Bihar News

नजदीक आया दिवाली का पर्व, कुम्हारों के हाथ अब तक खाली

Dainik Jagran - 5 hours 2 min ago

पिंटू कुमार, पटना :

कोरोना संक्रमण का असर हर क्षेत्र के कारोबार पर दिख रहा है। इससे राजधानी के कुम्हार भी अछूते नहीं है। मिट्टी के दीये व चाय के चुक्के बनाने वाले कुम्हारों के व्यवसाय को भी कोरोना ने प्रभावित किया है। लेकिन दीपावली पर्व आने से व्यवसाय पटरी पर लौटने की उम्मीद है। सालभर मिट्टी के चुक्के बनाने वाले कुम्हारों की मानें तो सिर्फ दशहरा, छठ व दीपावली में ही ऑर्डर आने पर दीये बनाते हैं। इस बार दशहरा में दीयों के ऑर्डर नहीं मिले। कुछ कुम्हारों को ऑर्डर मिले हैं तो कुछ के हाथ अबतक खाली हैं। राजधानी के मंदिरी, तार घाट में बड़े पैमाने पर कुम्हार दीये बनाने का काम करते हैं। मंदिरी में तो इस बार दिवाली के लिए कुम्हारों को ऑर्डर ही नहीं मिले हैं। वहीं, तार घाट के एक-दो कुम्हारों को छोड़ सभी को पिछले साल की अपेक्षा कम दीयों के ऑर्डर मिले हैं। कुम्हारों की मानें तो प्रति ट्रैक्टर पांच सौ रुपये मिट्टी की कीमत में बढ़ोतरी हो गई है, पर दीये की कीमत अभी वही है। बोरिग रोड, कमदकुआं, सब्जीबाग, गांधी मैदान, कंकड़बाग, दुजरा आदि जगहों से दीये के ऑर्डर कुम्हारों को मिलते हैं। कुम्हार 300 से 400 रुपये पर हजार दीये दुकानदारों को देते हैं। गंगा किनारे तार घाट पर कुम्हार तीन पीढि़यों से दीया बनाते आ रहे हैं, पर ऐसी स्थिति कभी नहीं देखी। कोरोना ने व्यवसाय को प्रभावित कर दिया है। इस बार दीयों का ऑर्डर नहीं मिला है। पहले एक हजार से पांच सौ दीये रोज लोग ले जाते थे। अब सौ से दो सौ दीये भी मुश्किल से बिक रहे हैं। इस बार दीपावली और छठ से भी कम उम्मीद है।

-मनोज पंडित, कुम्हार, बुद्धा कॉलोनी, पेट्रोल पंप 40 हजार दीयों के ऑर्डर मिले हैं। पिछले साल 60 हजार के ऑर्डर मिले थे। इससे 18 हजार रुपये का व्यवसाय हुआ था। इस बार के दीपावली से उम्मीद कम है। पिछले वर्ष दशहरे में 14 हजार दीये बिके थे, लेकिन इस बार ज्यादा ऑर्डर नहीं मिले।

-मनोज पंडित, कुम्हार, तारघाट अभी तक दीपावली के लिए ऑर्डर नहीं मिले हैं। दिवाली के लिए विश्वकर्मा पूजा के समय से ऑर्डर मिलने शुरू हो जाते हैं। पिछले वर्ष 80 हजार दीये के ऑर्डर मिले थे। पहले आठ हजार रुपये में एक नाव मिट्टी थी, लेकिन इस बार दस हजार रुपये हो गई है।

-नंद किशोर पंडित, कुम्हार, तार घाट दिवाली पर्व के लिए 50 हजार दीये के ऑर्डर मिले हैं। दुकानदारों ने पूरी राशि का 25 प्रतिशत एडवांस दिया है। पिछले वर्ष दीपावली में 70 हजार दीये के ऑर्डर मिले थे। इस बार दशहरे में दीये का ऑर्डर नहीं मिला है। पिछली बार 20 हजार दीये के ऑर्डर मिले थे।

- अजय पंडित, कुम्हार, तार घाट

Categories: Bihar News

पटना के तीन समेत पांच की मौत, 265 नए संक्रमित

Dainik Jagran - 5 hours 3 min ago

पटना । राजधानी में गुरुवार को 265 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। इनमें से 12 पीएमसीएच में भर्ती मरीज हैं। वहीं एम्स में पटना के तीन समेत चार और एनएमसीएच में एक संक्रमित की मौत हुई है। बिहार पोर्टल के अनुसार अब तक जिले में 35 हजार 357 संक्रमितों में से 32 हजार 803 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं, 2291 इलाजरत हैं। अब तक 263 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

एम्स के कोरोना नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि एम्स में भर्ती 179 संक्रमितों में से 73 को आइसीयू, 28 को वेंटिलेटर और 18 को हाई फ्लो नेजल कैनुला ऑक्सीजन पर रखा गया है। वहीं पटना के तीन समेत चार संक्रमितों की इलाज के क्रम में मौत हुई है। एक साथ 20 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। इसमें से दस लोग पटना के निवासी हैं। आंकड़ों में पीएमसीएच :

- 769 जांच, 24 पॉजिटिव

- संक्रमितों में 12 पीएमसीएच में भर्ती मरीज।

- 31 कोविड वार्ड में भर्ती ।

- दो किए गए डिस्चार्ज एक नजर में एम्स :

- पटना के 6 समेत 10 नए भर्ती।

- 179 संक्रमित हैं भर्ती, पटना के 10 समेत 20 डिस्चार्ज।

- पटना के रूपसपुर निवासी 76, आलमगंज के 45, खगौल के 28 वर्षीय और मोतिहारी के 49 वर्षीय संक्रमित की मौत।

- 1258 सैंपल की जांच, 11 की रिपोर्ट पॉजिटिव।

- सेना संचालित ईएसआइ हॉस्पिटल में 19 भर्ती एनएमसीएच का हाल :

- कोई नया मरीज भर्ती नहीं, दो डिस्चार्ज

- 16 हुई भर्ती मरीजों की संख्या

- 244 लोगों की जांच, 13 पॉजिटिव

-श्री गुरु गोविद सिंह अस्पताल में

235 जांच, दो पॉजिटिव

- जहानाबाद के घोसी निवासी 85 वर्षीय वृद्ध की मौत

------------------ - बिहार में अब कोरोना के 8484 सक्रिय केस

राज्य ब्यूरो, पटना : बिहार में कोरोना के अब 8484 सक्रिय केस रह गए हैं। गुरुवार को 1068 लोगों के स्वस्थ होने के साथ ही ऐसे लोगों की संख्या दो लाख पांच हजार के आंकड़े को पार कर गई। स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार को अपडेट में बताया कि विभाग ने आज 1.31 लाख से अधिक कोरोना टेस्ट किए। जांच में 783 नए संक्रमित मिले। इसके साथ ही प्रदेश में अब तक मिले संक्रमितों की संख्या 214946 हो गई। विभाग ने दावा किया कि राज्य में अब कोरोना की रफ्तार कम हुई है। जबकि स्वस्थ होने वालों की तादाद बढ़ी है। पिछले 24 घंटे में राज्य के अंदर 1068 लोगों के स्वस्थ होने की जानकारी विभाग को प्राप्त हुई है। राज्य में कोरोना रिकवरी दर 95.55 फीसद पर पहुंच गई है।

स्वास्थ्य विभाग की मानें तो राज्य में और सात लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है। इसके साथ राज्य में इस महामारी से मरने वालों की संख्या 1076 पर पहुंच गई है। विभाग का मानना है कि जिन लोगों की संक्रमण से मौत हुई है उनमें अधिकांश लोग कोरोना के साथ ही दूसरी प्रकार की गंभीर बीमारियों के शिकार रहे थे।

Categories: Bihar News

चित्रकला, मेहंदी, रंगोली प्रतियोगिता से मतदाताओं को कर रहे जागरूक

Dainik Jagran - 5 hours 5 min ago

पटना । विधानसभा चुनाव के पहले चरण में पटना के पांच क्षेत्रों में हुए मतदान के फीसद से प्रशासन की बांछें खिली हुई हैं। मत फीसद से उत्साहित प्रशासन अब दूसरे चरण में रिकॉर्ड वोटिंग कराने के लिए जागरुकता अभियान को और तेज कर रहा है। इसके लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम की टीम के साथ ही चित्रकला, पेंटिंग और अन्य विधा से जुड़े कलाकारों को नुक्कड़ों एवं सार्वजनिक स्थानों पर उतारा जा रहा है। जगह-जगह चित्रकला, मेहंदी, रंगोली प्रतियोगिताओं का भी आयोजन खासकर महिला मतदाताओं को जागरूक करने के लिए किया जा रहा है। इन कार्यक्रमों के लिए डीएम कुमार रवि ने जिला स्तर पर स्वीप कोषांग का गठन किया है।

स्वीप की नोडल अधिकारी भारती प्रियंवदा ने बताया कि जिले में बारह हजार से अधिक जागरुकता कार्यक्रम किए जा चुके हैं। शहरी क्षेत्र के तीन विधानसभा में तीन हजार कार्यक्रम हो चुके हैं। शहरी क्षेत्र में अभियान और तेज किया जाएगा।

विशालतम मास्क

बना सेल्फी जोन

जिला प्रशासन ने श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल को दुनिया का सबसे बड़ा मास्क पहनाकर पटना के मतदाताओं को संदेश दिया है। जागरुकता के लिए किए गए इस अभिनव प्रयोग ने मतदाताओं को उत्साहित किया है। मास्क के पास लोगों द्वारा सेल्फी लेने की होड़ मची हुई है। सेल्फी जोन के रूप में श्रीकृष्ण मेमोरियल मतदाताओं की पसंद बनता जा रहा है। चौक-चौराहों पर गाए

जा रहे चुनाव के गीत

जागरुकता अभियान के तहत कलाकारों की टीम द्वारा चुनाव गीत गाए जा रहे हैं। आइल बिहार में चुनाव हो भइया वोट अधिकार बा जैसे गीत गाकर शहरवासियों को तीन नवंबर को वोट देने का संदेश दिया जा रहा है। नुक्कड़ों पर नाटकों की भी प्रस्तुतियां की जा रही हैं चित्र और कार्टून के जरिए की

जा रही वोट देने की अपील

मतदाताओं को जागरूक करने के लिए चित्र-कार्टूनों का भी सहारा लिया जा रहा है। आर्ट कॉलेज के छात्रों का सहयोग इसमें लिया गया है। प्रतियोगिताओं का आयोजन कर मतदान की थीम पर पेंटिंग बनवाई जा रहा है। ऐसे पेंटिंग की प्रदर्शनी भी लगाई जा रही है। शहर में कई जगहों पर मतदान के लिए प्रेरित करते हुए कार्टून के होर्डिग लगाए गए हैं।

Categories: Bihar News

बोर्ड ने स्कूलों को भेजी मैट्रिक की सेंटअप परीक्षा की सामग्री

Dainik Jagran - 5 hours 6 min ago

पटना। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने सेंटअप परीक्षा का प्रश्न पत्र एवं कॉपी सभी स्कूलों को भेजना शुरू कर दिया है। बोर्ड ने यह सुनिश्चित करना शुरू कर दिया है कि छह नवंबर तक सभी स्कूलों में सेंटअप परीक्षा के प्रश्न पत्र एवं उत्तर पत्र पहुंच जाएं ताकि आगामी 11 नवंबर से स्कूलों में सेंटअप परीक्षा हो सके। सेंटअप परीक्षा 17 नवंबर तक चलेगी। उसके बाद 18 एवं 19 नवंबर को प्रायोगिक परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सचिव ने राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को भेजे पत्र में कहा कि यह सुनिश्चित करें कि सभी विद्यालयों में निर्धारित समय पर दसवीं की परीक्षाएं संपन्न हो जाएं। तब तक चुनाव कार्य भी संपन्न हो जाएंगे। सभी परीक्षार्थियों को सेंटअप

परीक्षा देना अनिवार्य

बिहार बोर्ड ने सभी परीक्षार्थियों के लिए सेंटअप परीक्षा देना अनिवार्य कर दिया है। जो परीक्षार्थी सेंटअप परीक्षा में शामिल नहीं होंगे, उन्हें मुख्य परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं प्रदान की जाएगी। सेंटअप परीक्षा का रिजल्ट प्रत्येक स्कूल के प्राचार्य को परीक्षा समिति को देना होगा। सेंटअप परीक्षा में फेल होने वाले परीक्षार्थी दसवीं की मुख्य परीक्षा में शामिल नहीं होंगे।

--------

सेंटअप परीक्षा के बाद रीविजन

सेंटअप परीक्षा के बाद दसवीं के विद्यार्थी रीविजन शुरू कर देंगे। दसवीं की मुख्य परीक्षा अगले वर्ष होगी। उसकी भी तैयारी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने शुरू कर दी है। बोर्ड समय पर मुख्य परीक्षा लेने के लिए हर संभव तैयारी कर रहा है।

Categories: Bihar News

अब चुनाव को लेकर प्ले स्टोर पर कई गेम

Dainik Jagran - 5 hours 7 min ago

अंकिता भारद्वाज, पटना

बिहार विधानसभा चुनाव कई नए ट्रेंड स्थापित कर रहा है। जमीनी तौर पर चुनाव के तौर-तरीके तो बदले ही हैं, डिजीटल दुनिया में भी कई नई चीजें देखने को मिल रही हैं। स्मार्टफोन के जमाने में एंड्रायड एप के जरिए मतदाताओं को जागरूक करने के लिए कोशिश हो रही है। गूगल के प्ले स्टोर पर कई सारे गेम आ गए हैं, जो खेल-खेल में लोगों को मतदान करने के लिए भी जागरूक कर रहे हैं।

-------

मोदी गेम और वोट फॉर

मी को पसंद कर रहे लोग

बिहार चुनाव से जुड़े लोकप्रिय मोबाइल गेम में मोदी गेम और वोट फॉर मी को चाहने वाले सबसे अधिक हैं। मोदी गेम को जहां लोगों ने 4.0 की रेटिंग दी है, वहीं वोट फॉर मी को भी 3.5 रेटिंग मिली है।

------

अलग-अलग पार्टी

से होता है मैच

चुनाव को ध्यान में रखते एप डेवलपर्स ने कई तरह के गेम बनाए हैं, जिसमें नेता एक-दूसरे के पीछे भागते दिखते हैं। एक गेम में नेता जी को वोट बटोरने का टारगेट है। इसमें गेम का लेवल जैसे-जैसे बढ़ता है, अवरोध भी बढ़ने लगता है। गेम के नियम के अनुसार नेता जी को सिर्फ वोट पकड़ना है अगर वो एक भी अवरोध से टकराते हैं तो उनका गेम ओवर हो जाता है।

--------

जिसने अधिक वोट अंदर

किए, उसे ही मिलेगा ताज

एक और गेम में एक घर बना हुआ है, जिसमें अलग-अलग पार्टी का चुनाव चिह्न बना हुआ है। खेलने वाले को अपनी मनपसंद पार्टी का चुनाव चिह्न पसंद कर लेना है और ज्यादा से ज्यादा चिह्न को उस घर में रखना है। वहीं, दूसरा अपनी पार्टी के चिह्न को बढ़ाने का काम करता है। जिस पार्टी ने ज्यादा चुनाव चिह्न घर में रख लिए, वो ही गेम का विजेता होती है।

----------

लोगों को पसंद आ रहे हैं ये गेम

प्ले स्टोर पर रिव्यू के अनुसार इस तरह का गेम लोगों को बहुत पसंद आ रहा है। एक यूजर ने इस गेम के बारे में लिखते हुए कहा कि ये गेम जितना मनोरंजक है, उतना ही वोट देने के लिए जागरूक भी करता है। दूसरे यूजर ने लिखा है कि गेम जितना मनोरंजक है, उतना ही आसान भी है। ये बाकी गेम से बहुत ही अच्छा और खास है।

Categories: Bihar News

आइजीआइएमएस के डॉक्टरों ने बचाई बच्चे की जान

Dainik Jagran - 5 hours 8 min ago

पटना। इंदिरा गाधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (आइजीआइएमएस) के डॉक्टरों ने गुरुवार को एक बच्चे की जान बचाई। भागलपुर के आठ वर्षीय बच्चे की नाक में सीटी फंस गई थी। इससे सांस लेने पर उसकी नाक से सीटी की आवाज निकलती थी। इसके साथ उसे सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी। इसके बाद भागलपुर से बच्चे के स्वजन पीडियाट्रिक्स सर्जरी विभाग के डॉ. रामधनी यादव की ओपीडी में पहुंचे। उसके माता-पिता ने भूलवश सीटी निगलने की बात कहीं। कोरोना जाच के बाद बिना चीरे के ब्रोंकोस्कोपी विधि के माध्यम से सास की नली से सीटी को निकाला गया। प्रो. विजयेंद्र कुमार की देखरेख में डॉ. रामधनी यादव, डॉ. संदीप कुमार राहुल, डॉ. रामजी प्रसाद, डॉ. विनीत ठाकुर, डॉ. जहीर, डॉ. दिगंबर आदि ने एक घटे की मेहनत के बाद बेहोश कर ऑपरेशन के जरिये सीटी को निकाला।

----

खेलते समय बच्चों पर नजर रखने की जरूरत :

चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मनीष मंडल ने कहा, कोरोना काल में बच्चों के खेलने-कूदने पर नजर रखने की जरूरत है। खेल-खेल में बच्चे सीटी, पिन, सिक्का, झुमका, अंगूठी आदि गलती से निगल लेते है। इससे उनके साथ परिजन भी परेशान होते हैं। सफलतापूर्वक ऑपरेशन पर निदेशक डॉ. एनआर विश्वास ने पूरी टीम को बधाई दी है।

Categories: Bihar News

पांचों विस सीटों के सभी मतदाता थर्मल स्क्रीनिंग में पास

Dainik Jagran - 5 hours 9 min ago

पटना । जिले की पांच विधानसभा सीटों पर बुधवार को हुए मतदान में कोरोना संक्रमण के बारे में राहत भरे संकेत मिले हैं। साढ़े सात लाख से अधिक मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग में से एक भी कोरोना आशंकित नहीं मिला। इससे स्वास्थ्य विभाग के साथ जिला प्रशासन राहत महसूस कर रहे हैं।

जिले के कोरोना नोडल पदाधिकारी डॉ. एसपी विनायक ने बताया कि पांचों विधानसभा क्षेत्र के सभी बूथों में हर एक मतदाता की थर्मल स्क्रीनिंग की गई थी। इसमें से कोई ऐसा नहीं मिला जिसका तापमान ऐसा हो कि उसकी कोरोना जांच कराई जाए या टोकन देकर अंतिम घंटे में संक्रमितों के साथ मतदान कराया जाए।

बताते चलें कि बाढ़ में 2 लाख 76 हजार 887, पालीगंज में 2 लाख 79 हजार 779, मोकामा में 2 लाख 70 हजार 755, बिक्रम में तीन लाख पांच हजार 899 और मसौढ़ी में तीन लाख 35 हजार 742 मतदाता थे। इनमें से आधे से अधिक ने ही मतदान किया था। स्वास्थ्य विभाग को आशंका थी कि हर बूथ पर एक-दो कोरोना आशंकित मिल सकते हैं। इनके लिए दोहरी व्यवस्था की गई थी। पहली नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एंटीजन रैपिड किट से जांच कराना और दूसरा पॉजिटिव होने या जांच नहीं हो पाने पर टोकन देकर संक्रमितों के लिए आरक्षित अंतिम एक घंटे में मतदान कराना। हालांकि, दोनों ही व्यवस्थाओं की जरूरत कहीं नहीं पड़ी थी।

--------

आचार संहिता उल्लंघन मामले में 423 प्राथमिकी दर्ज

जागरण संवाददाता, पटना : आदर्श आचार संहिता उल्लंघन मामले में अबतक 423 मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें 30 मामले गुरुवार को दर्ज किए गए हैं। अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि अवैध बैठक व मजमा को लेकर 127 मामले दर्ज किए गए हैं। मतदाताओं को अनुचित लाभ पहुंचाने के मामले में नौ, बीकन लाइट, झंडा आदि के दुष्प्रयोग के 102 तथा कोरोना गाइडलाइन उल्लंघन सहित विभिन्न मामलों में 152 प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं, चौबीस घंटे के अंदर सरकारी संपत्ति से 10 हजार 494 तथा निजी संपत्ति से दो हजार 887 बैनर, पोस्टर आदि हटाए गए हैं। 44 चार पहिया वाहन किए गए हैं जब्त

जागरण संवाददाता, पटना : चुनाव आयोग के अनुसार आचार संहिता लागू होने के बाद एसएसटी, एफएसटी सहित विभिन्न एजेंसियों की कार्रवाई में अब तक 20 करोड़ 59 लाख रुपये जब्त किए गए हैं। नेपाल के सीमावर्ती जिलों से 89 लाख 30 हजार 492 नेपाली रुपये जब्त किए गए हैं। वाहन चेकिंग से 19 करोड़ 20 लाख 50 हजार 673 रुपये वसूल किए गए हैं। चेकिंग व छापेमारी में 44 चार पहिया वाहन, 150 ग्राम ब्राउन शुगर, 4248.99 किलोग्राम गांजा, 107.49 किलोग्राम चरस, 9.5 किलोग्राम अफीम द्रव, 3.3 किलोग्राम अफीम, 1.5 किलोग्राम हेरोइन, 40 पैकेट स्मैक, 40 लीटर स्पिरिट जब्त किए गए हैं।

Categories: Bihar News

गांधी सेतु से सटे नये पुल निर्माण के लिए मिट्टी जांच शुरू

Dainik Jagran - 5 hours 11 min ago

पटना सिटी। महात्मा गांधी सेतु के सटे पश्चिम में गंगा पर बनने वाले नये फोरलेन पुल का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। गायघाट स्थित कोर्ट रोड पर पुल के पिलर निर्माण के लिए गुरुवार को मिट्टी की जांच का काम आरंभ हुआ। जल्द ही मौजूदा गांधी सेतु के पूर्वी लेन को काटने का काम भी शुरू होगा। महात्मा गांधी सेतु डिविजन गुलजारबाग के कार्यपालक अभियंता बिरेंद्र कुमार ने बताया, एक साथ कई पिलर के लिए काम शुरू हुआ है। धनुकी मोड़ से लेकर गायघाट स्थित गंगा तट तक व वैशाली क्षेत्र में एक साथ पिलर का निर्माण कार्य आरंभ होगा। दोनों ओर मिट्टी की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया, फाउंडेशन का नक्शा तैयार है। वेल तैयार करने के लिए 800 टन लोहा निर्माण कंपनी द्वारा मंगाया जा चुका है। विभागीय अधिकारी का कहना है कि गायघाट से लेकर धनुकी मोड़ तक पिलर के निर्माण कार्य के दौरान सुरक्षा तथा यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए रखना प्राथमिकता होगी। गांधी सेतु की चार और लेन बढ़ जाने से उत्तर बिहार से राजधानी के बीच आवागमन बेहद सुगम व सुविधाजनक हो जाएगा।

Categories: Bihar News

वज्रगृह में ईवीएम की सुरक्षा के लिए 24 घंटे पेट्रोलिंग

Dainik Jagran - 5 hours 12 min ago

पटना । विधानसभा चुनाव के पहले चरण में पांच सीटों का मतदान बुधवार को संपन्न होने के बाद सभी ईवीएम शहर के एएन कॉलेज परिसर में बने वज्रगृह में जमा हो गई हैं। शाम छह बजे से ही रात करीब तीन बजे तक ईवीएम व्रजगृह में जमा कराई गई। ईवीएम जमा होने के बाद कॉलेज गेट से लेकर चारों तरफ अर्धसैनिक बलों की तैनाती हो गई, जो 24 घंटे सतर्क है। इसके अतिरिक्त पुलिस लाइन से तीन पेट्रोलिंग गाड़ी से शिफ्ट बदलकर कॉलेज के आसपास जवान गश्त लगा रहे हैं। बगल के एसकेपुरी थाने की पुलिस की गाड़ी भी कॉलेज गेट पर मौजूद है।

बुधवार रात तीन बजे तक बोरिग रोड से पानी टंकी के बीच मुख्य सड़क से जुड़ने वाली हर गली के मोड़ पर पुलिस तैनात रही। ईवीएम जमा हो जाने के बाद बोरिंग रोड पर यातायात सामान्य कर दिया गया। वज्रगृह के गेट पर अर्धसैनिक बलों की तैनाती है। इसके साथ एक दर्जन पुलिसकर्मियों को शिफ्ट बदलकर गेट के पास गश्त के लिए तैनात किया गया है। 24 घंटे पहरेदारी और अर्धसैनिक बलों की निगहबानी में ईवीएम वज्रगृह में महफूज रहेंगी। साथ ही सीसीटीवी कैमरे से भी नजर रखी जा रही है। रात में भी बड़ी संख्या में पुलिसबल कैंप करेगा।

त्रिस्तरीय सुरक्षा में एएन कॉलेज के वज्रगृह में रखी गई ईवीएम

-05 विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम रखी जा चुकी हैं

-03 नवंबर को मतदान के बाद शेष नौ विस की ईवीएम भी रखी जाएंगी

जागरण संवाददाता, पटना : एएन कॉलेज में बनाए गए वज्रगृह में पटना जिले के पांच विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम रखी जा चुकी हैं। तीन नवंबर को मतदान के बाद शेष नौ विधानसभा की ईवीएम भी एएन कॉलेज में ही रखी जाएंगी। वज्रगृह की सुरक्षा के लिए कॉलेज में त्रिस्तरीय व्यवस्था की गई है। पूरे परिसर में क्लोज सर्किट कैमरे लगाए गए हैं। मतगणना के लिए भी एएन कॉलेज में ही केंद्र बनाया गया है। पर्याप्त दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। नियंत्रण कक्ष से भी केंद्र की मॉनिटरिंग की जा रही है। आठ-आठ घंटे के तीन पालियों में कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन भी केंद्र पर किया जा रहा है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम कुमार रवि ने सभी अधिकारियों एवं कíमयों को आयोग के दिशा-निर्देश एवं मानक के अनुरूप कार्य करने का निर्देश दिया है।

डीएम ने बताया कि विधानसभावार काउंटर बनाए गए हैं। ईवीएम और वीवीपैट के रिसीव करने एवं वज्रगृह तक पहुंचाने एवं रखने की संपूर्ण प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की व्यवस्था की गई हैं। सीसीटीवी कैमरे द्वारा भी सभी कार्य को कवर करने की पारदर्शी व्यवस्था है। डीएम ने केंद्र पर तैनात रहने वाले सभी अधिकारियों एवं कíमयों को कोविड संक्रमण को देखते हुए मास्क और हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करने व शारीरिक दूरी मेंटेन करने का सख्त निर्देश दिया है। वज्रगृह सह मतगणना केंद्र पर बैरिकेडिंग की गई है। निर्बाध बिजली आपूíत सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

Categories: Bihar News

मातृत्व अवकाश पर गई महिला को कंपनी ने निकाला, शिकायत दर्ज

Dainik Jagran - 5 hours 12 min ago

पटना। बिहार राज्य महिला आयोग में गुरुवार को एक महिला ने मातृत्व अवकाश पर जाने के कारण नौकरी से हटा देने का आरोप लगा निजी कंपनी के अधिकारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। अध्यक्ष दिलमणी मिश्रा ने बताया कि पीडि़ता की शिकायत पर जांच की जा रही है। संबंधित कंपनी के अधिकारी को स्पष्टीकरण के लिए पत्राचार किया गया है।

पीड़िता ने अपने आवेदन में बताया कि वह पिछले दो साल से पटना में एक टेलीकॉम कंपनी में कार्यरत थी। पिछले साल 20 जनवरी को कंपनी के एचआर को मातृत्व अवकाश के लिए आवेदन दिया। एचआर ने छुट्टी स्वीकृत की। कुछ दिनों बाद फरवरी में वापस काम पर बुला लिया गया। इसी बीच अप्रैल में उसने फिर अवकाश के लिए आवेदन दिया, जिसे स्वीकृत कर दिया गया। 13 जुलाई को डिलीवरी हुई। इस बीच 21 अगस्त को अवकाश समाप्त हो चुका था। उसने अवकाश बढ़ाने के लिए दोबारा ई-मेल किया, जिसके बाद कंपनी ने दिसंबर तक छुट्टी स्वीकृत कर दी। कुछ दिन बाद वह जब ऑफिस गई तो उसे पहले पदच्युत कर नीचे की पोस्ट पर काम करने को कहा गया। बाद में उसे नौकरी से हटा दिया गया और उसका कारण मातृत्व अवकाश को बताया गया।

Categories: Bihar News

गिरिराज सिंह का चिराग पासवान पर जोरदार प्रहार, बताया क्‍यों नहीं कर रहे राजद-कांग्रेस पर हमला

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 11:07pm

गोपालगंज, जागरण संवाददाता। बिहार का चुनाव काफी महत्वपूर्ण चुनाव है। इसके कई मायने भी हैं। बिहार में महागठबंधन जो बना है, वह केवल बम व बारूद की बात करता है। बिहार की जनता को यह करना है कि उसे बम फोड़ने वाली महागठबंधन की सरकार चाहिए कि नारियल फोड़ने वाली एनडीए की सरकार। बिहार व देश में एनडीए ने केवल विकास का कार्य किया है। ये बातें शहर के बंजारी स्थित एक होटल में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिंह ने कहीं।

तेजस्वी यादव को राजनीति विरासत में मिली

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को राजनीति विरासत में मिली है। राजनीति विरासत में मिलने के बाद उन्होंने पोस्टर से अपने माता-पिता का फोटो हटा दिया। इससे जनता का मूड बदलने वाला नहीं है। जनता जानती है कि लालू यादव को पोस्टर से हटाने से नहीं होगा। क्योंकि सरकार बनी तो फिर से बिहार में जो 15 साल पूर्व होता था, वह फिर से शुरू हो जाएगा।

नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार ने बिहार में विकास किया

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार ने बिहार में विकास की खाई को भरने का कार्य किया है। अब बिहार में विकास तेज गति से शुरू हो गया है। आने वाले पांच साल काफी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि चिराग पासवान पर निशाना साधते हुए कहा कि जो खुद को मोदी का हनुमान बता रहे हैं, वे बताए कि वह कौन से हनुमान हैं।

चिराग पासवान नहीं कर रहे राजद और कांग्रेस पार्टी पर हमला

चिराग पासवान ने कभी भी राजद व कांग्रेस पर हमला नहीं बोला। ऐसे में उनकी चुप्पी के कई मायने भी हैं। बिहार में कोई भ्रम नहीं है। बिहार में चार दलों का अटूट गठबंधन है। उन्होंने बैकुंठपुर विधानसभा सीट का नाम लेते हुए कहा कि वहां कुछ वोटकटवा भी मैदान में उतर कर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं।

Categories: Bihar News

मुंगेर हिंसा पर बोले सुरजेवाला, कहा- सीएम नीतीश कुमार और सुशील मोदी इसके जिम्‍मेदार

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 10:51pm

पटना, राज्य ब्यूरो। कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मायावती और असदुद्दीन ओवैसी को भाजपा की बी और सी टीम बताया है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी संकट में आते हैं, ओवैसी उनके साथ खड़े हो जाते हैं। अब तो मायावती भी उसी राह पर हैं। उन्होंने जनता को आगाह किया है कि इनके मायाजाल और भ्रमजाल में फंसने से बचें। सुरजेवाला गुरुवार को पटना में संवाददाताओं से बात कर रहे थे।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती के बयान 'समाजवादी पार्टी को हराने के लिए जरूरत पड़ने पर भाजपा को वोट करेंगे' के आने के बाद सुरजेवाला ने कहा कि बिहार आने के पहले से ही ओवैसी का मायावती के साथ गठबंधन है। अब मायावती ने भाजपा को वोट देने की बात कह कर साबित कर दिया है कि बसपा और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन भाजपा के साथ हैं।

इससे पहले सुरजेवाला ने मुंगेर में दोबारा हिंसा भड़कने पर इसका सारा ठीकरा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर फोड़ा। कहा कि मुंगेर आज फिर जल रहा है। राज्य की नीतीश-सुशील की सरकार इसके लिए दोषी है। इस मामले में लीपापोती के आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कि मुंगेर एसपी जदयू के एक बड़े नेता की बेटी हैं, जबकि वहां के डीएम नीतीश कुमार के चहेते। प्रधानमंत्री भी बिहार आए तो मुंगेर मामले पर कुछ नहीं बोले।

सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री मोदी से पांच सवाल पर जवाब मांगे। कहा दुर्गा भक्तों को पीटने का दोषी कौन? जिन्हें गोली लगी उनका जिम्मेदार कौन? अनुराग की मौत का जिम्मेदार कौन? इलाके के डीएम-एसपी को बचाने का जिम्मेदार कौन और मुंगेर के जंगलराज का दोषी कौन? सुरजेवाला ने कहा यदि मुंगेर प्रकरण में प्रदेश सरकार कार्रवाई नहीं कर रही तो प्रधानमंत्री कार्रवाई करें।

Categories: Bihar News

बिहार चुनाव 2020ः आरोप-प्रत्यारोप पर पहुंची राजनीति, सुशील मोदी ने तेजस्वी से पूछे पांच सवाल

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 10:48pm

पटना, जेएनएन। विधानसभा चुनाव में नेताओं की राजनीति अब विकास से भटकर आरोप-प्रत्यारोप की ओर बढ़ चली है। उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी रोजाना सवालों के जरिए विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को घेरने में जुटे हैं। गुरुवार को सुशील मोदी ने ताबड़तोड़ ट्वीट कर तेजस्वी यादव पर सवाल दागा। पूछा बिहार का सबसे बड़ा मॉल बनवाने के लिए 750 करोड़ रुपये कहां से आए। उपमुख्यमंत्री ने पहले सवाल में कहा जंगलराज के युवराज यह नहीं बता रहे हैं कि 10 लाख लोगों को एक झटके में नौकरी देने के लिए वे 58 हजार करोड़ रुपये कहां से लाएंगे। आगे कटाक्ष किया राजद की राजनीति पूरी तरह कालेधन की फंडिंग से चलती है। 

गरीबों के युवा मसीहा के पास इतना धन कहां से?


मोदी ने दूसरे सवाल में पूछाकि तेजस्वी यादव ने न मैट्रिक पास किया, न कोई व्यापार किया और न लाखों रुपये के पैकेज वाली कोई नौकरी ही की। फिर गरीबों के युवा मसीहा के पास इतना धन कहां से आया कि वे 15 मंजिल के मॉल में 1,000 दुकानें, शॉपिंग मॉल्स, मल्टीप्लेक्स और फाइव स्टार होटल बनवा रहे थे? 

मॉल को ईडी ने क्यों जब्त कर निर्माण रोक दिया?

तीसरे सवाल में उपमुख्यमंत्री ने पूछा क्या यह सच नहीं कि पटना की जिस जमीन पर युवराज का महामॉल बन रहा था, उसे जंगलराज के राजा ने 2004 में रेल मंत्री बनते ही आइआरसीटीसी होटल घोटाला के जरिए हासिल किया था? वे जनता को बताएं कि मॉल को ईडी ने क्यों जब्त कर निर्माण रोक दिया? 

जनता से वोट मांगने से पहले दें जवाब

चौथे सवाल में सुशील मोदी ने पूछा कि केंद्र की यूपीए सरकार के रेल मंत्री लालू प्रसाद ने रेलवे के रांची और पुरी के दो होटलों को हर्ष कोचर की कंपनी को 15 साल के लिए लीज पर देने के एवज में राजद के सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की कंपनी डिलाइट मार्केटिंग के जरिए हथिया ली थी। क्या बिहार की जनता से वोट मांगने से पहले यह बताया नहीं जाना चाहिए? 

राबड़ी पर भी किया हमला


पांचवें सवाल में उन्होंने पूछा कि युवराज आज अगर चार्टर प्लेन में बर्थडे केक काट कर गरीबों की राजनीति कर रहे हैं, तो जनता को क्यों नहीं बताते कि उन्होंने मात्र 64 लाख रुपये में डिलाइट कंपनी के करोड़ों रुपये मूल्य के सारे शेयर अपने और माताजी के नाम कर कैसे 94 करोड़ रुपये बाजार मूल्य की जमीन के मालिक बन गए थे? क्या वे फर्जीबाड़ा से गरीबी दूर करने वाला मॉडल थोपना चाहते हैं?

Categories: Bihar News

दानापुर क्षेत्र से सबसे अधिक शराब तो बांकीपुर से नकदी बरामद

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 10:39pm

पटना । विधानसभा चुनाव में आचार संहिता लागू होने के बाद से ही पुलिस एक्शन में आ गई। ताबड़तोड़ छापेमारी और चेकिंग का असर ऐसा रहा कि महज 34 दिनों में एक करोड़ रुपये से अधिक कैश पकड़ा तो कहीं शराब की खेप बरामद हुई। अब तक पुलिस नौ विधानसभा क्षेत्रों से 18 हजार 364 लीटर शराब बरामद कर चुकी है, जबकि 23 से अधिक आ‌र्म्स और भारी मात्रा में कारतूस जब्त कर चुकी है। बरामद रुपये का हिसाब नहीं मिला, तो जब्त आ‌र्म्स अवैध मिले। यहां तक की रुपये बांटने के मामले में प्राथमिकी भी दर्ज हो चुकी है।

-----------

दानापुर क्षेत्र में बरामद

हुई सबसे अधिक शराब

पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक आचार संहिता लागू होने के बाद बुधवार की देर शाम तक नौ विधानसभा बख्तियापुर, दीघा, बांकीपुर, कुम्हरार, पटना साहिब, फतुहा, दानापुर, मनेर, फुलवारीशरी में कुल 13 हजार 18 लीटर देसी और 5 हजार 346 लीटर विदेशी शराब बरामद हुई। इनसे अब तक सबसे अधिक दानापुर क्षेत्र से करीब 5 हजार लीटर शराब बरामद हुई है। दानापुर में पिछले एक माह में शराब तस्करी बढ़ गई। हालांकि, पुलिस तस्करों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। इसमें कुम्हरार में सबसे कम आठ सौ लीटर शराब मिली है।

---------------

बांकीपुर क्षेत्र से 75

लाख नकद बरामद

पटना के नौ विधानसभा क्षेत्रों से अब तक एक करोड़ 26 लाख रुपये किसी की गाड़ी से तो कहीं छापेमारी के दौरान बरामद हो चुके हैं। इनमें बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र के सात थाना क्षेत्रों से कुल 75 लाख नकद बरामद हो चुके हैं। बख्तियापुर के पांच थाना क्षेत्रों से 70 हजार, दीघा के नौ थाना क्षेत्रों से 10.20 लाख रुपये, कुम्हरार के चार थाना क्षेत्रों से 8 लाख 77 हजार रुपये, पटना साहिब के छह थाना क्षेत्रों से 15 लाख 44 हजार रुपये, फतुहा के छह थाना क्षेत्रों से 06 लाख 83 हजार रुपये, दानापुर के चार थाना क्षेत्रों से चार लाख रुपये, मनेर के तीन थाना क्षेत्रों से तीन लाख 33 हजार रुपये और फुलवारीशरीफ के पांच थाना क्षेत्रों से दो लाख रुपये बरामद हो चुके हैं।

------------------

210 के खिलाफ गैरजमानती

वारंट, तीन की कुर्की

आचार संहिता लागू होने के बाद से पुलिस तीन घर की कुर्की कर चुकी है, जबकि नौ विधानसभा क्षेत्रों में 210 के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी है। पुलिस इनकी तलाश में जुटी है। चेकिंग के दौरान अब तक 23 आ‌र्म्स और 50 से अधिक कारतूस जब्त किए गए हैं।

Categories: Bihar News

Bihar Chunav 2020: पहले चरण में मतदाताओं ने कोरोना को दिखाया आईना, आधी आबादी पुरुषों से पिछड़ी

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 10:36pm

पटना, जागरण संवाददाता। बिहार विधानसभा के लिए प्रथम चरण के चुनाव में पुरुषों ने मतदान फीसद में महिलाओं को पीछे छोड़ दिया है। आयोग के प्रारंभिक डेटा के अनुसार पहले चरण में 56 फीसद से अधिक पुरुषों ने मतदान किया। महिलाओं का फीसद 55 से कम है। पिछले चुनाव में मतदान का फीसद इससे उलट था। महिलाओं का फीसद पुरुषों की तुलना में अधिक था। 

पहले चरण में मतदाताओं ने कोरोना को आईना दिखा दिया। संक्रमण की संभावना को देखते हुए कम मतदान की आशंका को 71 विधानसभा सीटों के भाग्यविधाताओं ने खारिज कर दिया है। निर्वाचन आयोग के अनुसार 71 सीटों के लिए दो करोड़ 14 लाख पांच हजार 306 मतदाता थे।

इनमें एक करोड़ 12 लाख 77 हजार 34 पुरुष मतदाताओं में 61 हजार 48 हजार 215 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वहीं, एक करोड़ एक लाख 27 हजार 681 महिला मतदाताओं में 52 हजार 94 हजार 378 ने अपने मत का प्रयोग किया है। मतदान फीसद में सबसे कमजोर प्रदर्शन थर्ड जेंडर का रहा है। 591 थर्ड जेंडर मतदाताओं में 15 ने ही अपने मत का प्रयोग की है।

अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया, प्रथम चरण की कुल 71 सीटों पर बुधवार को 55.69 फीसद मतदान हुआ है, जबकि 2015 में इन्हीं सीटों पर 54.75 फीसद मतदान हुआ था। पिछले चुनाव की तुलना में लगभग एक (0.94) फीसद अधिक मतदान हुआ है। बुधवार को कई मतदान केद्रों पर निर्धारित अवधि के बाद भी मतदान की सूचना जिला निर्वाचन पदाधिकारियों ने दी है। पहले चरण की 35 विधानसभा सीटें नक्सल प्रभाव वाले क्षेत्र में होने के कारण अतिसंवेदनशील घोषित थीं। इन सीटों पर पिछले चुनाव की तुलना में एक से आठ फीसद तक मतदान बढ़ा है।

बांका जिले में सबसे अधिक मतदान हुआ है। बांका की धौरिया, बांका, कटोरिया, भागलपुर की कहलगांव, गया की गुरुआ, शेरघाटी, बाराचट्टी, गया शहर, बोधगया, बेलागंज, जमुई जिले की चकाई, जमुई, झाझा, कैमूर के रामगढ़, भभुआ, चैनपुर में 60 फीसद से अधिक मतदान हुआ है।

Categories: Bihar News

बिहार चुनाव 2020ः उपेंद्र कुशवाहा की बड़ी घोषणा, बोले-15 दिन में कर दूंगा जो 15 साल में नहीं हुआ

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 10:22pm

वैशाली, जेएनएन। बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान बड़ी-बड़ी घोषणा होने का सिलसिला जारी है। पार्टियों की ओर से करीब 35 लाख रोजगार देने के बाद अब उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि नीतीश कुमार के 15 वर्ष के शासनकाल में जो काम बिहार में नहीं हुआ, वह 15 दिनों में पूरा हो जाएगा। आप बस एक मौका दें। महुआ, राजापाकर एवं हाजीपुर विधानसभा क्षेत्र में अपने प्रत्याशियों के पक्ष चुनावी सभा को संबोधित करते हुए रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि इस बार के चुनाव में बिहार के विकास के लिए वोट दें।

बिहार में विकास अभी शून्य

जाति और धर्म के नाम पर बिहार का विकास नहीं हो सकता है। एक-एक कर आपने 30 साल तक सभी को मौका दिया लेकिन क्या हुआ? बिहार में विकास अभी शून्य है। यहां के मजदूर रोजी के लिए बाहर जाते हैंं। उनका कितना अपमान हुआ, इसे सभी ने देखा है। कुशवाहा ने कहा कि आपकी ताकत के बल पर बिहार का भाग्य बदलेगा। शिक्षा एवं स्वास्थ्य का हाल काफी बुरा है। सरकारी अस्पताल के बेड पर कुत्ता बैठता है। डाक्टर के बिना अस्पताल चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आपकी ताकत से ही बिहार का भाग्य बदलेगा। राज्य की जनता ने बड़े और मझले भाई को 15-15 वर्ष मौका दिया। दोनों ने केवल अपनी तिजोरी भरने का काम किया। 

रालोसपा के नेतृत्व में बनेगी सरकार: उपेंद्र 

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने दावा किया है कि बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान में जनता ने राजग और महागठबंधन के खिलाफ वोट किया है। दोनों गठबंधनों को जनता ने 15-15 साल सरकार चलाने का मौका दिया, लेकिन दोनों ने जनता को केवल ठगा। अबकी बार प्रदेश में न राजग और न महागठबंधन की सरकार बनेगी बल्कि राज्य की जनता रालोसपा नेतृत्व वाले ग्रैंड यूनाइटेड सेक्यूलर फ्रंट को बहुमत देकर सरकार बनाएगी। पहले चरण में जनता ने फ्रंट के तीन दर्जन उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित कर दी है। 

Categories: Bihar News

Bihar Chunav 2020: सचिन पायलट का नीतीश कुमार पर जोरदार हमला, कहा- कमजोर नेता करते हैं ऐसी बात

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 10:14pm

पटना, राज्य ब्यूरो। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सचिन पायलट ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर जमकर प्रहार किया। उन्‍होंने नीतीश कुमार को कमजोर नेता बताते हुए घेरा। पायलट ने कहा है कि सत्ताधारी दल के कमजोर नेता ही पिछली सरकारों की आलोचना करते हैं। जनता का दिल, सिर्फ काम से जीता जा सकता है। जिनके खाते में पिछले पांच वर्ष में कोई काम नहीं वे दूसरों का ध्यान बंटाने के लिए दूसरी सरकारों के काम की आलोचन कर रहे हैं। इन दिनों नीतीश कुमार यही कर रहे हैं। पायलट गुरुवार को चुनाव प्रचार के लिए बिहार आए और इस दौरान पटना में उन्होंने प्रेस से बात की। 

पायलट ने कहा कि चुनाव में इस बार का एजेंडा महागठबंधन तय कर रहा है और सत्ताधारी दल उसी एजेंडे पर आकर बात करने को विवश हैं। पायलट ने कहा कि महागठबंधन ने 10 लाख नौकरी की बात की तो उसकी आलोचना शुरू हो गई। बाद में खुद 19 लाख नौकरी देने की बात करने लगे। जो 19 लाख नौकरी की बात कर रहे हैं उन्हें पहले दो करोड़ नौकरियों का हिसाब देना चाहिए।

विरोधियों पर हमला करते हुए पायलट ने कहा कि सत्ताधारी दल लालू प्रसाद और उनके परिवार को लेकर जिस प्रकार के आरोप लगा रहा है उससे उनकी बौखलाहट साफ देखी जा सकती है। नौजवानों ने इस बार बिहार में बदलाव का बीड़ा उठा लिया है। पहले दौर का मतदान महागठबंधन को नई उर्जा दे गया है। महागठबंधन अब नई ताकत के साथ दूसरे चरण के चुनाव के लिए मैदान में है।

एक प्रश्न पर पायलट ने कहा कि बिहार का यह चुनाव दूसरे राज्यों को नई दिशा देगा। उन्होंने कोरोना की वैक्सीन मुफ्त देने की घोषणा को हास्यापद बताया। प्रेस कांफ्रेंस में पायलट ने कृषि कानून, कोरोना काल में श्रमिकों और छात्रों को हुई परेशानी जैसे मुद्दों पर भी सरकार को कठघरे में खड़ा किया। इस दौरान राष्ट्रीय प्रवक्ता पावन खेड़ा व मीडिया समन्वयक प्रेमचंद मिश्रा भी मौजूद थे।

Categories: Bihar News

बिहार बोर्ड कल जारी करेगा इंटर का डमी एडमिट कार्ड, गलती होने पर ऐसे करें सुधार

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 10:00pm

पटना, जेएनएन। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से शुक्रवार को वेबसाइट पर इंटर का डमी एडमिट कार्ड जारी कर दिया जाएगा। इसके लिए तैयारी जोर-शोर से चल रही है। डमी एडमिट कार्ड बोर्ड की वेबसाइट पर पांच नवंबर तक रहेगा। इस समय परीक्षार्थी एडमिट कार्ड में किसी प्रकार की त्रुटि रहने पर सुधार करवा सकते हैं। 

ये भी जानें

- बोर्ड की वेबसाइट पर पांच नवंबर तक रहेगा डमी एडमिट कार्ड 

- किसी प्रकार की त्रुटि रहने पर सुधार करवा सकते हैं छात्र

- किसी तरह की सहायता बोर्ड का हेल्पलाइन नंबर : 0612- 2230039, 2235161

बोर्ड अपनी वेबसाइट के अलावा परीक्षार्थियों के मोबाइल नंबर व ई-मेल आइडी पर भी डमी एडमिट कार्ड भी भेज रहा है। परीक्षार्थी डमी एडमिट कार्ड में अपना नाम, पता, पिता के नाम, लिंग व जन्मतिथि आदि की जांच कर सकते हैं। अगर किसी परीक्षार्थी को नाम, पता या पिता के नाम में त्रुटि होगी तो वे उसमें सुधार करा सकते हैं।

छात्र परेशान न हों इस लिए जारी किया डमी एडमिट कार्ड

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर का कहना है कि कई बार परीक्षार्थी एडमिट कार्ड में गलती को लेकर काफी परेशान रहते हैं। इसलिए बोर्ड ने उन्हें डमी एडमिट कार्ड जारी किया है, ताकि शुद्ध एडमिट कार्ड परीक्षा से पहले जारी किया जा सके।

हेल्पलाइन नंबर जारी 

बिहार बोर्ड ने डमी एडमिट कार्ड के साथ-साथ हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर देगा। अगर किसी परीक्षार्थी को डमी एडमिट कार्ड डाउनलोड होने में परेशानी होने पर हेल्पलाइन नंबर से सहायता ले सकते हैं। बोर्ड द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर : 0612- 2230039, 2235161

 

आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों की कॉमर्स संकाय में काउंसिलिंग कल

पटना विश्वविद्यालय के अंतर्गत स्नातक पार्ट-वन में नामांकन के लिए काउंसिलिंग की प्रक्रिया जारी है। इसके तहत अब आरक्षित श्रेणी के छात्र-छात्राओं का पहले राउंड की काउंसिलिंग 31 अक्टूबर को होगी। इसमें बीकॉम के लिए छात्र-छात्राओं की काउंसिलिंग व्हीलर सीनेट हॉल में आयोजित होगी। नामांकन कमेटी के अध्यक्ष सह डीन प्रो. केएन झा ने बताया कि आरक्षित श्रेणी के छात्र-छात्राओं की सेंट्रलाइज्ड काउंसिलिंग होगी। छात्र दोपहर 12.30 बजे से व्हीलर सीनेट हॉल में काउंसिलिंग के लिए पहुंचेंगे। 

 

Categories: Bihar News

बिहार में कमिश्नर को महंगा पड़ा सरकारी गाड़ी छोड़ बाइक चलाना, घायल हो अस्पताल में भर्ती

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 9:43pm

सारण, जेएनएन। बाइक पर सवार होकर बूथ निरीक्षण को निकले सारण के प्रमंडलीय आयुक्त आरएल चोंग्थू गुरुवार को गडख़ा के समीप सड़क दुर्घटना में जख्मी हो गए। उनके सिर में चोट लगी है। छपरा सदर अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने पटना रेफर कर दिया।

पटना में भर्ती, हालात खतरे से बाहर

घटना के बाद आयुक्त को पटना के एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। वहां उनका इलाज चल रहा है। इस संबंध में आधिकारिक रूप से जानकारी देने को कोई अधिकारी तैयार नहीं हुआ है, हालांकि राजधानी में सिविल सर्जन ने पटना में उनकी हालत को खतरे से बाहर बताया है।  

ऐसे हुआ हादसा

1. सारण के प्रमंडलीय आयुक्त आरएल चोंग्थू मकेर में गाड़ी छोड़ बूथों का बाइक से करने जा रहे थे निरीक्षण

2. छपरा-मुजफ्फरपुर हाईवे पर गडख़ा के समीप साइकिल सवार से टकराकर हुए गंभीर रूप से हो गए घायल 

चुनाव की तैयारी के सिलसिले में बूथों की जांच करने निकले थे 

मिली जानकारी के अनुसार, प्रमंडलीय आयुक्त आरएल चोंग्थू गुरुवार को चुनाव की तैयारी के सिलसिले में बूथों की जांच करने जा रहे थे। जैसे ही वे मकेर में पहुंचे कि आयुक्त ने अपनी गाड़ी को छोड़कर बाइक से बूथ का जायजा लेने चाहा। इसके बाद वे बाइक से ही निकल पड़े। इसी दौरान छपरा-मुजफ्फरपुर हाईवे पर उनकी बाइक एक साइकिल सवार से टकरा गई, जिसमें वे जख्मी हो गए। साथ में रहे कर्मियों ने तुरंत उन्हें सदर अस्पताल पहुंचाया, जहां उन्हें आइसीयू में भर्ती किया गया। सूचना मिलने पर सारण के जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन और सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा अन्य वरीय पदाधिकारी अस्पताल पहुंचे। 

सिरमें लगी है गहरी चोट

सिविल सर्जन ने बताया कि आयुक्त के सिर में गहरी चोट लगी है। अस्पताल में अन्य चिकित्सकों को बुलाकर उपचार किया गया। हालांकि वे खतरे से बाहर हैं। घटना की अधिकारिक पुष्टि करने को कोई अधिकारी तैयार नहीं है। 

Categories: Bihar News

पप्पू पांडे का चौथा हत्यारोपित भी गिरफ्तार

Dainik Jagran - October 29, 2020 - 9:31pm

पटना सिटी। गायघाट स्थित राजकीय महिला कॉलेज के पिछले हिस्से में पप्पू पांडेय का शव मिलने की घटना में फरार चौथे आरोपित सूरज कुमार को भी पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही है। पुलिस ने बताया कि हत्याकांड के चारों आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। बवाल काटने वालों की खोज में छापेमारी हो रही है। आलमगंज थानाध्यक्ष सुधीर कुमार ने बताया कि हत्याकांड में पूर्व में गिरफ्तार तीनों नामजद को गुरुवार को जेल भेज दिया गया। जेल जाने से पूर्व गिरफ्तार आरोपितों ने पुलिस को बताया कि आपसी विवाद में दोस्तों ने ही ईंट से मार कर पप्पू की हत्या कर शव को कॉलेज की नवनिर्मित शौच टंकी में डाल दिया था। चौथे आरोपित से पूछताछ जारी है। -----------------

फॉलोअप

- पूर्व में गिरफ्तार किये गए तीनों आरोपितों को भेजा गया जेल

- बवाल करने वालों की खोज में पुलिस कर रही छापेमारी

-----------------

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair  


  Invest Bihar