Bihar News

राजद और लालू परिवार की मुसीबत बढ़ाने के लिए फिर तैयार हैं तेजप्रताप, जानिए

Dainik Jagran - 1 hour 52 min ago

पटना [अरविंद शर्मा]। राजद की बड़ी और ऐतिहासिक हार हुई है, तो तकरार भी छोटी और कमजोर नहीं होगी। अपने दम पर लोकसभा चुनाव की कमान संभालने वाले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को तेजप्रताप यादव की ओर से चुनौती मिलने वाली है। लंबे अंतराल से बंद चले आ रहे राजद के जनता दरबार को तेजप्रताप सोमवार से फिर खोलने वाले हैं। सुबह 10 बजे से दरबार लगाने की सूचना दी है। जनता की समस्याओं को वह जितना सुलझाने की कोशिश करेंगे, भाई और परिवार की समस्याएं उतनी ही बढ़ेंगी। 

तेजस्वी को अपना अर्जुन और खुद को कृष्ण बताने वाले तेजप्रताप अपने छोटे भाई का नेतृत्व स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं। टिकट बंटवारे में अपनी अनदेखी से आहत उन्होंने अपने अर्जुन की तुलना दुर्योधन से की थी।

मथुरा-वृंदावन से नई आध्यात्मिक ऊर्जा लेकर लौटे तेजप्रताप जनता दरबार में अपने अर्जुन को निशाने पर रख सकते हैं। महागठबंधन की हार के लिए जिम्मेदार ठहरा सकते हैं। लोकसभा चुनाव के इतिहास में पहली बार राजद के जीरो पर आउट होने के बाद तेजप्रताप के तेवर में तल्खी बढऩे के पूरे आसार हैं। 

राजद का खाता नहीं खुलने देने के लिए तेजप्रताप को भी जिम्मेवार माना जा रहा है। टिकट में हिस्सेदारी नहीं मिलने पर उन्होंने लालू-राबड़ी के नाम पर राजद से अलग मोर्चा बनाया और जहानाबाद से प्रत्याशी खड़ा किया। राजद के अधिकृत प्रत्याशी सुरेंद्र यादव के खिलाफ जनसभाएं की। तरह-तरह के आरोप लगाए। वोट नहीं देने की अपील की।

तेजप्रताप अगर विरोध की हद पार नहीं किए होते तो जहानाबाद से राजद प्रत्याशी की सबसे कम वोटों (महज 1711) से हार का इतिहास नहीं बनता। उनके प्रत्याशी चंद्रप्रकाश ने आठ हजार वोट काटकर राजद का रास्ता रोक दिया। बिहार में खाता नहीं खुलने दिया।

अर्जुन के हर कदम पर कांटे बिछा रहे 

तेजप्रताप इसके अलावा भी अपने अर्जुन की राह में कांटा बिछाते रहे। चुनाव की पूरी प्रक्रिया के दौरान भाई के फैसले में कमियां निकाल कर दबाव बनाते रहे और अपने पसंदीदा नेताओं के लिए टिकट का जुगाड़ करते रहे। बड़ी बहन मीसा भारती से तेजप्रताप के बागी तेवर को ऊर्जा मिल रही थी। हालांकि पाटलिपुत्र सीट से मीसा भारती की हार के लिए भी एक हद तक तेजप्रताप को ही जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि रोड शो के दौरान राजद कार्यकर्ताओं से उनके झगड़े-झंझट और पार्टी विधायक भाई वीरेंद्र को मंच पर ही अपमानित करने का नकारात्मक असर पड़ा, जिसके चलते भाजपा को कड़ी टक्कर देते हुए भी राजद चुनाव हार गया। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

बीसीए ने लोकपाल को हटाया, शर्मा की वापसी

Dainik Jagran - 3 hours 36 min ago

पटना। पावापुरी (नालंदा) में शनिवार को हुई बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के वार्षिक आमसभा की बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। वर्तमान लोकपाल पूर्व न्यायाधीश जयनंदन सिंह के कार्यकाल को नहीं बढ़ाने का फैसला करते हुए उन्हें हटा दिया गया है। नए लोकपाल की नियुक्ति तक बीसीए के इथिक ऑफिसर वीके जैन को लोकपाल का प्रभार दिया गया है। जयनंदन सिंह का कार्यकाल 14 अप्रैल को ही समाप्त हो गया था। वर्षो से बर्खास्त जिला सीतामढ़ी में नई कमेटी को आमसभा से मंजूरी दी गई। पिछले दो साल से सीतामढ़ी में क्रिकेट की गतिविधियों का संचालन नहीं हो रहा था। इसके बाद बीसीए ने पर्यवेक्षक भेज कर वहा की स्थिति का जायजा लिया। पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट को आमसभा में रखा गया, जिसे सदस्यों ने ध्वनिमत से पारित कर दिया। बीसीए मीडिया कमेटी का विस्तार करते हुए कमेटी में चेयरमैन और संयोजक समेत सभी ज़ोन से एक-एक सदस्य के मनोनयन पर चर्चा हुई। हाल में जिलों में कराए गए घरेलू मैचों के लिए पैसों के भुगतान की मंजूरी देते हुए सभी उपस्थित जिलों से विपत्र पर हस्ताक्षर कराए गए। बीसीए पूर्व सचिव अजय नारायण शर्मा की क्रिकेट में वापसी हो गई। पीडीसीए के ऊपर हुए गलत मुकदमों और आरोपों को वापस लेने के बाद उनका निलंबन वापस लेने का फैसला किया गया। आम सभा को संबोधित करते हुए बीसीए सचिव रवि शकर प्रसाद सिंह ने कहा कि आज हम एक ऐसे मुहाने पर हैं, जहा से कोई भी लक्ष्य बड़ा नहीं है। हम वो सब पा सकने की स्थिति में हैं, जिसका सपना कभी आप और हम मिलकर देखा करते थे। हमने घरेलू स्तर पर 200 से अधिक मैचों का सफल आयोजन किया। बीसीसीआइ के मैचों का सफल आयोजन हुआ। हमारे लड़कों ने जो ऐतिहासिक उपलब्धिया प्राप्त कीं, उस पर हमलोगों को गर्व है। हम सभी से सहयोग की अपेक्षा करते हैं, जिससे बिहार के क्रिकेट को एक नई ऊंचाई पर ले जाया जा सके। बीसीए सचिव ने कहा कि बिहार क्रिकेट में शीर्ष पद पर कोई भी व्यक्ति स्थाई नहीं रह सकता। एक समय के बाद हम सभी को पद से मुक्त होना ही होगा। उसके बाद आप ही में से कोई इस शीर्ष कमेटी में स्थान पाएगा। पाच करोड़ के बजट को मंजूरी : आम सभा में गत निर्णयों, उपलब्धियों और खर्चे को प्रस्तुत किया गया। साथ ही साथ आगामी वषरें के लिए लगभग पाच करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी दी गई। आम सभा की अध्यक्षता बीसीए अध्यक्ष गोपाल बोहरा ने किया। मौके पर उपाध्यक्ष नवीन जमुआर, संयुक्त सचिव सुनील सिंह, कोषाध्यक्ष आनंद कुमार, जिला संघों के प्रतिनिधि प्रवीण कुमार, खिलाड़ियों के प्रतिनिधि अमिकर दयाल, बीसीए के सीइओ सुधीर कुमार झा, मीडिया कमेटी के चेयरमैन संजीव कुमार मिश्र, संयोजक संतोष कुमार झा समेत 35 जिलों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। फोटो कैप्शन : बीसीए की एजीएम को संबोधित करते सचिव रवि शकर प्रसाद सिंह (दायें से दूसरे)। जागरण

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

मूर्तिकार हिम्मत शाह के साथ कला की बारीकियां सीख रहे कलाकार

Dainik Jagran - 3 hours 56 min ago

पटना। तरुमित्र आश्रम में इन दिनों बिहार कला मंच से जुड़े कलाकारों का जमघट लगा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर के ख्याति प्राप्त मृणमय शिल्प के कलाकार हिम्मत शाह के सम्मान में टेराकोटा और फोटोग्राफी वर्कशॉप का आयोजन बिहार कला मंच के बैनर तले किया जा रहा है।

वर्कशॉप के दौरान राजधानी के 24 कलाकारों ने हिम्मत शाह की 'हेड स्पेशल' को टेराकोटा के माध्यम से बनाने की कोशिश की। शाह के काम को ध्यान में रखते हुए कलाकार अपनी कृतियों को आकार दे रहे हैं। उनके साथ बैठकर उनकी कलाकृतियों के बारे में जानकारियां भी प्राप्त कर रहे हैं। यहां रविवार से कलाकारों के बीच फोटोग्राफी की भी क्लास शुरू की जाएगी। इसमें कलाकारों को रवि शेखर द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा।

टेराकोटा और फोटोग्राफी से रूबरू होंगे कलाकार -

उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान के उपनिदेशक अशोक कुमार सिन्हा ने कहा कि तरुमित्र आश्रम परिसर में अगले दो दिनों तक कलाकारों को हिम्मत शाह के साथ बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। इससे उनकी प्रतिभा में निखार आएगा। वही बिहार संग्रहालय के निदेशक युसूफ ने कहा कि बिहार के कलाकारों के लिए यह गौरव की बात है। कलाकारों को हिम्मत साह पर बनी शॉर्ट फिल्म दिखाई गई। कार्यक्रम का आगाज बिहार कला मंच से जुड़े गायक सत्येंद्र संगीत ने गणेश वंदना से किया। सचिव वीरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि कार्यशाला में किसी भी विधा से जुड़े कलाकार अपनी कलाकृतियों का निर्माण कर सकते हैं।

हिम्मत शाह म्यूजियम का हो रहा निर्माण

शुक्रवार को कार्यशाला में मुख्यमंत्री के सलाहकार अंजनी कुमार सिंह भी पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि यह बिहार के कलाकारों के लिए गौरव की बात है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर के ख्याति प्राप्त कलाकार हिम्मत शाह के निर्देशन में बिहार के कलाकारों को बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। सिंह ने कहा कि शाह को जानने और समझने के लिए इससे बेहतर मौका नहीं मिलेगा। तरुमित्र परिसर में चलने वाले चार दिवसीय वर्कशॉप में शाह के साथ कलाकृतियों का निर्माण कर कलाकारों को बहुत कुछ सीखने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि शाह की कलाकृतियों का अवलोकन मुख्यमंत्री ने बिहार म्यूजियम में किया है। मुख्यमंत्री ने सारी कलाकृतियों को बारे में जानकारी प्राप्त की। सिंह ने कहा कि अपने आवास पर हिम्मत शाह म्यूजियम का निर्माण कर रहे हैं, जो अगले वर्ष तक पूरा हो जाएगा। वहां कलाकारों के लिए वर्कशॉप आयोजित किया जाएगा।

Categories: Bihar News

बांग्ला गीतों से गुलजार हुई रविंद्र भवन की शाम

Dainik Jagran - 8 hours 55 min ago

पटना। बांग्ला गीतों की एक से बढ़कर एक प्रस्तुति करते कलाकार दर्शकों का मन मोह रहे थे। सभागार में बैठे दर्शक कलाकारों की भाव-भंगिमा को देखकर आनंद से भाव-विभोर हो रहे थे। रवींद्र परिषद की ओर से बांग्लादेश के राष्ट्रीय कवि काजी नजरूल इस्लाम की जयंती पर रवींद्र भवन में शनिवार को कार्यक्रम आयोजित किया। कोलकाता एवं पटना के कलाकारों ने कवि नजरूल के गीतों को पेश कर उन्हें याद किया। जयंती पर रवींद्र परिषद पटना के सचिव अशोक कुमार तलापात्र ने कहा कि काजी नजरूल इस्लाम का जन्म पश्चिम बंगाल के आसनसोल के पुरूलिया गांव में 26 मई को हुआ था। कट्टर मुस्लिम परिवार में जन्म होने के बावजूद उन्होंने समाज के विरोध को नजरअंदाज कर हिदू महिला प्रमिला सेन गुप्ता से शादी की थी। उन्होंने अपनी कविता और गीतों में तत्कालीन अंग्रेज शासन का घोर विरोध किया। इसके कारण उन्हें 'विद्रोही' कवि नजरूल कहा जाता है। मुस्लिम समाज में जन्म होने के बावजूद उन्होंने हिदू देवी मां काली पर भक्ति गीत लिखे। कवि नजरूल की 120वीं जयंती पर कोलकाता के जाने-माने कलाकार सुतपा भट्टाचार्य, स्वाति पाल व पटना के पापिया भट्टाचार्य, सोमदत्ता बनर्जी, राजदीप चक्रवर्ती ने गीतों को पेश कर तालियां बटोरीं।

गीतों से गुलजार हुआ परिसर -

कवि नजरूल की जयंती पर रवींद्र भवन में बांग्ला गीतों की एक से बढ़कर एक प्रस्तुति हुई। गायिका सुतपा भट्टाचार्य ने 'सोई भालो कोरे बिनोद बेनि' आमार कोलो मेयेर, कोन कुले आज भिरलो तोरि, तुमि सुंदर ताई चेये थाकि, भोरिया पराण आदि गीतों में भक्ति और प्रकृति का वर्णन बखूबी कर कलाकारों ने तालियां खूब बटोरीं। जैसे-जैसे कार्यक्रम आगे की ओर बढ़ता जा रहा था, सभागार में एक से बढ़कर एक गीतों की प्रस्तुति से श्रोता आनंदित हो रहे थे। स्वाति पाल ने 'ओ आकुलरे कुल' तोमार खोला हवा, शुधु तोमार वाणि नय गो, गहन कुसुम कुंज मांझे आदि गीतों को पेश कर जयंती को यादगार बना दिया। गीतों को जीवंत बनाने में संगत कलाकारों का योगदान रहा। संगत कलाकारों में तबला पर पार्थो मुखर्जी, की-बोर्ड पर सुमन घटक, ताल वाद्य में सव्यसाचि मुखर्जी, ज्योति प्रकाश चक्रवर्ती, सोमदीप चक्रवर्ती आदि ने सहयोग दिया। समारोह के दौरान रवींद्र परिषद के सभापति प्रभास रॉय, उप सभापति दिलीप सेन गुप्ता, डॉ. ममता दास शर्मा, देवाशीष रॉय, पार्थो मित्रा, निशित कुमार बोस, अशोक कुमार चक्रवर्ती, प्रदिप्तो मुखर्जी, देवोप्रिय घोष, प्रबीर घोष, गौतम भट्टाचार्य, संजीव घोष, सुमंतो सिकंदर, प्रदीप रॉय आदि ने अपने विचार दिए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

बख्तियारपुर में छेड़खानी का विरोध करने पर परिजन को मारी गोली

Dainik Jagran - 8 hours 57 min ago

पटना (बख्तियारपुर)। थाना क्षेत्र के एक गाव में छेड़खानी का विरोध करने पर मनचलों ने किशोरी की मामी को गोली मार दी। घटना के बाद परिजनों ने गंभीर अवस्था में अस्पताल लाया। इस संबंध में किशोरी के पिता ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि मेरी पुत्री गाव में ही अपने मौसी के घर जा रही थी। इसी दौरान रास्ते में गाव के ही कुछ युवकों ने छेड़खानी का प्रयास किया। घर पहुंचकर बेटी ने घटना की जानकारी दी। जब हमलोग आरोपित युवक के घर शिकायत करने पहुंचे तो मनचले मारपीट करने लगे और विरोध करने पर किशोरी की मामी को गोली मार दी। पैर में गोली लगते ही महिला बेहोश होकर गिर पड़ी जिसे प्राथमिक इलाज के बाद डॉक्टरों ने पीएमसीएच रेफर कर दिया।

वहीं दूसरे पक्ष के मोहम्मद खैरुल ने पुलिस को बताया कि हम अपने भाई मोहम्मद कुदरत के साथ घर जा रहे थे। इसी दौरान मो. अफताब और उनके परिजनों ने हमलोगों के साथ मारपीट की। विरोध करने पर फायरिग कर दी, जिसमें गोली लगने से नजमू निशा जख्मी हो गई। इस संबंध में थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया कि छेड़खानी को लेकर मारपीट और फायरिंग हुई है। मामला दर्ज कर दोनों पक्ष से तीन लोगों को गिरफ्तार कर शनिवार को जेल भेज दिया। बिक्रम बाजार में फायरिग से अफरातफरी

संसू, बिक्रम : थाना से महज 100 मीटर की दूरी पर बाजार में बाइक सवार दो अपराधियों ने शनिवार की शाम ताबड़तोड़ फायरिग की। अचानक हुई फायरिग से लोग दहशत में आ गए। फायरिग की जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस जांच में जुटी रही। घटना के बाद सभी दुकानें बंद हो गई।

पहले भी यहां रंगदारी नहीं देने पर दो कारोबारी की हत्या बदमाशों ने कर दी थी। थानाध्यक्ष चंदन कुमार ने बताया कि फायरिग की जानकारी मिली है। मामले की जांच की जा रही है। 98 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद

संसू, नौबतपुर : पुलिस ने थाना क्षेत्र के वादीपुर गाव निवासी गणेश उर्फ पाडेय के घर में छापेमारी कर 98 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद की। पुलिस के आने की भनक मिलते ही तस्कर भाग निकला।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

पटना और भागलपुर की महिलाएं जीतीं

Dainik Jagran - 8 hours 58 min ago

पटना। दानापुर में आयोजित दूसरी बिहार राज्य अंडर-15 कुश्ती प्रतियोगिता में पटना और भागलपुर की महिला पहलवानों ने शानदार प्रदर्शन खूब वाहवाही लूटी। अंडर-39 किग्रा वर्ग में भागलपुर की नेहा कुमारी ने मुंगेर की राजनंदनी को पराजित किया। इसके बाद 41 किग्रा में पटना की वंदना ने आरा की आराध्या को पटकनी देने में देर नहीं लगाई। इस प्रतियोगिता में 28 जिले के 355 बालक और बालिका पहलवान भाग ले रहे हैं। इसके पूर्व उद्घाटन बालामुरुगन डी. (भाप्रसे) , बिहार कुश्ती संघ के अध्यक्ष विशाल सिंह, महासचिव विनय कुमार सिंह, रोडिक के उपाध्यक्ष केडी सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। मुख्य अतिथि ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि कुश्ती पारंपरिक खेल है। इसे ग्रामीण या शहरी क्षेत्र के सभी तबके के लोग खेल सकते हैं। उन्होंने खिलाड़ियो को खूब मेहनत करने की सलाह और राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतने की शुभकामनाएं दीं। संघ के अध्यक्ष विशाल सिंह ने कहा कि खिलाड़ियों के लिए शीघ्र ही प्रशिक्षण केंद्र खोल जाएगा। महासचिव विनय कुमार सिंह ने अतिथियों का स्वागत पेंटिंग प्रदान कर किया गया ।

रेफरी सेमिनार का आयोजन : इस अवसर पर राज्य संघ की ओर से रेफरी सेमिनार का आयोजन भारतीय कुश्ती संघ के विशेष प्रशिक्षक जितेंद्र कुमार के निर्देशन में संपन्न हुआ। इसके बाद विशाल सिंह की अध्यक्षता में हुई बिहार कुश्ती संघ के वार्षिक आम सभा में कई प्रस्ताव पास किए गए। इसमें

यह निर्णय लिया गया कि प्रतियोगिता में आए हुए तकनीकी पदाधिकारियों को भत्ता दिया जाएगा। साथ ही तकनीकी, अनुशासन, संबद्धता, लीगल समिति का पुनर्गठन किया गया। इस अवसर पर संघ के योगेंद्र सिंह, बिजय कुमार, अभिलाषा कुमारी, विवेक भारद्वाज, अरुण कुमार, सावंत रवि, ब्रजेश कुमार, अशोक कुमार, हरेंद्र सिंह, किशोर, अभय मौजूद थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

दो बोरिग बंद, पानी को तीस हजार लोग रहे परेशान

Dainik Jagran - 9 hours 6 sec ago

पटना सिटी। जारी भीषण गर्मी के कारण जलस्तर लगातार नीचे जा रहा है। इस कारण पेयजल आपूर्ति बोरिग में समस्या उत्पन्न होने का सिलसिला जारी है। महापौर के वार्ड 58 स्थित बड़ी पटन देवी के समीप की बोरिग सॉफ्ट टूटने तथा वार्ड 60 नेहरू चिल्ड्रेन पार्क बोरिग के पेपर का बोल्ट टूट जाने से शनिवार को पेयजल आपूर्ति प्रभावित रही। इन दोनों बोरिग से प्रभावित दो दर्जन मोहल्लों की करीब तीस हजार आबादी को पानी के लिए परेशान होना पड़ा।

जल पर्षद अभियंता ने बताया कि वार्ड 58 स्थित बड़ी पटन देवी के समीप की बोरिग शुक्रवार की रात करीब 10:30 बजे से खराब हो गयी। शनिवार की सुबह सात बजे से ही एक गैंग इसे ठीक करने में जुट गया। अभियंता ने बताया कि टूटे सॉफ्ट को बदल कर देर रात बोरिग चालू कर दी गयी। दूसरी ओर, नेहरू चिल्ड्रेन पार्क की बोरिग भी शुक्रवार से ही बंद थी। इसकी समस्या भी ठीक कर दोपहर 12 बजे तक चालू कर दिया गया है। प्रभावित क्षेत्र पटन देवी कॉलोनी, मीनाबाजार समेत आसपास के मोहल्ले तथा छोटी बाजार, टिकिया टोली, कोऑपरेटिव कॉलोनी, लाला टोली, बरकतखां का अखाड़ा आदि इलाकों में पेयजल की समस्या से लोग परेशान हुए। स्थानीय नागरिकों का कहना था कि इन दोनों बोरिग में बार-बार तकनीकी समस्या उत्पन्न हो जाती है। लोग निजी बोरिग वाले घरों से पानी लेते नजर आए। भीषण गर्मी में पानी की किल्लत से लोग परेशान रहे।

- वार्ड 58 की बड़ी पटन देवी के समीप बोरिग बंद

- वार्ड 60 की नेहरू चिल्ड्रेन पार्क बोरिग का पार्ट टूटा

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

टैलेंट क्रिकेट लीग में पटना पैंथर्स और कैंब्रिज किंग जीते

Dainik Jagran - 9 hours 15 min ago

पटना। संजय गाधी स्टेडियम में आयोजित टैलेंट क्रिकेट लीग फॉर अंडर-16 क्रिकेट प्रतियोगिता में शानदार आगाज करते हुए पटना पैंथर्स ने शेखपुरा हिल्स स्टार को दो रन से और कैंब्रिज किंग ने नालंदा वॉरियर्स को 132 रनों से पराजित किया। बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के दिशानिर्देश पर आयोजित हो रही इस लीग का उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉन बॉस्को के चेयरमैन थॉमस कुरैशी ने किया। मौके पर आयोजन अध्यक्ष धीरज कुमार, सचिव वर्षा शर्मा, पिंटू सिन्हा समेत तमाम लोग मौजूद थे। शनिवार को सुबह के सत्र में टॉस पटना पैंथर्स ने जीता और बल्लेबाजी करते हुए 151 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। इसमें आदित्य ने 51 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली। निशात ने 32 रन का योगदान दिया। शेखपुरा के शशि ने तीन, कन्हैया ने एक विकेट लिए। जवाब में शेखपुरा हिल्स की टीम, अमन राज के 36, शशि कुमार के 17, अभिषेक के 18 रन के बावजूद लक्ष्य से दो रन पीछे 25 ओवर में आठ विकेट पर 149 रन ही बना सकी। आदित्य कुमार को मैन ऑफ द मैच दिया गया। दूसरे मुकाबले में कैंब्रिज किंग ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए 16 ओवर में सात विकेट 215 रनों का विशाल स्कोर बनाया। यश सिंह ने 52, संजय ने 46, हर्षवर्धन ने 37 रन की पारी खेली। नालंदा के सागर ने चार विकेट, समीर ने एक विकेट लिए। जवाब में नालंदा वॉरियर्स की टीम 83 रन पर सिमट गई। गौरव 15, सतीश 18 ही दोहरे अंक में प्रवेश कर सके। कैंब्रिज के निशान ने तीन, यश और शातनु ने 1-1 विकेट लिए। यश राज सिंह मैन ऑफ द मैच बने। फोटो कैप्शन : संजय गाधी स्टेडियम में जीत के बाद पटना पैंथर्स (अॅरेंज जर्सी) के साथ कैंब्रिज किंग्स की टीम। जागरण

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

वैशाली में राजद के सर्वाधिक विधायक फिर भी हार, भविष्य की राजनीति पर उठे सवाल

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 10:33pm

वैशाली, जेएनएन। बीते विधानसभा चुनाव में जनमत राजद के हौसले की बुलंदी का बड़ा कारण था। वैशाली जिले के 8 में चार पर राजद का कब्जा है। लालू प्रसाद के दोनों पुत्र यहीं से विधायक हैं। लोकसभा चुनाव 2019 में चुनावी अभियान के दौरान महागठबंधन के सिरमौर बने तेजस्वी यादव राघोपुर से विधायक हैं। बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव महुआ से विधायक हैं।

हाजीपुर से राजद के उम्मीदवार रहे शिवचंद्र राम राजापाकर से विधायक हैं। पातेपुर से प्रेमा चौधरी राजद से विधायक हैं। दो विधायक जदयू से हैं, महनार से उमेश सिंह कुशवाहा एवं वैशाली से राजकिशोर सिन्हा। वहीं हाजीपुर से भाजपा से अवधेश सिंह एवं लालगंज से लोजपा से राजकुमार साह विधायक हैं। राजद के चार विधायक जिला से होने के बावजूद महागठबंध के उम्मीदवार की हार ने आगामी विधानसभा के चुनाव में राजद के हाल पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। 

जदयू के एनडीए का हिस्सा बनने के बाद दोनों के चार-चार विधायक 

जदयू के एनडीए का हिस्सा बनने के बाद दोनों ओर 4-4 विधायक रह गए हैं। सबसे बड़ी बात तो यह है कि बिहार की राजनीति के बड़े चेहरे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का साथ मिलने के बाद एनडीए को यहां काफी मजबूती मिली है।

अभी भी लालू प्रसाद बड़े चेहरे

हालांकि जिले की राजनीति में लालू प्रसाद भी यहां बड़ा चेहरा हैं। लालू-राबड़ी ने मुख्यमंत्री रहते इसी जिले के राघोपुर से ही लगातार प्रतिनिधित्व किया। लालू प्रसाद भले ही जेल में हों पर यहां चुनावी केंद्र ङ्क्षबदु में वे यहां न होते हुए भी बने रहे। इन सबके बावजूद मोदी-नीतीश के अंडर करंट ने समाजवाद के गढ़ में महागठबंध को चारों खाने चित कर दिया।

इस बार के लोकसभा के चुनाव में बदले हैं समीकरण

लोकसभा चुनाव 2019 में समीकरण बदले हैं। विधानसभा चुनाव 2015 में राजद का कांग्रेस एवं जदयू से चुनावी गठबंधन था। तीनों ने मिलकर यहां 6 सीटों पर जीत दर्ज कराई थी। इधर, भाजपा का लोजपा एवं रालोसपा के अलावा हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा सेक्युलर (हम) से चुनावी गठबंधन था। एनडीए ने दो सीटों पर जीत दर्ज कराई थी। लोकसभा के चुनाव के पूर्व ही यह समीकरण यहां बदल चुका है। एनडीए में भाजपा एवं लोजपा के अलावा जदयू शामिल हो चुका है। इधर, बिहार की राजनीति का मजबूत स्तंभ जदयू महागठबंध से अलग हो चुका है। हम एवं रालोसपा एनडीए से अलग होकर एनडीए का हिस्सा बन चुका है। 

विधानसभा चुनाव 2015 में दलों की स्थिति

विधानसभा         दल          विधायक                 प्राप्त मत

हाजीपुर               भाजपा      अवधेश कुमार सिंह     86773

लालगंज             लोजपा       राजकुमार साह          80842 

महुआ                राजद         तेजप्रताप यादव         66927

राजापाकर           राजद         शिवचंद्र राम              61251

राघोपुर              राजद          तेजस्वी प्रसाद यादव   91236

पातेपुर               राजद          प्रेमा चौधरी               67548

महनार              जदयू          उमेश सिंह कुशवाहा    69825

वैशाली               जदयू         राजकिशोर सिन्हा       79286

                            

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

इस शनिवार भी 1250 लोगों पर हुअा जुर्माना, वाहनों से वसूले गए ढाई लाख रुपए

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 10:32pm

पटना, जेएनएन। प्रत्येक शनिवार की भांति परिवहन विभाग ने पटना सहित राज्य के सभी जिलों में हेलमेट जांच एवं सीट बेल्ट जांच अभियान चलाया। पटना के ट्रांसपोर्ट नगर में 275 वाहनों की जांच की गयी। इसमें से 70 वाहनों पर 26,700 रुपये जुर्माना लगाया गया, जबकि राज्यभर में 2700 वाहनों की जांच हुई। 1250 वाहन चालकों से 2.50 लाख रुपये जुर्माने के तौर पर वसूले गए। 

चालान काट कर वसूला गया जुर्माना

परिवहन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल के निर्देश पर प्रत्येक शनिवार को बिहार के सभी जिलों में हेलमेट और सीट बेल्ट जांच के लिए सघन जांच अभियान चलाया जाता है। बिना हेलमेट, सीट बेल्ट और यातायात के अन्य नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों पर कारर्वाई की गई। नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों को चालान काट कर उनसे जुर्माना वसूला गया।

बार-बार नियम नहीं तोड़ने का किया आग्रह

जिलों में यह अभियान डीटीओ, एमवीआई और ईएसआई द्वारा अलग अलग विभिन्न जगहों पर चलाया गया। जांच के क्रम में बिना हेलमेट पहने वाहन चलाने वाले वाहन चालकों से खुद की सुरक्षा के लिए हेलमेट पहनने का आग्रह किया गया। साथ ही आगाह किया गया कि बार-बार नियमों का उल्लंघन करते पकड़े गए तो वाहन चालक का लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी। 

नियम के लिए नहीं, अपने परिवार के लिए पहनें हेलमेट

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने लोगों से अपील की है कि हेलमेट प्रशासन और पुलिस के लिए नहीं, बल्कि अपने परिवार के लिए और अपनी सुरक्षा के लिए पहनें। दोपहिया चालकों को हेलमेट पहनना और चारपहिया वाहन चालकों को सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य है। अगर वाहन चालक यातायात के नियमों का पालन करते हुए हेलमेट और सीट बेल्ट का प्रयोग करें तो सड़क दुर्घटना में नुकसान को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

परिवहन सचिव ने बताया कि सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। सड़क दुर्घटनाओं में कमी आये इसके लिए लोगों को न सिर्फ जागरूक किया जा रहा है, बल्कि उनपर करवाई भी की जा रही है। जिलों में एनसीसी कैडेट्स के सहयोग से भी कई तरह के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। ट्रैफिक गेम, पेंटिंग प्रतियोगिता आदि के द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है और सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करने की अपील की जा रही है। यह समय समय पर लगातार जारी रहेगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

बिल्डर के खाते से जालसाजों ने उड़ाए एक लाख रुपये

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 9:56pm

पटना। हवाई अड्डा थाना क्षेत्र के कौटिल्य नगर के रहनेवाले नीरज कुमार के खाते से जालसाजों ने एक लाख रुपये उड़ा लिए। इस बाबत उन्होंने एसकेपुरी थाने में मामला दर्ज कराया है। नीरज कुमार पेशे से बिल्डर हैं। 23 मई की सुबह जब वे सो कर बिस्तर से उठे तो देखा कि उनके मोबाइल पर 22 मई की रात 1.53 से 2.00 बजे तक दस मैसेज आए हुए थे। इसमें उनके खाते से एक लाख रुपये निकलने की सूचना थी। यह देख उनके होश उड़ गए। उनका खाता एक्सिस बैंक में है। उन्होंने तत्काल बैंक के टॉल फ्री नंबर पर फोन कर घटना की जानकारी दी। फोन रिसीव करने वाले ने उन्हें एटीएम कार्ड जल्द से जल्द किसी एटीएम मशीन में डालने को कहा। ताकि उनका कार्ड ब्लॉक किया जा सके। निर्देशानुसार नीरज कुमार ने अपना एटीएम कार्ड मशीन में डाला। इसके बाद उनका कार्ड ब्लॉक कर दिया गया। उन्होंने एसकेपुरी थाने में मामला दर्ज कराया। क्योंकि उनका खाता एसकेपुरी थाना इलाके में स्थित एक्सिस बैंक में है। वहीं बैंक अधिकारियों ने बताया कि यूपी के चंदौली में स्थित एटीएम से पैसे निकाले गए हैं।

: चार दिन पहले सिनेपॉलिस से खरीदी थी ऑनलाइन टिकट :

नीरज कुमार ने चार दिन पहले पाटलिपुत्र, कुर्जी इलाके में स्थित सिने पॉलिस से ऑनलाइन टिकट खरीदी थी। शक है कि जालसाजों ने वहीं से उनके कार्ड का नंबर या अन्य महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर कर ली होगी। पुलिस सभी बिंदुओं से मामले की जांच कर रही है।

- - - - - - - - -

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

इंटर के रिजल्ट में जुटेंगे अतिरिक्त विषय के अंक

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 8:29pm

पटना । बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटर के रिजल्ट में व्यापक बदलाव किया है। बोर्ड ने अब इंटर के रिजल्ट में अतिरिक्त विषय के अंक को भी जोड़ने का निर्णय लिया है। अगर कोई छात्र अनिवार्य विषय यानी भाषा विषय को छोड़कर किसी अन्य विषय में फेल करता है तो उसके रिजल्ट में अतिरिक्त विषय का अंक जोड़कर रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा। यह लाभ केवल फेल हो रहे छात्रों को ही प्रदान किया जाएगा। इससे बोर्ड के रिजल्ट में काफी वृद्धि होने का अनुमान है। नई व्यवस्था वर्ष 2019-21 के सत्र से लागू कर दी जाएगी।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि नए पैटर्न से इंटर के लाखों परीक्षार्थियों को लाभ होगा। कई छात्र मुख्य विषय में कम अंक प्राप्त करते हैं, जबकि अतिरिक्त विषयों में अच्छे अंक प्राप्त करते हैं। अच्छे अंक प्राप्त करने के बावजूद जो छात्र फेल हो जाते हैं, उन्हें इससे मदद मिलेगी।

मालूम हो कि इंटर की परीक्षा में छात्रों को कुल छह विषयों की परीक्षा देनी होती है। इसमें पांच मुख्य एवं एक अतिरिक्त विषय होता है। नई व्यवस्था के अनुसार अतिरिक्त विषय के अंकों को जोड़ने का निर्णय लिया गया है।

बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि इंटर की परीक्षा में अब 100 अंकों की हिंदी की परीक्षा होगी। इसके अलावा छात्र 100 अंकों की किसी भी क्षेत्रीय भाषा का चयन कर सकते हैं। इसके लिए बोर्ड ने संस्कृत, मैथिली, उर्दू, प्राकृत, मगही, भोजपुरी, अरबी, फारसी, पाली एवं बांग्ला का विकल्प दिया है। पूर्व में परीक्षार्थियों को 50 अंक की हिंदी एवं 50 अंक की अंग्रेजी की परीक्षा देनी होती थी। इसके अलावा 100 अंक का भाषा का दूसरा पेपर भी देना होता था।

समिति की सिफारिश पर बोर्ड ने किया अमल :

समिति के अध्यक्ष ने कहा कि परीक्षा में बदलाव करने से पहले बोर्ड ने एक समिति का गठन किया था। समिति ने सीबीएसई, आइसीएसई, राजस्थान बोर्ड, छत्तीसगढ़ बोर्ड सहित देश के कई बोर्ड की परीक्षा प्रणाली का अध्ययन करने के बाद बिहार बोर्ड की परीक्षा प्रणाली में बदलाव करने का निर्णय लिया है। नए परीक्षा प्रणाली के अनुसार विषय वन में हिंदी अथवा अंग्रेजी को अनिवार्य कर दिया गया है। विषय टू में 11 विषयों को शामिल किया गया है।

- - - - - -

: अतिरिक्त विषय के विकल्प में वृद्धि :

परीक्षा समिति द्वारा विषय पैटर्न में भी बदलाव किया गया है। बोर्ड अध्यक्ष के अनुसार पहले छात्रों को अतिरिक्त विषय का विकल्प बहुत कम मिलता था, लेकिन अब बोर्ड ने उसे काफी बढ़ा दिया है। वर्तमान में विज्ञान के छात्र मात्र गणित, कंप्यूटर साइंस एवं मल्टीमीडिया को वैकल्पिक विषय के रूप में ले सकते हैं। लेकिन नए पैटर्न के अनुसार विज्ञान संकाय में भौतिकी, रसायन, गणित लेने वाले छात्र जीव विज्ञान को अतिरिक्त विषय के रूप में ले सकते हैं। इसके अलावा जिन छात्रों की भाषा विषयों में रुचि है, वे हिंदी, अंग्रेजी के अलावा दस अन्य भाषाओं को अतिरिक्त विषय के रूप में ले सकते हैं। अब तक विज्ञान के छात्रों को अतिरिक्त विषय के रूप में भाषा के विषयों को रखने का प्रावधान नहीं था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

Good News: बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में होगी पर्यावरण की पढ़ाई

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 8:22pm

पटना [दीनानाथ साहनी]। बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में पर्यावरण की पढ़ाई होगी। इस संबंध में राजभवन ने यूजीसी के निर्देश का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने का आदेश विश्वविद्यालयों को दिया है। राजभवन के मुताबिक यूजीसी ने विश्वविद्यालयों सहित उच्च शिक्षण संस्थानों को अंडर-ग्रेजुएट स्तर के सभी कोर्सों के साथ अतिरिक्त विषय के रूप में पर्यावरण की पढ़ाई अनिवार्य कर दी है। इसके बारे में पिछले साल ही विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने सभी विश्वविद्यालयों को गाइडलाइन जारी की थी।  

यूजीसी के टीचिंग मॉड्यूल को लागू करना जरूरी

राजभवन के मुताबिक यूजीसी ने विश्वविद्यालयों के अलावा उच्च शिक्षण संस्थानों में भी अंडर-ग्रेजुएट स्तर पर पर्यावरण विषय पढ़ाने का मॉड्यूल (टीचिंग माड्यूल) भी जारी किया है जिसे लागू करना अनिवार्य है। जो संस्थान इसका अनुसरण नहीं करेंगे और पर्यावरण की पढ़ाई से बेरुखी दिखाएंगे, उन शिक्षण  संस्थानों पर कार्रवाई होगी। यूजीसी ने ऐसे संस्थानों को लेकर सख्त रवैया अपनाने का संकेत दिया है। साथ ही इसे अनिवार्य रूप से पढ़ाने पर जोर दिया है। 

सुप्रीम कोर्ट से भी पर्यावरण कोर्स अनिवार्य करने का आदेश

राजभवन के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने पर्यावरण की विषय के रूप में विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों एवं अन्य उच्च शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई को अनिवार्य करने का आदेश दे रखा है। इसलिए यूजीसी ने उच्च शिक्षण संस्थानों में पर्यावरण की पढ़ाई को लेकर जोर दिया है। इसका मकसद छात्र-छात्राओं में पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ाना है। इसे रोजगार से भी जोडऩे पर जोर दिया जा रहा है। बावजूद मौजूदा समय में कम संस्थानों में ही इस पर अमल हो रहा है। यूजीसी ने ऐसी रिपोर्ट मिलने के बाद सभी उच्च शिक्षण संस्थानों को इसे अनिवार्य रूप से पढ़ाने को कहा है। 

छह माह का होगा पर्यावरण का पाठ्यक्रम

राजभवन के मुताबिक पर्यावरण की पढ़ाई का पाठ्यक्रम छह माह का तैयार किया गया है। इसे यूजीसी ने पर्यावरण विशेषज्ञों की मदद से तैयार कराया है।  सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत छात्रों में पर्यावरण को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए अंडर ग्रेजुएट स्तर के सभी कोर्सों के साथ एक अतिरिक्त विषय के रूप में शामिल किया गया है। पाठ्यक्रम में पर्यावरण संरक्षण के अलावा जल संरक्षण, प्रदूषण नियंत्रण और उससे बचाव आदि को रखा गया है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

बिहार: 24 घंटे में आधा दर्जन से अधिक हत्‍या, घटनाएं ऐसी-ऐसी कि देह सिहर जाए

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 8:10pm

पटना, जेएनएन। बिहार में क्राइम ग्राफ में कमी नहीं आ रही है। पिछले 24 घंटे में आधा दर्जन से अधिक लोगों की हत्‍याएं हो गई हैं। हत्‍याएं भी ऐसी-ऐसी कि सुनकर देह सिहर जाए। समस्‍तीपुर में हथौड़े से सिर पर हमला कर घटना को अंजाम दिया गया तो छपरा में युवक के सीने में पेचकस घुसेड़ कर जान ले ली। इतना ही नहीं, पूर्वी चंपारण में युवक को पीट-पीट कर मार डाला तो पश्चिमी चंपारण के नरकटिया में फरसा से होमगार्ड जवान को काट डाला। दो महिलाओं की भी हत्‍या होने की बात सामने आई है। 

 

अरवल में पत्‍नी ने करा दी पति की हत्‍या

बिहार के अरवल जिले में शनिवार को पत्‍नी ने ही पति की हत्‍या करवा दी। प्रेम में पागल औरत ने अपने प्रेमी के सहयोग से घटना को अंजाम दिया। बताया जाता है कि अरवल जिले के नगर थाना क्षेत्र के वासिलपुर की यह घटना है। वहां एक महिला ने अपने प्रेमी के सहयोग से अपने पति की हत्या कर दी। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पत्‍नी से पूछताछ की जा रही है। जल्‍द ही प्रेमी को पुलिस ने गिरफ्तार करने की बात कही है।  

समस्‍तीपुर में डबल मर्डर

समस्तीपुर में डबल मर्डर की घटना हुई है। जिले में एक दुकानदार सहित दो लोगों की हत्या कर दी गई है। दोनों घटना अलग-अलग थाना क्षेत्रों में हुई। एक घटना विभूतिपुर थाना क्षेत्र की है। शनिवार की सुबह सिंघियाघाट बाजार निवासी दुकानदार की हत्या सुप्तावस्था में अज्ञात अपराधी ने हथौड़े से हमला कर की। मृतक की पहचान 50 वर्षीय रामचंद्र सिंह के रूप में की गई। पुलिस का कहना है कि संभवत: हत्यारा मानसिक रूप से बीमार हो। वहीं, दूसरी घटना ताजपुर बख्तियारपुर प्लांट की है। वहां मोहनपुर ओपी के ताजपुर बख्तियारपुर फोरलेन प्लांट में मजदूर का शव पानी के हौज में मिला है। मजदूर की पहचान मोतिहारी निवासी 30 वर्षीय ब्रजकिशोर के रूप में की गई है। 

नरकटियागंज में होमगार्ड जवान को फरसा से काट डाला

पश्चिमी चंपारण के नरकटियागंज प्रखंड क्षेत्र के पुरुषोतीपुर गांव में एक होमगार्ड जवान की हत्या कर दी गई। शनिवार की सुबह मनियारी गांव निवासी जवान विनोद राय अपने बेटे के साथ पुरुषोतीपुर गांव में दूध लाने गया था। तभी पुरानी अदावत में प्रहार कर उसे फरसा से काट डाला गया। वहां से भागकर जवान के बेटे ने किसी प्रकार अपनी जान बचाई। बताया जाता है कि होमगार्ड जवान विनोद राय का पुरुषोतीपुर गांव निवासी सोनू साह, मंजित साह के परिवार से किसी मुद्दे को लेकर पहले से अदावत रही। इस बीच, सुबह बाइक से जवान और उसका बेटा दूध लेने पुरुषोतीपुर गांव पहुंचे। तभी 10-12 लोगों ने हमला बोल दिया और फरसा से उसकी गर्दन काट डाली। मृत होमगार्ड जवान पटना में कार्यरत था। चुनाव के बाद घर आया हुआ था। हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

पूर्वी चंपारण में पीट-पीट कर युवक की हत्या

पूर्वी चंपारण के पीपरा थानाक्षेत्र के बेदीबन मधुबन गांव में एक युवक की हत्या पीट-पीटकर कर दी गई। हत्यारों ने साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से शव को गांव के पुलिया के नीचे फेंक दिया। युवक के शरीर के कई हिस्सों पर राॅड से प्रहार किए जाने का जख्म पाया गया है। युवक की पहचान पीपरा के बेदीबन मधुबन बाही टोला निवासी राम अयोध्या साह के 35 वर्षीय पुत्र विकास कुमार के रूप में की गई है। वह रसोइया का काम करता था। परिजनों ने बताया कि पड़ोस गांव चकनिया का एक युवक विकास को घर से बुलाकर शुक्रवार की शाम ले गया था। रात में वह घर नहीं लौटा। इस बीच शनिवार की सुबह उसका शव मिला। 

छपरा में युवक के सीने में घोंप दिया पेचकस

छपरा के गडख़ा थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव में एक युवक की सीने में पेचकस घोंपकर  हत्या कर दी गई। वारदात शनिवार की सुबह 10 बजे की है। हत्या की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन शुरू कर दी। पुलिस की दबिश की सूचना पर फरार आरोपित ने थाने में सरेंडर कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया। पतनपुर गांव के सुरेंद्र सिंह के 22 वर्षीय पुत्र अमरेश सिंह हसनपुर गांव में बिजली का कनेक्शन जोड़ने के लिए गया था। वहां पहले से मोटर में बिजली का कनेक्शन जोड़कर हरेंद्र राय का पुत्र अभिषेक कुमार पानी भर रहा था। एेसे में अभिषेक ने अमरेश कनेक्शन जोडऩे से रोक दिया। अमरेश के परिजनों के अनुसार, अमरेश ने कहा कि मैं कनेक्शन जोड़ देता हूं, इसके बाद तुम पानी चला चला लेना। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। तब अमरेश के सीने में अभिषेक ने पेचकस घोंप दिया।

अवैध संबंध में दिल दहला देनेवाली घटना

छपरा जिले में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। अवैध संबंध का विरोध करने पर प्रेमी के साथ मिलकर पुत्रवधू ने सास की गला दबाकर हत्या कर दी। वारदात शुक्रवार देर रात हुई, जबकि परिजनों को इसकी जानकारी शनिवार सुबह हुई। मामले में मृतका की बहू व उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों ने हत्या की बात स्वीकार ली है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है। मृतका रसूलपुर बाजार निवासी राम विनोद गिरी की पत्नी धर्मावती देवी (62 वर्ष) थी। राम विनोद गिरी की बहू प्रियंका देवी का अवैध संबंध सिवान जिले के पचरुखी थाना क्षेत्र के पगड़ा कोठी गांव निवासी वकील गिरि के पुत्र पिन्टू गिरि के साथ था। पिंटू आए दिन प्रियंका से मिलने घर आता था। इसकी जानकारी सास धर्मावती देवी को हुई तो उसने अवैध संबंधों का विरोध करना शुरू कर दिया। सास का मुंह बंद कराने की नीयत से प्रियंका और पिंटू गिरि ने धर्मावती की हत्या की साजिश रची। इसके बाद घटना काे अंजाम दिया गया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स ओलंपियाड के लिए ऑनलाइन आवेदन, आ गई परीक्षा की तारीख

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 7:57pm

पटना, जेएनएन। टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स (TSTM) ओलंपियाड में शामिल होने वालों के लिए अच्‍छी खबर। इसमें अावेदन करने की तारीख निकल गई है। पूरे बिहार में एक साथ 25 अगस्‍त को इसकी परीक्षा होगी। अावेदन के लिए 31 जुलाई तक अंतिम तिथि है। इसमें शामिल होनेवाले छात्र पूरी प्रक्रिया अच्‍छे से समझ कर अावेदन करें। 

11 से 18 अगस्‍त तक होगा प्रशिक्षण

टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स में शामिल होने वालों का इंतजार खत्‍म हो गया। ऑनलाइन आवेदन 31 जुलाई तक स्वीकार किए जाएंगे। ओलंपियाड का आयोजन 25 अगस्त को बिहार के सभी जिलों में होगा। प्रतिभागियों को 11 से 18 अगस्त के बीच प्रशिक्षण दिया जाएगा।

रजिस्‍ट्रेशन के लिए स्‍कूलों को जारी किया गया  पत्र

इसमें रजिस्ट्रेशन कराने के लिए केंद्रीय विद्यालय संगठन के क्षेत्रीय पदाधिकारी और जिला शिक्षा पदाधिकारी ने सभी सरकारी और निजी स्कूलों को पत्र जारी किया है। ओलंपियाड का आयोजन बिहार मैथमेटिकल सोसायटी कर रही है। टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स ओलंपियाड में कक्षा छह से नौ तक विद्यार्थी शामिल होंगे।

ऑनलाइन भरे जाएंगे फॉर्म 

संयोजक प्रो. विजय कुमार ने बताया कि रजिस्ट्रेशन (www. bmsbihar.org) पर स्वीकार किए जा रहे हैं। पटना साइंस कॉलेज के प्राचार्य प्रो. केसी सिन्हा ने बताया कि इसका उद्देश्य राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में छिपी हुई प्रतिभा को बाहर लाना और उन्हें ओलंपियाड से रूबरू कराना है। आयोजन से आइआइटी कानपुर के शिक्षक प्रो. एचसी वर्मा, पीयू के पूर्व कुलपति प्रो. केके झा, प्रो. डीएन सिंह, प्रो. लालजी प्रसाद, बैरी विश्वविद्यालय, अमेरिका के प्रो. जेएन सिंह, आइआइटी मुंबई के प्रो. डी सिंह आदि जुड़े हैं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

सुशील मोदी का करारा कटाक्ष: 'अपनी बेटी-बहू को भी नहीं जिता पाए लालू-मुलायम'

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 7:24pm

पटना [राज्य ब्यूरो]। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को कहा कि बिहार में लालू प्रसाद अपनी बेटी मीसा भारती और यूपी में मुलायम सिंह यादव अपनी बहू डिंपल यादव को भी चुनाव नहीं जिता पाए। जाहिर तौर, यह जनादेश डंके की चोट पर यह कठोर संदेश देता है कि लोकतंत्र में न कोई समुदाय किसी का बंधुआ वोटर है और न अब थेथरोलाजी से जनता को गुमराह किया जा सकता है। 

सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद की पार्टी जिस समाज को अपना बंधुआ समझती थी, उस समाज के पांच उम्मीदवार एनडीए के टिकट पर जीते। दूसरी तरफ, राजद का कोई प्रत्याशी नहीं जीत पाया। लालू प्रसाद की पुत्री मीसा भारती और समधी चंद्रिका राय को भी पराजय का सामना करना पड़ा, जबकि यदुवंशी समाज के नित्यानंद राय, अशोक यादव, रामकृपाल यादव, दिनेश चंद्र यादव और गिरिधारी यादव एनडीए के टिकट पर विजयी रहे।

उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में मुलायम सिंह यादव के परिवार की बहू डिंपल यादव और अन्य रिश्तेदारों की हार भी यही साबित करती है कि कोई समुदाय किसी का बंधुआ नहीं, बल्कि देशभक्ति, खुशहाली और विकास के लिए विवेक-सम्मत मतदान करता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच साल तक गरीबी और आतंकवाद से लडऩे की जो बड़ी लकीर खींची, उसके सामने जात-पात की राजनीति बेमानी हो गई। लोकतंत्र जनता के ऐसे फैसलों से बचा है, किसी की पदयात्रा करने की नौटंकी से नहीं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

छपरा में युवक के सीने में पेचकस गोदकर ले ली जान, फिर थाने में किया सरेंडर

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 4:02pm

छपरा, जेएनएन। जिले के गडख़ा थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव में एक युवक की सीने में पेचकस गोदकर  हत्या कर दी गई। वारदात शनिवार को दिन में करीब 10 बजे की है। हत्या की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन शुरू कर दी। पुलिस की दबिश की सूचना पर फरार आरोपित ने थाने में सरेंडर कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया।

बताया जाता है कि पतनपुर गांव के सुरेंद्र सिंह के 22 वर्षीय पुत्र अमरेश सिंह हसनपुर गांव में बिजली का कनेक्शन जोड़ने के लिए गया था। वहां पहले से मोटर में बिजली का कनेक्शन जोड़कर हरेंद्र राय का पुत्र अभिषेक कुमार पानी भर रहा था। एेसे में अभिषेक ने अमरेश कनेक्शन जोडऩे से रोक दिया। अमरेश के परिजनों के अनुसार, अमरेश ने कहा कि मैं कनेक्शन जोड़ देता हूं इसके बाद तुम पानी चला चला लेना। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद उत्पन्न हो गया।

इसी बीच अमरेश के सीने में अभिषेक ने पेचकस घोंप दिया। घटना के बाद आनन-फानन में इलाज के लिए अमरेश को सदर अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस संबंध में मृतक के पिता ने भगवान बाजार थाना में एफआइआर दर्ज कराई है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है। घटना के बाद से अमरेश के घर मातम छा गया और परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। हत्या के बाद पुलिस दबिश के कारण आरोपित युवक ने गडखा थाने में सरेंडर कर दिया है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

एक बाइक पर सवार होकर शादी में जा रहे तीन दोस्तों को ट्रक ने रौंदा, एक की मौत-दो गंभीर

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 3:21pm

बेगूसराय, जेएनएन। बेगूसराय-रोसड़ा SH-55 पर खोदावंदपुर थाना क्षेत्र के सागी चौक के समीप अज्ञात ट्रक व बाइक में हुई टक्कर में बाइक सवार एक युवक की मौत हो गई। जबकि दो अन्य युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गए। मृत युवक की पहचान समस्तीपुर जिले के दलसिंहसराय थाना क्षेत्र के बुलाकीपुर गांव निवासी राजेंद्र शर्मा के 26 वर्षीय पुत्र प्रदीप शर्मा के रूप में हुई है।

जख्मी युवकों की पहचान समस्तीपुर जिले के नरहन निवासी रणजीत कुमार शर्मा तथा सौचाही भरपुरा निवासी सूर्यनारायण शर्मा के पुत्र राम बाबू शर्मा के रूप में की गई है। थानाध्यक्ष दिनेश कुमार ने बताया कि एक ही बाइक पर सवार होकर तीनों चेरियाबरियारपुर थाना क्षेत्र के बसही गांव से रोसड़ा थाना क्षेत्र के मिर्जापुर गांव में बारात जा रहे थे। घटनास्थल के समीप सामने से आ रहे ट्रक ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। इसमें तीनों युवक गम्भीर रूप से घायल हो गए।

सूचना मिलते ही खोदावंदपुर पुलिस ने तीनों घायलों को इलाज के लिए खोदावंदपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद तीनों को बेहतर इलाज के लिए बेगूसराय रेफर कर दिया गया। इलाज के क्रम में जख्मी प्रदीप शर्मा की मौत हो गई। वहीं जख्मी रणजीत और रामबाबू शहर के एक निजी क्लीनिक में जीवन मौत से जूझ रहे हैं। पुलिस ने मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव को उनके परिजनों को सौंप दिया है। इस मामले में पुलिस ने क्षतिग्रस्त बाइक को अपने कब्जे में लेकर दुर्घटनाग्रस्त अज्ञात वाहन के विरूद्ध मामला दर्ज किया है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

भोजपुरी की यू-ट्यूब क्वीन आम्रपाली दुबे बनीं दुल्हन, दूल्हा बनकर आए निरहुआ

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 3:11pm

पटना, जेएनएन। भोजपुरी स‍िनेमा के सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ भले ही आजमगढ़ से चुनाव हार गए हों, लेकिन उन्होंने आम्रपाली दुबे का दिल जीत लिया है। यूट्यूब क्वीन आम्रपाली दुबे और दिनेश लाल यादव निरहुआ का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जहां निरहुआ आम्रपाली के दूल्हा बने हैं। दोनों अदाकारों की  यूट्यूब पर चाहने वालों की संख्‍या लाखों में हैं।

यूट्यूब पर निरहुआ का एक भोजपुरी वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह भोजपुरी सिनेमा की मशहूर और दिलकश अदाकारा आम्रपाली दुबे (Amrapali Dubey) के साथ नजर आ रहे हैं।

यूट्यूब क्वीन के नाम से मशहूर भोजपुरी अदाकारा आम्रपाली दुबे (Amrapali Dubey) के इस वीडियो ने यूट्यूब पर धमाल मचाया हुआ है। इस वीडियो में आम्रपाली दुल्‍हन के लिबास में नजर आ रही हैं। वहीं उनके दूल्‍हा बने हैं दिनेश लाल यादव निरहुआ (Dinesh Lal Yadav Nirhua)।

आम्रपाली दुबे की अभी शादी नहीं हुई है और फैंस को उन्‍हें दुल्‍हन के लिबास में देखने का बहुत मन है। अब भले ही रियल लाइफ में न सही लेकिन रील लाइफ में आम्रपाली ने फैंस की इस हसरत को पूरा कर दिया है। 

ये वायरल वीडियो फ‍िल्‍म राजा बाबू का है। लगभग चार मिनट के इस वीडियो में वह दुल्‍हन बनकर भावुक होती द‍िखाई दे रही हैं। बता दें क‍ि आम्रपाली दुबे पहले दर्जे की भोजपुरी अदाकारा हैं जिनकी सोशल मीड‍िया पर भी जबरदस्‍त फॉलोइंग है। इतना ही नहीं इससे पहले आम्रपाली दुबे का एक और वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वह  बिकिनी पहन पूल से बाहर आती हैं और उनका ये अंदाज देख द‍िनेश लाल यादव न‍िरहुआ दीवाने हो जाते हैं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

बिहार में पहली बार जीरो पर आउट हो गयी RJD, तो क्या लालू का विज्ञान हो गया फेल..

Dainik Jagran - May 25, 2019 - 2:30pm

पटना, काजल। इस बार के लोकसभा चुनाव में बिहार में सबसे ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने वाली पार्टी राजद को जहां सबसे बड़ी जीत की उम्मीद थी, वहीं परिणाम आने के बाद ये झटके से कम नहीं था कि पार्टी एक सीट भी जीत नहीं सकी जो कि अबतक का सबसे खराब प्रदर्शन कहा जा सकता है। कई दिग्गजों ने इस बार अपनी किस्मत आजमायी थी, जमकर चुनाव प्रचार भी किया गया। लेकिन, जनता ने एक भी उम्मीदवार पर भरोसा नहीं किया और पार्टी शून्य पर सिमट गई।

लालू का विज्ञान हो गया फेल

राजद सुप्रीमो लालू यादव की पार्टी की ये अबतक की सबसे बुरी हार बताई जा रही है। लालू ने काफी मेहनत और मशक्कत से राजद को बिहार में स्थापित किया और राजनीति के दिग्गज खिलाड़ी रहे लालू को उनके बेटे तेजस्वी ने कहा था कि लालू एक विचार हैं, एक विज्ञान हैं। तो क्या लालू के जेल में रहने से विज्ञान फेल हो गया?

तेजस्वी ने निराश किया

लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता हैं। लेकिन, उन्हें पार्टी और परिवार की चिन्ता लगी रहती है। लालू ने इस बार लोकसभा चुनाव की गोटियां रांची के रिम्स अस्पताल से फिक्स कीं। लेकिन, इस बार उन्होंने पार्टी की कमान अपने छोटे बेटे तेजस्वी के हाथों सौंपी थी। तेजस्वी ने लालू को निराश किया। 

लालू ने बनाया महागठबंधन, फिक्स कीं चुनावी गोटियां

महागठबंधन के लिए लालू ने अविश्वसनीय राजनीतिक सहयोगी माने जाने वाले रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा, हम के जीतन राम मांझी और विकासशील इंसान पार्टी के मुकेश सहनी के साथ मिलकर महागठबंधन बनाया और इसमें कांग्रेस को भी शामिल किया।

महागठबंधन का निर्माण तो हो गया और लालू ने जेल से ही चुनावी गोटियां फिक्स करनी शुरू कर दीं। लालू अच्छी तरह जानते थे कि उपेंद्र कुशवाहा, जीतनराम मांझी और मुकेश सहनी के शामिल करने से कुशवाहा, दलित, सहनी और निषाद समाज का समर्थन हासिल हो जाएगा। उन्होंने सोचा कि अगर ऐसा करने में सफल हो गए तो इससे महागठबंधन का फ़ायदा ही होगा।

आपसी कलह और महात्वाकांक्षा की भेंट चढ़ा गठबंधन

लेकिन लालू की सोच के विपरीत उपेंद्र कुशवाहा, मांझी और सहनी समेत वाम दलों ने अपनी बढ़ती मांग देखकर अपनी राजनीतिक बिसात से ज़्यादा हिस्सेदारी मांगना शुरू कर दी। इन तीनों दलों ने आधा दर्जन से ज़्यादा सीटें मांगनी शुरू कर दी और इसके साथ ही कांग्रेस की बिहार शाखा ने भी अपनी मांगे बढ़ा दीं।

महत्वाकांक्षा की इस राजनीतिक रस्साकशी के चलते महागठबंधन में सीटों को लेकर होने वाला बंटवारा लगातार टलता रहा। इसी बीच एनडीए के कई उम्मीदवारों ने तो अपना चुनाव प्रचार करना भी शुरू कर दिया था। 22 मार्च तक महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर किचकिच होती रही और फिर सीट बंटवारे के तहत राजद को 19 सीटें मिली। 

राजद ने बेगूसराय में कन्हैया को नकारा 

इसके बाद बेगूसराय सीट को लेकर राजद और सीपीआई के बीच एक नया विवाद पैदा हो गया। सीपीआई इस सीट से कन्हैया कुमार को उतारना चाहती थी और राजद इसके लिए तैयार नहीं हुआ। अंत में कन्हैया कुमार ने सीपीआइ के टिकट से ही चुनाव लड़ा। अगर कन्हैया पर राजद भरोसा करता तो जीत उसके पाले में आ सकती थी।

पप्पू यादव ने फूंका बिगुल, खुद हारे सुपौल से हारीं रंजीत रंजन

इसके बाद लोजपा अध्यक्ष पप्पू यादव ने भी बिगुल फूंक दिया और राजद के टिकट से चुनाव लड़ रहे शरद यादव  को नुक़सान पहुंचाने के लिए मधेपुरा से चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी। जिसका खामियाजा उन्हें ये भुगतना पड़ा कि राजद ने उनकी पत्नी और सुपौल से मौजूदा कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया और वो चुनाव हार गईं। महागठबंधन को इन दोनों सीटों पर जीत मिल सकती थी आपसी कलह से ये दोनों सीटें भी गंवानी पड़ी।

मधुबनी और दरभंगा में भी अपनों ने ही दिलायी हार

उधर,मधुबनी में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शकील अहमद ने पार्टी छोड़ दी और निर्दलीय अपनी उम्मीदवारी की घोषणा करके डेढ़ लाख वोट हासिल करके इस सीट पर महागठबंधन के उम्मीदवार की हार तय कर दी। तो वहीं, दरभंगा में राजद नेता और पूर्व सांसद अहमद अशरफ अली फ़ातमी और उनके समर्थकों ने अपनी ही पार्टी के अब्दुल बारी सिद्दिक़ी को हराने में कोई कसर नहीं छोड़ी। 

तेजप्रताप ने की खिलाफत

महागठबंधन में जब ये रस्साकशी चल रही थी तब राजद सुप्रीमो लालू यादव जेल में बंद थे और ना वो पार्टी के लिए कुछ कर सकते थे ना परिवार में चल रही कलह के लिए ही। लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने भी लालू को कम चुनौतियां नहीं दीं और महागठबंधन के लिए परेशानी का सबब बनते रहे। उन्होंने अपने ससुर और सारण से उम्मीदवार चंद्रिका राय को हराने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

इतना ही नहीं, अपने बयानों और मंच से दिए गए बयानों से भी उन्होंने कई एेसी बातें कहीं जो उन्हें नहीं कहनी चाहिए थी। तेज प्रताप यादव ने एेन वक्त पर लालू-राबड़ी मोर्चा बना लिया और जहानाबाद में अपनी पार्टी से अलग एक उम्मीदवार का समर्थन भी किया। इसके चलते ही इस सीट पर राजद उम्मीदवार सुरेंद्र यादव हार गए, नहीं तो वो सीट राजद के खाते में आ सकती थी। 

बड़ी बेटी मीसा भी नहीं हो सकीं सफल, हार गईं

राबड़ी की पहल पर दोनों भाईयों ने बहन मीसा के लिए साथ मिलकर चुनाव प्रचार किया। लालू परिवार और पार्टी को उम्मीद थी कि मीसा भारती पाटलिपुत्र सीट जीत लेंगी। लेकिन 23 मई की शाम जब रिजल्ट आया तो पता चला कि पाटलीपुत्र लोकसभा सीट से चुनाव हार गईं।

खराब प्रदर्शन का जिम्मा तेजस्वी पर

इस तरह आरजेडी शून्य पर सिमट गई। राजद के इस प्रदर्शन पर सोशल मीडिया पर जारी चर्चाओं में तेजस्वी यादव को इस ख़राब प्रदर्शन के लिए ज़िम्मेदार ठहराया जा रहा है। अगर ज़िम्मेदार ठहराने की बात की जाए तो इस समय महागठबंधन में हर नेता अपने आपको बचाने की कोशिश में दूसरों पर आरोप लगा रहे हैं।

लालू परिवार को लेनी पड़ेगी हार की जिम्मेदारी

बीजेपी ने नरेंद्र मोदी के नाम की सुनामी में कुछ दक्षिण भारतीय राज्यों के अलावा पूरे भारत में अपना बेहतरीन प्रदर्शन किया है। ऐसे में सवाल उठता है कि किसी एक नेता को इस हार के लिए ज़िम्मेदार ठहराया जाना कितना सही है? लेकिन ये भी सही है कि किसी न किसी को इस हार की ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए और लालू परिवार इस ज़िम्मेदारी से बच नहीं सकता।

महागठबंधन को इस चुनाव में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की कमी खली। तेजस्वी यादव के नेतृत्व में पूरे चुनाव प्रचार के दौरान कुशल नेतृत्व का घोर अभाव दिखा। 10 सीटों पर महागठबंधन के दलों में तालमेल की कमी और भितरघात साफ दिख रहा था। 2014 की मोदी लहर में भी आरजेडी 4 सीटें जीतने में सफल रही थी। लेकिन इस बार तो राजद का सूपड़ा ही साफ हो गया। अब अानेवाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी को नए सिरे से सोचना होगा। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair