Bihar News

बिहार कैबिनेट: 17 प्रस्ताव स्वीकृत, अब 67 साल में रिटायर होंगे सरकारी डॉक्टर

Dainik Jagran - 2 hours 18 min ago

पटना [जेएनएन]। बिहार कैबिनेट की बैठक में कुल 17 एजेंडों पर मुहर लगाई गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में बड़ा फैसला लिया गया।इसके तहत अब सरकारी डॉक्टरों के रिटायरमेंट की उम्र सीमा में दो साल की बढ़ोत्तरी की गई है। अब सरकारी डॉक्टर 65 के बदले 67 उम्र में रिटायर होंगे।

इसके साथ ही बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र की तारीख भी तय की गई है। मानसून सत्र इस बार 20 जुलाई से शुरू होगा जो 26 जुलाई तक चलेगा।

वहीं यह भी फैसला लिया गया कि वैशाली जिले में रैफ का सेंटर बनेगा और उग्रवादग्रस्त पांच जिलों में 864 किलोमीटर सड़क का निर्माण किया जाएगा। सड़क के लिए 1228.83 करोड़ की मंजूरी दी गई। 

-डिजिटल फॉरेंसिक लैब बनेगा

-कैबिनेट ने लैब के लिए 1.15 करोड़ की दी स्वीकृति

 

Categories: Bihar News

धुआं उठते ही ट्रेन में बजेगा अलार्म, लग जाएंगे ब्रेक, जानिए तकनीक

Dainik Jagran - 2 hours 19 min ago

पटना [चंद्रशेखर]। ट्रेनों में ब्रेक बाइंडिंग या किसी और कारण से आग लगने पर तुरंत बचाव का तरीका ढूंढ़ लिया गया है। रेलवे अब यात्री ट्रेनों में एडवांस मल्टी लेवल फायर डिटेक्शन सिस्टम लगाने की तैयारी कर रहा है। इसकी शुरुआत राजधानी और शताब्दी के अलावा सभी प्रीमियम ट्रेनों के एसी कोच से होगी। 

आग लगने की स्थिति में बोगी में जैसे ही धुंआ उठेगा, एडवांस फायर सिस्टम अपना काम शुरू कर देगा। कोच में हूटर बजने लगेगा, जिससे यात्री सतर्क हो जाएं। धुआं अधिक होने पर या लपटें बढऩे पर ट्रेन में स्वत: ब्रेक लग जाएगा ताकि यात्री कोच के बाहर उतर सकें। 

रेलवे के अधिकारियों के अनुसार, हमसफर और तेजस जैसी नई ट्रेनों की बोगियों में भी यह सिस्टम मौजूद होगा। राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में इसे लगाने की तैयारी चल रही है। शुरुआत में यह उन सभी ट्रेनों में लगाया जाएगा जिनमें लिंक हॉफमेन बुश, एलएचबी (आधुनिक बोगियां) जोड़ी जाती हैं।

इन ट्रेनों के सभी एसी कोच, पैंट्रीकार, पावर कार में एडवांस फायर फाइटिंग सिस्टम लगाए जाएंगे। पूरे सिस्टम को ट्रेन के पावर कार में स्थापित सेंट्रल मॉनीटरिंग सिस्टम से जोड़ा जाएगा।

ऐसे काम करेगा सिस्टम 

हर ट्रेन में सेंट्रल मॉनीटिरिंग सिस्टम की निगरानी के लिए दो तकनीकी कर्मचारी तैनात होंगे। अलग-अलग कोच का अलग-अलग आइडेंटिफिकेशन नंबर होगा। किसी कोच में आग लगने पर धुआं बढ़ते ही सेंट्रल मॉनीटरिंग सिस्टम में लगी लेवल-1 की फ्लैश लाइट सक्रिय हो जाएंगी। यदि धुआं तेज गति से बढऩे लगता है तो लेवल-2 की फ्लैश लाइट जलेंगी। इसके अलावा अलार्म भी बजेगा। धुएं का स्तर लेवल-3 तक पहुंचने पर ट्रेन में स्वत: ब्रेक लग जाएगा।

55 सेकंड में प्रसारित होगी सूचना 

ट्रेन में आग लगने के 55 सेकंड के भीतर स्वत: संबंधित कोच में सूचना प्रसारित होने लगेगी और यात्रियों को आगाह करने के लिए हूटर बजना शुरू हो जाएगा। ब्रेक लगने की स्थिति में यात्रियों को ब्रेक लगाए जाने का कारण बोगी में लगे स्पीकर पर घोषणा के जरिये बताया जाएगा।

कहा-मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने 

यात्रियों की सुरक्षा के लिए राजधानी समेत प्रीमियम ट्रेनों में एडवांस मल्टी लेवल फायर फाइटिंग सिस्टम लगाया जा रहा है। सबसे पहले राजधानी एक्सप्रेस में इस सिस्टम को इंस्टॉल किया जाएगा।  इससे जानमाल की क्षति तो रुकेगी ही, रेलवे की संपत्ति को भी नुकसान कम होगा।

-राजेश कुमार, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, पूर्व मध्य रेलवे

 

Categories: Bihar News

नगर निगम में अटके चार हजार राशन कार्ड

Dainik Jagran - 2 hours 33 min ago

पटना । पटना सदर अनुमंडल में अब राशन कार्ड मिलेगा। एसडीएम सुहर्ष भगत राशन कार्ड के आवेदनों को तैयार कराने में जुट गए हैं। 21 हजार आवेदनों में छह हजार जांच के दौरान रद कर दिए गए हैं। 15 हजार राशन कार्ड का वितरण होना है।

पटना नगर निगम क्षेत्र का राशन कार्ड चारों अंचल के कार्यपालक पदाधिकारियों के हस्ताक्षर के बाद एसडीएम जारी करेंगे। चार हजार राशन कार्ड के आवेदन कार्यपालक पदाधिकारियों के पास लंबित हैं। अनुमंडल कार्यालय इन आवेदन के लौटने का इंतजार कर रहा है। फुलवारी प्रखंड, संपत्तचक प्रखंड, पटना सदर प्रखंड के नकटादियारा के लिए तैयार राशन कार्ड को वितरण के लिए भेज दिया गया है।

राशन कार्ड का आवेदन दो सालों से लिया जा रहा है। कार्ड तैयार करने के सॉफ्टवेयर और नियमों में कई बदलाव के करण अब तक ये जारी नहीं हो पाए थे। गरीब जनता इसका बेसब्री से इंतजार कर रही है। एसडीएम सुहर्ष भगत का कहना है कि राशन कार्ड को प्राथमिकता के आधार पर तैयार किया जा रहा है। तैयार होने के साथ ही वितरण भी होता रहेगा। दूसरी तरफ राशन कार्डधारी संघ के अध्यक्ष दशरथ पासवान ने मांग की है कि राशन कार्ड का शीघ्र वितरण किया जाए।

Categories: Bihar News

पटना का पारा 41.2, बिहार में 24 को बारिश के आसार

Dainik Jagran - 2 hours 51 min ago

पटना । दक्षिण-पश्चिम मानसून के लिए परिस्थिति अनुकूल बनने के संकेत मिल रहे हैं। अरब सागर से उठ रही तूफानी हवा का रुख बिहार और पश्चिम बंगाल की ओर होने के कारण 24 जून को प्रदेश में तेज हवा के साथ बारिश होने के आसार हैं। बुधवार को पटना में दिनभर उमस भरी गर्मी और शाम में कुछ जगहों पर बूंदाबांदी हुई। मौसम विभाग के अनुसार राजधानी क्षेत्र में 6 एमएम वर्षा रिकॉर्ड की गई।

बुधवार को पटना में गांधी मैदान, अशोक राजपथ, दुजरा, मैनपुरा, कुर्जी, बेली रोड और कंकड़बाग इलाके में बूंदाबांदी हुई। पटना के ग्रामीण क्षेत्र हथिदह और बांका जिले के कटोरिया में दो एमएम वर्षा दर्ज की गई। पटना और गया में अधिकतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री और न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। पटना का अधिकतम तापमान 41.2 डिग्री और न्यूनतम 28.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गया का अधिकतम तापमान 43.3 डिग्री और न्यूनतम 29.6 डिग्री सेल्सियस रहा। भागलपुर का अधिकतम तापमान 39 डिग्री और न्यूनतम 27.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। पूर्णिया का अधिकतम तापमान 34.4 डिग्री और न्यूनतम 22.7 डिग्री सेल्सियस रहा। औरंगाबाद का अधिकतम तापमान 43 डिग्री रहा तो वहीं नालंदा और राजगीर का अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस रहा।

मौसम विभाग द्वारा जारी साप्ताहिक पूर्वानुमान के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून के लिए अरब सागर में अनुकूल परिस्थति बन रही है। 22 से 23 जून तक तूफानी हवा के साथ बारिश पश्चिम बंगाल होते हुए 24 जून तक बिहार में दस्तक दे सकती है। पूर्वी बिहार में 23 जून को कुछ जगहों पर बारिश हो सकती है।

--------

Categories: Bihar News

गायघाट पीपा पुल से गाड़ियों की आवाजाही बंद

Dainik Jagran - 3 hours 6 min ago

पटना सिटी। महात्मा गांधी सेतु के समानांतर गायघाट स्थित पीपा पुल पर सभी वाहनों का परिचालन बुधवार की रात 12 बजे से रोक दिया गया। गंगा के जलस्तर में बढ़ोतरी शुरू होते ही सुरक्षा के दृष्टिकोण से जिला प्रशासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है। बरसात बाद नदी का पानी कम होते ही पीपा पुल को दोबारा वाहनों के आवागमन के लिए तैयार किया जाएगा। शाम में पुल पर पुलिस बल के साथ पहुंचे यातायात डीएसपी जगदानंद ठाकुर ने वाहन चालकों के बीच यह जानकारी सार्वजनिक किया। उन्होंने कहा कि रात से सभी तरह के वाहनों का परिचालन गांधी सेतु के रास्ते होगा।

शाम में पीपा पुल पर सभी तरह के छोटे वाहनों की संख्या अधिक थी। इनमें कई बारात व दूल्हे के भी वाहन थे। पुलिस बल ने पुल पर वाहनों के बढ़े दबाव को नियंत्रित किया। वहीं, पीपा पुल निर्माण करने वाली कंपनी के निदेशक शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि गुरुवार की सुबह से पीपा पुल को खोलने का काम शुरू किया जाएगा। इसके लिए रात में ही पूरी तैयारी कर ली जाएगी। 30 से अधिक कर्मियों को लगाकर चार-पांच दिनों में इस पुल के सभी पीपा को खोल कर खाजेकलां घाट, कंगन घाट समेत अन्य घाटों पर जंजीर से बांधा जाएगा। दिसंबर में इस पुल को फिर से तैयार कर चालू किया जाएगा।

Categories: Bihar News

पुल की रेलिंग तोड़ते हुए कोसी नदी में गिरा ट्रक, तीन की मौत, सात घायल

Dainik Jagran - 4 hours 47 min ago

सुपौल [जेएनएन]। सुपौल जिले से सटे भारत और नेपाल बॉर्डर के निकट नेपाल स्थित कोसी बराज पुल पर एक एक ट्रक पुल की रेलिंग तोड़कर कोसी नदी में जा गिरा। इस हादसे में ट्रक में सवार तीन मजदूरों की डूबने से मौत हो गई है, जबकि सात अन्य लोग घायल भी हो गए हैं, जिसमें से दो घायलों की स्थिति गंभीर बतायी जा रही है।

जानकारी के मुताबिक नेपाल स्थित कोसी बराज के गेट नंबर 19 के नजदीक पोकलेन लेकर जा रही ट्रक पुल की रेलिंग तोड़ते हुए नदी में जा गिरी। ट्रक पर कई मजदूर सवार थे जो ट्रक के साथ ही नदी में गिर गए। बताया जा रहा है कि ट्रक पर करीब 10 मजदूर सवार थे। डूबने वाले मजदूरों को मछुआरों ने नदी से निकाला है। 

इस घटना में मरने वाले मजदूरों की संख्या की पुष्टि अधिकारिक रूप से नहीं की गई है। सूत्रों के अनुसार नेपाल का मामला होने के कारण मौके पर नेपाल पुलिस पहुंची है और मामले की जांच कर रही है।  

बताया जाता है कि नदी में गिरने वाले ट्रक पर एक जेसीबी मशीन भी लोड थी। वह भी ट्रक के साथ ही नदी में गिर गई। घायल लोगों को मछुआरों की मदद से नदी से निकाला गया है और इलाज के लिए फौरन अस्पताल भेजा गया है।

बता दें कि कोसी नदी बराज के पास पानी की धार काफी तेज होती है। ऐसे में नदी में खतरा अधिक होता है।हालांकि यह पता नहीं चल पाया है कि ट्रक आखिर पुल की रेलिंग तोड़कर नदी में कैसे गिर गई?

Categories: Bihar News

BJP MLC ने बिहार बोर्ड अध्यक्ष पर लगाया बड़ा आरोप, कहा-42 हजार कॉपियां कहां हैं...

Dainik Jagran - 5 hours 20 min ago

पटना [जेएनएन]। भाजपा के विधानपार्षद नवल किशोर यादव ने बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा है कि वो बोर्ड की दुर्गति करने में लगे हुए हैं। उन्होंने ना सिर्फ बच्चों को परेशान किया है बल्कि उन्होंने बोर्ड में एक हजार करोड़ का घोटाला भी किया है। वसुधा केंद्र के नाम पर आनंद किशोर ने 45 करोड़ रुपये की उगाही की है।

विधानपार्षद ने कहा कि आनंद किशोर निर्दयी की तरह मुस्कुराते हुए बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्हें जितनी भी सजा दी जाए वो कम है। उन्होंने कहा कि स्कूल के प्राचार्य प्रमोद कुमार श्रीवास्तव की गिरफ्तारी गलत है। इसमें जवाबदेही पुलिस प्रशासन की है और बिना बिहार बोर्ड के सहयोग से इतना बड़ा घोटाला संभव नहीं हैं।

उन्होंने आनंद किशोर पर आरोप लगाते हुए यह भी कहा कि इंटर में दागदार कंपनी को इन्होंने टेंडर दिया, जिसके कारण बच्चे परेशान हैं। नवल किशोर यादव ने इस मामले की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की है और साथ ही सरकार से बीएसईबी और इंटर काउंसिल की स्वायत्तता बहाल की भी मांग की है।

कहा शिक्षामंत्री नेे-बोर्ड और बिहार की छवि हुई खराब

वहीं राज्य के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि गोपालगंज से मैट्रिक परीक्षा आंसरशीट्स घोटाला उजागर होने से बोर्ड के साथ-साथ बिहार की छवि भी खराब हुई है और इस मामले में किसी भी दोषी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा।

उन्होंने ये भी कहा कि कॉपियां गायब होने से छात्रों के फिजिकल वेरीफिकेशन में भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। शिक्षा मंत्री ने इस मामले को काफी गंभीर बताया और कहा कि शक के आधार पर कई लोगों से पूछताछ जारी है। उन्होंने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता कॉपी बरामद करना है। छात्रों को इससे कोई परेशानी नहीं होगी, इसका ध्यान रखा जाएगा।

बता दें कि, बिहार बोर्ड के मैट्रिक परीक्षा की 42,000 अांसरशीट्स गायब हो गई हैं। ये आंसरशीट्स गोपालगंज के स्कूल से गायब हुई हैं जिसके बाद उस स्कूल के प्राचार्य से बोर्ड अॉफिस में पूछताछ की गई और संतोषजनक उत्तर नहीं मिलने पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

 

Categories: Bihar News

अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस: बिहार में अलग हुए भाजपा और जदयू के सुर-ताल

Dainik Jagran - 5 hours 29 min ago

पटना [जेएनएन]। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए जहां बिहार में भाजपा नेता उत्साहित हैं और लोगों से अपील कर रहे हैं कि सबलोग इस दिन पर एक साथ मिलकर योग करें। लेकिन इसके लिए जदयू ने मनाही कर दी है और इस दिन से खुद को दरकिनार करते हुए कहा है कि योग लोगों की अपनी व्यक्तिगत चाहत होती है और हम घर में ही करते हैं, इसे पब्लिकली प्रचारित करने की जरूरत नहीं।

बता दें कि भाजपा नेता कल यानि 21 जून को राजधानी पटना सहित राज्य के विभिन्न हिस्सों में योग दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे और आमजन के साथ योगाभ्यास करेंगे। इसके लिए जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं। वहीं बिहार में भाजपा के साथ सरकार चला रही जदयू ने योग दिवस से खुद को अलग कर लिया है। 

21 जून के योग दिवस के मौके पर सबको साथ आने की अपील करते हुए मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि सभी को योग करने की जरूत है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोेदी ने इसे जन-जन तक पहुंचाया है। इसमें सभी लोगों को साथ आने की जरूरत है। 

तो वहीं, जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ट नारायण सिंह ने कहा है कि योग को किसी के पार्टिसिपेशन से नहीं जोड़ना चाहिए, इसे तो लोग अपने घरों में भी करते हैं। योग हमारे देश की संस्कृति का एक अंग रहा है और योग शिविर में तो सीमित संख्या में लोग जाते हैं। 

बता दें कि कि ये पहली बार नहीं है। जदयू ने पिछले साल भी इससे दूरी बनाए रखी थी। पिछले साल ही नहीं बल्कि पिछले तीन साल से वो इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो रहा। लेकिन इस बार बिहार में एनडीए की सरकार है और भाजपा-जदयू एकसाथ सरकार में शामिल हैं। इसके बावजूद जदयू ने इस कार्यक्रम में भाजपा का साथ नहीं दिया है।

इसपर जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा है कि योग दिवस के नाम पर दिखावा और राजनीति नहीं करनी चाहिए। ये लोगों का अपना व्यक्तिगत निर्णय होता है कि वो योगा करें या ना करें। हम घर में योगाभ्यास करते हैं। मुख्यमंत्री जी भी नियमित योग करते हैं, लेकिन इसका प्रदर्शन क्यों करना? योग हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है और बिहार ने तो लोगों को योग सिखाया है। इसका सार्वजिनक स्थलों पर प्रकटीकरण करना सही नहीं है। 

 

Categories: Bihar News

अब 25 से शुरू होंगी आठवीं तक की कक्षाएं

Dainik Jagran - 10 hours 31 min ago

पटना । राजधानी के सभी सरकारी और निजी विद्यालयों की आठवीं तक की कक्षाएं अब 25 जून से खुलेंगी। भीषण गर्मी तथा गर्म हवा (लू) चलने के कारण जिलाधिकारी ने स्कूल बंद करने के आदेश को बढ़ा दिया है। पहले 20 जून तक आठवीं तक की कक्षाएं बंद की गई थीं। जिले के सभी सरकारी एवं गैर सरकारी (निजी) विद्यालयों की आठवीं तक की सभी कक्षाएं 23 जून तक बंद रखने का आदेश दिया है। 24 जून को रविवार होने के कारण स्कूल बंद रहेगा।

जिलाधिकारी के निर्देशानुसार कक्षा नौ से ऊपर की कक्षाएं सुबह 6.45 बजे से 11.00 बजे तक संचालित की जाएंगी। किसी भी स्थिति में 11 बजे के बाद कक्षाएं संचालित नहीं होंगी। अधिकांश स्कूल लंबे ग्रीष्म अवकाश के बाद 18 जून को ही खुलने वाले थे। अब ये 25 को खुलेंगे।

बिहार में अब 24 तक मानसून आने के आसार

पटना : बिहार में दक्षिण-पश्चिम मानसून के अब 24 जून से सक्रिय होने के आसार हैं। पिछले एक सप्ताह से यह निष्क्रिय बना हुआ है। 22 जून से परिस्थितियां अनुकूल होने के संकेत मिल रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को तापमान में एक डिग्री सेल्सियस तक कमी के आसार हैं, लेकिन 21 जून को पटना, गया, औरंगाबाद, राजगीर और नालंदा का तापमान 43 से 44 डिग्री तक पहुंच सकता है। पटना सहित दक्षिण बिहार में अभी हीट वेव का कहर जारी रहने की संभावना है।

मंगलवार को पटना में सुबह से ही उमस भरी गर्मी ने लोगों को बेचैन किया। शाम 4.30 बजे तेज हवा के साथ बूंदाबांदी हुई। पटना में 6 एमएम वर्षा रिकॉर्ड की गई। बारिश के बाद शहर की हवा में नमी की मात्रा 49 फीसद से बढ़कर 75 तक पहुंच गई। पटना का अधिकतम तापमान 41.2 डिग्री और न्यूनतम 29.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। गया का अधिकतम तापमान 42 डिग्री और न्यूनतम 29.5 डिग्री सेल्सियस रहा। भागलपुर का अधिकतम तापमान 39.6 डिग्री और न्यूनतम 26.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पूर्णिया का अधिकतम तापमान 36.6 डिग्री और न्यूनतम 25.5 डिग्री सेल्सियस रहा। औरंगाबाद का अधिकतम तापमान 43 डिग्री, नालंदा और राजगीर में यह 42 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

मौसम विभाग द्वारा जारी साप्ताहिक पूर्वानुमान के अनुसार मंगलवार को पटना, गया सहित अधिकांश शहरों के तापमान में औसत एक डिग्री सेल्सियस तक कमी की संभावना है। 21 से 26 जून के बीच राजधानी सहित दक्षिण बिहार के शहरों का तापमान 44 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

------

Categories: Bihar News

अपने MY समीकरण को ले CM नीतीश से मिलना चाहते गिरिराज, कहा- नहीं मिल रहा वक्‍त

Dainik Jagran - 11 hours 9 min ago

पटना [जेएनएन]। राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) के 'माय' (मुस्लिम-यादव) समीकरण की काट में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अपना 'माय' समीकरण सामने रखा है। उनके अनुसार यह जातीय नहीं, सामाजिक समीकरण है, जो गरीबी के खिलाफ है। साथ ही यह भी कह दिया कि विकास की इस योजना को राज्‍य भर में लागू करने के लिए वे मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से मिलना चाहते हैं, लेकिन इसके लिए वक्‍त नहीं मिल रहा है। गिरिराज के इस आरोप पर जदयू ने भी पलटवार किया है।

गिहरराज सिंह ने जम्‍मू-कश्‍मीर में सरकार से अलग होने के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के फैसले का भी स्‍वागत करते हुए कहा कि केवल सत्ता सुख पाने के लिये भाजपा ने कश्मीर में सरकार नहीं बनाई थी। भाजपा आतंकवाद के खिलाफ है।

यह है गिरिराज का 'माय' समीकरण

अपने 'माय' समरकरण का खुलासा करते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि यह राजद की तरह जाति-धर्म से संबंधित राजनीतिक सूत्र नहीं है। यह गरीबी के खिलाफ मुहिम है। यह सभी जाति-धर्म के लोगों के लिए है। उन्‍होंने कहा कि इसके तहत नवादा के खनवा में चल रहे सोलर चरखे से लोगां को छह से 10 हजार रुपये तक की आमदनी हो रही है।

मुख्‍यमंत्री से मांगा वक्‍त

गिरिराज सिंह ने कहा कि वे इसे पूरे राज्‍य में विस्‍तार देना चाहते हैं। इसके लिए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से वक्‍त मांगा है। वक्‍त मिलने पर उनसे इस बाबत बातचीत होगी। लेकिन, अभी तक वक्‍त नहीं मिल सका है।

जदयू ने किया पलटवार

गिरिराज के बयान पर जदयू ने पलटवार करते हुए कहा है कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार विकास के लिए किसी से भी मिलने के लिए तैयार रहते हैं। गिरिराज सिंह तो केंद्रीय मंत्री हैं। उनसे वे क्‍यों नहीं मिलेंगे?  संजय सिंह ने कहा कि कहीं कोई गलतफहमी हुई है तो उसे दूर कर लिया जाएगा। उन्‍होंने चुटकी लेते हुए यह भी कहा कि गिरिराज सिंह मीडिया के डार्लिंग हैं, उन्‍हें पता है कि मीडिया में कैसे रहना है।

गंभीरता से नहीं लेता राजद

उधर, राजद के 'माय' समीकारण पर गिरिराज के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए राजद सांसद मनोज झा ने कहा कि राजद किसी जाजति या धर्म की नहीं, गरीबों की पार्टी है। वे गिरिराज को गंभीरता से नहीं लेते।

कश्‍मीर में समर्थन वापसी पर कही ये बात  

उधर, जम्मू कश्मीर में पीडीपी से साथ गठबंधन तोड़ने के भाजपा के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि भाजपा जम्‍मू-कश्‍मीर में केवल सत्ता सुख के लिए सरकार में नहीं थी। पत्थरबाजों, आतंकवादियों को समाज की मुख्य धारा में लाने में भाजपा ने राज्‍य सरकार का हर मोर्चे पर साथ दिया, लेकिन सरकार विफल रही। गिरिराज सिंह ने कहा कि देश हित के प्रतिकूल जातीं स्थितियों के कारण भाजपा को सरकार से हटने का बड़ा फैसला करना पड़ा।

गिरिराज सिंह ने कहा कि जल्‍दी ही मोदी सरकार के कार्यकाल में सभी आतंकवादियों  व देश विरोधी तत्‍वों का सफाया होगा। विपक्ष के कई चेहरे भी बेनकाब होंगे। ये वही विपक्ष के लोग हैं जो अलगाववादियों के पक्ष में आवाज उठाते रहे हैं।

Categories: Bihar News

भाजपा के शत्रु ने फिर तोड़ी पार्टी लाइन; कहा- तेजस्‍वी बिहार के भविष्‍य

Dainik Jagran - 11 hours 10 min ago

पटना जेएनएन। भाजपा सांसद व सिने अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने फिर पार्टी नीतियों के खिलाफ मुंह खोला है। उन्‍होंने कहा है कि लालू प्रसाद यादव पारिवारिक मित्र तथा तेजस्‍वी यादव बिहार के भविष्‍य हैं। अपने अंदाज में कहा, 'सच बोलना यदि बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं।' 

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा पटना के फतुहा स्थित शुकुलपुर में कार्यकर्ता जनसंवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्‍होंने नाम लिए बिना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी तंज कसे।

देशहित के लिए राजनीति में आया

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वे 34 सालों से भाजपा के साथ हैं, लेकिन कभी भी दल या सरकार से कोई लाभ नहीं लिया। अपनी बेदाग छवि का उल्‍लेख करते हुए कहा कि उनपर कभी कोई आरोप नहीं लगा। कहा कि राजनीति में आने का उनका उद्देश्‍य देशहित रहा है और उन्‍होंने अब तक जो भी बातें की हैं, देश हित में की हैं। वे बातें दल या व्यक्ति विशेष के विरोध में नहीं की हैं।

नोटबंदी व जीएसटी का फिर किया विरोध

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने कहा कि उन्होंने सत्‍ताधारी दल में रहते हुए भी नोटबंदी और जीएसटी के खिलाफ बयान दिए। उन्‍होंने फिर नोटबंदी व जीएसटी को तानाशाही रवैया बताया।

टिकट की परवाह नहीं

पार्टी नीतियों के खिलाफ बोलने की बाबत सवाल पर उन्‍होंने कहा कि वे दल या व्‍यक्ति के पक्ष-विपक्ष में नहीं, देशहित में बोलते हैं। लेकिन, सच कई लोगों को पसंद नहीं आता। राजनीति में सच बोलने वालों को दरकिनार कर दिया जाता है। ऐसे में आगामी लोकसभा चुलाव में भाजपा का टिकट नहीं मिलने की आशंका पर उन्होंने कहा कि वे ऐसी बाजों की परवाह नहीं करते।

Categories: Bihar News

बदलाव: अब मंत्रिमंडल की अनुमति बिना भी विश्वविद्यालय शिक्षकों का मिलगा वेतन

Dainik Jagran - 11 hours 10 min ago

पटना [राज्य ब्यूरो]। प्रदेश के विश्वविद्यालय शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मियों को अब समय पर वेतन मिलने का रास्ता साफ हो गया है। सरकार ने शिक्षकों के वेतन स्वीकृति की व्यवस्था में बड़े बदलाव किए हैं जिस पर मंत्रिमंडल ने भी सहमति दे दी है।

यह है नई व्‍यवस्‍था

नई व्यवस्था में शहरी स्थानीय निकायों एवं पंचायती राज संस्थाओं को समय पर राशि जारी करने की स्वीकृति अब मंत्रिमंडल के स्थान पर सीधे वित्त विभाग द्वारा दी जा सकेगी। लेकिन, इसके लिए शर्त यह होगी कि संबंधित राशि के प्रावधान बजट में होने चाहिए। अगर बजट में राशि का प्रावधान नहीं है तो ऐसी स्थिति में वित्त विभाग की अनुमति आवश्यक होगी।

अब तक थी यह व्‍यवस्‍था

अब तक की व्यवस्था रही है कि राज्य सरकार के अधीन चलने वाले शहरी स्थानीय निकाय, पंचायती राज संस्थाओं के साथ ही विश्वविद्यालय, अल्पसंख्यक विद्यालयों को स्थापना और आवश्यक खर्च के लिए राज्य सरकार द्वारा राशि मुहैया कराई जाती रही है। इन संस्थाओं के वित्त पोषण के लिए बजट निर्धारण के दौरान ही बजट उपबंध किया जाता है। बावजूद निकायों और विश्वविद्यालयों को वित्तीय आवंटन देने के पहले स्वीकृति के लिए प्रस्ताव मंत्रिमंडल के विचारार्थ लाया जाता है।

सरकार ने समाप्त कर दी ये शर्त

कई बार समय पर संबंधित निकाय या शिक्षा विभाग के स्तर पर प्रस्ताव नहीं दिए जाने से कर्मचारियों या शिक्षकों को समय पर वेतन नहीं मिल पाता। प्रत्येक वर्ष होने वाली ऐसी समस्याओं का आकलन करने के बाद सरकार ने मंत्रिमंडल की स्वीकृति की शर्त को समाप्त कर दिया है।

Categories: Bihar News

सिक्कों का कोई मोल नहीं, बैंकों में भी तौल नहीं

Dainik Jagran - 12 hours 31 min ago

पटना :

बाजार में सिक्कों का कोई मोल नहीं है। मुंशी के झोले और साहूकार के बोरे में बंद सिक्के कब चलन में आएंगे, इसका इंतजार है। जिससे पूछिए वही रो रहा है।

बाजार में सिक्का निकालते ही दुकानदार ना कहता है। गांव में फेरी लगाने वालों का तो धंधा ही चौपट हो गया है। इसका बड़ा असर छोटे-मोटे दुकानदारों पर पड़ा है। यही हाल रहा तो आने वाले दिनों में सिक्के को लेकर कई व्यवसाय प्रभावित होंगे।

भारतीय रिजर्व बैंक धारक को सिक्के के रूप में उस राशि की अदायगी का वचन देता है, लेकिन पिछले कुछ महीनों से यहां के बाजार सहित आसपास के जिलों में सिक्के चलन से बाहर हो गए हैं। एक रुपये से लेकर दस रुपये तक के सिक्के लेने से हर किसी को परहेज है। नतीजा जिनके पास सिक्के आए, उनका बोझ बढ़ता गया। इसमें बैंकों की भी भूमिका है। बैंकों ने भी सिक्का लेना लगभग बंद ही कर दिया है।

बड़े बाजार में बैठे साहूकार भी छोटे दुकानदारों से नोट की डिमांड कर रहे हैं। सिक्के का विनिमय नहीं होने से छोटे दुकानदार प्रभावित हो रहे हैं। पुलिस लाइन मार्ग पर फेरी लगाने वाले किशन कहते हैं कि पचास रुपये का सिक्का भी हो तो बड़का दुकानदार नहीं लेगा, नोट लाकर कहां से फेरी करें।

----------------------

बैंकों की भी मजबूरी

कई बैंकों की शाखाओं में सिक्कों पर बातचीत की गई तो ब्रांच के अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा कि कोई बैंक सिक्कों का डंपिंग सेंटर नहीं है। हम सिक्का लेते हैं, लेकिन हमसे कोई ग्राहक सिक्का नहीं लेता। बैंक ने भी अपने रेगुलर खाताधारकों को एक लिमिट के तहत सिक्का जमा करने की छूट दी है। सामान्य खाताधारक पूरा का पूरा सिक्का जमा करना चाहते हैं। यह संभव नहीं है। जब सिक्का गिनने की मशीन आ जाएगी, तभी कुछ निदान निकलेगा। वैसे बैंक सभी सिक्कों को स्वीकार्य करता है।

------------------

व्यवसायियों की परेशानी

छोटे-बड़े बाजारों में एक रुपये से लेकर दस रुपये तक के सिक्के पड़े हैं। इनकी शिकायत है कि बैंक सिक्का नहीं लेता है। व्यवसायी की मजबूरी है कि जाए तो कहां जाए। हर काम अब ऑनलाइन और मोबाइल से हो रहा है। पैसे का ट्राजेक्शन भी अब एटीएम और नई तकनीक से होता है। वैसे में सिक्का बैंक नहीं लेगा तो हम क्या करें। छोटे दुकानदारों से सिक्का लेकर कितना जमा करें?

------------------

एक रुपये का छोटा सिक्का भिखारी भी नहीं ले रहा :

बाजार की स्थिति सिक्का विनिमय को लेकर इतनी खराब हो गई है कि छोटे आकार का एक रुपये का सिक्का कोई नहीं लेता। भिखारियों ने भी उसे खोटा करार दिया, जबकि यह गलत है। एक रुपये का छोटा-बड़ा सिक्का सर्वमान्य है। इसे नकारा नहीं जा सकता।

------

सभी सिक्के मान्य हैं

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी एक रुपये से लेकर दस रुपये तक के सभी सिक्के मान्य है। सिक्कों का लेन-देन में कोई रुकावट और पाबंदी नहीं है। एक रुपये के छोटे सिक्के से लेकर बड़े सिक्के तक बाजार में लेने है और बैंक भी इसे स्वीकार्य करता है।

अनूप कुमार सिन्हा

क्षेत्रीय प्रबंधक, एसबीआइ गया

Categories: Bihar News

नक्सली इलाके के स्टेशनों पर बढ़ेगी सुरक्षा

Dainik Jagran - 13 hours 31 min ago

गया : रेलवे के अपर महानिदेशक आलोक कुमार ने मंगलवार को गया रेल थाने और गया जंक्शन का निरीक्षण कर सुरक्षा का जायजा लिया। उन्होंने नक्सली इलाकों वाले स्टेशनों पर विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया।

इस दौरान रेल एसपी अशोक कुमार सिंह, रेल डीएसपी सुनील कुमार, इंस्पेक्टर सुशील कुमार सिंह, गया रेल थानाध्यक्ष परशुराम सिंह मौजूद थे। उन्होंने अधिकारियों को लंबित मामलों का त्वरित गति से अनुसंधान करते हुए अपराधियों की गिरफ्तारी का निर्देश दिया। रेलयात्रियों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर आरपीएफ एवं जीआरपी के अधिकारियों के साथ बैठक की। आरपीएफ और जीआरपी को समन्वय बनाकर काम करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि दून एक्सप्रेस से यात्री को फेंके जाने की घटना हुई। पुलिस सक्रिय रहती तो यह घटना नहीं होती। एडीजी ने गया, सासाराम, भभुआ, जहानाबाद, डेहरी, तारेगना, पटना, मानपुर, धनबाद एवं कोडरमा सहित अन्य स्टेशनों पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। नक्सली प्रभाव वाले इलाकों के स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। अतिरिक्त जवानों की तैनाती भी की जाएगी। वहीं, नशाखुरानी गिरोह पर नकेल और शराब तस्करी रोकने को बिहार-झारखंड की रेलमार्ग सीमा पर चेकिंग अभियान तेज करने का निर्देश दिया।

गया जंक्शन पर लगे डोर मेटल डिटेक्टर के पास एक अफसर और दो जवानों की तैनाती कर रेलयात्रियों की जांच के बाद ही अंदर प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अन्य स्टेशनों पर भी डोर मेटल डिटेक्टर लगाए जाने की योजना बनाई गई है। इसके साथ शहर के अन्य संवेदनशील स्थलों पर भी सुरक्षा बढ़ाई जाएगी । इस मौके पर आरपीएफ के कमांडेट आशीष मिश्रा, एसी सीपी सिन्हा, इंस्पेक्टर एएस सिद्दीकी थे।

Categories: Bihar News

अब हॉट-स्पॉट चिह्नित कर सर्जिकल स्ट्राइक

Dainik Jagran - 14 hours 31 min ago

पटना : लंदन में एक माह की विशेष ट्रेनिंग प्राप्त करने के बाद सेंट्रल रेंज के डीआइजी राजेश कुमार ने अपराध के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है। प्रशिक्षण के दौरान उन्होंने जो गुर सीखे उसे मातहतों संग साझा कर पुलिसिंग को बेहतर बनाने के प्रयास में जुट गए हैं। पहली कड़ी में डीआइजी ने पटना और नालंदा जिलों में हॉट-स्पॉट चिह्नित कर कार्रवाई करने का मूड बनाया है।

संवेदनशील इलाके होंगे हॉट स्पॉट : वैसे इलाके जहां चेन स्नैचिंग, हत्या, बाइकर्स अटैक, छेड़खानी जैसी घटनाएं होती हैं, उनका क्षेत्र निर्धारित किया जाएगा। उसे हॉट-स्पॉट का नाम दिया जाएगा। अपराध का रिकॉर्ड देखकर जिले के एसपी हॉट-स्पॉट का चयन करेंगे। इसके लिए वह पटना के एसएसपी, सभी सिटी एसपी और ग्रामीण एसपी एवं नालंदा जिले के एसपी के साथ बैठक करेंगे। अनुमान है कि पटना जिले में 20-25 और नालंदा में 12-15 हॉट-स्पॉट चिह्नित किए जाएंगे। सर्जिकल स्ट्राइक की तरह उन चिह्नित स्थानों पर कार्रवाई होगी। डीआइजी ने बताया कि स्थान चयन का काम एक सप्ताह में पूरा कर योजना को मूर्त रूप दिया जाएगा।

सड़क पर साथी के रूप में मिलें पुलिसकर्मी :

डीआइजी बताते हैं कि लंदन के थानों में बेवजह बाहरी लोगों का जमावड़ा नहीं लगता। पुलिसकर्मी अनुसंधान में जुटे रहते हैं। सड़क पर गश्ती करने वाले पुलिसकर्मी के बात करने का लहजा और व्यवहार सौम्य होता है। इस कारण जनता पुलिस पर बहुत भरोसा करती है। पुलिस की गाड़ी को लोग पहले रास्ता देते हैं, फिर आगे बढ़ते हैं। यहां भी वह इस व्यवस्था को लागू कराने की कोशिश में लगे हैं। सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर संवर्ग के पुलिसकर्मियों को हिदायत दी जाएगी कि वे शिकायतकर्ताओं से थाने में अच्छा व्यवहार करें। अगर सड़क पर मौजूद पुलिसकर्मी से कोई पता भी पूछता है तो वह मीठी भाषा में सही रास्ता बताए, ताकि लोगों को सड़क पर साथी के रूप में पुलिसकर्मी नजर आएं।

----------

डायल 100 दुरुस्त करेंगे डीआइजी : डीआइजी के अनुसार घटनास्थल पर पहुंचने में पुलिस को कम समय लगे, इसका प्रयास किया जा रहा है। जरूरी नहीं कि पुलिस सभी जगह नजर आए, पुलिस की नजर हर इलाके पर हो, यह आवश्यक है। लोग एक कॉल पर पुलिस को अपने पास बुला लें, इसके लिए डायल 100 सेवा लागू की गई है। डीआइजी ने खुद 100 नंबर पर कॉल की, लेकिन काफी देर तक फोन नहीं उठा। वह इस व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों से बात करेंगे, ताकि कोई व्यक्ति विकट परिस्थिति में 100 नंबर पर मदद मांगे या घटना की जानकारी दे तो नजदीक का गश्ती दल बिना समय गंवाए उस तक पहुंच जाए।

Categories: Bihar News

एक लैंडलाइन का कनेक्शन लें दूसरा निश्शुल्क लगवाएं

Dainik Jagran - 15 hours 31 min ago

पटना : बीएसएनएल ने लैंडलाइन की तरफ उपभोक्ताओं को आकर्षित करने के लिए लुभावनी योजनाओं की घोषणा की है। इसके तहत एक लैंडलाइन टेलीफोन लगवाने पर दूसरा कनेक्शन निश्शुल्क लगाया जाएगा। दूसरे टेलीफोन पर 500 रुपये से नीचे के बिल पर 25 फीसद तथा 500 से अधिक के बिल पर 50 फीसद छूट दी जाएगी। बीएसएनएल बिहार सर्किल के सीजीएम जीसी श्रीवास्तव ये जानकारी प्रेस कांफ्रेंस में दी।

सीजीएम ने कहा कि लैंडलाइन के साथ सस्ते दर पर ब्राडबैंड भी उपलब्ध कराया जा रहा है। लैंडलाइन से सभी नेटवर्क पर 24 घंटे अनलिमिटेड कॉल की सुविधा मिलेगी। 99 रुपये में 1.5 जीबी, 199 में 5 जीबी, 299 में 10 जीबी 491 रुपये में 20 जीबी डाटा प्रतिदिन मिलेगा। दो माह के अंदर लैपटॉप एवं कंप्यूटर खरीदने वालों को 99 रुपये वाली ब्राडबैंड की सुविधा दो माह के लिए निश्शुल्क दी जाएगी। सेवा पसंद आने के बाद उपभोक्ता अपनाएं।

बीएसएनएल पहले से ही 49 रुपये में लैंडलाइन कनेक्शन दे रहा है। अनलिमिटेड नाइट कॉलिंग एवं रविवार को 24 घंटे फ्री सेवा दी जा रही है। 49 रुपये मासिक किराए पर यह सेवा उपलब्ध है।

फुटबॉल ऑफर में 4 जीबी रोज डाटा : बीएसएनएल ने व‌र्ल्ड कप फुटबॉल ऑफर की घोषणा की है। 149 रुपये में प्रतिदिन चार जीबी डाटा देगा। इससे फुटबॉल प्रेमी स्मार्ट फोन पर भी मैच का आनंद ले सकेंगे। इसकी वैद्यता 28 दिन की होगी। इस ऑफर का लाभ 15 जुलाई तक लिया जा सकता है। ईद मुबारक प्लान के तहत 786 रुपये में 150 दिनों के लिए सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉल और 2 जीबी डाटा और 100 एसएमएस प्रतिदिन मिलेंगे।

Categories: Bihar News

BSNL का शानदार ऑफर: एक लैंडलाइन का कनेक्शन लें, दूसरा निश्शुल्क लगवाएं, और भी...

Dainik Jagran - June 19, 2018 - 11:22pm

पटना [जेएनएन]। बीएसएनएल ने लैंडलाइन की तरफ उपभोक्ताओं को आकर्षित करने के लिए कई लुभावनी योजनाओं की घोषणा की है। इसके तहत एक लैंडलाइन टेलीफोन लगवाने पर दूसरा कनेक्शन निश्शुल्क लगाया जाएगा। दूसरे टेलीफोन पर 500 रुपये से नीचे के बिल पर 25 फीसद तथा 500 से अधिक के बिल पर 50 फीसद छूट दी जाएगी। बीएसएनएल बिहार सर्किल के सीजीएम जीसी श्रीवास्तव ये जानकारी मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में दी।

सीजीएम ने कहा कि लैंडलाइन के साथ सस्ते दर पर ब्राडबैंड भी उपलब्ध कराया जा रहा है। लैंडलाइन से सभी नेटवर्क पर 24 घंटे अनलिमिटेड कॉल  की सुविधा मिलेगी। 99 रुपये में 1.5 जीबी, 199 में 5 जीबी, 299 में 10 जीबी 491 रुपये में 20 जीबी डाटा प्रतिदिन मिलेगा।

दो माह के अंदर लैपटॉप एवं कंप्यूटर खरीदने वालों को 99 रुपये वाली ब्राडबैंड की सुविधा दो माह के लिए निश्शुल्क दी जाएगी। सेवा पसंद आने के बाद उपभोक्ता अपनाएं।

बीएसएनएल पहले से ही 49 रुपये में लैंडलाइन कनेक्शन दे रहा है। अनलिमिटेड नाइट कॉलिंग एवं रविवार को 24 घंटे फ्री सेवा दी जा रही है।  49 रुपये मासिक किराए पर यह सेवा उपलब्ध है।

फुटबॉल ऑफर में 4 जीबी प्रतिदिन डाटा

बीएसएनएल ने वर्ल्‍ड कप फुटबॉल ऑफर की घोषणा की है। 149 रुपये में प्रतिदिन चार जीबी डाटा देगा। इससे फुटबॉल प्रेमी स्मार्ट फोन पर भी मैच का भरपूर आनंद ले सकेंगे। इसकी वैद्यता 28 दिन की होगी। इस ऑफर का लाभ 15 जुलाई तक लिया जा सकता है। ईद मुबारक प्लान के तहत 786 रुपये में 150 दिनों के लिए सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉल और 2 जीबी डाटा और 100 एसएमएस प्रतिदिन मिलेंगे।

प्रेस कांफ्रेंस में पटना दूरसंचार जिला के पीजीएम एस. राजहंस, उप महाप्रबंधक कुश कुमार, डीजीएम विक्रय एवं विपणन मनीष कुमार आदि मौजूद थे।

Categories: Bihar News

बेलगाम सब्जियों ने उड़ाए होश: टमाटर हुआ लाल, प्याज खरीदने में आ रहे आंसू

Dainik Jagran - June 19, 2018 - 8:06pm

पटना [जेएनएन]। बीन्स कैसे है? जवाब मिला-160 रुपये किलो। महेंद्र कुमार मीठापुर सब्जी मंडी में विक्रेता गोपाल का मुंह ताकते रह गए। कुछ पल खामोश रहने के बाद पूछे- इतना भाव कैसे चढ़ गया। चार दिन पहले तो यह 50-60 रुपये थी। विक्रेता ने जवाब दिया- गनीमत है कि एक दिन पहले नहीं आए। 18 जून को बीन्स का भाव 300 रुपये किलो तक चला गया था। गर्मी के कारण पैदावार 30 से 40 फीसद घट गई है। लगन शुरू होने से सब्जियों की खपत बढ़ गई है। सब्जी मिल रही है, यही बहुत है। सचमुच, भीषण गर्मी से इस समय सब्जियों के भाव बेलगाम हैं।

आमद बेपटरी

सब्जियों की आमद इस समय बेपटरी हो गई है। मीठापुर सब्जी मंडी के थोक विक्रेता संजय कुमार ने कहा कि आज मात्र आठ पिकअप और चार ट्रक सब्जियां मंडी में आईं। सामान्य मौसम रहने पर करीब 16 पिकअप और 10 ट्रक सब्जियां आती हैं। गर्मी की वजह से चार-पांच दिन में सब्जियों की पैदावार 30 से 40 फीसद घट गई है। दूसरी ओर लगन शुरू होने से खपत ड्योढ़ा हो गई है। लगन की मांग बढऩे से शिमला मिर्च और बीन्स में सबसे ज्यादा तेजी आई है।

ऊंचे पर टिका है आलू, प्याज में तेजी

आलू का भाव ऊंचे पर टिका हुआ है। इस साल सीजन शुरू होने के साथ ही आलू महंगा हो गया था। 20 रुपये की ऊंचाई पर चढऩे के बाद यह स्थिर है। प्याज में नरमी थी, लेकिन अब इसमें भी दो रुपये प्रति किलो की तेजी आ गई है।

सब्जी, भाव 15 जून, 19 जून 

मीठापुर मंडी, प्रति किलो रुपये मेें

शिमला मिर्च : 30 से 40, 120 से 140

बीन्स : 50 से 60, 150 से 160

टमाटर : 12 से 15, 30 से 40

बैगन : 16 से 20, 25 से 30

भिंडी : 10 से 12, 18 से 20

परवल : 10 से 12, 18 से 20

करेला : 18 से 20, 28 से 30

कद्दू : 8 से 10, 15 से 20

नेनुआ : 10 से 12, 18 से 20

कटहल : 15 से 20, 30 से 35

धनिया पत्ता :  30 से 40, 80 से 100

प्याज : 14 से 16, 16 से 18 

Categories: Bihar News

निरहुआ की गालियों का अॉडियो वायरल, दी सफाई-हां, मैंने दी गाली...

Dainik Jagran - June 19, 2018 - 7:56pm

पटना [जेएनएन]। अपनी फिल्म बॉर्डर की सफलता से उत्साहित भोजपुरी फिल्म के सुपर स्टार कहे जाने वाले दिनेश लाल यादव निरहुआ ने पीआरओ को अश्लील गालियां दीं और धमकी देते हुए भाषायी मर्यादा का उल्लंघन किया।

उनका यह अॉडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे पीआरओ शशिकांत सिंह को गाली दे रहे हैं। जब उनसे बताया जाता है कि ये रिकॉर्ड हो रहा है, इस तरह की गालियां तो मत दीजिए। लेकिन वो तब भी चुप नहीं होते, अश्लील गालियों की झड़ी लगा देते हैं और कहते हैं कि करो रिकॉर्डिंग, मैं तुम्हें छोड़ूंगा नहीं।

उसके बाद जब यह खबर और उसका अॉडियों चारों तरफ फैल गया तो निरहुआ ने सोशल मीडिया पर फैली खबर के बारे में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए स्वीकारा की उन्होंने शशिकांत सिंह को गाली दी। लेकिन शशिकांत सिंह पत्रकार को नही बल्कि पीआरओ को गाली दी ।

निरहुआ ने बताया कि पिछले दो साल से पीआरओ शशिकांत सिंह फेसबुक पर अनाप शनाप लिख रहा था । उन्हें कई बार समझाया भी गया लेकिन उन्होंने लिखना नही छोड़ा। अब जबकि उनकी होम प्रोडक्शन की फ़िल्म बॉर्डर रिलीज हुई और जबरदस्त हिट हुई तो शशिकांत सिंह और उनके कुछ सहयोगियों ने फ़िल्म को फ्लॉप और अश्लील कहना शुरू कर दिया जबकि सेंसर बोर्ड ने फ़िल्म को यू ए सर्टिफिकेट दिया है ।

सुबह शाम लगातार लिखते रहने से और स्क्रीन शॉट निकाल कर वायरल करने से मेरी फिल्म पर प्रभाव पड़ रहा था और दर्शक दिग्भर्मित हो रहे थे। उन्होंने आगे कहा कि बिहार के सभी अखबारों ने इस बात को स्वीकारा की बॉर्डर एक अच्छी फिल्म है और अश्लीलता मुक्त है। लेकिन शशिकांत सिंह और उनके कुछ लोग सेंसर बोर्ड द्वारा दिये सर्टिफिकेट पर भी उंगली उठाने लगे ।

निरहुआ  ने कहा कि शशिकांत साजिश के तहत मेरे पीछे पड़े हैं। कई लोग हैं, जो जान-बूझकर उनके माध्यम से मुझे परेशान कर रहे हैं। लेकिन मेरे पीछे भोजपुरी इंडस्ट्री का समर्थन है। फिल्म के प्रचार-प्रसार के लिए मैंने काफी मेहनत की थी। लेकिन ये गलत बातें फैला रहे हैं।

आपको बता दें कि निरहुआ ने भी शशिकांत सिंह के खिलाफ ओशिवारा पुलिस स्टेशन में मेन्टल हैरेसमेंट और मानहानि का मुकदमा दर्ज किया है । निरहुआ ने पत्रकारों से अपील की है कि वे पत्रकार और पीआरओ के फर्क को समझें ।

Categories: Bihar News

कटिहार और सासाराम में खुलेंगे निजी विश्वविद्यालय, शिक्षा विभाग ने जारी किए आदेश

Dainik Jagran - June 19, 2018 - 7:55pm

पटना [राज्य ब्यूरो]। सरकार ने प्रदेश के दो जिलों में निजी विश्वविद्यालय खोलने की अनुमति दी है। कटिहार में अल-करीम विश्वविद्यालय और सासाराम में गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय के लिए सरकार को प्रस्ताव मिले थे जिन्हें स्वीकृति दे दी गई है। शिक्षा विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।

प्रायोजक निकाय अल-करीम एजुकेशन ट्रस्ट की ओर से कटिहार के लिए और देव मंगल मेमोरियल ट्रस्ट जमुहार की ओर से सासाराम में निजी विश्वविद्यालय का प्रस्ताव शिक्षा विभाग को दिया गया था। विभाग ने प्रस्ताव की समीक्षा और स्थल निरीक्षण के बाद दोनों विश्वविद्यालयों के संचालन की अनुमति दी है।

विभाग ने अपने आदेश में कहा है कि विश्वविद्यालय एक निगमित निकाय होगा और इसे चल-अचल दोनों प्रकार की संपत्ति अर्जित करने और संविदा की शक्ति प्राप्त होगी। दोनों विश्वविद्यालय पूरी तरह से स्व-वित्त पोषित होंगे।

दोनों ही विश्वविद्यालय राज्य सरकार से किसी भी तरह की आर्थिक सहायता या अनुदान का दावा नहीं कर सकेंगे। निजी क्षेत्र के दोनों विश्वविद्यालयों का संचालन पूर्णत: बिहार निजी विश्वविद्यालय अधिनियम 2013 में दिए गए प्रावधानों के मुताबिक किया जाएगा।

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair