Bihar News

सीएम सचिवालय में लगी आग

Dainik Jagran - 4 hours 21 min ago

जासं, पटना : मुख्यमंत्री सचिवालय में बुधवार दोपहर वित्त विभाग से आग की लपटें और काला धुआं निकलता देखकर अफरातफरी मच गई। सूचना मिलते ही सचिवालय फायर स्टेशन ऑफिसर मदन कुमार तीन दमकल के साथ मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू कर दिया। कुछ मिनटों में आग पर काबू पा लिया गया। बताया जाता है कि दोपहर 1.50 बजे वित्त विभाग के एसी में आग लगने की सूचना मिली थी। दमकल के साथ टीम पहुंची थी। बचाव कार्य में फायर ऑफिसर राज किशोर सिंह का अहम योगदान रहा। अग्निकांड में कोई क्षति नहीं हुई।

Categories: Bihar News

एसिड अटैक पीड़ित को पुनर्वास के लिए मिलेंगे पांच लाख रुपये

Dainik Jagran - 4 hours 21 min ago

- राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य ने पुलिस महानिदेशक के साथ की बैठक

पुनर्वास राशि की फाइल फांक रही थी धूल

15 दिनों में रखी जाएगी कैबिनेट के पटल पर

जागरण संवाददाता, पटना : एसिड अटैक पीड़ित का इलाज अस्पतालों में निश्शुल्क कराया जाता है, लेकिन अक्सर देखा गया है कि उनके कुछ अंग एसिड से उपयोग लायक नहीं रहते। ऐसी स्थिति में राज्य सरकार को उन्हें पुनर्वास के लिए राशि मुहैया कराने का प्रावधान है। राज्य सरकार ने पीड़ित को पुनर्वास के लिए पांच लाख रुपये योजना तैयार की थी, जो फाइलों में धूल फांक रही है। उसे मंजूरी दिलाने के लिए पटना पुलिस मुख्यालय 15 दिन के अंदर कैबिनेट के पटल पर रखेगा। यह निर्णय बुधवार को पुलिस मुख्यालय में राज्य महिला आयोग की सदस्य सुषमा साहू और पुलिस महानिदेशक पीके ठाकुर के साथ हुई बैठक में लिया गया।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने राज्य महिला आयोग के माध्यम से सभी राज्यों से उनके यहां रह रहीं एसिड अटैक पीड़ित की पूर्व और अद्यतन स्थिति का ब्योरा मांगा था। इसी कड़ी में आयोग की सदस्य सुषमा साहू ने बुधवार को डीजीपी पीके ठाकुर के साथ बैठक की। सुषमा साहू के अनुसार डीजीपी ने जानकारी उपलब्ध कराई। साथ ही एसिड अटैक पीड़ित को इंसाफ दिलाने और उनके पुनर्वास के मुद्दों पर गहन चर्चा हुई। बैठक में पांच बिंदुओं पर सहमति बनी।

नियुक्त होंगे नोडल अफसर

राज्य सरकार की ओर से पीड़ित को मुआवजे के लिए तीन लाख रुपये प्रदान किए जाते हैं। लेकिन लाभांवित होने वालों की संख्या बेहद कम है। समय पर उन्हें राशि मुहैया हो जाए, ताकि उनके परिजनों को राहत मिल सके, इसके लिए राज्यस्तरीय नोडल अफसर नियुक्त किए जाएंगे। घटना की जानकारी मिलने पर वह फौरन पीड़ित और उनके मुलाकात करेंगे। साथ ही अविलंब राशि प्रदान कराने में सहयोग देंगे। अब तक जिन मामलों में मुआवजे की राशि नहीं दी गई है, उनके त्वरित निष्पादन के लिए राज्यस्तरीय बैठक आयोजित की जाएगी। इसमें सुषमा साहू भी शामिल होंगी।

रद कराई जाए जमानत

दुष्कर्म, गैंग रेप, एसिड अटैक जैसे मामलों में स्पीडी ट्रायल करा छह माह के अंदर सजा दिलाने का प्रयास किया जाए। अभियुक्त अगर जमानत पर छूट गए हैं तो जिला पुलिस उनकी जमानत रद कराने के लिए न्यायालय में आवेदन दें। ताकि वे खुलेआम बाहर घूमकर किसी अन्य महिला या युवती को अपना शिकार न बना सकें। इसके साथ ही कांड में उन दुकानदारों को भी दोषी पाया जाएगा, जो बिना लाइसेंस के एसिड की बिक्री कर रहे हैं और उनकी दुकान से घटना को अंजाम देने के लिए एसिड खरीदा गया।

Categories: Bihar News

छोटी दीवाली के साथ चतुर्दिक दीपावली शुरू

Dainik Jagran - 4 hours 21 min ago

-विभिन्न मंदिरों में मनी हनुमत जयंती

-गोव‌र्द्धन पूजा व अन्नकूट पर्व कल, भाई दूज व चित्रगुप्त पूजा शनिवार को

जागरण संवाददाता, पटना सिटी : छोटी दीवाली के साथ चतुर्दिक दीपावली बुधवार से प्रारंभ हो गयी। जिसका समापन कार्तिक शुक्ल द्वितीया यानी यम द्वितीया को होगा। चतुर्दिक महापर्व के प्रत्येक दिन धार्मिक व लौकिक कार्य संपन्न किया जाता है। बुधवार को छोटी दीपावली मनायी गयी। इस दौरान अधिकतर घरों में दीप रोशन हुआ।

हनुमान जयंती भी मनाई गयी। सिटी के जल्ला वाले महावीर मंदिर तथा मच्छरहट्टा गली स्थित काले हनुमान की मंदिर में सुंदरकांड पाठ व पूजा अर्चना की गयी। गुरुवार को कार्तिक अमावस्या पर दीपावली मनायी जाएगी। शुक्रवार को कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा को गोव‌र्द्धन पूजा के साथ अन्नकूट पर्व मनाया जाएगा। उधर शनिवार को कार्तिक शुक्ल द्वितीया पर्व भाई दूज मनाया जाएगा। इसे यम द्वितीया भी कहते हैं। इस दिन भगवान चित्रगुप्त की पूजा की जाती है।

Categories: Bihar News

दोपहर 2:39 से 4:10 और शाम 7:15 से 9:11 तक पूजा का शुभ मुहूर्त

Dainik Jagran - 4 hours 22 min ago

जागरण संवाददाता, पटना - राजधानी में बुधवार की रात लोगों ने छोटी दिवाली पर मंदिरों में पूजा-अर्चना करने के साथ यम को दीप दान किया। पंडित विनोद झा वैदिक ने बताया कि काफी वर्षो बाद छोटी दिवाली के दिन हनुमान जयंती और काली पूजा की गई। पटना जंक्शन स्थित हनुमान मंदिर, बांस घाट काली मंदिर, बो¨रग रोड पंचमुखी मंदिर सहित प्रमुख मंदिरों में लोगों ने देर रात तक हनुमान की पूजा-अर्चना करने के साथ सुंदरकांड, हनुमान चालीसा का पाठ कर दीप दान किया।

स्थिर लग्न वृष में होगी मां लक्ष्मी की पूजा - गुरुवार की रात मां लक्ष्मी की पूजा स्थिर लग्न वृष में होगी। स्थिर लग्न में पूजा करने का विशेष महत्व है। वृष लग्न के स्वामी शुक्र को ही धन, एश्वर्य, वैभव और समृद्धि का ग्रह माना गया है। जातक कुंभ लग्न में दोपहर 2:39 बजे से शाम 4:10 बजे तक स्थिर लग्न में मां लक्ष्मी की पूजा कर सकते हैं। वहीं शाम में 7:15 बजे से रात के 9:11 बजे तक वृष लग्न में पूजा करना श्रेष्ठ है। व्यापारियों के लिए दिवाली की रात सिंह लग्न में पूजा करना विशेष शुभ है। सिंह लग्न दिवाली की रात 1:43 बजे से सुबह 3:57 बजे तक ब्रह्मा योग में मां लक्ष्मी की पूजा करने का विशेष महत्व है।

कृति योग और स्वाति नक्षत्र में गोवर्धन पूजा - दिवाली के अगले दिन अन्नकूट की पूजा होगी। 21 अक्टूबर को स्वाति नक्षत्र में गोवर्धन पूजा, भैया दूज एवं भगवान चित्रगुप्त की पूजा होगी। गोवर्धन की पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 6:28 बजे से 8:43 बजे तक है एवं शाम में 3:27 बजे से 5:42 बजे तक है।

Categories: Bihar News

घरौंदा बना बच्चों ने दिया पर्यावरण बचाने का संदेश

Dainik Jagran - 4 hours 22 min ago

जागरण संवाददाता, पटना - दिवाली के मौके पर बिहार बाल भवन 'किलकारी' की ओर से रंगोली एवं घरौंदा प्रतियोगिता का आयोजन किलकारी परिसर में किया गया। प्रतियोगिता में बच्चों ने अपनी कल्पना से आकर्षक एवं बेहतर घरौंदा बनाकर शिक्षकों को दिल जीता। प्रतियोगिता में जहां बच्चों ने रंग-बिरंगी आकर्षक रंगोली बनाई वहीं बेकार पड़ी सामग्रियों का प्रयोग कर कई प्रकार के घरौंदों का निर्माण किया। प्रतियोगिता के माध्यम से बच्चों ने पर्यावरण बचाने का भी संदेश दिया। बच्चों ने शिक्षकों के साथ पटाखे छोड़ एक दूसरे को मिठाईयां खिलाई। कार्यक्रम अधिकारी अनिता ठाकुर ने कहा कि दिवाली के बहाने प्रतियोगिता कराकर बच्चों की प्रतिभा का आकलन सटीक होता है। प्रतियोगिता के दौरान किलकारी के शिक्षकगण आदि मौजूद थे।

Categories: Bihar News

सभी को एक कर देती है दिवाली की रोशनी

Dainik Jagran - 4 hours 22 min ago

जागरण संवाददाता, पटना : राजधानी में विभिन्न राज्यों के लोग रहते हैं। विविधता के कारण इनकी दिवाली भी अपने-अपने अंदाज में मनती है। बिहार के अलावा इसमें पंजाबी, दक्षिण भारतीय, बंगाली और गुजराती प्रमुख हैं। कोई तीन दिन पहले से तैयारी शुरू कर देता है तो कोई ताश खेलकर मनाता है त्योहार। कैसी होती है पटना में रहने वालों की दिवाली एक रिपोर्ट।

रात भर होती है काली पूजा करते हैं बंगाली

शहर में बंगाली समुदाय के लोगों का हुजूम है। जो पारंपरिक तरीके से दिवाली मनाते हैं। दिवाली में पूरा बंगाली समाज एक साथ पूरी श्रद्धा से माता काली की पूजा करता है। बंगाली अखाड़ा, गुलजार बाग, पटना काली बाड़ी (गर्दनीबाग), पीडब्ल्यूडी (छज्जूबाग), अदालत गंज में काली पूजा धूमधाम से मनाई जाती है। बंगाली अखाड़े में विगत 106 साल से काली पूजा हो रही है। इस बार भी पूरा बंगाली समाज काली पूजा में जुटेगा। सुरोद्यान पूजा सेलिब्रेशन कमेटी के मुख्य सचिव अमित सिन्हा बताते हैं कि रात के दस बजे से जो पूजा शुरू होती है वो देर रात डेढ़ बजे तक चलती है। इसके बाद पुष्पांजलि चढ़ती है। रात भर भोग का वितरण किया जाता है। इस भोग में बंगाली के साथ-साथ विभिन्न संप्रदाय के लोग भी शामिल होते हैं। खिचड़ी, सब्जी, खीर के स्वादिष्ट भोग के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। बंगाल के मूर्तिकार मूर्ति बनाते हैं।

सिंदूर खेला के साथ होता है विसर्जन

भिखना पहाड़ी में एक ऐसा बंगाली समाज है जो काली पूजा बड़े धूमधाम से मनाता है। इस अपार्टमेंट में करीब 40 लोग रहते हैं जो धूमधाम से रात भर पूजा करते हैं। पारंपरिक तरीके से रात भर श्रद्धापूर्वक पूजा होती है। मूर्ति बंगाली कलाकार बनाते हैं और खास तौर से यहां बंगाली ढाकी कालकार यहां आते हैं। विसर्जन के समय पारंपरिक बंगाली परिधान में सभी महिलाए सिंदूर खेला करती हैं। इसमें सभी महिलाएं एक दूसरे को सिंदूर लगाते हुए पैदल चल कर माता का विसर्जन करती हैं। मीनाक्षी झा बनर्जी बताती हैं कि हम सभी बंगाली परिवार वाले पूरी रात दिवाली माता के पूजन से करते हैं। हमारे अपार्टमेंट के अलावा यहां अगल-बगल के लोग भी इसमें शामिल होते हैं।

तीन दिन पहले मराठियों की शुरू हो जाती है तैयारी

मराठियों की दिवाली तीन दिन पहले से शुरू हो जाती है। महाराष्ट्र मंडल के संजय भोंसले बताते हैं कि हमारी दिवाली पारंपरिक तरीके से हर साल मनाई जाती है। तीन दिन पहले घर की महिलाएं तेल और उपटन लगा कर घर के पुरुषों को नहलाती हैं और फिर उनकी आरती करती हैं। इसके बाद शुरू होता है मीठे मराठी व्यंजन बनाने की कवायद। इसमें खोआ औैर ड्राई फ्रूट्स डला हुआ करंजी, चने की शंकरपाली, मीठे चूड़े सहित कई प्रकार के व्यंजन बनाए जाते हैं। दिवाली के दिन सभी मराठी परिवार एकत्रित होकर लक्ष्मी और गणपति की पूजा करते हैं। छोटी दिवाली से लेकर 11 दिन तक हर रोज मुख्य द्वार पर रंग बिरंगी रंगोलियां बनाई जाती है। फूल, दीया, गणेश की प्रतिमा बनाई जाती है। इसके बाद सभी लोग एकसाथ दीये और फुलझड़ियां जलाते हैं।

पक्की रसोई का पंजाबियों को रहता है इंतजार

पंजाबियों के लिए दिवाली का खास महत्व है क्योंकि इसके साथ ही रसोई का नया सीजन शुरू हो जाता है। इस दिन से घर में पक्की रसोई बनने लगती है। इसमें पूरी हलवा, मूली कतरा, आंवले का अचार, अदरक का मीठा बनने लगते हैं। वीणा गुप्ता बताती हैं कि पंजाबियों के लिए दिवाली का बहुत अधिक महत्व इसलिए है। दिवाली के एक महीने पहले खरमास से ही घर की सफाई शुरू हो जाती है। पूजा के दिन घर के जितने भी चांदी के सिक्के होते हैं उनको धोकर उनकी पूजा की जाती है। इस दिन सारे पंजाबी कन्या अपने घर में तिमुखा दीया मुख्य द्वार पर शाम को ही जला देती हैं। इसके बाद घर के कमाने वाले की आरती उतारते हैं। इसके बाद कन्या को नेग भी दिया जाता है।

सहभोज के साथ मनती है दक्षिण भारतियों की दिवाली

शहर में एक तबका दक्षिण भारतीयों का भी है जो केरला के पारंपरिक अंदाज में दिवाली मनाते हैं। भारती मंडपम के राजेन्द्र नैयर बताते हैं कि हमलोग सुबह-सुबह नहा कर ही माता लक्ष्मी की पूजा कर लेते हैं। इसके बाद यह दीप रात तक निखंड पूरी रात जलता रहता है। रात में केरल के स्वादिष्ट व्यंजन के साथ पूरे समाज का सहभोज भी होता है। इसमें केला के पत्ते पर सभी चावल, सांभर, कड़ी, दाल, पापड़, अवियल, तोरैन, कूटवड़ी, पचड़ी, टियल और दो तरह के खीर दूध और चावल का और गुड़ का प्रैफामेन खास तौर से बनाए जाते हैं। फूल की खूबसूरत रंगोली बनाकर महिलाएं अपना घर सजाते हैं।

पत्ते खेलकर त्योहार मनाते हैं मारवाड़ी

माड़वारियों की दिवाली स्पेशल होती है। महिलाएं रात में पत्ते खेलती हैं और आधी रात में झाड़ू निकालती हैं और दीया जलाती हैं। ये लोग रंगोली बनाकर पूरी रात जागते हैं। मूर्ति पर चलनी डालकर काजल बनाती हैं। इसे बहुत शुभ मानते हैं। डांडिया खास तौर से सभी खेलती हैं। सरिता केड़िया बताती हैं कि हमारी दिवाली जश्न वाली होती है। इसमें डांडिया, ताश और काजल बनाने की महत्ता है।

Categories: Bihar News

दिवाली पर जगमग कर रहा घर-आंगन

Dainik Jagran - 4 hours 22 min ago

सुपर इंट्रो

कहीं आंगन दीयों से जगमगा रहा है, तो कहीं ड्राइंग रूम के नए कवर-सोफे दीयों के कलर से मैच कर रहे हैं। कोई रंगोली बनाने में जुटा हुआ है तो किसी ने अपने घर का पूरा इंटीरियर ही बदल दिया है। दिवाली का पर्व घर को सजाने-संवारने का भी है। इस दिवाली घर को इनोवेटिव डिजाइन से सजाने वाले लोगों पर चारुस्मिता की रिपोर्ट।

-----------------------------

खुशबूदार दीये और महकती मोमबत्ती

ईस्ट बो¨रग कैनाल का राम अपार्टमेंट दीयों की रोशनी से जगमगा उठा है। यूं तो दिवाली का मतलब ही दीये होते हैं लेकिन अगर इन दीयों से पूरा वातावरण महक उठे तो सजावट में चार चांद लग जाए। दिवाली में कुछ ऐसे ही नायाब तरीके से अपना घर सजा रही हैं रीना सिन्हा। रीना मूल रूप से महाराष्ट्र की रहने वाली हैं और हर साल दिवाली को अलग अंदाज में मनाती हैं। इस बार वह रंग बिरंगे दीयों में अशोकगंधा, जैतून, लैवेंडर जैसे अलग अलग तेल का प्रयोग कर सुगंधित दिवाली मना रही हैं। वह बताती हैं कि अलग अलग तेल के दीये जलाने का मनोवैज्ञानिक तौर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है इसलिए इस तरह का प्रयोग कर रही हैं। उन्होंने इसके लिए खास नैनीताल से एरोमा कैंडल भी मंगवाया है। इसकी खासियत है कि यह बहुत सुगंधित होता है। इन्होंने अपने हाथों से बना हुआ दीया, फ्लोटिंग कैंडल, कंदील, बंदनवार और कुंदन रंगोली से घर को बेस्ट दिवाली लुक दिया है।

दिवाली के लिए खास एंटीक इंटीरियर

छज्जू बाग के दुर्गा गार्डेन अपार्टमेंट भी रोशन है। फ्लैट नं. थ्री सी की मधुप्रिया घर का इंटीरियर बदलने में लगी थीं। यूं घर के एंटिरियर को बेहतरीन लुक देने का सही समय दिवाली ही होता है। छज्जू बाग की रहने वाली मधुप्रिया ने इस दिवाली अपने घर को एंटीक लुक दिया है। पूरे घर को इको फ्रेंडली लुक देने के लिए उन्होंने हरे पेड़ को अपने ड्राइंग रूम में लगाया है। इसे सजाने के लिए इन्होंने टेराकोटा के विंड चैम, फलों से इसकी सजावट की है। इसके अलावा घर को पारंपरिक दिखाने के लिए घर के पुराने सिल्क की साड़ियों के परदे बनाए हैं। घर के दीवारों पर गणेश जी की मूर्तियां दिवाली को लेकर खास तौर से बनवाई हैं।

गेरू से हांडियां पेंट कर सजाया आशियाना :

सर्पेटाइन रोड की रहने वाली पूर्णिमा रॉय के घर में दिवाली की तैयारी समाप्ति पर है। लगभग हर काम हो चुका है और वह खूबसूरत अल्पना बनाने में जुटी हैं। उनकी बेटी ऐश्वर्या भी इसमें उनकी मदद कर रही हैं। पूर्णिमा को हर दिवाली कुछ इनोवेटिव करने की इच्छा होती है। इस बार उन्होंने जुगाड़ लगाकर घर के कबाड़ को खूबसूरत लुक दिया है। रसगुल्ले की हांडियों को गेरू मिंट्टी से पेंट कर उन्होंने सुंदर सा सीरीज बनाई है। इसके अलावा बांस के पेड़ को उन्होंने बड़े करीने से सीरीज बल्ब और लाइट से सजाया है। अपनी सास के दिए हुए तीन पुराने संदूकों को भी उन्होंने ताश की पत्तियों के डिजाइन में पेंट कर सुंदर शोपीस बना दिया है। वह बताती हैं कि दिवाली उनके लिए हर बार खास होती है। इस बार उन्होंने टेराकोटा की झालर, कैंडल, असली फूलों का तोरण मुख्य रूप से सजाया है। मुख्य द्वार पर अल्पना भी तीन दिन तक बनाएंगी।

सुंदर फूलों से सजाया है घर आंगन :

कंकड़बाग की डॉक्टर्स कॉलोनी में सीमा सिंह का घर दूर से ही दिवाली सेलिब्रेशन में डूबा नजर आ रहा है। सीमा ने दिवाली के लिए खास तौर से 12 किलो फूलों की पंखुड़ियां मंगवाई हैं। इससे वह अपने घर को सजा रही हैं। उन्होंने अपने पूरे घर में फ्लोटिंग कैंडल और फूलों की पंखुड़ियों को पॉट में डालकर सजाया है। उन्होंने बताया कि उन्हें दिवाली में असली फूलों से घर सजाना अच्छा लगता है। इसके अलावा उन्होंने घर के तोरण और मुख्य द्वार को भी फूलों से ही सजाया है। वह बताती हैं कि फूलों की इस सजावट से पूरा घर महक उठता है।

मटकी फ्लावर अरेंजमेंट से सजा रही हैं मुख्य द्वार :

कौटिल्या नगर विधायक कॉलोनी की ज्योति अपने मटका अरेंजमेंट को अंतिम लुक दे रही हैं। उन्होंने इस दिवाली सारी सजावट खुद अपने हाथों से की है। दीयों से लेकर कैंडल भी खुद से बनाए हैं। रंग-बिरंगी कतरनों से उन्होंने स्टाइलिश रंगोली और कंदील भी बनाया है। वह बताती हैं कि दिवाली उनके लिए हर बार खास होती है इसलिए वह अपने हाथों से हर बार कैंडल और दीया बनाती हैं। इसके अलावा कतरनों से खूबसूरत तोरण और रंगोली भी बनाती हैं। कंदील के खूबसूरत डिजाइन बनाकर सजाती हैं।

Categories: Bihar News

कला दिवस पर शारदा सिन्हा और परेश मैती को राष्ट्रीय सम्मान

Dainik Jagran - 4 hours 22 min ago

- उप मुख्यमंत्री ने 24 कलाकारों को किया सम्मानित

- लोककला और संस्कृति को सहेजना बड़ी चुनौती : मोदी

पटना : उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि पश्चिमी प्रभाव के आज के दौर में अपनी लोक कलाओं और संस्कृति की विरासत को सहेजना बड़ी चुनौती है। पश्चिमीकरण के फेर में लोक कलाकारों की प्रतिभा दब न जाए इसके लिए हमें समन्वय बनाकर आगे बढ़ना होगा। वे बुधवार को अधिवेशन भवन में कला संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा आयोजित बिहार कला पुरस्कार समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मोदी ने कहा कि हमारी कला संस्कृति में इतनी ताकत है कि कोई भी बाहरी प्रभाव इसको प्रभावित नहीं कर सकता है। इसका उदाहरण रामायण और महाभारत की कथाएं हैं, जो सैंकड़ों वर्ष से आज भी उसी तरह प्रासंगिक हैं। मोदी ने कहा कि कला और संस्कृति उसी समाज में आगे बढ़ सकती हैं, जहा शाति और सद्भाव है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कला को बढ़ावा दे रही है। सरकार ने अब हर जिले में चार ऐसे आयोजन करने का फैसला लिया है, जिसमें कलाकारों को मंच और उचित सम्मान मिले। बोले, राज्य सरकार ने कला के विकास के लिए 8.19 करोड़ की लागत से दरभंगा, सहरसा, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया प्रमंडल के जिला मुख्यालयों में प्रेक्षागृह बनाने का निर्णय लिया है। साथ ही मिथिला लोक कला के संरक्षण, संव‌र्द्धन के लिए मिथिला चित्रकला संस्थान भी बनाया गया है, जो आर्यभट्ट ज्ञान विवि से संबद्ध है।

----------

कला संस्कृति को जन-जन तक ले जाना हमारा लक्ष्य

कला, संस्कृति मंत्री श्री कृष्ण कुमार ऋषि ने कहा कि कला संस्कृति को जन-जन तक पहुंचाना हमारा लक्ष्य है। उन्होंने मुख्यमंत्री की सराहना करते हुए कहा कि नीतीश कुमार की दूरदर्शी सोच से बना बिहार म्यूजियम बड़ा उदाहरण है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस संग्रहालय की सराहना की है।

-----------

यक्षणी हमारी कला के उत्कर्ष का प्रतीक : मुख्यसचिव

समारोह में मौजूद मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने कहा कि यक्षिणी हमारी कला के उत्कर्ष का प्रतीक है। कला संस्कृति विभाग, पर्यटन विभाग, सूचना एवं जन संपर्क विभाग और राजस्व विभाग द्वारा साल भर 100 से ज्यादा महोत्सव सिर्फ इसलिए आयोजित किए जाते हैं कि बिहार के लोग अपनी सभ्यता और संस्कृति से जुड़े रहें। हम बिहार के खोए गौरव को वापस लाने का प्रयास कर रहे हैं। बिहार की कलाओं को सहेजने के लिए बिहार म्यूजियम, कंवेंशन हॉल सहित पटना में 25 से ज्यादा अत्याधुनिक प्रेक्षागृह बनाए गए हैं।

पुरस्कार समारोह में अतिथियों का स्वागत करते हुए कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने कहा कि आज का दिन बिहार की अस्मिता, पहचान और सास्कृतिक परंपरा के लिए खास दिन है। बिहार की सास्कृतिक पहचान के रूप में विश्व विख्यात यक्षिणी की पाषाण मूर्ति आज से करीब 100 साल पहले 19 अक्टूबर 1917 को दीदारगंज पटना से मिली थी। जिन दिन यह मूर्ति मिली उस दिन को प्रतीक मानते हुए बिहार कला दिवस आयोजित किया जाता है। समारोह में अपर सचिव आनंद कुमार, निदेशक सत्य प्रकाश मिश्रा, अतुल वर्मा, उप सचिव तारानंद वियोगी, विभा सिन्हा, संजय कुमार मौजूद थे।

------------

बिहार कला पुरस्कार 2017-18

----------------------

राष्ट्रीय सम्मान - डॉ शारदा सिन्हा (प्रदर्श कला) परेश मैती (चाक्षुष कला)

लाइफ टाइम अचीवमेंट सम्मान - किरण कात वर्मा (प्रदर्श कला), प्रो. श्याम शर्मा (चाक्षुष कला)

राधा मोहन पुरस्कार (वरिष्ठ) बिरेंद्र कुमार सिंह

राधा मोहन पुरस्कार (युवा) अमृत प्रकाश

कुमुद शर्मा पुरस्कार (वरिष्ठ) - संजू दास

कुमुद शर्मा पुरस्कार (युवा)- निम्मी सिन्हा

सीता देवी पुरस्कार (वरिष्ठ)- रवींद्र नाथ गौड़

सीता देवी पुरस्कार (युवा)- ममता भारती

दिनकर पुरस्कार (वरिष्ठ)- ज्योतिन्द्र शर्मा

दिनकर पुरस्कार (युवा)- सुनील कुमार

पं. रामचतुर मलिक पुरस्कार (वरिष्ठ)- डॉ. रेखा दास

पं. रामचतुर मलिक पुरस्कार (युवा) -संतोष कुमार

भिखारी ठाकुर पुरस्कार - (वरिष्ठ) मिथिलेश राय

भिखारी ठाकुर पुरस्कार (युवा) -बबलू कुमार

विंध्यवासिनी देवी पुरस्कार (वरिष्ठ) -सत्येंद्र कुमार

विंध्यवासिनी देवी पुरस्कार (युवा) - श्वेत प्रीत

रामेश्वर सिंह कश्यप पुरस्कार (वरिष्ठ) - उदय कुमार

रामेश्वर सिंह कश्यप पुरस्कार (युवा) -राजन कुमार सिंह

बिस्मिल्लाह खान पुरस्कार (वरिष्ठ) - डॉ. विश्वनाथ शरण सिंह

बिस्मिल्लाह खान पुरस्कार (युवा) - मो. सलीम

अम्बपाली पुरस्कार (वरिष्ठ) - अंजुला कुमारी

अम्बपाली पुरस्कार (युवा) - यामिनी

Categories: Bihar News

मोमबत्ती और मिठाई पाकर खिले बच्चों के चेहरे

Dainik Jagran - 4 hours 22 min ago

वनबंधु परिषद पटना चैप्टर की ओर से दिवाली की पूर्व संध्या पर राजेंद्रनगर रोड नम्बर 11 स्थित मुसद्दीचक मोहल्ले में रहने वाले गरीब बच्चों के बीच मोमबत्ती व मिठाईयां बांटी गईं। परिषद के अध्यक्ष बंसल ने बच्चों को पटाखे नहीं छोड़ने की सलाह दी। बंसल ने कहा कि पटाखे छोड़ने के कारण आसपास के इलाकों में प्रदूषण का वातावरण बन जाता है। जिसके कारण बच्चों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। बंसल ने कहा कि बिहार में वनबंधु परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों के बच्चे मिट्टी के दीपक बनाकर लाएंगे और दिवाली के दिन दीये जलाएंगे। मौके पर परिषद के सचिव महेश जलान, महावीर अग्रवाल, सेवानिवृत जज रमेश रतेरिया आदि मौजूद थे।

Categories: Bihar News

सतरंगी रंग पिरोकर जीता सबका दिल

Dainik Jagran - 4 hours 22 min ago

खगौल के आनंदपुरी और दल्लुचक स्थित एंब्रोसिया अकादमी में दीपावली के शुभ अवसर पर रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें शिक्षिकाओं और बच्चों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। बच्चों ने रंगोली में सतरंगी रंग पिरो सबका दिल जीत लिया। स्कूल निदेशक संगीता सिन्हा ने बताया कि प्रतियोगिता में मोनिका ग्रुप के बच्चों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। जिसमें नीरज, नेहा, निशा, सूरज, शकर, अंकित, सिद्धात, ईशान, रजनी, आचल, खुशी, संध्या और प्रियाशु प्रथम स्थान पर रहे। वहीं जयश्री के ग्रुप को द्वितीय तथा सुमन के ग्रुप को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ।

'अपना बिहार व स्वच्छ बिहार' में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा

दिवाली के मद्देनजर नगर के विभिन्न विद्यालयों में रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें स्कूली छात्र-छात्राओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। पटना दून पब्लिक स्कूल में 'अपना बिहार व स्वच्छ बिहार' विषय पर आयोजित प्रतियोगिता में बच्चों ने अपनी सोच को प्रदर्शित किया। प्रतियोगिता में रामानुजन हाउस प्रथम जवाहर हाउस द्वितीय एवं सुभाष हाउस ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। निदेशक राकेश कुमार उप प्राचार्या सिंपल सिन्हा व गणमान्य लोग उपस्थित थे। वहीं लीड्स एशियन स्कूल में धनतेरस पर रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें बच्चों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। बच्चों ने दीपावली पर रंगोली के माध्यम से लोगो को कई संदेश दिए। प्रतियोगिता में रामेश्वर सिंह सचिव अनीता सिंह ने बच्चों को दीपावली की मान्यता के बारे में विस्तार से बताया।

दिल्ली से लौटे साई अंगना के भक्तों का हुआ स्वागत

दानापुर में साईबाबा की महासमाधि के शताब्दी वर्ष के प्रारभ होने के अवसर पर दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम से लौटे साई अंगना के भक्तों का स्वागत किया गया। कार्यक्रम से आए शिरडी साई ग्लोबल फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉ. चंद्र भानू सतपथी ने बताया कि साई का संदेश था कि मानवता ही सबसे बड़ी सेवा है। उन्होंने देश-विदेश में 350 से अधिक मानव सेवा केंद्र बनाए। जिसमें एक दानापुर का साई अंगना भी है। लोगो ने बताया कि कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति वेकैया नायडू ने पत्रिका का विमाचन किया। इस मौके पर छोटे लाल अरविंद बिहारी समेत गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Categories: Bihar News

आध्या समेत 20 कराटे खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भाग लेंगे

Dainik Jagran - 5 hours 58 min ago

पटना : अमृतसर में 22 से 26 नवंबर तक आयोजित होने वाली अंतरराष्ट्रीय कराटे प्रतियोगिता के लिए अंबेडकर एकेडमी ऑफ मार्शल आर्ट टीम की घोषणा कर दी गई है। एकेडमी के निदेशक सेंसई जेके दास ने बताया कि टीम में कराटे गर्ल के नाम से मशहूर मेरी वार्ड किंडर गॉर्डेन की आध्या समेत 20 खिलाड़ी शामिल हैं। नन्हीं आध्या को उसके पिता अनूप कुमार स्वयं प्रशिक्षण दे रहे हैं। चयनित खिलाड़ी : परनीस आलम कप्तान, आकाश राज, समरस नयन, अभिषेक चौहान, कुलदीप कुमार, वेद प्रकाश, अमृतमय रंजन, अभिषेक गुप्ता, प्रिंस, कृष्ण कांत, रोहित राज, मंतरेश, सक्षम, कौटिल्य, जय शिवम, अभिषेक, राहुल, दीपक व सरज। प्रशिक्षक : नवीन कुमार, प्रबंधक : सौरव कुमार।

Categories: Bihar News

राज्य विद्यालीय अंडर-17 वॉलीबॉल 20 से

Dainik Jagran - 5 hours 59 min ago

पटना : कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के वार्षिक खेल कार्यक्रम के आलोक में जिला प्रशासन पटना द्वारा 20 अक्टूबर से बिहार राज्य अंतर जिला विद्यालीय बालक-बालिका वालीबॉल प्रतियोगिता अंडर-17 का आयोजन पाटलिपुत्र खेल परिसर में होगा। यह जानकारी आयोजन सचिव सह जिला खेल पदाधिकारी पटना संजय कुमार ने दी। उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता में खेल विभाग के कार्यक्रम के अनुसार 22 जिले की बालिका एवं 38 जिले की बालक टीमे हिस्सा लेंगी। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों को खेल परिसर के छात्रावास में ठहराया जायेगा। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले पटना टीम के सदस्यों के नाम इस प्रकार है : बालिका वर्ग : अंडर-17-अंजलि कुमारी, अनु कुमारी, काजल कुमारी, तनु प्रिया, रानी राज, प्रीति कुमारी (बापू स्मारक बालिका हाईस्कूल), निक्की कुमारी, रोमा कुमारी, चादनी कुमारी (एसरजा हाईस्कूल), बालक वर्ग अंडर-17-सुमन कुमार, हर्ष कुमार, हिमाशु कुमार, सोनू कुमार, ऋषि राज, सुधाशु शेखर, जाहिद परवेज, मनीष कुमार, उत्कर्ष चौहान।

Categories: Bihar News

विन एकेडमी रेड अंतिम 8 में

Dainik Jagran - 6 hours 1 min ago

पटना : आचार्य सुदर्शन प्रीमियर लीग अंडर-16 क्रिकेट टूर्नामेंट के ग्रुप एच में विन एकेडमी रेड की टीम किस्मत के सहारे बिना मैच खेले ही क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर गई। ग्रुप जी में बुधवार को ग्रेविटी हाईस्कूल ने शिवम रेसिडेंसियल पब्लिक स्कूल को सात विकेट से पराजित कर पूरे अंक प्राप्त किए। इस ग्रुप का अंतिम लीग मैच गुरुवार को ग्रेविटी हाईस्कूल और इमेज इंटरनेशनल स्कूल के बीच खेला जायेगा। मोइनुल हक स्टेडियम में आचार्य सुदर्शन स्पो‌र्ट्स एंड कल्चरल फाउंडेशन द्वारा आयोजित लीग में टॉस जीत कर शिवम रेसिडेंसियल ने 29 ओवर में 109 रन बनाए। इसमें श्रीमान् अतिरिक्त के 36 रन का सर्वाधिक योगदान रहा। गुलशन ने मात्र 21 रन देकर चार विकेट चटकाए।

जवाब में ग्रेविटी हाईस्कूल ने 18.5 ओवर में तीन विकेट पर लक्ष्य को हासिल कर लिया। ग्रेविटी ने यह मैच सात विकेट से जीता। हर्ष ने 26 रन का योगदान दिया, जबकि श्रीमान् अतिरिक्त के रूप में 31 रन आए। विजेता टीम के गुलशन को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार अंपायर राजेश रंजन ने प्रदान किया।

मंगलवार को सिन्हा मॉडल एवं बुद्धा इंटरनेशनल स्कूल को ज्यादा आयु के खिलाड़ियों को मैदान पर उतारने के कारण लीग से बाहर कर दिया गया था। इसके कारण तीसरी टीम विन एकेडमी रेड की टीम बिना मैच खेले अंतिम आठ में प्रवेश कर गई। गुरुवार को अंतिम लीग मैच ग्रेविटी हाईस्कूल और इमेज इंटरनेशनल स्कूल के बीच खेला जायेगा। दोनों टीम एक-एक मैच जीत चुकी है। इस मैच की विजेता टीम क्वार्टर फाइनल में पहुंचेगी।

संक्षिप्त स्कोर : शिवम रेसिडेंसियल पब्लिक स्कूल-29 ओवर में 109 रन पर ऑल आउट मृत्युंजय 22, यश भारती 13, अभिषेक 13, विशेष 10, सचिन 10, अतिरिक्त 36, गुलशन 4/21, शशि रंजन 3/31, रवि 2/18, ग्रेविटी हाईस्कूल-18.5 ओवर में तीन विकेट पर 110 रन हर्ष 26, गुलशन 25, आदित्य 20, राज मिश्रा 2/30, हिमाशु 1/18।

Categories: Bihar News

धीरज के खेल से पटना चैंपियन

Dainik Jagran - 6 hours 3 min ago

पटना : बुधवार को सीतयोग प्रौधोगिकी संस्थान परिसर में संपन्न तीसरी राज्य सीनियर बास्केटबॉल चैंपियनशिप के पुरुष वर्ग में पूमरे रेल को पछाड़ते हुए पटना की टीम चैंपियन बनी, वहीं बिहार पुलिस ने लखीसराय को हराकर तीसरा स्थान पाया। पटना की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले धीरज ने बेस्ट प्लेयर का पुरस्कार पाया। महिलाओं में सिवान को हराकर पूमरे रेलवे ने खिताब जीता। पटना ने गया को हराकर तीसरा स्थान प्राप्त किया। महिला वर्ग में पूमरे की राधा ने बेस्ट प्लेयर का खि़ताब हासिल किया।

इस अवसर पर आयोजित अंडर 17 क्रिकेट टूर्नामेट में नारायणा मिशन स्कूल, औरंगाबाद ने बाजी मारी, जबकि जम्होर हाई स्कूल की टीम दूसरे स्थान पर रही। मुख्य अतिथि केदारनाथ सिंह (भूतपूर्व प्रधानाध्यापक अनुग्रह स्कूल), डॉ. बी. किशोर (नारायणा मिशन स्कूल) के साथ संस्थान के चेयरमैन कुमार योगेन्द्र नारायण सिंह, सचिव ई. राजेश कुमार सिंह, कुलसचिव डॉ. विजय कुमार सिंह, पटना बास्केटबॉल के कोच विनय कुमार एवं बिहार पुलिस के कोच गोपाल सिंह राणा मौजूदगी में पुरस्कार वितरण संपन्न हुआ। राज्य बास्केटबॉल संघ के सचिव सुशील कुमार ने बताया कि सीनियर प्रतियोगिता में पूरे बिहार से 264 खिलाड़ियों ने भाग लिया।

Categories: Bihar News

पालीगंज में मनरेगा की बकाया राशि के लिए हंगामा

Dainik Jagran - 6 hours 11 min ago

संवाद सहयोगी, पालीगंज : प्रखंड के भेड़हरिया इंग्लिस ग्राम पंचायत के मनरेगा मजदूरों ने बकाया राशि की माग को लेकर बुधवार को अनुमंडल कार्यालय पर हंगामा किया।

मजदूरों ने बताया कि वे कुछ माह पहले मनरेगा योजना के तहत काम किए थे। काम के बाद कुछ लोगों को पैसा मिला और कुछ को नहीं। मजदूरों ने अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मजदूरों ने मागों को लेकर एसडीओ को ज्ञापन सौंपा। वहीं ग्राम पंचायत के मुखिया राकेश दास ने बताया कि कुछ मजदूरों के बैंक खाते में गड़बड़ी होने के कारण भुगतान में विलंब हुई है। रोजगार सेवक को जल्द ही खाता संख्या सही कर भुगतान करने का निर्देश दिया गया है।

Categories: Bihar News

एनएमसीएच में नर्सिंग छात्राओं की बै¨चग व विदाई

Dainik Jagran - 6 hours 12 min ago

जागरण संवाददाता, पटना सिटी : एनएमसीएच परिसर स्थित नर्सिंग स्कूल में जीएनएम की इंटर्न छात्राओं को बुधवार को विदाई दी गई। सत्र 2014-17 की 60 छात्राओं को उपहार दिया गया। प्राचार्य गीता साह ने इन छात्राओं के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए इनका मार्गदर्शन किया। जीएनएम की द्वितीय एवं तृतीय वर्ष की छात्राओं की बै¨चग की गई। इस मौके पर छात्राओं ने गीत संगीत का रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में नीलम कुमारी, सावित्री अग्रहरी, सरिता सिहं, श्वेता कुमारी, मधु कुमारी, सुकन्या समेत अन्य सक्रिय रहीं।

Categories: Bihar News

जाति-धर्म से ऊपर है सर सैयद का शिक्षण संस्थान

Dainik Jagran - 6 hours 12 min ago

- सर सैयद की 200वीं जयंती पर मौलाना मजहरूल हक ऑडिटोरियम में समारोह

- अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ओल्ड ब्वॉयज एसोशिएसन के बिहार चैप्टर का आयोजन

जागरण संवाददाता, पटना : अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के संस्थापक सर सैयद अहमद खा की 200वीं जयंती समारोहपूर्वक बुधवार को मनाई गई। इसका आयोजन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ओल्ड ब्वॉयज एसोशिएसन, बिहार चैप्टर ने मौलाना मजहरूल हक ऑडिटोरियम में किया गया। मुख्य अतिथि सासद चौधरी महबूब अली कैसर ने कहा कि सर सैयद शिक्षा का अलख जगाने के लिए विश्व में याद किए जाते हैं। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से पढ़ने वाले छात्र आज दुनिया भर में परचम लहरा रहे हैं। इसमें हिंदू भी हैं और मुसलमान भी। पारस अस्पताल के डॉ. तलत हलीम ने कहा कि ज्यादा से ज्यादा शिक्षा का प्रसार हो, यही सर सैयद की इच्छा थी। उनका सपना शिक्षा को अंतिम कतार तक पहुंचाना था, हर उस वर्ग तक शिक्षा को ले जाना था जिसकी पहुंच नहीं थी और इसमें अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय अहम भूमिका निभा रहा है।

बिहार राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष मोहम्मद सलाम ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से पास आउट छात्रों को जोड़ें और सर सैयद के काम को आगे बढ़ाएं। एएमयू के एलुमिनाई पत्र सूचना कार्यालय के सहायक निदेशक संजय कुमार ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय एक संस्कृति है जहा जाति -धर्म से ऊपर की शिक्षा दी जाती है। अगर वे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की स्थापना नहीं करते तो शायद शिक्षा का यह स्वरूप देखने को नहीं मिलता। उन्होंने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को एक खास धर्म के शिक्षण संस्थान के तौर पर नहीं देखना चाहिए, क्योंकि यह एक शिक्षा का मंदिर है जहा हर कोई शिक्षा पा रहा है। ओल्ड ब्वॉयज एसोशिएसन, बिहार चैप्टर के महासचिव डॉ. अरशद हक ने कहा कि सर सैयद के सपने को पूरा करने की कोशिश एसोशिएसन कर रहा है। स्मारिका का भी विमोचन किया गया। मौके पर ओल्ड ब्वॉयज एसोशिएसन के अध्यक्ष ई. अमीर हसन आदि मौजूद थे। संचालन प्रो. सेहर रहमान और धन्यवाद ज्ञापन अब्दुल मनान खान ने किया।

Categories: Bihar News

निगम क्षेत्र के गीले कचरे से तैयार होगी जैविक खाद

Dainik Jagran - 6 hours 13 min ago

पटना : नगर निगम क्षेत्र से निकलने वाले गीले कचरे से जैविक खाद तैयार की जाएगी। प्रायोगिक तौर पर इसके लिए चार वार्डो के दस हजार घरों का कचरा लिया जाएगा। मुजफ्फरपुर मॉडल के अनुसार बेउर में दस हजार वर्गफीट में शेड में खाद तैयार होगी। इसमें 50 पिट (गड्ढा) तैयार होंगे। इसकी सहायता से हर दिन पांच टन जैविक खाद तैयार होगी। खाद का पहला लॉट 50 दिन में निकलेगा, इसके बाद हर दिन कचरे से खाद का उत्पादन होगा। बेउर में बनने वाले जैविक खाद प्लांट का डीपीआर तैयार कर लिया गया है। जैविक खाद प्लांट को लेकर अगले महीने से कार्य आरंभ होने की संभावना है।

--------

इस कचरे से बनेगी खाद :

जैविक खाद प्लांट में खाद तैयार करने के लिए गीला कचरा घरों से लिया जाएगा। गीला कचरा लोग हरे रंग की डस्टबिन में रखेंगे। इस कचरे में सब्जी, फल और अंडे के छिलके रखे जाएंगे। खाने के बाद बची सामग्री, चिकेन और मछली से निकली हड्डिया, सड़े हुए फल और सब्जी, चायपत्ती और कॉफी के अवशेष, पेड़ों के नीचे गिरी पत्तिया, सड़क पर बिखरे फूल पत्ती आदि इनमें शामिल हैं।

-------

बांटे जाएंगे 10 हजार डस्टबिन :

ठोस कचरा प्रबंधन के तहत राजधानी के चार वार्डो में 10 हजार छोटे-छोटे नीले व हरे रंग के डस्टबिन बांटे जाएंगे। इसमें लोग अलग-अलग गीला व सूखा कचरा जमा करेंगे। लोग कचरे को हर दिन घर-घर कूड़ा उठाने वाले मजदूरों को देंगे। मजदूर कचरा अलग-अलग जमा कर प्लांट तक पहुंचाएंगे।

---------

प्रति टन 1500 रुपये होगी आय :

जैविक खाद उत्पादन से प्रति टन 15 सौ रुपये आमदनी पटना नगर निगम को होगी। इससे हर दिन लगभग साढ़े सात हजार रुपये नगर निगम के खाते में जैविक खाद से आएंगे। निगम की ओर से कचरा बेचने का जिम्मा निजी हाथों में दिया जाएगा। इसके लिए मुजफ्फरपुर में कार्य करने वाले एजेंसी सहित अन्य एजेंसियों के साथ वार्ता चल रही है।

--------

शहर को स्वच्छ व सुंदर बनाने के लिए कवायद की जा रही है। इसके तहत ठोस कचरा प्रबंधन किया जा रहा है। घरों से निकलने वाले गीले कचरे से खाद तैयार होगी।

- सीता साहू, मेयर पटना।

-------

राजधानी के बेउर में जैविक खाद उत्पादन प्लांट बनाया जाएगा। इसके लिए तैयारी जोरों पर है। यह मुजफ्फरपुर मॉडल के अनुसार बनेगा। इससे निगम को आय भी होगी।

- अभिषेक सिंह, नगर आयुक्त।

--------

Categories: Bihar News

मौर्यलोक की सुबह-शाम होगी सफाई, अतिक्रमण के लिए विशेष दस्ता

Dainik Jagran - 6 hours 15 min ago

पटना। स्मार्ट सिटी में शामिल होने के बाद सबसे पहले निगम मुख्यालय मौर्यलोक को स्मार्ट बनाया जाएगा। इसके तहत मौर्यलोक परिसर को व्यवस्थित व स्मार्ट बनाया जाएगा। हर दिन सुबह-शाम सफाई होगी। सभी फ्लोर की सफाई अत्याधुनिक मशीन से कराई जाएगी। मेयर सीता साहू की अध्यक्षता में आयोजित निगम की सशक्त स्थाई समिति की बैठक में मौर्यलोक परिसर की व्यवस्था निजी हाथों में सौंपने का निर्णय लिया गया।

पांच लाख हर माह होंगे खर्च

मौर्यलोक की सफाई व व्यवस्था पर पटना नगर निगम पांच लाख हर महीने खर्च करेगी। यह राशि मौर्यालोक परिसर की रख-रखाव मद से खर्च किए जाएंगे। बैठक में उप महापौर विनय कुमार, नगर आयुक्त अभिषेक सिंह, सशक्त स्थायी समिति सदस्य पिंकी कुमारी, दीपा रानी खान, इंद्रदीप चंद्रवंशी भी थे।

----------------

पंप ऑपरेटर को किया गया संबद्ध

बीआरजेपी से नगर निगम को हस्तगत हुए सभी पंपों पर पूर्व से कार्यरत पंप ऑपरेटर की कार्य करते रहेंगे। इस पर भी सशक्त स्थायी समिति ने अपनी मुहर लगा दी। नगर निगम क्षेत्र में निर्बाध रूप से जलापूर्ति के लिए सभी जलापूर्ति केंद्रों पर ऑपरेटर प्रतिनियुक्त रहेंगे। पटना नगर निगम क्षेत्र में पेयजल जलापूर्ति 117 जलापूर्ति केंद्रों से होती है।

----------------

अतिक्रमण हटाने के लिए विशेष दस्ता

नगर निगम की ओर से अतिक्रमण के खिलाफ चलाए जाने वाले अभियान के लिए निगम के चारों अंचलों में विशेष दस्ता रहेगी। इस दस्ता के पास एक दर्जन टास्क फोर्स होंगे। इसके अतिरिक्त जेसीबी, ट्रैक्टर व अतिक्रमण हटाने के लिए पर्याप्त संसाधन होंगे। दस्ता जरूरत के हिसाब से पुलिस बल व दंडाधिकारी की मदद ले सकते है।

-----------

बड़े बकायेदारों को मिलेगी नोटिस, जब्त होगी संपत्ति

होल्डिंग टैक्स के बड़े बकायेदारों को पटना नगर निगम की ओर से नोटिस भेजा जाएगा। नोटिस के 15 दिनों के भीतर टैक्स जमा नहीं कराने वाले नागरिकों की कुर्की जब्ती से लेकर बैंक खाते को भी सील कराया जाएगा। बिजली-पानी भी काटने की कार्रवाई होगी। इसके लिए पटना नगर निगम ने टास्कफोर्स गठित करेगी। बुधवार को सशक्त स्थायी समिति ने इस पर अपनी मुहर लगा दी। इसके तहत पहले चरण में बड़े बकायेदारों की संपत्ति कर वसूली को लेकर घर-घर दस्तक देगी। इस टास्क फोर्स में अंचल में पदस्थापित वाहन अनुज्ञा निरीक्षक, विविध अनुज्ञा निरीक्षक, पेशा निरीक्षक, अधिपत्र पदाधिकारी में से एक, कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा चयनित तीन कर संग्राहक जिसमें संबंधित राजस्व सर्किल के कर संग्रहक शामिल होंगे रहेंगे। वहीं चतुर्थ वर्गीय कर्मियों में पांच लोग शामिल रहेंगे।

Categories: Bihar News

शराबी को भगाने वाले एसके पुरी थाने के तीन पुलिसकर्मी निलंबित

Dainik Jagran - 6 hours 15 min ago

- थानाध्यक्ष से स्पष्टीकरण, आरोपित पुलिसकर्मियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज, शुरू हुई विभागीय कार्रवाई, सिटी एसपी को मिला जांच का जिम्मा

जागरण संवाददाता, पटना : राज्य में शराबबंदी के बावजूद पीने-पिलाने और मोटी रकम लेकर थाने से भगाने के मामलों में कमी नहीं आ रही। ताजा उदाहरण एसके पुरी थाने का है। मंगलवार को एएसआइ मणिलाल बैठा, मुंशी शंभू और इंद्रमणि ने शराब का सेवन करने के आरोपित आकाश शुक्ला को मोटी रकम देकर भगा दिया। हालांकि घटना के कुछ मिनटों के बाद ही पुलिस कप्तान मनु महाराज को कारस्तानी का पता चल गया।

एसएसपी के निर्देश पर सिटी एसपी (मध्य) अमरकेश दारपीनोनी और सचिवालय डीएसपी अशोक कुमार चौधरी ने जांच की, जिसमें उक्त तीनों पुलिसकर्मी दोषी पाए गए। उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। उनके खिलाफ आइपीसी 223 और 224 के तहत प्राथमिकी दर्ज हुई है। साथ ही विभागीय कार्रवाई भी शुरू दी गई। थानाध्यक्ष अरविंद कुमार से स्पष्टीकरण मांगा गया है। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

वाहन चेकिंग में पकड़ा गया आकाश

सोमवार की रात करीब नौ बजे कार्टन फैक्ट्री का मालिक आकाश शुक्ला बो¨रग रोड के रास्ते कार से घर जा रहा था। इस दौरान पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान उसे रोका। उसके मुंह से शराब की गंध आ रही थी। पुलिसकर्मी उसे थाने ले आए और ब्रेथ एनालाइजर से जांच की। जांच में अल्कोहल टेस्ट पॉजिटिव आया, जिसके बाद उसे हिरासत में ले लिया गया।

वरीय पदाधिकारियों को नहीं दी सूचना

प री रात और अगले दिन शाम तक आरोपित को थाने में रखा गया, लेकिन इसकी सूचना दोषी पुलिसकर्मियों ने वरीय पदाधिकारियों को नहीं दी। इस दौरान थाने का मुंशी शंभू सौदेबाजी करता रहा। थाने के सूत्र बताते हैं कि शंभू ने मोटी रकम लेकर आकाश को भगा दिया, लेकिन जब जांच अधिकारी मौके पर पहुंचे तो उन्हें रुपये नहीं मिले।

स सीटीवी कैमरों में कैद है मुंशी की हरकत

थाने के ठीक निजी प्रतिष्ठानों में सामने लगे सीसीटीवी कैमरों ने मुंशी शंभू की हरकत को कैद कर लिया है। बताया जाता है कि उसमें आकाश को उसके परिजनों के साथ आराम से जाते देखा गया। ऐसी सूरत में उसके थाने से फरार होने की बात अधिकारियों को नहीं पच रही है। सिटी एसपी ने आकाश और उसके परिजनों से पूछताछ की, लेकिन उन्होंने प्रथमदृष्ट्या रिश्वत देने की बात नहीं स्वीकार की। गौरतलब है कि सिटी एसपी की जांच शुरू होने के बाद एक पुलिसकर्मी आकाश के घर गया और उसे वापस थाने में लेकर आया।

-----------------

बयान :

थानाध्यक्ष से स्पष्टीकरण मांगी गई है। उसने आरोपित की गिरफ्तारी की सूचना वरीय अधिकारियों को नहीं दी। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले जाएंगे। यदि किसी ने फुटेज मिटाने की कोशिश की तो उसे भी दोषी माना जाएगा। प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू हो गई है। परिजन अगर रिश्वत देने की बात स्वीकार करेंगे तो दोषी पुलिसकर्मियों को भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

- मनु महाराज, एसएसपी।

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair