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने कहा कि समान काम समान वेतन मामले पर शिक्षक संघों की तो सुप्रीम कोर्ट में भी हार हो चुकी है।  

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता बच्चों को शिक्षा देना है। समान काम समान वेतन मामले पर शिक्षक संघों की तो सुप्रीम कोर्ट में भी हार हो चुकी है। सरकार की आर्थिक स्थिति नहीं है कि पुराने शिक्षकों के समान वेतन दिया जा सके। पौने चार लाख शिक्षकों को इतना वेतन देने में 28 से 30 हजार करोड़ की राशि अधिक खर्च करनी होगी। इतनी राशि में सरकार की कई योजनाओं को बंद करना होगा। 

पंचायती राज विभाग ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था से बहाल जो शिक्षक मैट्रिक परीक्षा के वीक्षण और कॉपी मूल्यांकन का विरोध कर रहे हैं, उनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई करते हुए सेवा से बर्खास्त किया जाये। जो अधिकारी इसमें शिथिलता बरतेंगे उन पर भी विधिसम्म्त कार्रवाई की जाएगी। शिक्षा कार्यालयों में घुसकर तोड़फोड़ करने और अफसरों के साथ दुर्व्यवहार व मारपीट करने वालों पर तत्काल कार्रवाई करें।

Categories: Bihar News

पटना और सिवान में हुई अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में 3 की मौत, दो घायल

Dainik Jagran - February 21, 2020 - 12:10pm

पटना, जेएनएन। बिहार की राजधानी पटना और सिवान में हुई अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में तीन ने अपनी जान गंवा दी। छपरा-सिवान मुख्य पथ पर जहां अज्ञात वाहन की ठोकर से दो की मौत हो गई तो पटना के दुल्हिन बाजार इलाके में दो बाइकों की सीधी टक्कर में एक दस वर्षीय छात्र की मौत हो गई। हादसे के बाद मृतकों के स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

अलग-अलग सड़क दुर्घटना में दो की मौत, दो घायल

सिवान: जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में गुरुवार की रात हुई सड़क दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई जबकि दो घायल हो गए। मृतक भटवलिया निवासी किशोर यादव तथा दूसरा मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के नुरुद्दीनपुर निवासी राजकिशोर यादव तथा हुसैनगंज थाना क्षेत्र के रसूलपुर निवासी मुन्ना यादव बताया जाता है। दोनों घायलों का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है।

अज्ञात वाहन ने मारी ठोकर

बताया जाता है कि गुरुवार की देर रात नुरुद्दीनपुर निवासी राजकिशोर यादव अपनी मौसेरी बहन को परीक्षा दिलाकर घर लौट रहे थे तभी छपरा-सिवान मुख्य पथ पर भटवलिया गांव के पास एक अज्ञात वाहन के धक्का से राजकिशोर यादव की मौत हो गई, जबकि पानमती देवी गंभीर रूप से घायल हो गई। वहीं दूसरी घटना गोपालपुर की है। बताया जाता है कि हुसैनगंज के रसूलपुर निवासी मुन्ना यादव तथा ओमप्रकाश यादव एक साथ साइकिल से घर लौट रहे थे तभी अज्ञात वाहन ने धक्का मार दिया, जिससे मुन्ना यादव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि ओमप्रकाश यादव गंभीर रूप से घायल हो गया।

पटना में दस वर्षीय छात्र की मौत

पटना के दुल्हि बाजार में शुक्रवार में की सुबह सड़क हादसे में दस वर्षीय छात्र की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार दुल्हिन बाजार थाना क्षेत्र के इचीपुर गांव निवासी जितेंद्र पासवान का 10 वर्षीय पुत्र विकास कुमार भगवानगंज थाना के देवरिया गांव में ट्यूशन पढ़ने जा रहा था। तभी तेज रफ्तार में जा रहे बाइक सवार ने उसे धक्का मार दिया। जिससे विकास कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद भाग रहे बाइक सवार को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। जानकारी होने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए पालीगंज भेज दिया है। हादसे के बाद मृतक के स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair  


  Invest Bihar