Bihar News

तेजस्‍वी का मोदी-नीतीश सरकार पर एक साथ हमला, कहा- बढ़ती बेरोजगारी से युवाओं की स्थिति विस्‍फोटक

Dainik Jagran - 1 hour 35 min ago

पटना, जेएनएन। नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने एक बार फिर नरेंद्र मोदी व नीतीश कुमार की सरकारों पर हमला बोला है। उन्‍होंने बढ़ती बेरोजगारी को लेकर दोनों सरकारों पर निशाना बनाया है। बुधवार को तेजस्‍वी ने मीडिया को जारी बयान में कहा कि बढ़ती बेरोजगारी ने बिहार में युवाओं के लिए विस्फोटक स्थिति पैदा कर दी है। देश में बेरोजगारी दर 7.5 परसेंट पर पहुंच गयी है। उच्च श‍िक्ष‍ितों में यह बेरोजगारी 60 परसेंट तक हो गयी है। उन्‍होंने कहा कि आंकड़े बताते हैं कि भारत में पिछले 45 वर्षों में अब तक की सबसे अधिक बेरोजगारी है।

केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए उन्‍होंने कहा कि जो सरकार यह वादा करते हुए बनी थी कि वह हर वर्ष दो करोड़ युवाओं को नौकरी देगी, उसी ने यहां के युवाओं को जॉब के मामले में 45 वर्षों का सबसे बुरा दौर दिखाया है। आज युवाओं को हिन्दू-मुसलमान, भारत-पाकिस्तान जैसे मुद्दों में उलझाया जा रहा है। युवाओं को अपने भविष्य की चिंता से भटकाना भाजपा की चुनावी रणनीति और केंद्र सरकार की मजबूरी बन गई है।

उन्‍होंने कहा कि जिस तरह देश और बिहार में बेरोजगारी दर में लगातार इजाफा हो रहा है, यह स्थिति अब विस्फोटक सिद्ध होनेवाली है। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि सत्तारूढ़ दल युवाओं की बेरोजगारी में अपनी सांप्रदायिक राजनीति के लिए सुअवसर देख रही है। उन्‍होंने कहा कि एक रिपोर्ट के अनुसार मोदी सरकार ने अपने 6 वर्षों के शासनकाल में ही रोजगार के अवसर उत्पन करने के बजाय उसे समाप्त कर दिया। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने में समस्त भारतीय उपमहाद्वीप में सबसे पिछलग्गू देश भारत ही रहा है। एनडीए सरकार की आत्मघाती अर्थनीति के कारण अपना देश बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और श्रीलंका से भी पिछड़ गया है।

तेजस्‍वी ने कहा कि केंद्र ही नहीं, नीतीश सरकार भी रोजगार के अवसरों को सृजन करने में पूरी तरह विफल रही है। इसका खामियाजा देश की अर्थव्यवस्था ही नहीं, यहां के युवाओं को भी भुगतना पड़ रहा है। उन्‍होंने तंज कसते हुए कहा कि नीतीश सरकार आंकड़ों को छुपाने, उन्हें झुठलाने, कॉन्सपिरेसी थ्योरी गढ़ने और ध्यान भटकाने के षड्यंत्र करने के बजाय यदि अपना ध्यान नौकरी के अवसर उपलब्‍ध कराने में लगाए, तब शायद युवाओं का कुछ भला हो पाए। वैसे सरकार के पास उपलब्ध योग्यता, उनकी प्राथमिकताओं और अब तक के ट्रैक रिकॉर्ड से यह होता दिखता तो है नहीं।

Categories: Bihar News

Bihar Weather: बिहार में ठंडी हवाओं का कहर जारी, 26 जनवरी से बदल सकता है मौसम

Dainik Jagran - 2 hours 33 min ago

 पटना, जेएनएन। लंबे समय के बाद गुरुवार से राजधानी के मौसम में सुधार होने की उम्मीद है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार गुरुवार को राजधानी में धूप खिल सकती है और फिर उसके बाद दिन का मौसम साफ रहने की संभावना है। फिलहाल देश के पश्चिमी भाग का आकाश साफ हो चुका है, जबकि मौसम विभाग के पूर्वानुमान में कहा गया है कि 24 जनवरी को मौसम फिर खराब हो सकता है। उसका असर बिहार में भी पडऩे की उम्मीद है। हालांकि, फिलहाल राजधानी समेत प्रदेश के अन्य भागों में गुरुवार से मौसम में सुधार की उम्मीद है। 

राजधानी में मंगलवार और फिर बुधवार की सुबह घना कोहरा छाया रहा, लेकिन दिन चढऩे के बाद वातावरण में थोड़ी गर्मी बढ़ती गई। मंगलवार को राजधानी में अधिकतम तापमान 20.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। न्यूनतम तापमान 8.7 डिग्री सेल्सियस रहा। राजधानी की हवा में 95 फीसद नमी रिकॉर्ड की गई। 

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार पटना के साथ-साथ गया, भागलपुर, पूर्णिया सहित राज्य के अधिकांश भागों के मौसम में काफी सुधार हुआ है। गुरुवार से प्रदेश की स्थिति और बेहतर हो जाएगी। 

 25 और 26 को राज्य में छा सकते हैं बादल, हो सकती है हल्की बूंदाबांदी

मौसम विभाग के मुताबिक 24 जनवरी को पश्चिमी हिमालय में एक बार फिर पश्चिमी विक्षोभ से मौसम खराब हो सकता है। उसका असर बिहार पर 25 एवं 26 जनवरी को हो सकता है, लेकिन अब उतनी ठंड पडऩे की उम्मीद नहीं है। 

बुधवार को भी प्रभावित रही ट्रेनों की रफ्तार

अत्याधिक विलम्ब से चलने के कारण आज दिनांक 22/01/2020 को पटना पहुंचने वाली गाड़ी सं.20802 मगध एक्सप्रेस का आंशिक समापन पटना जंक्शन में ही किया जाएगा। यह गाड़ी आज इस्लामपुर नही जायेगी।

आज ही दिनांक 22/01/2020 को गाड़ी सं.18623 इस्लामपुर-हटिया एक्सप्रेस इस्लामपुर की वजाय पटना जंक्शन से ही खुलेगी।

नोट:: यात्रियों की सुविधा हेतु इस्लामपुर से चलने वाली मेमू गाड़ी सं.63327 को पटना-हटिया एक्सप्रेस के समयानुसार चलाया जाएगा।

Categories: Bihar News

बिहार के DGP ने जवानों से क्यों कहा-एक दिन तो बिताइए गांव में, जानिए मामला

Dainik Jagran - 3 hours 20 min ago

पटना, जेएनएन। बिहार पुलिस महानिदेशक, डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा है कि हर क्षेत्र के थानेदार को सप्ताह में एक दिन गांव में बिताना होगा और गांव के चौपाल में बैठकर ग्रामीणों की समस्या सुननी होगी औऱ उनका निष्पादन करना होगा। डीजीपी ने भागलपुर में कहा कि बिहार पुलिस (Bihar Police) की तरफ से गांव की समस्याओं और मामलों के निपटारे को लेकर पुलिस आपके द्वार कार्यक्रम की शुरुआत की जायेगी।

डीजीपी ने कहा कि पुलिस आपके द्वार कार्यक्रम के तहत डीएसपी को पन्द्रह दिनों में एक दिन और एसपी, डीआईजी, आईजी समेत खुद डीजीपी महीने में एक दिन गांव में बिताएंगे और गांव के लोगों की समस्याओं का निपटारा करेंगे।पांडेय ने बताया कि इस कार्यक्रम की शुरुआत अगले महीने से हो जाएगी। इस कार्यक्रम के तहत पुलिस आम ग्रामीणों से बातचीत कर उनकी समस्याओं को न केवल सुनेंगी बल्कि समाधान की दिशा में भी पहल करेगी। डीजीपी ने बताया कि मुख्यालय स्तर से इस कार्यक्रम की मॉनिटरिंग होगी। इस कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार कर ली गई है और शीघ्र ही मुख्यालय की ओर से दिए जाने वाले फॉर्मेट में रात बिताने वाले पुलिस के अधिकारी उसे भरकर मुख्यालय को सुपुर्द करेंगे। गांव में रात बिताने वाले अधिकारी भूमि या संपत्ति विवाद से संबंधित वैसे मामलों की भी जानकारी लेंगे, जिसके कारण विधि व्यवस्था का खतरा उत्पन्न हो सकता है।भागलपुर पुलिस के रोको-टोको अभियान को सराहा डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने भागलपुर जिला पुलिस की ओर से चलाए जा रहे हैं रोको-टोको अभियान की तारीफ की और इसे पूरे राज्य में लागू किए जाने के संकेत दिए हैं. उन्होंने अभियान में थोड़े से बदलाव कर सूबे के सभी जिलों में रोको टोको अभियान चलाए जाने की बात कही है. आपको बता दें कि इसे भागलपुर पुलिस मॉडल के रूप में भी पहचान हासिल है. पुलिस के जवानों की जमकर तारीफ कीडीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने बिहार पुलिस की तारीफ करते हुए कहा कि बिहार पुलिस चूड़ा सत्तू लेकर भी अपनी ड्यूटी करती हैं। साथ ही कहा कि 16 से 17 घंटे तक काम लिए जाने के बावजूद बिहार पुलिस के जवान उत्साहित और ऊर्जा से भरे रहते हैं।   

Categories: Bihar News

Womens T20: इंडिया बी के खिलाफ टॉस जीत बांग्लादेश ने चुनी बैटिंग, इंडिया ए ने थाइलैंड को हराया

Dainik Jagran - 4 hours 19 min ago

पटना, जेएनएन। ऊर्जा स्टेडियम में चल रही महिला टी-20 चतुष्कोणीय सीरीज में बुधवार को इंडिया बी और बांग्लादेश के बीच फाइनल मुकाबला खेला जा रहा है। टॉस जीतकर बांग्लादेश की टीम ने पहले बल्लेबाजी चुनी। 20 ओवर खेलते हुए टीम ने 7 विकेट के नुकसान पर 117 रन बनाए। ट्रॉफी जीतने के लिए इंडिया बी की टीम को 20 ओवर में 118 रन बनाने हैं। इसके पूर्व तीसरे और चौथे स्थान के लिए थाइलैंड और भारत ए की टीमें भिड़ीं। जिसमें इंडिया ए ने थाइलैंड को 8 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही प्रतियोगिता में इंडिया ए तीसरे स्थान पर रहा।

दो बल्लेबाजों ने बनाए 34-34 रन

मुरशिदा खातून और सनजीदा इस्लाम के 34-34 रनों की बदौलत बांग्लादेश ने 20 ओवर में 117/7 रन बनाए। इंडिया बी की ओर से तनुजा को तीन सफलता मिली। वहीं एनटी कोहाले ने दो बल्लेबाजों को पवेलियन की रहा दिखाई तो कप्तान स्नेहा ने भी एक विकेट लिया। वहीं शमीमा को सिमरन ने 13 के निजी स्कोर पर रन आउट कर दिया।

चौथे ओवर में बांग्लादेश को लगा पहला झटका

बांग्लादेश को पहला झटका चौथे ओवर में लगा। जब शमीमा सुल्ताना 13 रन के स्कोर पर रन आउट हो गईं। उन्हें सिमरन ने क्रीज पर पहुंचने से पहले रन आउट कर दिया। इसके बाद बांग्लादेश की पारी संभल गई। दूसरा और तीसरा विकेट क्रमशः 85-86 रन पर गिरा।

केआर जनजाद की घातक गेंदबाजी

इसके पहले तीसरे और चौथे स्थान को लेकर हुए मुकाबले में इंडिया ए ने टॉस जीतकर थाइलैंड को पहले बल्लेबाजी करने का निमंत्रण दिया। केआर जनजाद के चार और रेनुका सिंह को दो विकेटों की मदद से थाइलैंड की पूरी टीम 45 पर अॉल आउट हो गई। जवाब बैटिंग करने उतरी इंडिया ए की टीम ने 3 विकेट के नुकसान पर मैच जीत लिया। इंडिया ए की ओर से माधुरी मेहता ने नाबाद 21 तो जासिया अख्तर ने दस रनों का योगदान दिया।

मेघना पर होगी नजर

फाइनल में सभी की निगाहें इंडिया बी की सलामी बल्लेबाज एस मेघना पर होगी। मेघना लगातार तीन लीग मुकाबले में अर्धशतक जमा चुकी हैं। फाइनल में अगर वह चल गईं तो भारत बी खिताब जीत सकती है। हालांकि बांग्लादेश की टीम भी मजबूत है और उसके खिलाफ कोई भी लापरवाही भारत बी को भारी पड़ सकती है। इसके पहले मंगलवार को सभी टीमो ने ऊर्जा स्टेडियम में अभ्यास कर स्वयं को जांचा परखा।

Categories: Bihar News

पटना में शुरू हुआ अतिक्रमण हटाने का विशेष अभियान, आशियाना-बोरिंग कैनाल रोड पर चला बुलडोजर

Dainik Jagran - 4 hours 52 min ago

पटना, जेएनएन। राजधानी में बुधवार से अतिक्रमण हटाने के लिए विशेष अभियान शुरू कर दिया गया है। ये अभियान 24 जनवरी तक चलेगा। पहले दिन आशियान रोड और बोरिंग कैनाल रोड पर निगम का बुलडोजर चला। इस दौरान सड़क पर काबिज अवैध वेंडरों को हटाया गया। इसके बाद अतिक्रम हटाओ दस्ते की बेली रोड के विश्वेश्वरैया भवन के पास पहुंची। यहां से भी अवैध कब्जे को हटाया गया। अभियान के दौरान आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल भी मौजूद रहे।

इस आशय का निर्णय अतिक्रमण हटाने की समीक्षा के लिए आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल की अध्यक्षता में मंगलवार को बैठक हुई थी। तीन टीम का गठन कर अतिक्रमण हटाए जाने पर निर्णय लिया गया था। बोरिंग रोड, राजापुर पुल से दीघा और दीघा से आशियाना रोड का अतिक्रमण विशेष अभियान के दौरान हटाया गया।

आयुक्त ने निर्देश दिया है कि आशियाना मोड़ के नजदीक टर्निंग को चौड़ा किया जाना है। इसके अतिरिक्त अभियान के दौरान हड़ताली चौक से बेली रोड होते हुए आशियाना मोड़ तक सभी तरह के कच्चे-पक्के अवैध कब्जे भी हटाए जाएंगे।

हड़ताली मोड़ से राजापुर पुल और फिर वहां से सेंट माइकल स्कूल दीघा तक के सभी अवैध कब्जा को भी हटाने के लिए कहा गया है। आयुक्त ने शेखपुरा मोड़ से जेडी वीमेंस कॉलेज तक सड़क चौड़ीकरण में बाधक बने बिजली के पोल और ट्रांसफार्मर को अन्यत्र स्थांतरित करने के लिए कहा है।

बेली रोड से हटाया गया अतिक्रमण

बेली रोड में विश्वेश्वरैया भवन के सामने वेंडरों द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटाया गया। वहां विकास भवन से सटकर पांच फीट चौड़ा फुटपाथ का निर्माण कर दिया गया था। इसके बाद की जमीन पर सड़क को चौड़ा किया गया। आयुक्त ने एसपी यातायात को निर्देश दिया कि राजापुर पुल के पास बेचने के लिए लगाई गई सभी पुरानी गाडिय़ों को जब्त किया जाए। मंगलवार को हुई बैठक में पटना प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक संजय कुमार, जिलाधिकारी कुमार रवि के साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Categories: Bihar News

कंगना राणावत ने हंसते हुए कहा- कराइए ना मेरा स्वयंवर, बिहारी लड़का मिल जाए तो...

Dainik Jagran - 5 hours 59 min ago

पटना, जेएनएन। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने अपनी शादी से संबंधित सवाल का जवाब देते हुए बताया कि आप मेरे लिए यहां पर स्वयंवर रखिए, क्योंकि हमारे शास्त्रों में लड़की के लिए स्वयंवर का वर्णन है। लड़की खुद पसंद करके लड़का चुनती थी। लेकिन, अब यह परंपरा खत्म हो चुकी है, फिर मैं अपने लिए लड़का कैसे पसंद करूं? वहीं एक सवाल पर कंगना ने कहा कि हो सकता है कोई अच्छा बिहारी लड़का मिलता तो मैं यहीं सेटल हो जाती।

कंगना रनौत मंगलवार को एक दैनिक अखबार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने पटना पहुंची थी और कार्यक्रम में वे एक्टर रविकिशन के सवालों के जवाब दे रही थीं। पटना के बापू सभागार में पहुंचते ही कंगना ने वहां उपस्थित दर्शकों से पूछा 'का हाल बा पटना'? जवाब मिला-सब ठीक बा। इसके बाद कंगना ने भोजपुरी में कहा- 'सभी भाई-बहिन के प्रणाम'।

इसके अलावा कंगना ने सीएए और एनआरसी को लेकर देश के कई हिस्सों मे चल रहे विरोध-प्रदर्शन पर कहा कि हमें आजादी तो 1947 में ही मिल गई थी लेकिन स्वराज अब अाया है। बहुत सारे लोग दंगे कर रहे हैं, जो देशहित में नहीं है। पंगे जरूर लीजिए लेकिन देशहित में लीजिए। 

कंगना रनौत ने रविकिशन से बातचीत के दौरान फिल्म इंडस्ट्री के इतिहास के साथ न्याय नहीं करने की बात की और कहा कि वह चंद्रगुप्त मौर्य पर फिल्म बनाना चाहती हैं । मणिकर्णिका फिल्म में रानी लक्ष्मीबाई की भूमिका निभा चुकी कंगना से यह पूछे जाने पर कि क्या वे बिहार के किसी ऐतिहासिक व्यक्ति पर कोई फिल्म करना चाहती हैं, कंगना ने कहा ''मैं चंद्रगुप्त मौर्य पर फिल्म बनाना चाहती हूं''।

उन्होंने कहा कि मणिकर्णिका फिल्म के नाम से प्रोडक्शन हाउस खोला है जिसके तहत पहली फिल्म अयोध्या बना रहे हैं। अपनी आने वाली फिल्म पंगा के बारे में कंगना ने कहा कि यह एक पारिवारिक फिल्म है।

 

Categories: Bihar News

मोनालिसा ने भोजपुरी फिल्मों में लगाया बोल्‍डनेस का तड़का, अब इंडस्ट्री को कह दिया अश्लील

Dainik Jagran - 6 hours 11 min ago

पटना [जेएनएन]। बिग बॉस फेम बोल्‍ड भोजपुरी (Bhojpuri) फिल्म अभिनेत्री मोनालिसा (Monalisa) ने भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री को लेकर बड़ा बयान दिया है। भोजपुरी फिल्मों (Bhojpuri Films) में बोल्डनेस (Boldness) का तड़का लगाने वाली मोनालिसा ने कहा कि भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री पर अश्लीलता (Obscenity) का टैग लग चुका है, लेकिन उन्‍होंने कभी ऐसा काम नहीं किया। साथ ही उन्‍होंने यह भी माना कि अब स्थितियां बदलीं हैं, यहां अच्छी फिल्में भी बनने लगी हैं।

भोजपुरी फिल्‍मों की सुपर स्‍टार हैं माेनालिसा

माेनालिसा भोजपुरी फिल्‍मों की सुपर स्‍टार हैं। वे रिएलिटी शो और टीवी सीरीज में जज की कुर्सी तक पहुंच चुकी हैं। वे एक कॉमेडी शो की जज के रूप में जल्‍दी ही दिखने वाली हैं। वे टीवी रियलिटी शो बिग बॉस में भी बोल्डनेस का तड़का लगा चुकी हैं। बिग बॉस में ही उन्‍होंने अपने ब्‍वॉयफ्रेंड विक्रांत सिंह राजपूत से शादी की थी।

कहा: भोजपुरी इंडस्‍ट्री पर अश्‍लीलता का टैग

एक निजी मीडिया से बातचीत में उन्होंने भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को लेकर बेबाक राय रखी। उन्‍होंने कहा कि भोजपुरी फिल्‍म इंडस्ट्री पर अश्लीलता का टैग लगा हुआ है। हालांकि, उन्‍होंने खुद ऐसे काम नहीं करने का दावा किया।

आए बदलाव, अब बनने लगीं अच्‍छी फिल्‍में

माेनालिसा ने आलोचकों की इस बात को खारिज किया कि भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अश्‍लीलता को बढ़ाने में उनका भी योगदान है। उन्‍होंने बोल्ड सीन देने की बात मानी, लेकिन यह भी कहा कि वे कहानी की मांग रहीं हैं। माेनालिसा ने कहा कि अब भोजपुरी इंडस्‍ट्री में बड़े बदलाव आ रहे हैं। अच्छी फिल्‍में बनने लगी हैं।

होटल कर्मचारी से स्‍टारडम तक का सफर

कम लोग ही जानते हैं कि मोनालिसा का असली नाम ‘अंतरा बिस्वास’ है। उनका जन्‍म एक बंगाली परिवार में हुआ था। मोनालिसा ने कोलकाता से पढ़ाई पूरी की। इस बीच 16 साल उम्र में वे एक रेस्टोरेंट में काम श्‍ुारू किया तथा कोलकाता के कुछ होटलों में 'गेस्ट रिलेशन एग्जीक्यूटिव' बनीं। आगे उन्‍हाेंने लो बजट व बी ग्रेड फिल्मों में काम किया। धीरे-धीरे उन्होंने अपनी पहचान बनाई। इसी दौरान उन्‍होंने भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री में कदम रखा और देखते-देखते वो मुकाम हासिल किया, जिसे हमेशा याद रखा जाएगा।

 

Categories: Bihar News

मैदे व आटे की कीमत में वृद्धि का असर, अब ब्रेड खरीदने पर चुकाने होंगे दस रुपये तक अधिक

Dainik Jagran - 7 hours 46 min ago

पटना, जेएनएन। अगर आपको भी ब्रेड पसंद है तो इसका स्वाद लेने के लिए जेब थोड़ी ढीली करनी होगी। मैदे व आटे की कीमत में लगातार हो रही वृद्धि व ब्रेड को मुलायम करने वाले यीस्ट (खमीर) की कीमत बढऩे से पटना में ब्रेड की कीमत बढ़ गई है। प्रति पैकेट एक से दस रुपये तक कीमत बढ़ाई गई है। एेसे में अब ब्रेड की खरीद पर दस रुपये तक अधिक चुकाने होंगे।

पहले से अधिक कीमत पर होगी मुहैया

ब्रेड की बिक्री से जुड़े कारोबारियों व एजेंट का कहना है कि कंपनी ने कीमत तो बढ़ा दी है, कमीशन नहीं बढ़ाया है। इस मामले में बिहार बेकरी एसोसिएशन का कहना है कि एजेंट को एमआरपी पर कमीशन मिलता है। कीमत बढऩे से कमीशन भी बढ़ा है। एेसे में फुटकर दुकानदारों का भी पहले से अधिक कीमत पर ब्रेड मुहैया कराई जा रही है।

शहर में है 25 टन खपत

एसोसिएशन के सदस्य एनके अग्रवाल के अनुसार शहर में प्रतिदिन लगभग 25 टन ब्रेड की खपत होती है। कारोबारियोंकी मानें तो शहर में आधा दर्जन से अधिक ब्रांडेड व एक दर्जन से अधिक गैर ब्रांडेड बेकरी हैं जो शहर की मांग को पूरा करती हैं। अॉफिस और स्कूल जाने वाले छात्र ब्रेड को ही अधिक तरजीह देते हैं। एेसे में कीमत बढ़ने से पटनावासियों की जेब पर भारी असर पड़ेगा। अब पहले से ज्यादा पैसे देर ब्रेड खरीदनी पड़ेगी।

 

ब्रेड की कीमत (रुपये में)

ब्रेड  -  पुरानी -  नई 

सैंडविच ब्रेड 175 ग्राम - 13 - 14

200 ग्राम - 15 -  17

350 ग्राम - 25 - 28

400 ग्राम सैंडविच - 27 - 30

400 ग्राम ब्राउन - 30 से 35 रुपये

600 ग्राम - 33 -  40

800 ग्राम -  40 - 50

बन 70 ग्राम - 06 - 07

पाव 250 ग्राम : 15 - 18

फ्रूट ब्रेड - 15 - 18

Categories: Bihar News

अमित शाह को प्रशांत किशोर ने दी चुनौती, कहा-तो अब आगे बढ़िए CAA-NRC लागू कीजिए

Dainik Jagran - 8 hours 2 min ago

पटना, जेएनएन। नागरिकता संशोधन एक्ट (Citizenship Ammendment Act) को लेकर जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर लगातार हमलावर रहे हैं। बुधवार को एक बार फिर प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा है और लिखा है कि अगर आप इसपर हो रहे विरोध की परवाह नहीं करते तो CAA, NRC लागू करने पर आगे बढ़ें।

बता दें कि मंगलवार को ही अमित शाह ने चुनौती दी थी कि केंद्र सरकार CAA पर बिल्कुल भी पीछे नहीं हटेगी और इसके बाद प्रशांत किशोर ने भी उन्हें ट्वीट कर जवाब दिया है। 

प्रशांत किशोर ने बुधवार को ट्वीट कर लिखा, ‘नागरिकों की असहमति को खारिज करना किसी भी सरकार की ताकत को नहीं दर्शाता है। अमित शाह जी, अगर आप CAA, NRC का विरोध करने वालों की फिक्र नहीं करते हैं तो फिर आप इस कानून पर आगे क्यों नहीं बढ़ते हैं? आप कानून को उसी तरह लागू करें जैसे की आपने देश को इसकी क्रोनोलॉजी समझाई थी।’

Being dismissive of citizens’ dissent couldn’t be the sign of strength of any Govt. @amitshah Ji, if you don’t care for those protesting against #CAA_NRC, why don’t you go ahead and try implementing the CAA & NRC in the chronology that you so audaciously announced to the nation!

— Prashant Kishor (@PrashantKishor) January 22, 2020

बता दें कि जदयू ने राज्यसभा, लोकसभा में इस कानून के पक्ष में मतदान किया था, लेकिन पार्टी के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने लगातार इसका विरोध किया है और पार्टी से अलग अपनी राय रखी है। उन्होंने ट्विटर के जरिए अपना विरोध लगातार जारी रखा है। प्रशांत किशोर ने इस कानून को लेकर अपनी पार्टी के पक्ष पर भी सवाल खड़े किए और अन्य विपक्षी दलों से इस कानून के खिलाफ आवाज़ बुलंद करने को भी कहा। 

प्रशांत किशोर के लगातार विरोध के बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी एेलान किया कि राज्य में नेशनल रजिस्टर फॉर सिटिजन लागू नहीं होगा।  इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि अगर सबकी राय हो तो विधानसभा में CAA पर चर्चा भी की जा सकती है। 

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को नागरिकता संशोधन एक्ट के समर्थन में लखनऊ में आयोजित जनसभा के दौरान विरोधियों पर जमकर हमला बोला। कहा कि कोई कितना भी प्रदर्शन या विरोध कर ले, लेकिन मोदी सरकार CAA पर पीछे नहीं हटेगी। 

इस कानून को लेकर देश के कई हिस्सों में इसके खिलाफ विरोध-प्रदर्शन हो रहा है। दिल्ली के शाहीन बाग में हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी पिछले करीब 40 दिनों से सड़क पर डटे हुए हैं और हटने का नाम नहीं ले रहे हैं। दिल्ली के अलावा बिहार, उत्तरप्रदेश के कई जिलों मे भी इसका विरोध जारी है।

Categories: Bihar News

बिहार के 25 हजार सरकारी शिक्षकों के लिए बड़ी खबर, शिक्षा विभाग ने जारी किया वेतन वृद्धि का आदेश

Dainik Jagran - 8 hours 5 min ago

पटना [स्‍टेट ब्यूरो]। बिहार के सरकारी स्‍कूलों के शिक्षकों (Government School Teachers) के लिए यह बड़ी खबर है। राज्‍य सरकार ने प्रदेश के राजकीयकृत, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक एवं कन्या मध्य विद्यालय के सहायक शिक्षकों व प्रधानाध्यापकों को रूपांतरित सुनिश्चित वृति उन्नयन योजना (MACP) 2010 के प्रावधानों के तहत वेतनवृद्धि (Increment in Pay) देने का फैसला करते हुए आदेश जारी कर दिया है। राज्‍य सरकार के इस फैसले से शिक्षकों में खुशी देखी जा रही है। राज्‍य सरकार के इस फैसले का उन्‍हें लंबे समय से इंतजार था।

शिक्षा विभाग ने जारी किया आदेश

मिली जानकारी के अनुसार यह वेतन वृद्धि राज्य वेतन आयोग की छह मार्च, 2019 की अनुशंसा के आधार पर की गई है। शिक्षा विभाग (Department of Education) ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

25 हजार कार्यरत व सेवानिवृत्‍त शिक्षकों को लाभ

राज्‍य सरकार के इस फैसले से करीब 25 हजार शिक्षकों और सेवानिवृत्त शिक्षकों व प्राचार्यों को फायदा होगा। लाभ के दायरे में आने वाले शिक्षकों का वेतन तो बढ़ेगा ही, एरियर के रूप में भी उन्हें बड़ी रकम प्राप्त होगी।

एक जनवरी 2009 से एमएसीपी का ग्रेड-पे

शिक्षा विभाग के उप सचिव अरशद फिरोज (Arshad Firoz) ने जो आदेश जारी किया है, उसके अनुसार पहली जनवरी, 2009 के पहले 20 वर्ष की सेवा पूरी करने वाले तथा जिन्हें चार मार्च 2014 से प्रवरण वेतनमान स्वीकृत है, उन्हें एक जनवरी 2009 से एमएसीपी का ग्रेड-पे अनुमान्य होगा। जबकि, इसका वास्तविक लाभ चार मार्च 2014 से दिया जाएगा।

सरकार के फैसले का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे शिक्षक

राज्‍य सरकार के इस फैसले से शिक्षकों में खुशी देखी जा रही है। अब उन्‍हें इसके जल्‍दी कार्यान्‍वयन की उम्‍मीद है। कइ शिक्षकों ने बताया कि एममुश्‍त अच्‍छी रकम मिलने पर वे कोई बड़ा काम कर सकेंगे। उन्‍होंने बताया कि इसका उन्‍हें लंबे समय से इंतजार था।

Categories: Bihar News

रणजी ट्रॉफी में रहमत और विकास के शतक से बिहार मजबूत, सीके नायडू में भी बेहतरीन प्रदर्शन

Dainik Jagran - 8 hours 26 min ago

पटना, जेएनएन। रणजी ट्राफी प्लेट ग्रुप मुकाबले के तीसरे दिन मंगलवार को मध्यक्रम के अनुभवी बल्लेबाज रहमतउल्लाह शाहरुख और विकास रंजन के शानदार शतक से बिहार की टीम इस टूर्नामेंट में पहली बार पांच सौ से अधिक का स्कोर खड़ा करने में सफल रही। नगालैंड के खिलाफ बिहार ने सात विकेट पर 509 रन बनाकर पारी की घोषणा की। वहीं सीके नायडू में भी बिहार ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

166 रनों पर सिमटी मेजबान टीम

नगालैंड के दीमापुर में खेले जा रहे मुकाबले में मेजबान टीम पहली पारी में 166 रनों पर सिमट गई थी। इस प्रकार पहली पारी के आधार पर बिहार को 343 रनों की बढ़त हासिल हुई। दूसरी पारी में नगालैंड के दो विकेट 78 के स्कोर पर गिर चुके हैं। दूसरे दिन के स्कोर पांच विकेट पर 244 रन से आगे खेलते हुए बिहार की टीम रहमत के 106 रन, विकास के नाबाद 103 रन और कप्तान आशुतोष अमन के 51 रन की पारियों से विशाल स्कोर बनाने में कामयाब रही। विवेक 5 रन बनाकर नाबाद रहे।दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरी नगालैंड की शुरुआत काफी खराब रही। विवेक ने पहले ओवर में उसके दो विकेट झटक लिए। हालांकि इसके बाद एसएस मुंडे ने 49 और आर जोनाथान ने 18 रन बनाकर टीम को और नुकसान से बचाया।

बिहार की पारी 188 पर सिमटी अरुणाचल की हालत भी पतली

जोरहट में बिहार और अरुणाचल प्रदेश के बीच चल रहे सीके नायडू अंडर-23 क्रिकेट टूर्नामेंट के पहले दिन कुल 18 विकेट गिरे। टॉस हारकर बल्लेबाजी करते हुए बिहार की टीम 188 रनों पर सिमट गई।

वह तो भला हो कप्तान सचिन कुमार सिंह का, जिसने पहले 47 रन बनाए और बाद में छह विकेट लेकर लो स्कोरिंग मुकाबले में बिहार की स्थिति मजबूत कर दी। अरुणाचल प्रदेश के पहली पारी में आठ विकेट 86 रन के स्कोर पर गिर चुके हैं। सचिन के अलावा अनमोल बोनी 18, हर्ष राज 16, उत्कर्ष 70 रन बनाकर दोहरे अंक में प्रवेश कर सके। गेंदबाजी में सचिन के अलावा पवन ने दो विकेट लिए।

Categories: Bihar News

Delhi Assembly Election 2020: सीटें तो मिल गईं, बिहार से पहले दिल्ली में दिखाना होगा अपना दम

Dainik Jagran - 8 hours 58 min ago

पटना, राज्य ब्यूरो। दिल्ली विधानसभा की सात सीटों पर गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रहे राज्य के तीनों दलों को जीतने के लिए अपनी ताकत पर ही भरोसा करना होगा। क्योंकि भाजपा और कांग्रेस ने क्रमश: जदयू, लोजपा और राजद के लिए ऐसी ही सीटें छोड़ी हैं, जिनपर पिछले चुनावों में उनकी लगातार हार हुई थी। सात में से पांच सीटें 2008 में सृजित हुई हैं।

इन सीटों पर कभी कांग्रेस तो कभी भाजपा की जीत हुई। मगर पिछले दो चुनावों में इन दलों का खाता नहीं खुला। लोजपा को दी गई सीमापुरी सीट पुरानी है। इसपर सिर्फ 1993 में भाजपा की जीत हुई थी। दिल्ली विधानसभा के लिए अबतक छह चुनाव हुए हैं। 2020 का चुनाव सातवां है।

पालम और सीमापुरी का वजूद पहली विधानसभा से ही है। सीमापुरी के छह चुनावों का हिसाब यह है कि तीन बार कांग्रेस, दो बार आप और एक बार भाजपा की जीत हुई। 

जदयू और राजद के बीच मुकाबले की सीट बनी बुरारी 2008 में वजूद में आयी। पहले चुनाव में भाजपा जीती। अगले दो चुनावों में आप की जीत हुई। कांग्रेस ने राजद के लिए यह सीट छोड़ी है, इसपर उसकी कभी जीत नहीं हुई। जदयू को दी गई दूसरी सीट संगम विहार है।

2008 में भाजपा टिकट पर पहली बार जीते डा. शिवचरण लाल गुप्ता 2020 के चुनाव में जदयू के उम्मीदवार बने हैं। डा. गुप्ता 2013 और 2015 का विधानसभा चुनाव हार गए थे। माना जा रहा है कि भाजपा ने जदयू को सीट के साथ उम्मीदवार भी दे दिया।

कांग्रेस ने राजद के लिए किरारी सीट छोड़ी है। यहां 2008 से अबतक कांग्रेस की जीत नहीं हुई। पिछले चुनाव में तो इस सीट पर कांग्रेस को सिर्फ 2086 वोट मिले थे। यहां दो बार भाजपा और एक बार आप की जीत हुई। पालम विधानसभा सीट राजद को दी गई है। पालम में कांग्रेस की आखिरी जीत 1998 में हुई थी। उसके बाद के चुनावों में भाजपा या आप जीती।

Categories: Bihar News

RJD की कलह में कूदे पप्पू यादव, कहा- रघुवंश करें नेतृत्व तो पार्टी का कर लूंगा विलय

Dainik Jagran - 9 hours 46 sec ago

पटना, राज्य ब्यूरो। जाप प्रमुख पप्पू यादव ने मंगलवार को कहा कि यदि लालू प्रसाद और तेजस्वी से अलग राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह राजद का नेतृत्व करते हैं तो वे राजद के साथ चलने को तैयार हैं और अपनी पार्टी जाप का राजद में विलय तक कर देंगे। इतना ही नहीं उन्होंने एनडीए और महागठबंधन से अलग तीसरे विकल्प पर विचार करने की वकालत भी की। 

यादव ने मंगलवार को कहा कि बिहार की जनता एनडीए और महागठबंधन से इतर अब तीसरा विकल्प चाहती है। क्योंकि राजद और जदयू भाजपा की टीम ए और बी के रूप में काम कर रही हैं। ऐसे हालात में भाजपा, जदयू और राजद को सत्ता से बाहर करने के लिए रघुवंश प्रसाद सिंह के नेतृत्व में तीसरा विकल्प तैयार किया जा सकता है।

तीसरे विकल्प के रूप में बनने वाले संगठन में हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा अध्यक्ष जीतन राम मांझी, कांग्रेस, विकासशील इंसान पार्टी और वामदल के लोग भी साथ आए। इनसे कोई परहेज नहीं होगा। यह कोशिश भी हो कि प्रशांत किशोर जैसे नेता भी इससे जुड़ें ताकि मजबूत विकल्प तैयार हो और बिहार की सत्ता पर काबिज लोगों को बाहर का रास्ता दिखाया जा सके। 

सीएए, एनआरसी और एनपीआर जबरन थोप रही केंद्र सरकार

एनआरसी, एनपीआर व सीएए को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर पप्पू यादव ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होने कहा कि सरकार एक जाति विशेष के लोगों पर जबरन एनआरसी, एनपीआर व सीएए जैसे काले कानून को थोपकर देश की शांति को भंग करना चाहती है। जिसे हमलोग कभी कामयाब नहीं होने देंगें।

पप्पू यादव ने कहा कि यह कानून हिदुस्तान की जनता और गरीब आवाम के खिलाफ है। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ट्यूनिग सही नहीं है। पीएम कुछ कहते हैं और गृह मंत्री कुछ और कहते हैं। आज पूरा देश सरकार के इस फैसले के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं। उन्हें जनता की आवाज सुनाई नहीं दे रही है। यह लड़ाई हिन्दु और मुसलमानों की नही हैं। भाईचारे और संविधान बचाने की लड़ाई है। 

Categories: Bihar News

पटना विवि से नहीं किया जा सकेगा M.Ed, चार B.Ed कॉलेजों की मान्यता भी रद, देखें सूची

Dainik Jagran - 10 hours 36 min ago

पटना, जेएनएन। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् (एनसीटीई) ने पटना विश्वविद्यालय (पीयू) के स्नातकोत्तर शिक्षा विभाग सहित राज्य के पांच बीएड कॉलेजों की मान्यता रद कर दी है। एनसीटीई ने पीयू के शिक्षा विभाग की मान्यता रद करने के पीछे 2014 के रेगुलेशन के अनुसार ढांचागत सुविधा का नहीं होना बताया है। एनसीटीई के अनुसार शिक्षा विभाग में सत्र 2020-21 में एमएड का नामांकन नहीं हो सकेगा। इसमें नामांकन के लिए प्रति वर्ष 50 सीटें निर्धारित थी। एनसीटीई की रिपोर्ट के अनुसार पीयू में दो यूनिट बीएड और एक यूनिट एमएड की पढ़ाई होती है। लेकिन, सुविधाएं दोनों कोर्स संचालित करने लायक नहीं हैं।

बिहार के 35 कॉलेजों की होगी समीक्षा

बीएड, एमएड तथा डीएलएड कोर्स की मान्यता के लिए राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद की पूर्वी क्षेत्रीय कमेटी की 278वीं बैठक 16 से 18 जनवरी तक भुवनेश्वर में हुई। प्रो. केबी दास की अध्यक्षता में 11 सदस्यों की कमेटी ने बिहार के साथ-साथ झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा तथा पूवरेत्तर राज्यों के कॉलेजों की मान्यता के लिए विमर्श किया। अगली बैठक में बिहार के 35 कॉलेजों की समीक्षा की जाएगी।

चार बीएड कॉलेजों में अगले सत्र में नामांकन नहीं

एनसीटीई ने विभिन्न मानकों के अभाव में रामबरन राय बीएड कॉलेज, भगवानपुर, वैशाली, कमला भुवनेश्वर बीएड कॉलेज, तेघरा, बेगुसराय, कॉलेज ऑफ टीचर एजुकेशन, मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी, दरभंगा तथा एमएस इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन, पटना की मान्यता रद कर दी है। इन कॉलेजों में सत्र 2020-21 से बीएड कोर्स में नामांकन की अनुमति नहीं होगी। उक्त कॉलेजों ने 28 नवंबर तथा अन्य तिथि को जारी शोकॉज नोटिस का जवाब नहीं दिया है।

इन कॉलेजों को जारी किया गया शोकॉज नोटिस

एनसीटीई ने पार्वती साइंस कॉलेज कृति नगर, मधेपुरा, नालंदा टीचर्स टेनिंग कॉलेज कल्याणपुर, बिहारशरीफ, मदर्स इंटरनेशनल टीचर्स ट्रेनिंग एकेडमी फुलवारीशरीफ, इग्जॉल्ट कॉलेज ऑफ एजुकेशन कन्हौली, वैशाली, मर्यादा पुरुषोत्तम कॉलेज ऑफ एजुकेशन चिलहरी बक्सर, गवर्नमेंट टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, सहरसा, देवेंद्र पाठक सरवोदय कॉलेज ऑफ एजुकेशन, नैली-दुभल रोड, गया, डॉ. गौरी ब्रrानंद टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, लहेरियासराय, दरभंगा, ट्राइडेंट बीएड कॉलेज, गिद्धा, भोजपुर, गनौरी रामकली टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, औद्योगिक क्षेत्र पुलिस लाइन नवादा, सोनकी बीएड टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, मोती नगर, सारण, एबीसी कॉलेज ऑफ एजुकेशन नेउरा।

पटना को विभिन्न कारणों से नोटिस जारी किया गया है। 21 दिनों के अंदर नोटिस का जवाब नहीं देने पर मान्यता रद करने पर विचार किया जाएगा। इसके साथ ही बीएमए कॉलेज बहेरी, दरभंगा, चंद्रदेव नारायण कॉलेज साहेबगंज, मुजफ्फरपुर, सुंदरवती महिला महाविद्यालय, भागलपुर से पिछले शोकॉज से संबंधित कागजात मांगे हैं। सभापति मिश्र इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन मोहम्मदपुर, डुमरांव, बक्सर के बीएड एवं डीएलएड कोर्स की मान्यता के लिए 60 दिनों में रेगुलेशन के पैरा 7(13) के तहत जानकारी मांगी गई है।

Categories: Bihar News

पटना के हर इलाके के लोगों को अपराधियों से खौफ, 14 दिन में लूट की 12 वारदात Patna News

Dainik Jagran - 10 hours 51 min ago

पटना, जेएनएन। 14 दिनों से राजधानी व आसपास के क्षेत्रों में लूट की बढ़ती वारदातें कुछ ऐसे इशारे कर रही हैं, जैसे लुटेरों को छूट मिल गई हो। सभी एरिया में अपराधी लूट की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। जनवरी महीने में 12 से अधिक लूट की वारदात हो चुकी है। अब भी नौ लूटकांड में पुलिस के हाथ खाली हैं। अपराध की शैली से पुलिस अंदाजा लगा रही है कि एक ही गिरोह वारदात को अंजाम दे रहा है।

फुटेज के बावजूद हाथ हैं खाली

ज्यादातर घटनाओं में दो बाइक पर सवार चार अपराधी शामिल हैं। नौ थाना क्षेत्र में लूटकर फरार चल रहे इन अपराधियों का पुलिस के पास फुटेज भी है, पर ठिकाना कहां है, अपराधी कौन हैं, इसके बारे में पुलिस को खबर तक नहीं है। एक यही वजह है कि पटना में अपराधी बैखौफ होकर बड़ी-बड़ी वारदातों को अंजाम दे दे रहे हैं, और पुलिस हाथ मलते रह जा रही है।

इन थाना क्षेत्र में लूट और डकैती

तीन जनवरी से अबतक बाइक सवार अपराधियों ने बिहटा, दीघा, अगमकुआं, कदमकुआं, नौबतपुर, पीरबहोर, मोकामा, धनरूआ, पत्रकार नगर, गर्दनीबाग, एसकेपुरी, गौरीचक, मसौढ़ी में लूट की वारदात को अंजाम दिया है। इसमें अगमकुआं में डॉक्टर से कार लूट सहित अन्य तीन-चार लूट के मामलों में पुलिस आरोपितों को पकड़ सकी है।

पल्सर और अपाजे बाइक है अधिक पसंद

दीघा, बिहटा, नौबतपुर, पीरबहोर, कदमकुआं में हुई लूट में पल्सर और अपाचे बाइक का अपराधियों ने इस्तेमाल किया। दीघा और रूपसपुर को छोड़कर अन्य सभी वारदातों को दिन के 11 बजे से तीन बजे के बीच अंजाम दिया गया। हर वारदात में शामिल बदमाश हेलमेट और नकाब में ही थे। सभी की बोली भी स्थानीय थी। लेकिन अबतक पुलिस उनका पता तक नहीं लगा पाई है। इधर, लगातार बढ़ रही घटनाओं से व्यवसायियों में दहशत है।

Categories: Bihar News

Events in Patna Today: पटना में आज ये कार्यक्रम हैं खास, इसी हिसाब से करें अपनी तैयारी

Dainik Jagran - 11 hours 29 min ago

पटना, जेएनएन। Patna Top Events Today -  Events in Patna Today on January 22 2020 - पटना में महिला क्रिकेट टी-20 इंडिया ए बनाम थाइलैंड से कार्यक्रमों का आगाज होगा। इसके बाद नो योर आर्मी कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। आइए जानते हैं आज क्या है खास।

आज के कार्यक्रम

महिला क्रिकेट टी-20 इंडिया ए बनाम थाइलैंड का मैच ऊर्जा स्टेडियम में सुबह 9:45 बजे

नो योर आर्मी कार्यक्रम मानिक साह ग्राउंड सैनिक चौक दानापुर में सुबह 10:30 बजे

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना युवा कार्यक्रम प्रखंड उच्च विद्यालय सुगनी, सुबह 11:00 बजे

दैनिक जागरण द्वारा स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन, मगध महिला कॉलेज में दोपहर 12:00 बजे

एनएमसीएच जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन का विरोध-प्रदर्शन, कॉलेज एवं अस्पताल में, दोपहर 12 बजे

फतुहा व्यापार मंडल कन्या मध्य विद्यालय में विज्ञान प्रदर्शनी दोपहर 12:30 बजे

सूत्रा फैशन प्रदर्शनी का आयोजन, होटल लेमन ट्री में दोपहर 12:15 बजे

महिला क्रिकेट टी-20 इंडिया बी बनाम बंगलादेश का मैच ऊर्जा स्टेडियम में दोपहर 1:00 बजे

होम टाउन की ओर से मानो न मानो सेल का आयोजन, केपी मॉल अशोक सिनेमा हॉल बिल्डिंग परिसर में दोपहर 1:00 बजे

अभियान निकेतन की ओर से वित्तीय समावेशन से जीविकोपार्जन एवं उद्यमिता विकास पर सेमिनार जगत ट्रेड सेंटर सीएमए इंस्टीट्यूट दोपहर 1:00 बजे

भोजपुरी फिल्म छोटकी ठकुराइन का प्रीमियर, वीणा सिनेमा गृह में दोपहर 4:00 बजे

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद विदेश मंत्रालय, भारत सरकार एवं कला संस्कृति युवा विभाग की ओर से सौम्यजीत पॉल द्वारा सितार वादन भारतीय नृत्य कला मंदिर परिसर में शाम 5:30 बजे

परिवेश पूर्ण जागरण संस्थान की ओर से कालिदास रंगालय परिसर में बैकुंठ का पोथा नाटक का मंचन शाम 6:00 बजे

प्रेमचंद रंगशाला में आरंभ नाटक का मंचन शाम 6:00 बजे

Categories: Bihar News

परीक्षा की तैयारी एप से, बच रहा समय और पैसा

Dainik Jagran - 12 hours 17 min ago

- इन एप का क्रेज : एक्सट्रा मा‌र्क्स एप, टॉपर एप, स्टडी एप, माई स्टडी एप, स्टडी म्यूजिक एप

- ऑनलाइन क्लास से दूर हो रही परीक्षा की टेंशन

- जटिल सवालों के हल मुफ्त में बता रहे एंड्रायड एप

------------

टेंशन फ्री होकर करें पढ़ाई

जरूरी नहीं कि दिनभर पढ़ते ही रहें

समय पर खाना और सोना भी जरूरी

थोड़ी देर ही सही खेल के लिए निकलें बाहर

देर रात की बजाय सुबह पढ़ना ज्यादा फायदेमंद

पढ़ चुके चैप्टर को दोहराना जरूरी

छूट रहे सवालों के लिए अलग से दें समय

------------

पटना। बोरिग रोड के रहने वाले आरव अपने बोर्ड की परीक्षा की तैयारी में लगे हुए हैं। उन्हें दसवीं की परीक्षा देनी है और उस परीक्षा में अच्छे नंबर भी लाने हैं। इसलिए इस समय वह सारा समय पढ़ाई पर दे रहे हैं। वह बताते हैं कि परीक्षा जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, अच्छे नंबर लाने का टेंशन बढ़ता जा रहा है। राजापुल की नंदनी की भी हालत कुछ ऐसी ही है। वह बताती है कि एग्जाम की तैयारी पूरी होने के बाद भी पता नहीं क्यों बहुत तनाव हो रहा है। साइंस और मैथ के कुछ चैप्टर हैं जो परीक्षा की तैयारी में बहुत तनाव दे रहे हैं। राजधानी के कई सारे स्टूडेंट्स हैं, जिन्हें एग्जाम के अलावा अभी कुछ नजर नहीं आ रहा है। रिवीजन खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सिलेबस कंप्लीट हो चुका है, फिर भी कुछ सवाल अचानक उन्हें परेशान करने लगते हैं। इस वजह से स्टूडेंट्स ग्रुप में स्टडी कर रहे हैं या फिर एप का सहारा ले रहे हैं। एप की हेल्प से परीक्षा की तैयारी

पढ़ाई की टेंशन इतनी है कि स्टूडेंट्स अपने एग्जाम के आखिरी समय में एप का सहारा ले रहे हैं। कोई शब्दकोष का सहारा ले रहा है, तो कोई एप के माध्यम से सैंपल पेपर सॉल्व कर रहा है। गांधी मैदान के हर्ष बताते हैं कि एग्जाम के कुछ ही दिन बच्चे हुए हैं। इसको लेकर टेंशन ज्यादा हो रही है। अब इस ऐन मौके पर एप से बहुत सारी मदद मिल रही है। जैसे एक्सट्रा मा‌र्क्स एप, टॉपर एप, स्टडी एप, माई स्टडी एप, स्टडी म्यूजिक एप के माध्यम से हमें ये पता चल जा रहा है कि हमें किस तरह से पढ़ाई करनी है, ताकि परीक्षा में नंबर अच्छे मिल सकें। बोरिग रोड की स्वाति बताती हैं कि कुछ एजुकेशन एप ऐसे हैं जो हमें शिक्षकों की तरह समझाते भी और परीक्षा के लिए तैयार भी करते हैं। हमें जिन सवालों को लेकर परेशानी होती है, उसे एप के माध्यम से सॉल्व कर लेते हैं। वहीं बच्चों के माता-पिता का कहना है कि परीक्षा के समय अकसर बच्चे प्रेशर में आ जाते हैं। गूगल प्ले स्टोर पर कुछ ऐसे एप हैं जो बच्चों की पढ़ाई में शिक्षकों की तरह मदद कर रहे हैं। ग्रुप स्टडी से मिल रही राहत :

फरवरी महीने में ही दसवीं और 12वीं की परीक्षा शुरू होने वाली है। ऐसे में एग्जाम देने वाले स्टूडेंट अपने सिलेबस को खत्म करने के बाद ग्रुप स्टडी पर जोर दे रहे हैं। उनकी पढ़ाई करने का अंदाज पहले से थोड़ा चेंज हो गया है। वे अपने दोस्तों के साथ सब्जेक्ट को रिवाइज कर रहे हैं। साथ ही किसी भी सब्जेक्ट में कोई परेशानी होती है तो उसे डिस्कस कर के सॉल्व भी कर रहे हैं। इससे उनकी टेंशन भी कम हो रही है साथ में वो सिलेबस को सही तरीके से रिवाइज भी कर पा रहे हैं। नागेश्वर कॉलोनी की श्रेया एक हफ्ते पहले से ही अपने दोस्तों के साथ मिलकर घर में अपने ग्रुप स्टडी कर रही हैं। वह बताती हैं कि अब सभी विषयों पर हमारी पकड़ हो रही है। जहां पर कोई परेशानी होती है हम सब दोस्त मिलकर सॉल्व कर रहे हैं। रिविजन भी हो जाता है और पढ़ाई में मन भी लगता है। बड़ों की भी ले रहे मदद :

परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के लिए बच्चे एप और ग्रुप स्टडी के साथ ही अपने बड़ों की भी मदद ले रहे हैं। घर के बड़े-बुजर्ग ने भी बच्चों के लिए खास टाइम निकाल रखा है। वे उनके साथ रात-रात भर जग रहे हैं और साथ में परेशानियों का निदान खोज रहे हैं। आठ घंटे तक हो रही है पढ़ाई :

अब स्टूडेंट स्टडी लीव की वजह से स्कूल नहीं जा पा रहे। इसलिए घर में उन्हें पढ़ने का अच्छा खासा टाइम मिल रहा है। परीक्षा को लेकर छात्रों का कहना है कि ट्यूशन और कोचिंग के अलावा सेल्फ स्टडी के लिए आठ घंटे टाइम देना जरूरी है। इसलिए बच्चे अब रात के समय में पढ़ाई करने पर ज्यादा जोर दे रहे हैं।

----------------------

हम अभी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। कोचिंग जाने और आने में पैसे भी बहुत खर्च होते थे और समय भी बहुत खराब होता था। ऑनलाइन क्लास से यह मुश्किल दूर हो गयी है। ऐसे ही हम ऑनलाइन क्लास में आने के पहले पूछे जाने वाले सवालों को तैयार कर लेते हैं। फिर आराम से सारे सवालों के जवाब तैयार करते हैं।

- आदित्य, कंकड़बाग ऑनलाइन क्लास के बाद प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करने में बहुत सुविधा मिलती है। हम अपनी तरफ से पूरी तैयारी करके ऑनलाइन क्लास में आते हैं। यहां पढ़ाई करने के लिए हम अपने समय के अनुसार आते हैं। जिससे अपने बाकी काम भी बाधित नहीं होते। पढ़ाई भी हम अपनी इच्छा के अनुसार कर सकते हैं।

- अभिषेक, पटेल नगर

Categories: Bihar News

जिराफ केज का विस्तार, सांभर को मिला नया ठिकाना

Dainik Jagran - 13 hours 17 min ago

मृत्युंजय मानी, पटना। संजय गांधी जैविक उद्यान यानी पटना जू में जिराफ, सांभर और मणिपुर संगाई डीयर की तस्वीर कैद करने में अब जाली बाधक नहीं बनेगी। तीनों के केजों में बड़ा शीशा (ग्लास) लगने जा रहा है। इसके साथ ही जिराफ केज का विस्तार हो रहा है। सांभर और मणिपुर संघाई डीयर को नया केज मिलेगा। इनके लिए केज बनकर तैयार है।

अफ्रीका के जंगलों में पाया जाने वाला जिराफ का कुनबा संजय गांधी जैविक उद्यान में बढ़ते जा रहा है। इनकी संख्या को देखते हुए अब केज छोटा पड़ गया है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से केज में नयी जाली लगाई जा रही है। इसके साथ ही जिराफ केज के विस्तार की योजना पर काम शुरू हो गया है। सांभर और नीलगाय को पुराने केज से हटाने का कार्य प्रारंभ हो गया है। जिराफ को अब दर्शक और नजदीक से देख पाएंगे। इसका विस्तार गैंडा केज तक किया जा रहा है।

स्थानीय चिड़ियाघर में 50 सांभर हैं। इन्हें शेर पूंछ बंदर केज के सामने नये केज में रखा जा रहा है। इसके केज में भी ग्लास लगाए जाएंगे। इसके बगल में मणिपुर संगाई डीयर का केज बना है। स्थानीय चिड़ियाघर में जिराफ की संख्या छह है। 2007 में तीन जिराफ अमेरिका के सेंट डियागो जू से लाए गए थे। अब पटना में जन्मे जिराफ देश के कई चिड़ियाघरों की शोभा बढ़ा रहे हैं। जिराफ की मांग देशभर में है। पटना चिड़ियाघर में जिराफ का सफल प्रजनन हो रहा है। यह जमीन पर रहने वाला सबसे ऊंचा जानवर है। इसकी खूबसूरती बच्चों को काफी आकर्षित करती है।

संगाई डीयर मणिपुर राज्य का राजकीय जीव है तथा संकटग्रस्त की श्रेणी में है। असम के गुवाहाटी जू से आधा दर्जन संगाई डीयर मंगाए जा रहे हैं। उनके आने के पहले केज बनकर तैयार हो गया है। इसके सिंग आकर्षक होते हैं, जिसकी कई शाखाएं निकली रहती हैं। स्थानीय चिड़ियाघर में हिरण प्रजाति के सांभर की संख्या करीब 50 है। इसके लिए नया केज बनकर तैयार हो गया है। अब इसका स्थानांतरण नये केज में करना है। सांभर हिमालय पर्वत के दक्षिण ढ़लान वाले क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पाए जाते हैं।

वर्जन

जिराफ की संख्या बढ़ते जा रही है। दर्शकों के बीच यह आकर्षण का केंद्र है। इस कारण जिराफ केज का विस्तार किया जा रहा है।

पीके गुप्त, मुख्य वन्य प्राणी प्रतिपालक, बिहार

Categories: Bihar News

पटना के मंदिरी एवं बाकरगंज नाले को ढंककर बनेगी सड़क

Dainik Jagran - 17 hours 32 min ago

पटना। नगर विकास एवं आवास विभाग से मार्गदर्शन प्राप्त करने के नगर निगम बोर्ड की बैठक में मंदिरी एवं बाकरगंज नाले को ढंककर सड़क बनाने का प्रस्ताव पास किया गया। पिछले वर्ष शहर में हुए जलजमाव के बाद 16 दिसंबर को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुख्य नालों का पूरी चौड़ाई में पक्कीकरण करने का निर्णय लिया गया था। किन नालों को ढंकना है इस संबंध में विभाग द्वारा समीक्षा कर मुख्य सचिव को प्रस्ताव भेजा जाना है।

बैठक में निर्णय लिया गया कि दोनों परियोजनाओं में नाले का पक्कीकरण कर उसपर सड़क निर्माण किया जाना है। बोर्ड ने इसके संबंध में नगर विकास एवं आवास विभाग से मार्गदर्शन प्राप्त करने के प्रस्ताव को स्वीकृति दी है।

----------

: स्मार्ट पटना की सड़कों पर चलेंगी ई-बस :

जागरण संवाददाता, पटना : राजधानी में प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए सड़कों पर ई-बस सेवा शुरू करने का निर्णय स्मार्ट सिटी लिमिटेड की बैठक में लिया गया। ई-रिक्शे की तरह ही ई-बस भी इलेक्ट्रिक इंजन से चलेंगी। ई-बस परियोजना बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के माध्यम से लागू कराई जाएगी। इस परियोजना को स्मार्ट सिटी मिशन की एडवाइजरी 15 के अनुरूप त्रिकोणीय करार कर पूरा किया जाएगा। परियोजना के लिए स्मार्ट सिटी मिशन फंड के अंतर्गत स्वीकृत 10 करोड़ रुपये की राशि बीएसआरटीसी को उपलब्ध कराई जाएगी।

-----------

: सोलर पैनल परियोजना का कार्य पचास फीसद पूर्ण :

जागरण संवाददाता, पटना : बैठक में यह जानकारी दी गई कि पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा सरकारी भवनों की छत पर सोलर पैनल लगाए जाने की परियोजना 50 फीसद तक पूरी कर ली गई है। इस परियोजना का क्रियान्वयन बिहार रिन्यूवेबल एनर्जी डेवलपमेंट अथॉरिटी (ब्रेडा) के माध्यम से कराया जा रहा है। अभी तक 10 भवनों पर सोलर पैनल लगाए जा चुके हैं। छह भवनों में सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन भी शुरू हो गया है। परियोजना के अंतर्गत चिह्नित कुल 23 भवनों पर सोलर पैनल लगाए जाने का कार्य 15 फरवरी तक पूरा करने का निर्देश दिया गया।

--------

: तय तिथि में पूरा होगा अदालतगंज तालाब व जन सुविधा केंद्र :

जासं, पटना: बोर्ड की बैठक में जन सुविधा केंद्र एवं अदालतगंज तालाब पुनर्विकास परियोजना की कार्य प्रगति की भी समीक्षा की गई । इन परियोजनाओं को तय तिथि मार्च 2020 के भीतर पूरा करने का निर्देश दिया गया।

- - - - - -

आइसीसीसी टेंडर में अनियमितता पर महाधिवक्ता से कानूनी राय लेगा स्मार्ट सिटी बोर्ड :

- चार घंटे तक चली गर्मागर्म बैठक में 22 एजेंडों पर हुई चर्चा

जागरण संवाददाता, पटना : स्मार्ट सिटी के इंटिग्रेटेड कंट्रोल एंड कमाड सेंटर (आइसीसीसी) परियोजना की टेंडर प्रक्रिया में अनियमितता की जांच कर रही कमेटी अपनी रिपोर्ट विधिक मंतव्य के लिए नगर विकास एवं आवास विभाग को भेजगी। कमेटी ने टेंडर प्रक्रिया में अनियमितता को स्वीकार किया है। मंगलवार को हुई पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड बोर्ड की 13वीं बैठक में इस आशय का निर्णय लिया गया। प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय में चार घंटों तक चली गर्मागर्म बैठक में स्मार्ट सिटी से संबंधित 22 प्रस्तावों पर चर्चा हुई। आयुक्त सह पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड के अध्यक्ष संजय कुमार अग्रवाल ने बैठक की अध्यक्षता की।

बैठक में बोर्ड द्वारा आइसीसीसी टेंडर में अनियमितता से जुड़े मामले पर कानूनी सलाह दस दिनों के अंदर लेने का आदेश पारित किया गया है। टेंडर में अनियमितता के संबंध में एलएंडटी द्वारा उच्च नायालय में मुकदमा दायर किया गया था। इसमें पटना उच्च न्यायालय द्वारा 23 जुलाई को आदेश पारित किया गया। इस संबंध में विभिन्न शिकायतों के आलोक में नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा कमिटी गठित कर विभागीय जाच कराई गई। कमिटी की रिपोर्ट में कुछ बिंदुओं पर टेंडर प्रक्रिया में अनियमितता पाई गई। मंगलवार को हुई बोर्ड की बैठक में उच्च न्यायालय का आदेश एवं जाच कमिटी के प्रतिवेदन को विचार के लिए रखा गया। जाच कमिटी के प्रतिवेदन को महाधिवक्ता बिहार से विधिक मंतव्य के लिए नगर विकास एवं आवास विभाग को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया।

Categories: Bihar News

टिक-टॉक में मशगूल रहने पर मां ने लगाई डांट तो फंदे से झूल गई छात्रा

Dainik Jagran - 17 hours 36 min ago

पटना : पीरबहोर थाना क्षेत्र के महेंद्रू के सुरी टोला में रहने वाली 17 वर्षीय आर्या ने सोमवार की रात आत्महत्या कर ली। उसे टिक-टॉक वीडियो बनाने की लत थी, जिसकी वजह से वह पढ़ाई में कमजोर होती जा रही थी। इसी बात को लेकर मां संगीता देवी ने डांट लगाई तो आर्या साड़ी का फंदा बनाकर पंखे से झूल गई। पीएमसीएच (पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल) के टीओपी प्रभारी अमित कुमार ने बताया कि पोस्टमॉर्टम के बाद आर्या का शव स्वजनों को सौंप दिया गया।

जानकारी के अनुसार, आर्या सुरी इंटरमीडिएट की छात्रा थी। उसके पिता राकेश कुमार का निधन हो गया था। तब से मां संगीता देवी ही उसकी परवरिश करती आ रही थीं। संगीता उसे पढ़ा-लिखा कर अफसर बनाना चाहती थीं, लेकिन आर्या को टिक-टॉक वीडियो बनाने की आदत लग गई थी। मां का मानना था कि इसके कारण ही पिछले साल परीक्षा में उसे कम अंक आए थे। सोमवार की रात संगीता ने जब आर्या को वीडियो बनाते हुए देखा तो उन्होंने डांट-फटकार की। इसके बाद आर्या कमरे में चली गई। रात करीब डेढ़ बजे उनकी नींद खुली और वह आर्या के कमरे की तरफ गई तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। आर्या अक्सर दरवाजा खोल कर सोती थी। संदेह होने पर उन्होंने खिड़की से झांककर देखा तो वह उनकी ही साड़ी का फंदा बनाकर सीलिंग में लगे पंखे की खूंटी से झूल रही थी। संगीता शोर मचाने लगीं। उनकी आवाज सुनकर आस-पड़ोस के लोग जुटे और आनन-फानन में आर्या को पीएमसीएच ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair  


  Invest Bihar