Bihar News

हाई वोल्‍टेज फैमिली ड्रामा: प्रेमी के घर के सामने धरना पर बैठी प्रेमिका, बोली- चल कर शादी

Dainik Jagran - 2 hours 42 min ago

पटना [जेएनएन]। प्रेमी-प्रमिका हैदराबाद में 11 साल से 'लिव-इन' रिलेशशिप में थे। एक दिन अचानक प्रेमी ने घर छोड़ दिया। इसके बाद प्रेमिका उसके बिहार के मुंगेर स्थित घर आ पहुंची और अपनी दास्‍ता सुना शादी की मांग रखी। लेकिन घरवालों ने उसे एंट्री नहीं दी। फिर क्‍या था, प्रेमिका वहीं सड़क पर धरना पर बैठ गई। इस हाई वोल्‍टेज फैमिली ड्रामा देखने के लिए भारी भीड़ उमड़ पड़ी। पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद प्रेमिका को प्रेमी के घर के अंदर पहुंचाया।

घर के बाहर प्रेमिका का धरना

मुंगेर के कासिम बाजार थाना अंतर्गत लल्लू पोखर के रहने वाले युवक उत्कर्ष से मिलने शनिवार को हैदराबाद से उसकी कथित प्रेमिका आ पहुंची। लेकिन उत्कर्ष के घरवालों ने उसे घर में एंट्री नहीं दी। इससे आहत प्रेमिका वहीं घर के बाहर सड़क पर धरने पर बैठ गई।

पुलिस ने प्रेमिका को घर में दिलाई एंट्री

सड़क पर धरना देती युवती को देखकर भीड़ तो जुटनी ही थी। देखते-देखते वहां सैकड़ों लोग जुट गए। इससे यातायात भी प्रभावित हो गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने उत्‍कर्ष के घरवालों को समझाया। काफी कोशिश के बाद पुलिस ने प्रमिका को प्रेमी के घर के अंदर पहुंचाकर राहत की सांस ली।

निजी कंपनी में काम करते हैं दोनों

युवती व उत्‍कर्ष व हैदराबाद में एक निजी कंपनी में काम करते हैं। इस मामले में युवक के घरवालों से बातचीत के प्रयास जारी हैं।

Categories: Bihar News

पटना के रामकृष्ण नगर में बड़ा हादसा, खाना बनाने के दौरान फटा सिलेंडर-तीन की हालत गंभीर Patna News

Dainik Jagran - 3 hours 43 min ago

पटना, जेएनएन। राजधानी में रविवार को गैस सिलेंडर फटने से बड़ा हादसा हो गया। घटना रामकृष्ण नगर में हुई। खाना बनाने के दौरान हुए हादसे में चार लोग घायल हो गए। जिनमें से तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। सभी को इलाज के लिए फोर्ड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। हादसे के बाद इलाके में अफरातफरी मच गई है। सूचना पर पुलिस पहुंच गई है। साथ ही बड़ी संख्या में लोग इकत्रित हो गए हैं।

बताया जाता है कि घटना रामकृष्णा नगर की गोकुल धाम सोसाइटी की है। यहां रविवार की सुबह अचानक खाना बनाने के दौरान विस्फोट की आवाज से सभी सकते में आ गए। अफरातफरी के माहौल के बीच पता चला कि सिलेंडर फट गया है। सूचना पर रामकृष्ण नगर थाने की पुलिस पहुंच गई है। घटना में चार लोग सिलेंडर की चपेट में आ गए। इसमें तीन की हालत गंभीर बनी हुई है।

Categories: Bihar News

बिहार: उपचुनाव में सीटों की दावेदारी को ले दांव पर सियासी यारी, महागठबंधन की भी अग्निपरीक्षा

Dainik Jagran - 3 hours 59 min ago

पटना [अरविंद शर्मा]। लोकसभा चुनाव (Laok Sabha Election) में पांच विधायकों के सांसद बन जाने के कारण खाली हुई बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) की पांच सीटों पर उपचुनाव (By Election) की घोषणा हो गई है। लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) सांसद रामचंद्र पासवान (Ram Chandra Paswan) के निधन से खाली हुई समस्तीपुर संसदीय सीट पर भी साथ ही चुनाव होने हैं। सभी छह सीटों पर 21 अक्टूबर को वोट पड़ेंगे। तीन दिन बाद 24 अक्टूबर को परिणाम भी आ जाएंगे। उपचुनाव में सीटों की दावेदारी पर सियासी यारी दांव पर लगती दिख रही है। खास कर विपक्षी महागठबंधन (Grand Alliance) की अग्निपरीक्षा तय है।

तैयारी के लिए वक्त बहुत कम

चुनाव आयोग के कार्यक्रम के हिसाब से चुनाव लडऩे को इच्छुक पार्टियों और प्रत्याशियों के पास तैयारी के लिए वक्त बहुत कम है। जाहिर है, दावेदारों का चयन, नामांकन और प्रचार के सारे काम 20-25 दिनों के भीतर पूरे करने हैं।

एनडीए में ज्यादा अगर-मगर नहीं

विधानसभा की खाली सीटों को लेकर राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) कुनबे में कोई ज्यादा अगर-मगर नहीं दिख रहा है, क्योंकि रिक्त पांच में से चार सीटों पर 2015 के विधानसभा चुनाव में जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने कब्जा जमाया था। कांग्रेस (Congress) के कब्जे वाली किशनगंज विधानसभा की एक सीट का सामाजिक समीकरण ऐसा है कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) उसे लेकर ज्यादा उत्साहित नहीं होगी। हालांकि, सियासत में सबकुछ पहले से तय नहीं होता।

असली परीक्षा तो विपक्षी महागठबंधन की

सीटों के बंटवारे के मसले पर असली परीक्षा तो विपक्षी महागठबंधन (Grand Alliance) की होनी है, जो फिलहाल चेहरे के संकट से जूझ रहा है। पहले भी घटक दलों के बीच का गतिरोध-प्रतिरोध पर्दे में नहीं रहा है। लोकसभा चुनाव में पांचों घटक दल अलग-अलग राह पर चल रहे थे। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) ने चार सीटों पर दावा किया है। कांग्रेस (Congress) ने पहले से ही समस्तीपुर संसदीय सीट के अलावा विधानसभा की दो सीटों की मांग कर रखी है। कांग्रेस की एक आंतरिक बैठक 24 सितंबर को होने जा रही है। माना जा रहा है कि उसमें पार्टी अपनी मजबूत दावेदारी वाली सीटों का चयन कर लेगी। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौर के मुताबिक समस्तीपुर और किशनगंज पर कांग्रेस का दावा स्वाभाविक है।

हिंदुस्‍तानी आवाम मोर्चा (HAM) के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने अपनी दावेदारी वाली सीटें भी बता दी हैं। राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) और विकासशील इंसान पार्टी (VIP) के मुकेश सहनी (Mukesh Sahani) की दावेदारी आनी अभी बाकी है।

Categories: Bihar News

चिन्‍मयानंद के बाद अब बिहार के इस RJD MLA पर कसा शिकंजा, दुष्‍कर्म कांड में कुर्की का वारंट जारी

Dainik Jagran - 3 hours 59 min ago

भोजपुर [जेएनएन]। यौन शोषण के आरोप में उत्‍तर प्रदेश में चिन्‍मयानंद (Chinmayanand) की गिरफ्तारी के बाद अब बिहार में राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) विधायक अरुण यादव (MLA Arun Yadav) पर भी देह व्‍यापार (Flesh Trade) व दुष्‍कर्म के एक मामले में काननू का शिकंजा कसता जा रहा है। आरा कोर्ट (Ara Court) ने उनके विरुद्ध शनिवार को कुर्की-जब्ती का वारंट (Warrant for Attachment) जारी कर दिया। अरुण यादव पटना-आरा देह व्‍यापार व दुष्‍कर्म कांड में फरार चल रहे हैं। उनका मोबाइल अभी तक बंद है। मोबाइल का अंतिम लोकेशन झारखंड में मिलने के कारण माना जा रहा है कि वे बिहार के बाहर भूमिगत हैं।

ज्ञात हो कि गत 18 जुलाई को देह व्‍यापार गिरोह (Flesh Trade Racket) के चंगुल से निकलकर भागी एक नाबालिग लड़की भोजपुर पुलिस के पास पहुंची। उसने पटना में एक इंजीनियर और एक विधायक के आवास पर दुष्‍कर्म की बात कही। लड़की ने आरा कोर्ट में दर्ज अपने बयान में कहा कि विधायक अरुण यादव के पटना स्थित आवास पर उसके साथ गंदा काम किया गया। इसके बाद विधायक की मुश्किलें बढ़ गईं हैं। अब पुलिस के आग्रह पर कोर्ट ने कुर्की का वारंट भी निर्गत कर दिया है।

आरोपित विधायक फरार, कुर्की वारंट जारी

कांड के अनुसंधानकर्ता (IO) चंद्रशेखर गुप्ता ने पॉक्सो के विशेष न्यायाधीश सह प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरके सिंह के यहां कुर्की-जब्ती वारंट जारी करने के लिए अर्जी दी थी। शनिवार देर शाम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने फरार विधायक के खिलाफ कुर्की का आदेश जारी कर दिया।

विधायक की पत्‍नी ने कोर्ट ने लगाई ये गुहार

इधर इससे पहले विधायक की पत्नी किरण देवी ने अगिआंव स्थित आवास अपने नाम पर होने एवं बैंक लोन बकाया होने को लेकर कोर्ट में अर्जी दी थी। उन्होंने कोर्ट से अगिआंव स्थित मकान की कुर्की नहीं करने की गुहार लगाई थी। इस संबंध में भोजपुर एसपी सुशील कुमार ने कहा कि कोर्ट ने क्या आदेश दिया है यह देखने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कुर्की जब्‍ती के पहले कोर्ट में कर सकते सरेंडर

इसके पहले भोजपुर पुलिस ने मंगलवार की शाम आरजेडी विधायक अरूण यादव के भोजपुर स्थित लसाढ़ी व अगिआंव के घरों तथा पटना के हार्डिंग रोड स्थित सरकारी आवास पर छापेमारी की तथा वहां इश्‍तेहार चस्‍पा किया। कोर्ट से कुर्की जब्‍ती का आदेश जारी होनें के बाद विधायक पर सरेंडर करने के लिए दबाव बढ़ गया है। सूत्रों की मानें तो वे जमानत (Bail) कराने के प्रयास में लगे हैं। वे कुर्की के पहले कभी भी कोर्ट में सरेंडर (Surrender) कर सकते हैं।

Categories: Bihar News

बड़ी खबर: अब आधार से जुड़ेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जब्‍त होने पर दूसरा बनवाना होगा मुश्किल

Dainik Jagran - 3 hours 59 min ago

पटना [जेएनएन]।  मोटर वाहन परिचालन से जुड़ी यह बड़ी खबर है। अब ड्राइविंग लाइसेंस (Driving Licence) को आधार (Aadhar) नंबर सेजोड़ा जाएगा। इससे एक बार ड्राइविंग लइसेंस जब्‍त होने पर दूसरा लाइसेंस बनवाना मुश्किल हो जाएगा।

केंद्रीय कानून, सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने पटना में 10वें आधार सेवा केंद्र (Aadhar Service Centre) के उद्घाटन अवसर पर कहा कि 'आधार' से भ्रष्टाचार में कमी आई है। अब इसे ड्राइविंग लाइसेंस से जोड़ा जाएगा। इससे लाइसेंस जब्त होने पर दूसरे राज्यों में इसे बनाकर वाहन चलाने की परिपाटी समाप्त हो जाएगी।

डिजिटल पहचानपत्र है आधार

विदित हो कि आधार किसी व्‍यक्ति का डिजिटल पहचानपत्र है। इसमें अंगुली की रेखाएं व आंखों की पुतलियों के विवरण दर्ज रहते हैं। साथ ही व्‍यक्ति की पूरी जानकारी रहती है। आधार को ड्राइविंग लाइसेंस से जोड़ने का सीधा अर्थ यह है कि लाइसेंस बनाने के क्रम में उसका वेरिकफकेशन करना आसान हो जाएगा।

पटना में आधार सेवा केंद्र का उद्घाटन

आधार संबंधी सेवाओं के लिए पटनामें शनिवार को आधार सेवा केंद्र का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री ने रविशंकर प्रसाद ने किया। उनके अनुसार देश के 53 शहरों में 114 आधार सेवा केंद्रों की स्थापना होनी है। इनमें पटना में दो केंद्र हैं। पासपोर्ट कार्यालय की तर्ज पर यहां कार्य होगा। एक दिन में एक हजार लोगों का आधार बन सकता है। चाहता हूं कि यह केंद्र भारत में बेहतर कार्य में पहला स्थान प्राप्त करे।

Categories: Bihar News

Bank Strike: निपटा लें सभी जरूरी काम, दुर्गा पूजा से पहले चार दिन बंद रहेंगे बैंक Patna News

Dainik Jagran - 4 hours 19 min ago

पटना, जेएनएन। सभी जरूरी काम निपटा लें। केंद्र सरकार की बैंक विरोधी नीतियों के मुद्दे पर 26 और 27 सितंबर को देश के सभी बैंकों के सभी अधिकारी हड़ताल पर रहेंगे। हालांकि बैंक चार दिन लगातार बंद रहेंगे क्योंकि 28 को महीने का अंतिम शनिवार है व 29 को रविवार है।

ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कंफेडरेशन के महासचिव अजित कुमार मिश्र, ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के महासचिव डॉ. कुमार अरविंद और इंडियन नेशनल बैंक ऑफिसर्स कंफेडरेशन के महासचिव आरके चटर्जी ने कहा कि अगर उनकी मांगों की पूर्ति नहीं हुई तो नवंबर माह के दूसरे सप्ताह से वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

बैंक यूनियनों के नेताओं ने कहा कि केंद्र सरकार गांव-गांव तक बैंकों के विस्तार की बात कर रही है। दूसरी तरफ बैंकों का मर्जर कर रही है। मर्जर से बैंक कर्मियों की नौकरी पर कोई खतरा नहीं है, लेकिन बेरोजगारी बढ़ जाएगी। जनता को सस्ती दरों पर बैंकिंग सुविधा का लाभ नहीं मिलेगा। साथ ही केंद्र सरकार उनकी प्रमुख मांगों में शामिल लंबित वेतन समझौते को लागू करे। सप्ताह में पांच दिन का कार्यकाल लागू किया जाए। कैश लेनदेन की अवधि को कम किया जाए। पेंशन संबंधि विसंगतियों को दूर हो।

काम के दबाव को करने के लिए नियमित भर्ती अभियान चलाया जाए। न्यू पेंशन स्कीम को रद किया जाए। उन्होंने कहा कि डिजिटल युग में पांच दिवसीय कार्यकाल को सरकार माने। विश्व की सभी वित्तीय संस्थाएं सप्ताह में पांच दिन खुली रहती हैं। बैंकों का मर्जर होने से 2000 शाखाएं बंद हो सकती हंै। वित्त मंत्री ने 400 जिलों में लोन मेला लगाने का निर्देश दिया है। बैंकों का मर्जर होगा तो ऐसे निर्देशों का पालन कैसे होगा।

Categories: Bihar News

BN कॉलेज के बाद कॉमर्स कॉलेज पर नैक ने लगाया एक साल का प्रतिबंध, ये है वजह Patna News

Dainik Jagran - 4 hours 46 min ago

पटना, जेएनएन। राजधानी के एक और कॉलेज पर गाज गिरी है। पटना विश्वविद्यालय के बीएन कॉलेज के बाद वाणिज्य महाविद्यालय को भी राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) ने एक साल तक मूल्यांकन प्रक्रिया में शामिल होने के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। नैक सूत्रों के अनुसार वाणिज्य महाविद्यालय ने सेल्फ असेसमेंट रिपोर्ट (एसएसआर) जमा करने के बाद निर्धारित प्रक्रिया को पूरा नहीं की।

एसएसआर से संबंधित प्रश्नों पर महाविद्यालय ने किसी तरह की प्रक्रिया नहीं दी। इसके आधार पर नियमानुसार एसएसआर को रद कर दिया गया। अब कॉलेज को अप्रैल के बाद ही पूरी प्रक्रिया को नए सिरे से प्रारंभ करना होगा। रजिस्ट्रेशन शुल्क लगभग एक लाख रुपये भी दोबारा जमा करने होंगे। प्राचार्य प्रो. चंद्रमा सिंह ने बताया कि उनके पदभार ग्रहण करने से पहले ही नैक मूल्यांकन प्रक्रिया प्रतिबंधित कर दी गई थी। 16 अप्रैल, 2019 को लॉगइन बंद कर दी गई थी। राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद का यह फैसला पूरी तरह से एकतरफा है। कॉलेज प्रशासन ने प्रश्नों का जवाब एक सप्ताह में सबमिट करने का समय मांगा था। लेकिन, लॉगइन बंद होने के कारण यह संभव नहीं था।

पूरी वस्तुस्थिति से कुलपति को अवगत करा दिया गया है। कुलपति स्तर से आगे की कार्रवाई की जा रही है। कुलपति ने तलब किए सभी कागजात वाणिज्य महाविद्यालय प्रबंधन ने चार माह तक नैक प्रक्रिया रद होने की सूचना विश्वविद्यालय प्रशासन को नहीं दी। बीएन कॉलेज की एसएसआर रद होने के बाद कुलपति प्रो. रास बिहारी प्रसाद सिंह ने वाणिज्य महाविद्यालय को नैक एक्रिडेशन प्रक्रिया से संबंधित प्रगति रिपोर्ट तलब की है। इसके बाद पूरी वस्तुस्थिति से पर्दा उठा। कुलपति ने कॉलेज प्रशासन को सभी कागजात जमा करने को कहा है। पूरी प्रक्रिया में त्रुटियों की जांच के बाद विवि प्रशासन नैक से पत्राचार का निर्णय लेगा।

प्रक्रिया रुकने पर क्या है प्रावधान दिल्ली विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त फैकल्टी व नैक विशेषज्ञ प्रो. एमपी शर्मा ने बताया कि नैक एक्रिडेशन की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन संचालित होती है। सभी मानक व नियम पूर्व निर्धारित होते हैं। यदि वाणिज्य महाविद्यालय ने एसएसआर से संबंधित प्रश्नों का जवाब समय पर नहीं दिया होगा तो लॉगइन स्वत: बंद हो गया होगा। लेकिन, इसकी जानकारी कॉलेज प्रशासन को उसी समय देनी होगी। प्रक्रिया बीच में रुकने पर एक साल तक का प्रतिबंध लगाया जाता है।

इसके साथ प्रक्रिया अवरुद्ध होने पर संबंधित कॉलेज और नैक दोनों अपनी वेबसाइट पर जानकारी अपलोड करेंगे। एसएसआर यदि प्री-क्वालीफाई नहीं करने के कारण रिजेक्ट होता है तो दोबारा नए सिरे से एसएसआर छह माह के बाद कॉलेज ऑनलाइन जमा कर सकते हैं।

पीयू के छह में दो कॉलेज की एसएसआर रद

पटना विश्वविद्यालय के पटना साइंस कॉलेज, पटना लॉ कॉलेज, पटना कॉलेज, वाणिज्य महाविद्यालय, मगध महिला कॉलेज और बीएन कॉलेज ने नैक एक्रिडेशन के लिए एसएसआर जमा की थी। इसमें मगध महिला कॉलेज को 'बी' ग्रेड आवंटित किया जा चुका है। पटना लॉ कॉलेज में नैक टीम पहुंची है। वहीं, पटना साइंस कालेज में नवंबर पहले सप्ताह और पटना कॉलेज में अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में नैक टीम पहुंचेगी।

पीपीयू के 14 में 12 कॉलेज योग्य नहीं

पाटलिपुत्र विवि के 14 कॉलेजों ने नैक एक्रिडेशन के लिए एसएसआर जुलाई में जमा की थी। इनमें से 12 कॉलेज प्री-क्वालीफाई राउंड में 30 फीसद अंक भी प्राप्त नहीं कर सके हैं। इस कारण इन कॉलेजों को नैक एक्रिडेशन के लिए अयोग्य करार दिया गया है। इन कॉलेजों को छह माह बाद नए सिरे से पूरी प्रक्रिया प्रारंभ करनी होगी।

Categories: Bihar News

गंगा स्थिर पर खतरे के निशान से 1.14 मीटर ऊपर, प्रशासन अलर्ट

Dainik Jagran - 13 hours 26 min ago

पटना। गंगा उफान पर है। खतरे के निशान से 1.14 मीटर ऊपर बह रही है। दियारा के गांव पूरी तरह से घिर गए हैं। पटना शहर के घाटों के ऊपर पानी आ गया है। गंगा रिवर फ्रंट एवं गंगा चैनल में गंगा की तेज धारा आ गयी है। अधिकारियों और गंगा के पानी से घिरे लोगों को शनिवार की दोपहर 12 बजे से जल स्तर स्थिर होने से राहत मिली है। रविवार को भी जलस्तर स्थिर रहने की संभावना है। वहीं अधिकारियों की टीम दानापुर, सदर और बख्तियारपुर दियारा के गांवों का भ्रमण कर हालात का जायजा लिया। जिलाधिकारी कुमार रवि ने कहा कि जलस्तर स्थिर रहने के बाद भी प्रशासन अलर्ट है। किसी तरह की सूचना मिलते ही अधिकारी पहुंच रहे हैं। मुखिया सहित पंचायत प्रतिनिधि सीधे संपर्क में हैं।

एसडीआरएफ के जवान गांधीघाट, गायघाट और पाटीपुल घाट से गंगा में गश्त कर रहे हैं। जबकि जिला प्रशासन की तरफ से महत्वपूर्ण घाटों पर तैनात दंडाधिकारी, पुलिस अधिकारी महिला-पुरुष बल के साथ लोगों को गंगा किनारे जाने से शनिवार को रोकते रहे। इन्हें सुरक्षा के दृष्टिकोण से तैनात किया गया है। जल संसाधन विभाग के अधिकारी 24 घंटे गंगा पर नजर रख रहे हैं। दो कार्यपालक अभियंता, पांच सहायक अभियंता और 24 कनीय अभियंताओं की तैनाती की गयी है।

गांधी घाट पर जलस्तर 49.74 मीटर पहुंच गया है। जबकि 48.60 मीटर पर खतरे का निशान है। शुक्रवार की शाम छह बजे से नौ सेंटीमीटर जल में वृद्धि हुई है। अधिकारियों के अनुसार जलस्तर स्थिर होने के बाद अब बाढ़ टलने की संभावना दिख रही है। 2016 में गंगा का जलस्तर 50.52 मीटर पहुंच गया था। इस वर्ष इसके बराबर जलस्तर जाने की संभावना नहीं है। गंगा रिवरफ्रंट से गंगा सट गयी है। कई स्थानों पर गंगा रिवर फ्रंट गंगा के पानी से डूब गया है। बिंदटोली चारों तरफ से गंगा के पानी से घिर गई है।

------------

अभी राहत पहुंचाने जैसी स्थिति नहीं है। कोई गांव बाढ़ से नहीं डूबा है। हर मोर्चा पर प्रशासन अलर्ट है। किसी भी तरह की भीषण परिस्थिति से मुकाबला करने के लिए तैयार हैं। शरण स्थल से लेकर लोगों को बाढ़ से निकालने की तैयारी है।

- कुमार रवि, जिलाधिकारी, पटना।

Categories: Bihar News

कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाना आध्यात्मिक चेतना का परिणाम

Dainik Jagran - 13 hours 27 min ago

पटना। भारत की पहचान आध्यात्मिकता की वजह से है। हमारा देश आकाशीय गंगा की तरह है, जिसमें सभी का समावेश है। ये बातें शिमला विवि और हिमाचल प्रदेश विवि के पूर्व कुलपति आचार्यश्री अरूण दिवाकर नाथ वाजपेयी ने शनिवार को बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स परिसर में कहीं। कॉलेज ऑफ कॉमर्स आ‌र्ट्स एंड साइंस पटना तथा विश्वंभर अध्यात्म एवं विज्ञान संस्थान के तत्वावधान में आयोजित 'आध्यात्मिक राष्ट्रवाद' विषय पर संगोष्ठी के दौरान आचार्य अरूण दिवाकर ने कहा कि हमें आत्मा चलाती है पर दिखती नहीं है। हमें जीवन में सूक्ष्म बातों को समझने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में धारा 370 को हटाना भी आध्यात्मिक चेतना का परिणाम है। उन्होंने कहा कि हमारा देश की विशेषता एकता में विविधता है। हरेक व्यक्ति के अंदर अध्यात्म छिपा है। देश में कई प्रकार की भाषाएं, संस्कृति होने के बावजूद जो हमें सभी से जोड़ती है वह है आध्यात्मिकता। हमें पूर्वाग्रह को तोड़ने की जरूरत है। वही संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए पाटलिपुत्र विवि के कुलपति प्रो. गुलाब चंद राम जायसवाल ने कहा कि भारतीय समाज की विभिन्नताओं में मौलिक एकता सदैव विद्यमान रही है। समय-समय पर राजनीतिक एकता की भावना भी उदय होती रही है। स्वागत भाषण के दौरान कॉलेज ऑफ कॉमर्स के प्राचार्य प्रो. तपन कुमार शांडिल्य ने कहा कि भारतीय राष्ट्रवाद को समझने के लिए इसकी सामाजिक पृष्ठभूमि को समझना आवश्यक है। समारोह के दौरान कई विभूतियों को सम्मानित किया गया। सम्मान पाने वालों में पद्मश्री भरतनाट्यम की नृत्यांगना गीताचंद्रन को कला एवं संस्कृति पुरस्कार, प्रो. डॉ. संजय पासवान को समाज वैज्ञानिक पुरस्कार, डॉ. कृष्ण कांत ओझा को संवाद शास्त्री पुरस्कार, डॉ. मजहर नकवी को राष्ट्रीय चेतना पुरस्कार, डॉ. प्रवेश कुमार को युवा समाज वैज्ञानिक पुरस्कार, अवनीश कुमार सोनी को शिक्षा उद्यमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। मौके पर गुजरात के कुलपति प्रो. विजय कुमार श्रीवास्तव, अधिवक्ता एमडी एन वाजपेयी, नई दिल्ली के अधिवक्ता अश्रि्वनी दुबे, चित्रकुट से प्रो. विजय परिहार ने विषय पर प्रकाश डालते हुए आचार्य अरूण दिवाकर नाथ वाजपेयी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। वही समारोह के दौरान भरतनाट्यम की पद्मश्री नृत्यांगना गीताचंद्रन ने भगवान शिव के साकार और निराकार स्वरूप की प्रस्तुति नृत्य के द्वारा पेश कर सभी का दिल जीता। वही भगवान विष्णु के विभिन्न अवतार का वर्णन नृत्य के द्वारा पेश कर मन मोह लिया।

Categories: Bihar News

सालभर में 93 हजार मरीजों का हुआ आयुष्मान योजना के तहत इलाज

Dainik Jagran - 13 hours 28 min ago

पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी आयुष्मान योजना के तहत राज्य में एक वर्ष में 93 हजार मरीजों का इलाज हुआ है, जबकि सरकार की ओर से साढ़े पांच करोड़ मरीजों के इलाज का लक्ष्य रखा गया है। राज्य में 93 हजार मरीजों के इलाज पर सरकार ने लगभग 80 करोड़ रुपये खर्च किया है। अब तक सरकार की ओर से आयुष्मान योजना के तहत 147 निजी अस्पतालों को ही जोड़ा जा सका है। इसके अलावा राज्य के 565 सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान योजना की सुविधा मरीजों को मुहैया कराई जा रही है। पटना जिले में 3208 मरीजों को मिला लाभ

आयुष्मान योजना के तहत पटना जिले में एक वर्ष में 3208 मरीजों का इलाज किया गया है। पटना में अब तक एक करोड़ छह लाख रुपये की धनराशि योजना के तहत खर्च की गई है। पटना में निजी क्षेत्र के 15 अस्पतालों को योजना से जोड़ा गया है। वहीं 35 सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान का लाभ मरीजों को मिल रहा है। पटना के सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी का कहना है कि जिले में 32 और निजी अस्पतालों को जोड़ने की तैयारी चल रही है। इन अस्पतालों को आयुष्मान योजना के मानकों पर जांच की जा रही है। जांच के क्रम में सही पाए जाने के बाद ही निजी अस्पताल जोड़े जाएंगे। सिविल सर्जन का कहना है कि सरकार की ओर से प्रत्येक प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों पर आयुष्मान मित्र की नियुक्ति की जा रही है। इससे गरीब मरीजों को आयुष्मान का लाभ पहुंचाने में मदद मिलेगी।

पीएमसीएच व आइजीआइएमएस में भी मिल रही सुविधा

पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (पीएमसीएच) एवं इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इसके अलावा राजवंशी नगर अस्पताल, न्यू गार्डिनर अस्पताल में भी आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का इलाज किया जा रहा है। पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि आयुष्मान योजना के तहत राज्यभर से आने वाले मरीजों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। यहां पर विशेष काउंटर खोले गए हैं। आयुष्मान योजना के मरीजों को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके लिए अलग से दवा का काउंटर खोला गया है। इमरजेंसी में इस काउंटर से आयुष्मान के मरीजों को दवा मुहैया कराई जा रही। पीएमसीएच में अब तक आयुष्मान योजना के तहत 800 से ज्यादा मरीजों का इलाज किया गया है।

निजी अस्पतालों में महावीर

कैंसर में सर्वाधिक इलाज

राजधानी के निजी अस्पतालों में सबसे ज्यादा इलाज महावीर कैंसर संस्थान की ओर से किया गया है। संस्थान के अधीक्षक डॉ. एलबी सिंह का कहना है कि महावीर कैंसर संस्थान में अब तक 2000 से अधिक मरीजों का इलाज किया गया है। इसके अलावा महावीर आरोग्य, महावीर वात्सल्य, मेडिका हार्ट हॉस्पिटल सहित कई अस्पताल में आयुष्मान योजना की सुविधा बहाल की गई है।

Categories: Bihar News

खुदरा बाजार का सूत्र वाक्य, जो दिखेगा वह बिकेगा

Dainik Jagran - 13 hours 30 min ago

पटना। खुदरा बाजार का सूत्र वाक्य है- जो दिखेगा वह बिकेगा। जमाना तेजी से बदला है और रिटेल क्षेत्र विजुअल मर्चेटाइजिंग का माध्यम एक निष्क्रिय ग्राहकों को भी खरीदारी के लिए सक्रिय बनाने में मदद कर रहा है। परंपरागत खुदरा बाजार तेजी से बदल रहा है। डिपार्टमेंटल स्टोर और मॉल के बाद अब ऑनलाइन व्यापार व्यवस्थित कारोबार में बड़ा हिस्सेदार बन गया है। ग्राहकों को अपने स्टोर तक खींच लाने और आए हुए ग्राहक को खरीदारी के लिए प्रेरित करना विजिुअल मर्चेटाइजिंग का कमाल है।

आप अपने आउटलेट में उत्पाद का बेहतर प्रदर्शन, लाइटिंग और रंगों का चयन और इससे आगे अब तो परफ्यूम भी ग्राहकों को न केवल आकर्षित कर रहा, बल्कि खरीदने के लिए प्रेरित करता है। दरअसल सबसे अधिक खरीदार युवा वर्ग है जो खूब खर्चे करता है। ऐसे ग्राहकों का ख्याल रखते हुए खुदरा बाजार में नए आइडिया अपनाए जा रहे हैं। इसमें सबसे बड़ा महत्वपूर्ण भूमिका विज्ञापन की है।

दैनिक जागरण रिटेल गुरु के विशेषज्ञ पवन शुक्ला ने शनिवार को पटना के कारोबारियों के साथ व्यापार के विस्तार में नए आइडिया को साझा किया। प्रकृति और पर्यावरण का ख्याल रखते हुए व्यापार में नए अवसर आ रहे हैं। लोगों की आवश्यकता और मांग के अनुसार उत्पाद भी आ रहे हैं। इससे पूर्व क्षेत्रीय विज्ञापन प्रबंधक जयप्रकाश ने कहा कि दैनिक जागरण रिटेल गुरु कार्यक्रम के माध्यम से छोटे-छोटे कारोबार को विस्तार देने के लिए प्लेटफॉर्म मुहैया कराते आ रहा है। जो परंपरागत कारोबार करते आ रहे हैं वैसे लोगों के लिए रिटेल गुरु लाभकारी साबित हुआ है।

--ग्राहक कैसे बनते सक्रिय खरीदार-

पटना अब तेजी से विजुअल मचर्ेंडाइजिंग की ओर बढ़ा है। मॉल और डिपार्टमेंटल स्टोर के साथ तेजी से छोटे-छोटे दुकानों को भी अपडेट करने लगे हैं। रिटेल सेक्टर में आए उछाल और मॉल कल्चर के बढ़ते चलन के कारण डिस्प्ले डेकोरेशन अर्थात विजुअल मचर्ेंडाइजिंग की माग ग्राहक को उत्पाद से संवाद करने के तरीके सभी क्षेत्रों में देखने को मिल रही है। शोरूम, फूड प्लाजा, फर्नीचर, इलेक्ट्रॉनिक, रेडिमेड कपड़े, ज्वेलरी हो या फिर रेस्टोरेंट सभी जगह ग्राहकों को खरीदारी के लिए प्रेरित करने वाला लुक दिया जा रहा है।

-- जो दिखता है वह बिकता है --

राजधानी में कुछ वर्षो पहले तक कपड़े और जेवर की दुकानें ही व्यवस्थित दिखती थीं। अब पटना के रिटेल बाजार के विस्तार में सूत्र वाक्य- 'जो दिखता है, वही बिकता है' के साथ बदल गया। बाजार में कुछ वषरें पूर्व तक विजुअल मचर्ेंडाइजर कपड़े, रेडीमेड और ज्वेलरी की दुकानों तक सीमित नहीं रहीं। अब हर क्षेत्र में कारोबारी अपनी दुकानें सजाने-संवारने और आकर्षक बनाने की होड़ में शामिल हो गए हैं। पार्लर, बुटीक, मिठाई, सौंदर्य प्रसाधन, फर्नीचर, मेडिकल स्टोर, बेकरी और बच्चों के लिए अलग सेक्टर बन रहे हैं। महिलाओं और युवाओं को बाजार टारगेट कर रहा है।

-- आउटलेट की सजावट कैसी हो --

रिटेल स्टोर को अलग-अलग उपभोक्ता वर्गो के हिसाब से सजाया जाना चाहिए। उत्पादों के अनुसार विंडो का आकार, डिजाइन, रंगों, खुशबू, संगीत की धुन ग्राहकों को आकर्षित करने में मददगार होती है। उत्पादों के प्रदर्शन करने का भी मैकेनिज्म है। किसे कहां सजाया जाए यह विजुअल मर्जेटाइजिंग का हिस्सा है। एक सामान्य उत्पाद भी स्टोर में विजुअल मचर्ेंडाइजिंग की बदौलत ग्राहकों को हाथ लगाने का मजबूर करता है। 50 प्रतिशत ग्राहकों को खरीदार बना देता है।

-- साधारण उत्पाद का बेहतर लुक --

बाजार की सामान्य भाषा में कहा जाए तो सामान्य सा उत्पाद जब रिटेल आउटलेट में डिस्प्ले पाता है तो गुड लुकिंग में बदल जाता है। ग्राहकों को लुभाना और उन्हें उत्पाद तक खींचकर लाना, वर्तमान दौर में केवल ब्राड ही नहीं, बल्कि प्रोडक्ट का खास लुक भी अहम स्थान रखता है। शोरूम में प्रवेश करने वाला ग्राहक पहले किसी डिस्प्ले विंडो को निहारता है। ग्राहक नीरस होगा तो वहा जाने से कतराएगा। एक प्रोफेशनल मर्चेटाइजर ग्राहकों की माग की समझ के अनुसार स्टोर को लुक देता है।

----------------------

-- इनसेट के लिए :--

-रिटेल क्षेत्र में नियोजन का अवसर --

पटना : रिटेल क्षेत्र में नियोजन का बड़ा अवसर है। उत्पादकों और ग्राहकों के बीच सीधा संपर्क स्थापित करने में रिटेल एक कड़ी की भूमिका निभाता है। खुदरा बाजार का आकार इतना बड़ा है कि करीब आठ से दस फीसद लोगों को नियोजन का मौका दे रहा है। 1990 के दशक में मंदी का दौर था लेकिन रिटेल क्षेत्र एक मात्र था जो 15 फीसद की दर से बढ़त बनाए रखा। वर्तमान में मंदी की बात कही जा रही है, लेकिन सबसे अधिक पैसा लोग सोने में लगा रहे हैं।

-- 8500 व्यवस्थित व्यापार --

एक दशक पहले 2006 में डिपार्टमेंटल स्टोर, मॉल और व्यवस्थित कारोबार करने वाले सिर्फ 500 आउटलेट देश में थे। 10 वर्षो में करीब 8500 आउटलेट हो चुके हैं। इस सेक्टर ने करीब 25 फीसद ग्रोथ दर्ज की है। रिटेल बाजार में असंगठित कारोबार आज भी 15 फीसद से अधिक नहीं बढ़ रहा है। इसके पीछे समय के अनुसार अपडेट नहीं होना बड़ा कारण है।

--शहरीकरण रिटेल बाजार की उम्मीद--

तेजी से हो रहे शहरीकरण को रिटेल बाजार के लिए उज्ज्वल भविष्य के तौर पर देखा जा रहा है। शहर में नए लोग आते हैं तो उनकी जरूरत अधिक होती है। घर के लिए टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन, फोन, मोबाइल, फर्नीचर, स्टोरवेल, किचेन, बाथ रूम और मकान के सजावट से लेकर कपड़े, जूते, स्कूल, अस्पताल सभी के लिए नए ग्राहक होते हैं। जो शहर के स्थायी निवासी हैं, उनकी तुलना वे ज्यादा खर्च करते हैं। रिटेल सेक्टर इस अवसर को कैसे कैप्चर करता है, उसके उपर निर्भर करता है।

-- युवा ग्राहक अनुभव खरीदता --

शहर में युवा पीढ़ी बाजार में अनुभव खरीदती है। रेस्टोरेंट, इलेक्ट्रानिक शॉप, फैशन और अन्य जरूरत की चीजों के लिए रिटेल बाजार में अनुभव के लिए पैसे खर्च करती है। ऐसे ग्राहक किसी एक के प्रति आकर्षित और स्थायी नहीं होंगे। उन्हें जहां बेहतर माहौल, सजावट, ग्राहक सेवा और ब्रांड मिलेगा, वहां चले जाएंगे। संभव है कि पहले दिन जिस दुकान में जाता है वहां कुछ नहीं खरीदे और दूसरे दिन बगल की दुकान में वही उत्पाद खरीद ले।

--कम उम्र में कमाई, खर्च अधिक --

पहले रोजगार और कमाई करने वालों की औसत आयु 26-29 वर्ष होती थी। अब 20-22 वर्षो में कुछ न कुछ कमाने लगते हैं। ऐसे युवा खर्च के मामले में साहसी होते हैं। नए उत्पाद, खानपान और फैशन पर ज्यादा खर्च करते हैं। जो नहीं कमाते वे माता-पिता से पैसे लेकर बाजार में आते हैं। रिटेल सेक्टर को युवाओं के मनोभाव के अनुसार अपडेट होने की जरूरत है।

Categories: Bihar News

बख्तियारपुर में वर्चस्व को लेकर दो लोगों को मारी गोली

Dainik Jagran - 13 hours 31 min ago

पटना बख्तियारपुर। थाना क्षेत्र के बेलथान गाव में शनिवार की शाम वर्चस्व को लेकर बदमाशों ने फुदेना पासवान (45 वर्ष) एवं राजन ठाकुर (28 वर्ष) को गोली मार दी। परिजनों ने पीएचसी लाया, जहां से डॉक्टरों ने प्राथमिक इलाज के बाद गंभीर अवस्था में पीएमसीएच रेफर कर दिया। थानाध्यक्ष कमलेश प्रसाद शर्मा ने बताया कि घायल बेलथान निवासी फुदेना पासवान और मोकामा निवासी राजन ठाकुर का भी आपराधिक इतिहास रहा है। बदमाशों की पहचान की जा रही है।

जानकारी के अनुसार, संगतपर निवासी लक्ष्मण पासवान उर्फ पुकिया और बेलथान निवासी रूदल यादव के बीच वर्चस्व को लेकर पुराना झगड़ा चल रहा है। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों के बीच पूर्व में भी फायरिग हुई थी। शनिवार की शाम पुकिया अपने गुर्गे के साथ बेलथान गाव पहुंचा और रूदल को केस उठाने की धमकी दी। इसके बाद रूदल और पुकिया के समर्थकों के बीच फायरिग शुरू हो गई। फायरिग के दौरान पुकिया के गुर्गे फुदेना पासवान को पेट और हाथ में दो गोली लगी। जबकि राजन ठाकुर के हाथ में गोली लगी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने राजन और फुदेना को अस्पताल लाया।

डकैतीकांड में हाल में जेल से रिहा हुआ था राजन

थानाध्यक्ष के अनुसार, जख्मी मोकामा निवासी राजन ठाकुर अपराधी प्रवृत्ति का है। जो हाल में ही जेल से रिहा है। मोकामा थाने में डकैती काड में जेल गया था। वहीं पुकिया और रूदल पर भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी में जुटी है।

किशोरी के साथ छेड़खानी, विरोध करने पर फायरिंग

संवाद सूत्र, बख्तियारपुर : थाना क्षेत्र के एक किशोरी के साथ गाव के ही एक युवक ने छेड़खानी की। विरोध करने पर युवक ने फायरिंग की। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपित युवक को हिरासत में लिया है।

किशोरी के पिता ने छेड़खानी और विरोध करने पर फायरिग करने का नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

Categories: Bihar News

एनएमसीएच पहुंची एमसीआइ, पैथोलॉजी को मिल सकती है पांच पीजी सीट

Dainik Jagran - 13 hours 33 min ago

पटना सिटी। वर्षों इंतजार के बाद नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पैथोलॉजी विभाग में अगले सत्र से पीजी की पढ़ाई शुरू होने की उम्मीद की जा रही है। इसके लिए गोवा मेडिकल कॉलेज बम्बोलिम के डीन सह पैथोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. प्रो. आरजी वाइजमैन पिटो बतौर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के इंस्पेक्टर एनएमसीएच शनिवार की सुबह पहुंचे। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस भवन में पैथोलॉजी की जांच व्यवस्था, अस्पताल में इसके व्यवहारिक पक्ष तथा कॉलेज स्थित विभाग की शैक्षणिक व्यवस्था का बारीकी से मुआयना किया।

कॉलेज प्रशासन द्वारा पैथोलॉजी विभाग में पीजी पांच सीटों की अनुमति पहली बार प्राप्त करने के लिए बुलाए गए इस निरीक्षण को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है। जांच टीम की संतुष्टि को देखते हुए इन सीटों को अनुमति मिलने की पूरी संभावना है। प्राचार्य डॉ. विजय कुमार गुप्ता ने कहा कि एमसीआइ की मुहर लगते ही अगले वर्ष से पैथोलॉजी विभाग में पीजी के लिए मेडिकल स्टूडेंट्स का नामांकन हो सकेगा। निरीक्षण में विभाग के अध्यक्ष डॉ. ओम प्रकाश द्विवेदी मौजूद थे।

इन जगहों की व्यवस्था देखा

एमसीआइ सदस्य डॉ. प्रो. आर जी वाइजमैन पिटो सुबह करीब साढ़े नौ बजे एनएमसीएच अचानक आ पहुंचे। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस पहुंचते ही वहां डॉक्टरों एवं कर्मियों ने हड़कंप मच गया। पैथोलॉजी, साइटोलॉजी, हेमेटोलॉजी, बायो केमिस्ट्री यूनिट में पहुंच कर वहां की जांच व्यवस्था को देखा। डॉक्टर व कर्मियों से कई सवाल पूछे। यहां पीजी के लिए तैयार रिसर्च सेंटर को देखा। कैंसर व अन्य गंभीर रोग की होने वाली उच्च स्तरीय जांच के बारे में पूछा। यहां की व्यवस्था देख एमसीआइ सदस्य बेहद संतुष्ट नजर आए। कॉलेज में ड्रेस कोर्ड तथा रैगिग न होने की जानकारी मिलने पर सराहना किया।

शिक्षक की कमी नहीं, सीट मिलना तय

कॉलेज स्थित पैथोलॉजी विभाग में पहुंचे एमसीआइ सदस्य ने यहां की शैक्षणिक व्यवस्था को जाना। यहां उपलब्ध शिक्षकों के बारे में जानकारी लिया। प्राचार्य डॉ. प्रो. विजय कुमार गुप्ता ने बताया कि विभाग में तीन प्रोफेसर, तीन एसोसिएट प्रोफेसर, तीन असिस्टेंट प्रोफेसर, सात ट्यूटर व टेक्नीशियन मौजूद हैं। डॉ. पिटो ने शिक्षकों का भौतिक सत्यापन किया। कॉलेज स्थित विभागीय लाइब्रेरी, प्रयोगशाला, म्यूजियम को भी देखा। एमसीआइ के दिशा-निर्देश अनुसार चालू सत्र से अमल में आयी पठन-पाठन संबंधित नयी रूटीन और ओरियंटेशन कार्यक्रम की जमकर तारीफ किया। सर्जरी विभाग के अध्यक्ष डॉ. निर्मल कुमार सिंहा, मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. उमा शंकर प्रसाद, फार्माकोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. संजय कुमार, कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के सह प्राध्यापक सह एमसीआइ के नोडल पदाधिकारी डॉ. अखौरी पीके सिन्हा व अन्य से एमसीआइ सदस्य मिले।

Categories: Bihar News

गंगा देवी महिला कॉलेज में गीत-संगीत से बना यादगार दिन

Dainik Jagran - September 21, 2019 - 11:55pm

पटना। ऊंची है बिल्डिंग.., राधा बिना कृष्ण हैं आधे.., मैं निकला गड्डी लेकर.., जैसे गानों की धुन पर शनिवार को गंगा देवी महिला कॉलेज गूंज रहा था। मौका था कॉलेज की तरफ से आयोजित फ्रेशर्स और फेयरवेल पार्टी का। इस दौरान कॉलेज ज्वाइन करने वाली छात्राओं के बीच नई शुरुआत करने की खुशी और अपनों से दूर जाने का गम साफ-साफ चेहरे पर देखने को मिला रहा था तो दूसरी तरफ कॉलेज से विदा लेने वाली छात्राओं के चेहरे पर अपना कैंपस छूटने की मायूसी थी। कार्यक्रम की शुरुआत कॉलेज की प्राचार्या प्रो. श्यामा राय के संबोधन से हुई। उन्होंने छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि जो छात्राएं कॉलेज में नई शुरुआत कर रही हैं, उनका भी स्वागत है और जो यहां से जाने के बाद अपने नई जीवन की शुरुआत करने वाली हैं उनको भी तहे दिल से बधाई और हमारी तरफ से आशीष है। कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए छात्राओं ने एक-दूसरे को फूल देते हुए सम्मानित किया। इसके बाद पुरानी छात्राओं ने कॉलेज में बिताए अपने पलों को याद किया तो वहीं नई छात्राओं ने कॉलेज के नियम-कानून को जाना। कार्यक्रम को मनोरंजक बनाते हुए फैशन शो का भी आयोजन किया गया, जिसमें सभी को पीछे छोड़ते हुए मिस फेयरवेल का खिताब ऋतु राज ने हासिल किया तो वहीं दूसरे और तीसरे स्थान पर ऋिचा कुमारी और राधा रानी रहीं। दूसरी तरफ मिस फेशर्स का खिताब यासमिन राज को मिला। दूसरा और तीसरा स्थान रानु शर्मा और निशि सिन्हा को मिला। छात्राओं का मनोबल बढ़ाने के लिए मौके पर कॉलेज की प्राचार्या के साथ ही कई शिक्षक और प्रोफेसर मौजूद थे।

Categories: Bihar News

वाणिज्य महाविद्यालय पर नैक ने लगाया एक साल का प्रतिबंध

Dainik Jagran - September 21, 2019 - 10:31pm

पटना। पटना विश्वविद्यालय के बीएन कॉलेज के बाद वाणिज्य महाविद्यालय को भी राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) ने एक साल तक मूल्यांकन प्रक्रिया में शामिल होने के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। नैक सूत्रों के अनुसार वाणिज्य महाविद्यालय ने सेल्फ असेसमेंट रिपोर्ट (एसएसआर) जमा करने के बाद निर्धारित प्रक्रिया को पूरा नहीं की। एसएसआर से संबंधित प्रश्नों पर महाविद्यालय ने किसी तरह की प्रक्रिया नहीं दी। इसके आधार पर नियमानुसार एसएसआर को रद कर दिया गया। अब कॉलेज को अप्रैल के बाद ही पूरी प्रक्रिया को नए सिरे से प्रारंभ करना होगा। रजिस्ट्रेशन शुल्क लगभग एक लाख रुपये भी दोबारा जमा करने होंगे।

प्राचार्य प्रो. चंद्रमा सिंह ने बताया कि उनके पदभार ग्रहण करने से पहले ही नैक मूल्यांकन प्रक्रिया प्रतिबंधित कर दी गई थी। 16 अप्रैल, 2019 को लॉगइन बंद कर दी गई थी। राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद का यह फैसला पूरी तरह से एकतरफा है। कॉलेज प्रशासन ने प्रश्नों का जवाब एक सप्ताह में सबमिट करने का समय मांगा था। लेकिन, लॉगइन बंद होने के कारण यह संभव नहीं था। पूरी वस्तुस्थिति से कुलपति को अवगत करा दिया गया है। कुलपति स्तर से आगे की कार्रवाई की जा रही है। कुलपति ने तलब किए सभी कागजात

वाणिज्य महाविद्यालय प्रबंधन ने चार माह तक नैक प्रक्रिया रद होने की सूचना विश्वविद्यालय प्रशासन को नहीं दी। बीएन कॉलेज की एसएसआर रद होने के बाद कुलपति प्रो. रास बिहारी प्रसाद सिंह ने वाणिज्य महाविद्यालय को नैक एक्रिडेशन प्रक्रिया से संबंधित प्रगति रिपोर्ट तलब की है। इसके बाद पूरी वस्तुस्थिति से पर्दा उठा। कुलपति ने कॉलेज प्रशासन को सभी कागजात जमा करने को कहा है। पूरी प्रक्रिया में त्रुटियों की जांच के बाद विवि प्रशासन नैक से पत्राचार का निर्णय लेगा। प्रक्रिया रुकने पर क्या है प्रावधान

दिल्ली विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त फैकल्टी व नैक विशेषज्ञ प्रो. एमपी शर्मा ने बताया कि नैक एक्रिडेशन की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन संचालित होती है। सभी मानक व नियम पूर्व निर्धारित होते हैं। यदि वाणिज्य महाविद्यालय ने एसएसआर से संबंधित प्रश्नों का जवाब समय पर नहीं दिया होगा तो लॉगइन स्वत: बंद हो गया होगा। लेकिन, इसकी जानकारी कॉलेज प्रशासन को उसी समय देनी होगी। प्रक्रिया बीच में रुकने पर एक साल तक का प्रतिबंध लगाया जाता है। इसके साथ प्रक्रिया अवरुद्ध होने पर संबंधित कॉलेज और नैक दोनों अपनी वेबसाइट पर जानकारी अपलोड करेंगे। एसएसआर यदि प्री-क्वालीफाई नहीं करने के कारण रिजेक्ट होता है तो दोबारा नए सिरे से एसएसआर छह माह के बाद कॉलेज ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। : पीयू के छह में दो कॉलेज की एसएसआर रद :

पटना विश्वविद्यालय के पटना साइंस कॉलेज, पटना लॉ कॉलेज, पटना कॉलेज, वाणिज्य महाविद्यालय, मगध महिला कॉलेज और बीएन कॉलेज ने नैक एक्रिडेशन के लिए एसएसआर जमा की थी। इसमें मगध महिला कॉलेज को 'बी' ग्रेड आवंटित किया जा चुका है। पटना लॉ कॉलेज में नैक टीम पहुंची है। वहीं, पटना साइंस कालेज में नवंबर पहले सप्ताह और पटना कॉलेज में अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में नैक टीम पहुंचेगी। : पीपीयू के 14 में 12 कॉलेज योग्य नहीं :

पाटलिपुत्र विवि के 14 कॉलेजों ने नैक एक्रिडेशन के लिए एसएसआर जुलाई में जमा की थी। इनमें से 12 कॉलेज प्री-क्वालीफाई राउंड में 30 फीसद अंक भी प्राप्त नहीं कर सके हैं। इस कारण इन कॉलेजों को नैक एक्रिडेशन के लिए अयोग्य करार दिया गया है। इन कॉलेजों को छह माह बाद नए सिरे से पूरी प्रक्रिया प्रारंभ करनी होगी।

Categories: Bihar News

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने वीडियो काॅन्‍फ्रेंसिंग से ली बिहार के BJP नेताओं की क्लास

Dainik Jagran - September 21, 2019 - 10:11pm

पटना, राज्य ब्यूरो। भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आर्थिक मंदी से देश को उबारने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा कारपोटेरट टैक्स और जीएसटी की दरों में कटौती और नई कंपनियों को करों में दी गई छूट से होने वाले फायदों की जानकारी जन-जन तक पहुंचाने के लिए आज राज्य के प्रमुख नेताओं की वीडियो कांफ्रेंसिंग  से क्लास लगाई। 

शाह ने पार्टी नेताओं से कहा कि सरकार ने मंदी से लोगों को राहत पहुंचाने के लिए कंपनियों के लिए कारपोरेट कर की आधार दर 30 फीसद से घटाकर 22 फीसद किए जाने, नई कंपनियों पर कारपोरेट कर को 25 से घटाकर 15 फीसद किए जाने और आटोमोबाइल, होटल और बिस्कुट जैसी जरूरी खाद्य सामग्रियों पर जीएसटी की दरों में भारी कटौती को आमजन तक पहुंचाया जाए। 

शाह ने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में वहां के मुख्यमंत्री या उप मुख्यमंत्री प्रेस कांफ्रेंस करके सरकार की राहत घोषणाओं की जानकारी देंगे। जिन प्रदेशों में भाजपा का शासन नहीं है वहां पार्टी प्रदेश अध्यक्ष या कोई अन्य प्रमुख नेता इसकी जानकारी देंगे।

 भाजपा अध्यक्ष ने गांधी जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक संसदीय और विधानसभा क्षेत्रों में चलने वाले पदयात्रा कार्यक्रम की सफलता के लिए भी आवश्यक निर्देश दिए। पार्टी के इस कार्यक्रम में स्थानीय सांसद और विधायकों की सहभागिता अनिवार्य है। 

भाजपा प्रदेश कार्यालय के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, केंद्रीय विधि व संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, केंद्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह, संगठन मंत्री नागेंद्रजी, पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. सीपी ठाकुर, रामकृपाल यादव, मंत्री विनोद नारायण झा सहित पार्टी के 15 सांसद, दर्जनों विधायक और प्रदेश पदाधिकारी मौजूद थे।

Categories: Bihar News

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: RJD का टिकट वितरण को लेकर बड़ा ऐलान, जानें तेजस्‍वी की घोषणा

Dainik Jagran - September 21, 2019 - 9:35pm

पटना, राज्य ब्यूरो। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अगले विधानसभा चुनाव में राजद की ओर से अति पिछड़ों को कम से कम 50 टिकट देने का वादा किया है। उन्होंने पिछड़े, अतिपिछड़े, एसटी एवं अल्पसंख्यक से राजद से जुडऩे की अपील करते हुए कहा कि हम सबको उचित भागीदारी देंगे। उन्होंने अपने सरकारी आवास पर शनिवार को प्रदेश राजद के मत्स्यजीवी प्रकोष्ठ के सदस्यता अभियान की समीक्षा की। 

तेजस्वी ने कहा कि मत्स्यजीवी समाज के लोग 1990 से ही लालू प्रसाद के साथ हैं और आज भी मजबूती से राजद की विचारधारा के साथ खड़े हैं। निषाद समाज को पार्टी से जुडऩे का आग्र्रह करते हुए तेजस्वी ने कहा कि राजद प्रमुख ने निषाद समाज के उत्थान के लिए बहुत कुछ किया है।

उन्‍होंने कहा कि जलकर से मुक्ति दिलाई है। नेता प्रतिपक्ष ने प्रत्येक प्रखंड से निषाद समाज के कम से कम दो सौ लोगों को जोडऩे का आग्र्रह किया। बैठक की अध्यक्षता मत्स्यजीवी प्रकोष्ट के अध्यक्ष अरविंद निषाद ने की। ओम प्रकाश चौधरी, सीता सरण बिंद, महेंद्र भारती निषाद, शंभू सहनी ने भी संबोधित किया। 

गौरतलब है कि इन दिनों राजद का सदस्‍यता अभियान पूरे बिहार में चल रहा है। साथ ही राजद के विभिन्‍न प्रकोष्‍ठों की लगातार बैठकें भी हो रही हैं और सदस्‍यता अभियान की समीक्षा भी हो रही है। इसी कड़ी में शनिवार को राजद मत्‍स्‍यजीवी प्रकोष्‍ठ के सदस्‍यता अभियान की समीक्षा की गयी। 

Categories: Bihar News

Bihar Flood Alert: बिहार के 12 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, सीएम नीतीश ने की केंद्र से बात

Dainik Jagran - September 21, 2019 - 9:20pm

पटना, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पीके मिश्र से फरक्का बराज के कारण बिहार में गंगा के जलस्तर में हो रही बढ़ोतरी पर बात की। मुख्यमंत्री ने कहा कि  फरक्का बराज से समुचित जलश्राव को सुनिश्चित कराया जाए। पानी नहीं निकलने की स्थिति में बिहार में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर जल संसाधन विभाग के अभियंताओं की उच्च स्तरीय टीम फरक्का के लिए रवाना हो गई है। उन्हें वहां प्रतिनियुक्त कर दिया गया है। बता दें कि गुरुवार को पटना से सटे गंगा घाटों को सीएम नीतीश कुमार ने निरीक्षण किया था, वहीं शुक्रवार को एरियल सर्वे किया था। 

यह है स्थिति

19 सितंबर को फरक्का बराज का पौैंड लेबल 22.64 मीटर था जो 21 सितंबर को बढ़कर 23.20 मीटर हो गया। यह दर्शाता है कि फरक्का बराज से गंगा नदी का समुचित जलश्राव नहीं हो रहा। पानी निकलने से गंगा के किनारे के इलाके में जलस्तर कम जाएगा। फरक्का बराज में 109 गेट है जिसमें से केवल पचास फीसदी गेट ही खुले हैैं। ऐसे में पानी नहीं निकल रहा। गंगा के डिस्चार्ज के गणित के आधार पर पानी निकलने की व्यवस्था काम नहीं कर रही।

हर दो घंटे पर हो रही उच्चस्तरीय समीक्षा

गंगा के बढ़े जलस्तर की वजह से उत्पन्न स्थिति पर हर दो घंटे पर उच्चस्तरीय समीक्षा हो रही। मुख्यमंत्री ने शनिवार को को भी पूरी स्थिति पर अधिकारियों से बात की। विगत चार दिनों के जल स्तर की समीक्षा में यह बात सामने आई कि फरक्का बराज से गंगा का समुचित जलश्राव नहीं होने की वजह से बारह जिलों में बाढ़ की गंभीर स्थिति उत्पन्न हो सकती है।

केंद्रीय जल आयोग व जलशक्ति मंत्रालय से भी बात

तीन दिन पहले फरक्का बराज से समुचित जलस्राव को ले केंद्रीय जल आयोग व जलशक्ति मंत्रालय से भी राज्य सरकार ने अनुरोध किया था। फरक्का बराज का नियंत्रण  बराज कंट्रोल बोर्ड द्वारा किया जाता है। यह केंद्रीय जल आयोग की देखरेख में काम करता है। लंबी अवधि से राज्य सरकार यह बात कहती रही है कि  फरक्का बराज के संचालन बोर्ड में बिहार के इंजीनियरों को भी शामिल किया जाए।

बक्सर में सामुदायिक रसोई शुरू

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि सरकार पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। बाढ़ पीडि़तों के लिए बक्सर में कम्यूनिटी किचेन आरंभ हो गया है। इसी तरह सभी प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को यह निर्देश दिया गया है कि पर्याप्त संख्या में नाव मुहैया कराए जाएं।

Categories: Bihar News

बिहार का पहला महिला डाकघर खुला पटना में, पोस्‍ट मास्‍टर से पोस्‍टमैन तक पर आधी आबादी का राज

Dainik Jagran - September 21, 2019 - 8:57pm

पटना, जेएनएन। 'केंद्र सरकार महिला सशक्तीकरण की दिशा में ठोस पहल कर रही है। चाहे महिलाओं के लिए आरक्षण का मामला हो या फिर तीन तलाक का। केंद्र सरकार महिलाओं के हितों की रक्षा के लिए कटिबद्ध है। महिला सशक्तीकरण की दिशा में केंद्र ने सभी डाक मंडलों में एक-एक महिला डाकघर खोलने का निर्णय लिया है। देशभर के 652 डाक मंडलों एक-एक महिला डाकघर खोले जाएंगे।' यह बातें केंद्रीय विधि एवं न्याय, संचार व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहीं। वे शनिवार को पटना में स्थापित प्रदेश के पहले महिला डाकघर के उद्घाटन बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। यह बिहार का पहला महिला डाकघर है तथा यहां पोस्‍ट मास्‍टर से लेकर पोस्‍टमैन तक महिलाएं हैं। आगे भी इस डाकघर में सभी स्‍टाफ्स महिलाएं ही होंगी।  

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) परिसर में स्थापित यह महिला डाकघर देश का दूसरा और बिहार का पहला महिला डाकघर है। डाक विभाग इस डाकघर को शोकेस के रूप में विकसित करेगा। देश-विदेश के जो भी मेहमान यहां आएंगे, उन्हें यह डाकघर दिखाया जाएगा। यहां केवल महिला कर्मचारी ही कार्यरत होंगी। यहां सभी उत्पाद मिलेंगे। उन्होंने कहा, पटना में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज शीघ्र ही अपनी शाखा खोलने जा रही है। भवन निर्माण का कार्य चल रहा है। इससे 1500 बेरोजगारों को नौकरी मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि हमने कानून मंत्री के रूप में 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले व्यक्ति को फांसी की सजा का प्रावधान कराया है। 

रविशंकर प्रसाद ने कहा, पटना साहिब से सांसद चुने जाने के बाद उन्होंने रेलवे स्टेशनों के विकास में पूरा सहयोग दिया है। हार्डिंग पार्क में बन रहे लोकल ट्रेनों के स्टेशन के लिए उन्होंने डाक विभाग व भारत संचार निगम लिमिटेड की जमीन रेलवे को दिलाई है। इससे पटना जंक्शन सीधे हार्डिंग पार्क से जुड़ जाएगा। पटना जंक्शन समेत दानापुर मंडल के सभी प्रमुख स्टेशनों का अभूतपूर्व विकास हुआ है। 

अतिथियों का स्वागत करते हुए पोस्टमास्टर जनरल अनिल कुमार ने कहा, डाकघर महिला सशक्तीकरण का सबसे बड़ा उदाहरण है। यहां महिलाओं व लड़कियों के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। महिलाओं की ओर से बनाए गए सामान को बाजार मुहैया कराने की कोशिश की जा रही है। प्रधान पोस्टमास्टर जनरल एमई हक ने कहा, बिहार के 786 डाकघर सीबीएस से जुड़ गए हैं और 43 एटीएम खुल चुके हैं। 1600 डाकिया को एंड्रायड फोन दिए गए हैं। आइपीपीबी में साढ़े 13 लाख खाते खोले गए हैं। डाकघर से ड्राइविंग लाइसेंस व आरसी दी जा रही है। इस मौके पर विधायक संजीव चौरसिया व अरुण सिन्हा ने पटना जंक्शन, राजेंद्र नगर टर्मिनल, पाटलिपुत्र व दानापुर स्टेशन पर हुए विकास कार्यों की चर्चा करते हुए रविशंकर प्रसाद की पहल की तारीफ की। बिहार लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष शिशिर कुमार सिन्हा ने डाक विभाग की इस पहल पर आभार व्यक्त किया। 

खास बातें 

  • देश के हर डाक मंडल में होगा एक महिला डाकघर : रविशंकर प्रसाद
  • सूबे के पहले और देश के दूसरे महिला डाकघर का केंद्रीय मंत्री ने किया उद्घाटन
  • लंबित मामलों के त्वरित निपटारे के लिए देशभर में बनेंगे 1023 फास्ट ट्रैक कोर्ट
  • बीपीएससी डाकघर होगा विभाग का शोकेस
  • देश-विदेश से आने वाले सेलिब्रिटी पहुंचेंगे देखने
  • महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर करेंगे पदयात्रा और सड़कों की सफाई
  • पटना में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज खोलेगी अपनी शाखा
  • 1500 कर्मचारियों की होगी बहाली

 

Categories: Bihar News

अब 'आधार' से जुड़ेगा ड्राइविंग लाइसेंस : रविशंकर

Dainik Jagran - September 21, 2019 - 8:19pm

पटना । 'आधार' ने भ्रष्टाचार में कमी ला दी है। अब इसे ड्राइविंग लाइसेंस से जोड़ा जाएगा। लाइसेंस जब्त होने पर दूसरे राज्यों में इसे बनाकर वाहन चलाने की परिपाटी समाप्त हो जाएगी। आधार डिजिटल पहचानपत्र है। अंगुली की रेखाएं मिट जाएं तो आंख की पुतली से पहचान हो जाएगी। केंद्रीय कानून, सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ये बातें शनिवार को देश के 10वें आधार सेवा केंद्र के उद्घाटन अवसर पर कहीं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश के 53 शहरों में 114 आधार सेवा केंद्रों की स्थापना होनी है। इनमें पटना में दो केंद्र हैं। पासपोर्ट कार्यालय की तर्ज पर यहां कार्य होगा। एक दिन में एक हजार लोगों का आधार बन सकता है। चाहता हूं कि यह केंद्र भारत में बेहतर कार्य में पहला स्थान प्राप्त करे।

इस अवसर पर विधायक अरुण कुमार सिन्हा, नितिन नवीन, डॉ. संजीव चौरसिया, रणविजय सिंह उर्फ मुखिया ने कहा कि रविशंकर प्रसाद पटना साहिब से सांसद चुने जाने के बाद प्रत्येक सप्ताह पटना के लिए योजना लेकर आ रहे हैं।

: न्यू डाकबंगला रोड में खुला आधार सेवा केंद्र :

आधार सेवा केंद्र में पासपोर्ट कार्यालय के तर्ज पर व्यवस्था की गयी है। आधार बनवाने तथा अपडेट कराने, फोटो व बॉयोमीट्रिक अपडेट, मोबाइल-ईमेल अपडेट, नाम, लिंग, जन्मतिथि अपडेट होगी। यह केंद्र न्यू डाकबंगला रोड में होटल उत्सव के पास साई टावर की पहली मंजिल पर है। मंगलवार को यह बंद रहेगा तथा सुबह 9.30 बजे से 5.30 बजे तक खुला रहेगा। आधार नि:शुल्क बनेगा तथा अपडेट करने पर 50 रुपये लगेगा। www.ड्डह्यद्म.ह्वद्बस्त्रड्डद्ब.द्दश्र1.द्बठ्ठ पर अप्वाइंटमेंट ऑनलाइन बुक कराकर जाना है।

- - - - - - -

: 'आधार' का मजबूत आधार :

- देश के 130 करोड़ में से 124 करोड़ 80 लाख लोगों के पास 'आधार'

- बिहार में 11.71 करोड़ में से 10.39 करोड़ के पास आधार कार्ड

- राज्य में 90 फीसद लोगों के पास 'आधार' कार्ड

- 33 करोड़ गरीबों को जोड़कर सरकारी योजनाओं का दिया जा रहा लाभ।

--------

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair